Connect with us

प्रदेश

यूपी: एक बार फिर 16 साल की किशोरी हुई हैवानियत का शिकार, आरोपी फरार…

Published

on

मासूम हैवानियत

फाइल फोटो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के थाना ठाकुरगंज में एक बार फिर एक मासूम हैवानियत का शिकार हुई है। जी हां आपको बता दे कि 16 साल की मासूम बच्ची को दर्रिंदों ने हैवानियत का शिकार बनाया है। घटना ठाकुरगंज के एमसी सक्सेना के पीछे सरकारी प्रॉपर्टी में रहने वाली 16 साल की मासूम बच्ची की है, यहाँ पर काम कर रहे ठेकेदार जितेंद्र ने जिसकी आयु लगभग 28 वर्ष बताई जा रही है। जितेंद्र ने लड़की को अकेली पाकर उसके साथ बलात्कार किया।  लडक़ी की माँ जब 4 बजे बकरी लेकर घर से बाहर गयी तो युवक ने घर में घुसकर लड़की के साथ दुष्कर्म किया।

ये भी पढ़े:‘जय श्री राम’ का नारा लगाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर भड़की दीदी, दी ये धमकी…

बकरी को लेकर जब मां घर वापस आईं तो डरी, सहमी बच्ची पूरी आप-बीती मां सुनाई। उसके बाद लड़की की मां उसे लेकर ठाकुरगंज थाने आई। जिसके बाद थाने की पुलिस ने परिवार वालों को बालागंज चौकी का रास्ता दिखाया। बालागंज चौकी पर भी पीड़ित की सुनवाई नहीं हुई फिर पीड़ित परिवार ठाकुरगंज थाने आया। थाने में बहुत देर बैठाए रखने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नही की गयी। ऐसे में पीड़ित के परिवार वालों का कहना है कि पुलिस मामले को पैसा लेकर मैनेज करने में लगी थी। मामला मीडिया के प्रकाश में आने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया, जिसके बाद आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई। पुलिस आरोपी को पकड़ने में नाकाम नज़र आ रही है और आरोपी अभी भी जेल की सलाखों से दूर हैं।

अब देखना यह है कि क्या एक मासूम बच्ची को इंसाफ मिलेगा या इसी तरह छोटी-छोटी बच्चियां दरिदों की दरिदंगी का शिकार होती रहेंगी और हमारी पुलिस बेखौफ घूम रहे इन आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रहेगी।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

वाराणसी: बारिश के बीच दुकान में शरण लिए छात्रा के साथ चार युवकों ने किया दुराचार का प्रयास

Published

on

सांकेतिक चित्र

वाराणसी: यूपी के वाराणसी से शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां बारिश के चलते एक दुकान में शरण लेने वाली छात्रा के साथ चार युवकों ने जबरदस्ती करने का प्रयास किया। पीड़ित छात्रा ने किसी तरह युवकों से अपना पिछा छुड़ाया और पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर युवकों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है।

ये भी पढ़े- अरुण जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे लालकृष्ण आडवाणी

जानकारी के मुताबिक रविवार की शाम वह दुर्गाकुंड स्थित कोचिंग से लौट रही थी कि इसी दौरान तेज बारिश होने लगी। बारिश से बचने के लिये वह सड़क किनारे लस्सी की दुकान में खड़ी हो गयी। जहां छात्रा के साथ दुकानदार व तीन अन्य युवकों ने मिलकर दरिंदगी करने की कोशिश की। छात्रा ने विरोध किया तो वो मनमानी पर उतर आए। लड़की के मुंह में जबरन पनीर और लस्सी डाल दिया। किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर छात्रा वहां से भागी और अपने साथ हुई पूरी घटना की सूचना डायल 100 को दी। छात्रा का आरोप है कि अगर पुलिस समय पर पहुंच जाती तो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा सकता था। जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर युवकों को हिरासत में ले लिया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

शहर में गणेश चतुर्थी की तैयारियां शुरू, बप्पा की मूर्तियों को आकार देने लगे कलाकार

Published

on

गणेश चतुर्थी

फाइल फोटो

लखनऊ। गणेश चतुर्थी को विघ्न विनाशक की जयंती के रूप में मनाया जाता है। गणेश चतुर्थी के मौके पर गणेश जी को ज्ञान, सुख-समृद्धि और सौभाग्य के देवता के रूप में पूजा जाता है। ऐसे में देश की हर कोने में गजानन की मूर्तियां बननी शुरू हो गई हैं. सभी कारीगर भगवान गणेश की सुंदर-सुंदर मूर्तियां बनाने मे जुटे हुए हैं. ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष के दौरान हुआ था। इंग्लिश कैलेंडर के अनुसार अगस्त या सितंबर के महीने में गणेश चतुर्थी मनायी जाती है।

गणेश चतुर्थी का त्योहार, गणेशोत्सव, अनंत चतुर्दशी के 10 दिनों के बाद समाप्त होता है, जिसे गणेश विसर्जन दिवस के रूप में भी जाना जाता है। अनंत चतुर्दशी पर सभी भक्तजन एक जुलूस निकाल कर भगवान गणेश की मूर्ति को जल में विसर्जित करते हैं। 10 दिन तक चलने वाला गणेश चतुर्थी का यह त्योहार 2 सितंबर को मनाया जाएगा।

ये भी पढ़ें:पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद की पत्नी भाजपा में शामिल, सियासी सरगर्मी बढ़ी

बता दें गणेश चतुर्थी के त्योहार को मनाने के लिए देशभर में गणेश भगवान की मूर्तियां बननी शुरू हो गई हैं। गणेश चतुर्थी सबसे ज्यादा हर्षोउल्लास से मुंबई नगरी में मनायी जाती है। ऐसे में मूर्तिकारीगर पूरे जोश के साथ गजानन की मूर्तियों को बनाने में जुट गए हैं। देश हर एक कोने में इन दिनों बस गणेश जी की प्रतिमा नजर आ रही है। ऐसे में लखनऊ से भी कुछ तस्वीरें सामने आईं है, जहां कारीगर गजानन की मूर्ति बनाने में जुटे हुए हैं। ऐसे में चलिए हम आपको गणपति स्थापना और पूजा का शुभ मुहर्त भी बता देते हैं।   

 ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म मध्य काल के दौरान हुआ था इसलिए मध्याह्न के दौरान गणेश पूजा को प्राथमिकता दी जाती है। हिंदू समय को ध्यान में रखते हुए, सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच की अवधि को पांच समान भागों में विभाजित किया गया है। इन पांच भागों को प्रथक्काल, संघवा, मध्यमहना, अपर्णा और सयांकल के नाम से जाना जाता है। गणेश चतुर्थी पर गणपति स्थापना और गणपति पूजा, दिन के मध्य भाग में की जाती है और वैदिक ज्योतिष के अनुसार गणेश पूजा के लिए यह सबसे उपयुक्त समय माना जाता है। मध्याह्न के दौरान, गणेश भक्त विस्तृत अनुष्ठानपूर्ण गणेश पूजा करते हैं, जिसे षोडशोपचार गणपति पूजा के रूप में जाना जाता है।

गणेश चतुर्थी पूजन विधि-

जानकारी के मुताबिक गणेश चतुर्थी के दिन गजानन को विधिवत वस्त्र और उपनयन से सजा कर उचित आसन देकर विधिवत पूजन कर के स्थापित करते हैं। मध्यान्ह काल में पूरे विधि विधान के साथ गणेश पूजन किया जाता है। इस दिन भक्त पूरे पांडाल को सजाते हैं। श्री गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए उनको गीत और संगीत के माध्यम से भजन का सुंदर प्रस्तुतीकरण किया जाता है। मंत्रों के मधुर उच्चारण से पूरा माहौल एक दम भक्तिमय हो जाता है। दुर्गा पूजा की तरह यह उत्सव भी 10 दिन तक चलता है फिर अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान गणेश जी की प्रतिमा का विसर्जन कर दिया जाता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद की पत्नी भाजपा में शामिल, सियासी सरगर्मी बढ़ी

Published

on

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी इन दिनों जोरशोर से सदस्यता अभियान चलाकर अपने कार्यकर्ताओं की फौज खड़ी कर रही है। इस कवायद में भाजपा किसी भी तरह का भेदभाव नहीं कर रही है, फिर चाहे वह अपराधी हो या बाहुबली। पूर्वांचल के ज्यादातर बाहुबली माननीय अब भाजपा में आ चुके हैं। अब एक और बाहुबली परिवार भाजपा से जुड़ गया। सोमवार को जौनपुर के बाहुबली नेता और पूर्व सांसद धनंज्जय सिंह की पत्नी श्रीकला रेड्डी ने हैदराबाद में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।
भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने श्रीकला रेड्डी के साथ ही करीब 60 लोगों पार्टी की सदस्यता दिलाई। सूत्रों के अनुसार श्रीकला रेड्डी भाजपा के टिकट पर चुनाव भी लड.ेंगी। श्रीकला रेड्डी धनंज्जय सिंह की तीसरी पत्नी हैं। 2017 में उन्होंने बाहुबली नेता के साथ शादी रचाई थी। तब धनंज्जय सिंह और श्रीकला की शाही शादी ने खूब सुर्खियां बटोरी थी। खबरों के मुताबिक श्रीकला रेड्डी हैदराबाद से ही अपनी राजनीतिक पारी की शुरूआत करेंगी।

यह भी पढ़ें-आईएएस अफसर ने बंद किया अपार्टमेंट का आपातकालीन रास्ता, विरोध करने पर दिखाई दबंगई

बता दें कि श्रीकला रेड्डी निप्पो कारोबारी समूह के घराने की बेटी हैं। उनके पिता तेलंगाना के हुजूरनगर से निर्दलीय विधायक रह चुके हैं। जौनपुर से बसपा सांसद रहे धनंज्जय सिंह और मायावती के बीच 2009 में रिश्ते खराब हो गए थे, जिसके बाद धनंज्जय सिंह को बसपा से निकाल दिया गया था। 2014 और फिर 2019 के लोकसभा चुनाव में धनंज्जय सिंह भाजपा में आने चाहते थे लेकिन इंटी नहीं मिली। 2014 में वह निर्दलीय चुनाव लड़े लेकिन हार गए। 2019 में बाहुबली नेता ने चुनाव ही नहीं लड़ा।
बाहुबली नेता को भले ही भाजपा ने स्वीकार न किया हो लेकिन उनकी पत्नी की भाजपा में इंटी से पूर्वांचल की सियासत में सरगर्मी बढ़ गयी है। हैदराबाद में श्रीकला रेड्डी के भाजपा में शामिल होते ही यूपी के जौनपुर में बाहुबली नेता के समर्थकों ने खुशी की लहर दौड़ गयी है। इस मौके पर धनंजय सिंह ने अपनी पत्नी को राजनीति में आने के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 19, 2019, 5:00 pm
Cloudy
Cloudy
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 3 m/s WNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:10 am
sunset: 6:10 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending