Connect with us

प्रदेश

श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट के नाम पर चंदा वसूल रहे तीन युवक गिरफ्तार

Published

on

बलरामपुर। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जनपद के उतरौला तहसील क्षेत्र में शनिवार को पुलिस ने श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट अयोध्या के नाम पर वसूली कर रहे तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उनके पास से 1462 रुपए भी बरामद किए। उतरौला पुलिस के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के कस्बा बाजार के चुंगी नाका इलाके से मोहम्मद याकूब, रुद्रनारायण और विजय कुमार को गिरफ्तार किया गया है। यह तीनों लोग श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट अयोध्या की रसीद छपवाकर लोगों से चंदे के नाम पर रकम ऐंठ रहे थे।

यह भी पढ़ें-अयोध्या फैसले पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेंगे मुस्लिम पक्षकार!

पुलिस ने बताया कि शनिवार को चुंगी नाका इलाके में भगवा गमछा ओढ़े तीन युवक श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट अयोध्या के नाम पर चंदा मांग रहे हैं। शक होने पर लोगों ने हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं को सूचना दी। मौके पर पहुंचे हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने चंदा वसूल रहे तीनों युवकों से ट्रस्ट के संबंध में पूछताछ की। पूछताछ में इन युवकों की पोल खुल गई। कार्यकर्ताओं ने तीनों युवकों को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने राम जन्मभूमि ट्रस्ट के नाम पर फर्जी चंदा वसूलने वाले युवकों पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

परिवहन निगम को ट्राईमैक्स कंपनी ने लगाया 46 लाख का चूना…

Published

on

लखनऊ। परिवहन निगम के लिए गए कई निर्णय ही उसके लिए मुसीबत बन गए हैं। यह मामला अयोध्या डिपो से जुड़ा है। जहां वर्ष 2016 से 2018 के बीच ट्राईमैक्स कंपनी ने यात्रियों से एमएसटी का पैसा तो ले लिया पर रोडवेज के खाते में 46 लाख रुपए जमा नहीं किए। इस मामले में कंपनी से पैसे की रिकवरी होनी थी। वहीं लापरवाही बरतने पर एमडी ने एआरएम को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। वहीं पूर्व के प्रकारण में तत्कालीन अयोध्या डिपो के एआरएम अविनाश चंद्र को दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया गया था।

परिवहन निगम मुख्यालय से मिली जानकारी पर बीते नौ माह में वित्तीय लापरवाही, कार्य में उदासीनता मामले में जीरो टालरेंस के तहत 103 अधिकारियों पर विभिन्न मामलों के तहत कार्रवाई की गई। जिसमें 44 मामलों में आरोप पत्र दिए गए। 18 प्रकरणों में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। वहीं 20 प्रकरणों में प्रतिकूल प्रविष्टि व आठ में वेतन वृद्धि रोकने के आदेश किए गए। इसके अलावा आठ प्रकरणों में चेतावनी दी गई है। साथ ही अन्य भ्रष्टाचार के मामलों में शामिल आधा दर्जन अफसरों को निलंबित किया गया।

ये भी पढ़ें: कल से नगर निगम की दो दिवसीय पुष्प प्रदर्शनी का होगा आयोजन

सीएम के जीरो टालरेंस के तहत परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने गुरुवार को प्रदेश भर के आरटीओ कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार को खत्म करने के मकसद से तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। ये समिति हर कार्यालय में दौरा करके डीएल, डग्गमार बसें, ओवर लोडिंग, वाहनों के रजिस्ट्रेशन और वाहनों के परमिट संबंधी कार्यो की निगरानी करेगी। समिति के अध्यक्ष उप परिवहन आयुक्त राजीव श्रीवास्तव और दो सदस्यों में आरटीओ मुख्यालय संजय नाथ झा व आरटीओ अलीगढ़ केडी सिंह गौंड होंगे। http://www.styodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

कुत्तों को आईकार्ड बांटेगा वाराणसी नगर निगम, ‘आवारागर्दी’ पर लगेगी लगाम

Published

on

लखनऊ। इन दिनों में उत्तर प्रदेश में सड़क से लेकर संसद तक ‘आवारागर्दी’ पर हंगामा मचा हुआ है। आवारा जानवरों से किसान परेशान हैं और कांग्रेस खूब हो-हल्ला कर रही है। आवारा लड़कों से पुलिस परेशान है, जो खूलेआम भीड़ भरी सड़कों पर फर्राटा भर रहे हैं और कानून व्यवस्था को चुनौती दे रहे हैं। आवारा जानवरों और लड़कों के अलावा आवारा कुत्ते भी छोटी मुसीबत नहीं हैं। सड़कों पर आवारा कुत्तों का झुण्ड देखकर हर कोई ठिठक जाता है। कई ऐसी घटनाएं भी सामने आ चुकी हैं, जब आवारा कुत्तों ने छोटे बच्चों को नोच-नोचकर मार ही डाला।

यह भी पढ़ें-वित्तीय अनियमितता में फंसी भातखण्डे की कुलपति, राज्यपाल ने दिए जांच के आदेश

आवारा कुत्तों की इस समस्या से निपटने के लिए वाराणसी नगर निगम ने एक योजना बनाई है। वाराणसी नगर निगम जल्द ही कुत्तों को भी आईकार्ड देने जा रहा है। ताकि पालतू कुत्तों और आवारा कुत्तों में फर्क किया जा सके। इन आईकार्ड में कुत्तों की पूरी पहचान होगी। कुत्तों के आईकार्ड बनाने के लिए वाराणसी नगर निगम बाकायदा एक साफ्टवेयर भी तैयार करवा रहा है।

पालतू कुत्तों का आईकार्ड बन जाने के बाद आवारा कुत्तों की नसबंदी करना भी आसान हो जाएगा। नगर निगम के एक अधिकारी के अनुसार इस साफ्टवेयर के माध्यम से पालतू कुत्तों का रजिस्टेशन किया जाएगा। वाराणसी नगर निगम ने फिलहाल करीब 20 से 30 हजार कुत्तों का रजिस्टेशन करने का लक्ष्य रखा है।

नगर आयुक्त गौरांग राठी के अनुसार आवारा कुत्तों की नसबंदी का काम पहले से ही चल रहा है। लेकिन 2 महीने बाद इसे बड़े स्तर पर चलाया जाएगा। दिल्ली, अहमदाबाद और इंदौर में यह अभियान पहले से चल रहा है। बता दें कि आवारा बंदरों से वाराणसी नगर निगम पहले से ही परेशान है। ऐसे में आवारा कुत्तों की बढ़ती संख्या एक और मुसीबत की ओर इशारा कर रही है। लेकिन अधिकारियों ने इस समस्या को बढ़ने से पहले ही नियंत्रित करने का प्लान तैयार कर दिया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

केजीएमयू में स्टाफ की कमी से टल रहे भर्ती मरीजों के ऑपरेशन

Published

on

केजीएमयू

फाइल फोटो

लखनऊ। केजीएमयू की उदासीनता मरीजों पर भारी पड़ रही है। यहां गेस्ट्रो सर्जरी विभाग में मरीजों का इलाज प्रभावित है। स्टाफ की कमी से एक ऑपरेशन थिएटर का संचालन नहीं हो सका। कई ऑपरेशन टाल दिए गए हैं।

केजीएमयू में जनरल सर्जरी, सीटीवीएस, न्यूरो सर्जरी, गेस्ट्रो सर्जरी विभाग में ऑपरेशन की वेटिंग चल रही है। मरीजों को ऑपरेशन की लंबी तारीख दी जा रही है। गेस्ट्रो सर्जरी विभाग में भी एक से दो माह बाद की तारीख दी जा रही है। लंबी तारीख के बाद गुरुवार को ऑपरेशन का नम्बर आया। लेकिन स्टाफ की कमी से एक ऑपरेशन थिएटर का संचालन नहीं हो सका। शताब्दी फेज एक में गैस्ट्रो सर्जरी विभाग है।

ये भी पढ़ें:लखनऊ: काकोरी में युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या…

यहां दो ओटी संचालन हो रहा है। इसके लिए शिफ्ट के साथ तीन स्टाफ नर्स तैनात हैं। इसमें भी एक चाइल्ड केयर लीव पर चली गई। करीब एक माह से विभाग में मरीजों के इलाज में अड़चन आ रही है। डॉक्टर भर्ती मरीज का समय पर ऑपरेशन नहीं कर पा रहे हैं। विभाग के डॉक्टर नर्स की तैनाती के लिए गुहार लगा रहे हैं। सुनवाई नहीं हो रही है। गुरुवार को एक डॉक्टर ने संस्थान के वाट्सएप ग्रुप पर मरीजों की पीड़ा बयां की हैं। लिहाजा छोटे बड़े दो ऑपरेशन नहीं हो सके।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 28, 2020, 3:49 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
25°C
real feel: 24°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 54%
wind speed: 3 m/s ESE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 6:02 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending