Connect with us

प्रदेश

उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश सरकार ने दिये 1.32 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन

Published

on

लखनऊ। पीएम मोदी की महात्वाकांक्षी उज्ज्वला योजना के तहत उत्तर प्रदेश में 1.32 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन वितरित किये गए हैं। वहीं, इस हफ्ते लगभग 117410 नये गैस कनेक्शन जारी किये गये हैं। यह जानकारी खाद्य एवं रसद विभाग की रिपोर्ट से प्राप्त हुई है।

गौरतलब है कि, पीएम मोदी ने उज्ज्वला योजना को 1 मई 2016 को प्रदेश के बलिया जिले से लॉन्च किया था।  PMUY के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस का कनेक्शन देती है। केंद्र की इसी योजना के तहत प्रदेश सरकार ने 1.32 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन दिये हैं।

ऐसे पाएं गैस कनेक्शन

उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए BPL परिवार की कोई महिला आवेदन कर सकती है। इसके लिए आपको KyC फार्म भर कर नजदीकी एलपीजी केंद्र में जमा करना होगा। आवेदन के लिए 2 पेज का फॉर्म, जरूरी दस्‍तावेज, नाम, पता, जन धन बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर आदि की जरूरत पड़ती है। साथ ही आपको यह भी बताना होगा कि आप 14.2 किलोग्राम का सिलेंडर लेना चाहते हैं या 5 किलोग्राम का।

आवेदन के फॉर्म को आप नजदीक के एलपीजी वितरण केंद्र से मुफ्त में प्राप्त कर सकते हैं या फिर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

मैनपुरी में सैनिक स्कूल के कार्यक्रम में शामिल हुए अखिलेश यादव

Published

on

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार को मैनपुरी स्थित सैनिक स्कूल के लोकल बाॅडी मीटिंग डे में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। इस मीटिंग में मेजर जनरल परवेश पुरी जीओसी, चेयरमैन के साथ सैनिक स्कूल के प्रिंसिपल लेफ्टिनेंट कर्नल अग्निवेश पाण्डेय तथा स्क्वाड्रन लीडर प्रणव नागर, प्रशासनिक अधिकारी आदि उपस्थित थे। सैनिक स्कूल के बच्चों को संबोधित करते हुए श्री यादव ने कहा, सैनिक शिक्षा जीवन को सुनियोजित बनाती है। पूर्व मुख्यमंत्री ने सैनिक स्कूल के अधिकारियों व बच्चों के साथ लंच भी किया।

सैनिक स्कूल के कार्यक्रम में अखिलेश यादव के साथ मैनपुरी के पूर्व सांसद तेज प्रताप यादव, विधायक राज कुमार उर्फ राजू यादव व पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी भी शामिल रहे। बता दें कि मैनपुरी के इस सैनिक स्कूल की स्थापना समाजवादी सरकार के कार्यकाल में ही हुआ था। अखिलेश यादव पहली बार सैनिक स्कूल के कार्यक्रम में शामिल हुए। वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश में कुल चार (लखनऊ, झांसी, मैनपुरी, अमेठी) सैनिक स्कूल हैं। जिसमें से तीन नए सैनिक स्कूल पूर्ववर्ती सपा सरकार में बने।

यह भी पढ़ें-10 अरब का ईपीएफ घोटाला : 26 नवंबर से भूख हड़ताल करेंगे संविदा बिजली कर्मचारी

मैनपुरी यात्रा के दौरान सपा मुखिया ने तमाम गांवों में किसानों, महिलाओं व समर्थकों से मुलाकात की। अखिलेश यादव ने मैनपुरी के गांव गुझिया में दीवान सिंह यादव के घर जाकर उन्हें सांत्वना दी। पिछले दिनों दीवान सिंह के पुत्र की ट्रैक्टर दुर्घटना में मौत हो गयी थी। पूर्व मुख्यमंत्री ने आलू किसानों की दुर्दशा पर चिंता भी जतायी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

10 अरब का ईपीएफ घोटाला : 26 नवंबर से भूख हड़ताल करेंगे संविदा बिजली कर्मचारी

Published

on

लखनऊ। संविदा कर्मचारियों के ईपीएफ में 10 अरब घोटाले को लेकर उप्र विद्युत मजदूर संगठन और विद्युत संविदा मजदूर संगठन ने मंगलवार को आपात बैठक की। हजरतगंज के नरही स्थित कार्यालय में हुई बैठक में मजदूर संगठनों ने संघर्ष समिति पर घोटाले के जिम्मेदारों को बचाने का आरोप लगाया। साथ ही 26 नवंबर से प्रदेश भर में भूख हड़ताल करने का ऐलान किया है।संयुक्त बैठक में विद्युत संविदा मजदूर संगठन के अध्यक्ष आरएस राय, शमीम अहमद शमीम, आरसी पाल, आलोक सिंहा, नवीन श्रीवास्तव, श्रीचंद, विमल पांडे, आरवाई शुक्ला, पुनीत राय, जलीलुर्रहमान, एसके सिंह, गंगाधर त्रिपाठी आदि मौजूद थे।

बैठक को संबोधित करते हुए मजदूर नेता आरएस राय ने कहा कि संघर्ष समिति, संविदा कर्मचारियों के ईपीएफ मद में किए गए 10 अरब के घोटाले के लिए दोषी अभियंताओं को बचाने का प्रयास कर रही है। कहा कि संविदा कर्मियों के वेतन से वर्ष 2012 से अब तक लगातार ईपीएफ की कटौती करके वितरण खंडों के अधिशासी अभियंताओं द्वारा ठेकेदारों को चेक के माध्यम से भुगतान किया जाता रहा। लेकिन 90 प्रतिंशत ठेकेदारों ने ईपीएफओ में ईपीएफ का पैसा जमा ही नहीं किया। अधिशाषी अभियंताओं की मिलीभगत से ही ठेकेदारों ने संविदाकर्मियों की गाढ़ी कमाई का गबन कर दिया। श्री राय ने घोटाले की सीबीआई जांच कराकर ठेकेदारों और इंजीनियरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

यह भी पढ़ें-विश्व शौचालय दिवस पर शहरों में Women friendly सार्वजनिक शौचालयों की मांग

संगठन के मीडिया प्रभारी विमल चंद पांडेय ने कहा कि 15 नवंबर को संगठन के एक प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात के दौरान ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और चेयरमैन अरविंद कुमार ने घोटाले की सीबीआई जांच कराने, संविदाकर्मियों को पैसा वापस दिलाने एवं हादसों में मृत कर्मचारियों के परिवारों को पेंशन दिलाने का आश्वासन दिया था। लेकिन आज तक सरकार ने कोई आदेश जारी नहीं किया। श्री पांडेय ने कहा कि हमारी मांग के अनुसार सरकार ने अभी तक 23 अरब रुपए के जीपीएफ सीपीएफ घोटाले की प्रतिपूर्ति के लिए राजाज्ञा भी नहीं जारी की। कहा कि सरकार ने यदि तत्काल हमारी मांगों पर विचार नहीं किया तो 26 नवंबर से विद्युत मजदूर संगठन और विद्युत संविदा मजदूर संगठन संयुक्त रूप से दो दिवसीय भूख हड़ताल करेंगे। प्रदेश के हर जिले में डीएम एसडीएम को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा जाएगा।

यह भी पढ़ें-विश्व शौचालय दिवस पर शहरों में Women friendly सार्वजनिक शौचालयों की मांग

मुख्य महामंत्री आलोक सिंहा ने कहा कि मंगलवार को भी अपने पद का दुरूपयोग करते हुए अभियंताओं ने अपने अधीनस्थ कार्यालयों में कार्य बहिष्कार किया। लेकिन फिर भी अधिकांश संविदा कर्मचारी कार्यालय में ड्यूटी पर उपस्थित रहे। प्रदेश संयोजक पुनीत राय ने कहा कि अभियंताओं के दबाव के बावजूद प्रदेश भर में संविदा कर्मियों ने बिजली घरों में उपस्थित रहकर विद्युत आपूर्ति सामान्य रखने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। जिसके कारण उपभोक्ताओं को कोई कठिनाई नहीं हुई।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

पीएफ घोटाले को लेकर कांग्रेस ने योगी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

Published

on

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा, भाजपा सरकार में ही हुआ पूरा घोटाला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पाॅवर कारपोरेशन (यूपीपीसीएल) में कर्मचारियों भविष्य निधि घोटाले को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने दावा किया है कि उनके पास डीएचएफएल में हुए निवेश का पूरा ब्यौरा है। मंगलवार को प्रदेश कार्यालय में प्रेस वार्ता करते हुए अजय कुमार लल्लू ने कहा, यूपीपीसीएल में अकाउंट से डीएचएफएल में हुए निवेश का पूरा रिकार्ड कांग्रेस पार्टी के पास है। लल्लू ने कहा कि सरकार से हमने लगातार जवाब तलाब किया, लेकिन भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया। भाजपा सरकार अपनी जवाबदेही से बच रही है। पीएफ घोटाले में गया पूरा पैसा भाजपा सरकार के कार्यकाल में ही डीएचएफएल में ट्रांसफर किया गया।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 7 अक्टूबर 2017 के बाद 2300 करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश डीएचएफएल में किया गया। दिसंबर 2018 तक डीपीएफ की रकम 60 किश्तों में डीएचएफएल में जमा कराई गयी। कांग्रेस नेता ने एक बैंक स्टेमेंट दिखाते हुए कहा, यह कागज इस बात का प्रमाण है कि किस तरह से यूपीपीसीएल के खाते से डीएचएफएल को रकम ट्रांसफर की गयी। लल्लू ने कहा कि बिजली कर्मचारी दो दिन से अपनी गाढ़ी कमाई के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन सरकार उनसे वार्ता करने के बजाय उन्हें धमकी दे रही है। लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। अभिव्यक्ति की आजादी को छीनने का प्रयास किया जा रहा है। कर्मचारियों की बीबी व बच्चों ने भी सड.कों पर लगातार प्रदर्शन किया है।

श्री लल्लू ने कहा कि आखिर यह कैसा न्याय है कि पूर्व के एमडी को गिरफतार किया गया लेकिन भाजपा सरकार के कार्यकाल में जिन अधिकारियों ने डीएचएफएल में पैसा निवेश किया, उनके खिलाफ कोई कोई कार्रवाई नहीं हुआ। श्री लल्लू ने पूछा कि आलोक कुमार पर सरकार इतनी मेहरबान क्यों है? ऐसी क्या वजह है कि ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा पर मुख्यमंत्री अब तक मेहरबान हैं? कांग्रेस नेता ने कहा, प्रदेश की जनता और बिजली कर्मचारी जानना चाहते हैं कि आखिरी भाजपा सरकार में भविष्य निधि का जो पैसा डिफाल्टर कंपनी में निवेश किया गया, वह कैसे वापस आएगा? श्री लल्लू ने कहा, कांग्रेस ने सोमवार को भी सरकार से 8 सवाल पूछे, लेकिन अब तक कोई जवाब नहीं मिला। श्री लल्लू ने कहा कि हमारी मांग है कि ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को बर्खास्त किया जाए। यूपीपीसीएल के एमडी, सीएमडी और प्रमुख सचिव को भी पद से हटाते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाए। सरकार जब तक ये कदम नहीं उठाएगी, कांग्रेस पार्टी सड़क से लेकर सदन तक बिजली कर्मचारियों के संघर्ष करती रहेगी।

यह भी पढ़ें-होमगार्ड ड्यूटी घोटाला: होमगार्ड कार्यालय में लगी आग पर सीएम योगी सख्त नाराज

उन्नाव के पीड़ित किसानों की भी आवाज बनेगी कांग्रेस

उन्नाव में किसानों पर बर्बर लाठीचार्ज के बारे में श्री लल्लू ने बताया कि कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल पीड़ित किसानों से मिलने गया है। हमारी पार्टी पीडि.त किसानों के साथ मजबूती के साथ खड़ी है। जरूरत पड़ने पर हम उनके आंदोलन में के सहभागी भी बनेंगे। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि देश की बदहाल अर्थव्यवस्था को लेकर 20 नवंबर से पूरे प्रदेश में कार्यक्रम शुरू होंगे। जो 25 नवंबर तक चलेंगे। लल्लू ने बताया कि 30 नवंबर को सोनिया गांधी के नेतृत्व में प्रस्तावित भारत बचाव रैली को अब 14 दिसंबर कर दिया गया है। प्रेस कांन्फे्रंस में अजय कुमार लल्लू के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता राजीव त्यागी, मीडिया प्रभारी उमाशंकर सहित कई नेता मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 20, 2019, 8:31 am
Partly sunny
Partly sunny
14°C
real feel: 17°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 90%
wind speed: 0 m/s NW
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:59 am
sunset: 4:45 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending