Connect with us

प्रदेश

लखनऊ के अलीगंज में चली मतदाता जागरूकता चौपाल

Published

on

लखनऊ। अलीगंज छेत्र के अलकापुरी नवीन गल्ला मंडी स्थित एक मलिन बस्ती में एडीआर द्वारा वजूद शेयर अवर आइडेंटिटी फॉउंडेशन के सहयोग से मतदाता जागरुकता चौपाल का आयोजन किया गया। इस चौपाल का मुख्य उद्देश्य लोगों में निष्पक्ष मतदान की भावना जागृत कर, चुनाव के दौरान दिए जाने वाले अलग-अलग प्रलोभनों के प्रति लोगों में जागरुक करना था ।
मतदाता जगरूकता चौपाल में यूपी इलेक्शन वॉच के राज्य सहयोगी सन्तोष श्रीवास्तव ने लोगों से उनकी समस्याएं जानी एवं उन्हें बताया कि यदि कोई नेता चुनाव से पूर्व उनसे कोई भी वादा करता है तो यह जनता की जिम्मेदारी बनती है कि हम उसे लिखित रूप में ले और किसी भी लालच में ना पड़ कर अपना मतदान ज़रूर करे।

कार्यक्रम के दौरान मनीष गुप्ता ने लोगों को बताया कि, किस प्रकार नेता चुनाव के दौरान लोगों को पैसा -शराब जैसे प्रलोभन देकर उनका वोट बैंक अपने खाते में डलवाते हैं और चुनाव के बाद गायब हो जाते हैं
वक्ता मीनाक्षी वर्मा ने बताया की महिलाओं को मतदान के प्रति खास जागरुक होने की आवश्यकता है ,और साथ ही साथ यह भी आवश्यक है कि यदि उनके पास किसी भी प्रकार का प्रलोभन आता है तो वह उसे दरकिनार कर सही उम्मीदवार को चुनने के लिए स्वयं एवं अपने आसपास के लोगों को जागरूक करें ।
एडीआर का मुख्य उद्देश्य भारत में होने वाले चुनाव में निष्पक्षता लाना एवं चुनाव के लिए खड़े होने उम्मीदवारों का सही आकलन लोगों के सामने पेश करना है। यह संस्था लगभग हर राज्य में चुनाव के दौरान जागरूकता कार्यक्रम चलाकर लोगों को उम्मीदवारों के प्रति जागरूक कर सही मतदान प्रतिशत को बढ़ाने में योगदान देती है। कार्यक्रम में वजूद संस्था की अध्यक्ष कीर्ति मिश्रा, कल्पना द्विवेदी ,ज्ञानेश, अभिषेक गौड़, सुप्रिया समेत तमाम लोग उपस्थित रहे जिन्होंने एडीआर की कार्यशैली को जाना एवं निष्पक्ष मतदान करने की शपथ भी ली।

प्रदेश

लॉकडाउन: डॉक्टरों के पास न तो पर्याप्त टेस्टिंग किट और न ही पीपीई- अखिलेश यादव

Published

on

लखनऊ। कोरोना महामारी से बचने के लिए जहां सरकार सख्त नजर आ रहा है। वहीं विपक्षी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इस संकट काल में ट्वीट कर केंद्र की मोदी व प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने की कोशिश में लगे स्वास्थ्य कर्मियों के पास न तो पर्याप्त टेस्टिंग किट्स हैं और न ही पर्याप्त संख्या में पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) हैं। यहां तक की गरीबों को खिलाने के लिए भोजन भी नहीं है। यही हमारे सामने आज प्रमुख चुनौतियां हैं।

वहीं, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक रोशनी करने की अपील पर शेर के सहारे तंज कसा। उन्होंने ट्वीट किया कि सोचो अंदर की रोशनी बुझाकर, कौन पा सका है बाहर के उजाले। बता दें कि अखिलेश यादव इसके पहले भी कोरोना से बचाव के तरीकों पर सवाल उठाकर केंद्र व प्रदेश सरकार की आलोचना करते रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- निजामुद्दीन मरकज व तबलीगी ज़मात पर लगे पूर्ण प्रतिबन्ध- विश्व हिन्दू परिषद्

इसके उलट बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती बसपा विधायकों से इस महामारी से लड़ने में प्रदेश सरकार का साथ देने की अपील की थी जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आभार भी जताया था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

निजामुद्दीन मरकज व तबलीगी ज़मात पर लगे पूर्ण प्रतिबन्ध- विश्व हिन्दू परिषद्

Published

on

लखनऊ। तबलीगी जमात व उसके निजामुद्दीन मरकज की देश व्यापी करतूतों के कारण सम्पूर्ण भारत आज गम्भीर संकट में है। विश्व हिन्दू परिषद् ने इसे इस्लामिक कट्टरपंथी व आतंक का पोषक बताते हुए इस पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने की मांग की है। विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महा-सचिव डॉ सुरेन्द्र जैन ने कहा है, कि हम सभी भारतीयों का जीवन संकट में डालने वाले तब्लीकी जमात के आर्थिक श्रोतों का पता लगाकर उसके बेंक खातों, कार्यालयों व कार्यकलापों पर अबिलम्ब विराम लगाया जाए। उन्होंने कहा कि 8 दिन के लाकडाउन के कठिन परिश्रम के बाद पूरा देश राहत की सांस ले रहा था।

कोरोना पीड़ितों की वृद्धि दर मात्र 2.8 रह गई थी। तभी 30 मार्च को मरकज निजामुद्दीन में एक भयंकर विस्फोट हुआ। वहां से 2300 से अधिक तब्लीगियों को निकाला गया। जिनमें से 500 कोरोना पीड़ित थे और 1800 को क्वारंटाइन करना पड़ा। 9 हजार से अधिक तबलीगी पूरे देश में कोरोना वायरस फैला रहे हैं। 31 तारीख को वृद्धि दर अचानक बढ़कर 43.02% हो गई। सारा देश सकते में आ गया। मस्जिदों मदरसों में छिपे हुए देशी-विदेशी संक्रमित मौलवियों की धरपकड़ होने लगी। इनके कारण सामुदायिक संक्रमण की संभावनाएं बढ़ गई। 14-15 मार्च को मुंबई में 2 से 3 लाख तबलीगीयों का इज्तेमा होना वाला था। विहिप के विरोध के कारण उसे रोक दिया गया।

इसे भी पढ़ें- लखनऊः हेल्प यू ट्रस्ट ने 28 लोगों को दी ’कोरोना वारियर’ की उपाधि

अगर वह हो जाता तो पहले से ही कोरोना में नंबर एक पर महाराष्ट्र के साथ पूरे देश की स्थिति क्या होती इसकी आज कल्पना भी नहीं की जा सकती ! डॉ जैन ने कहा कि अपने इस घोर अपराध के लिए शर्मिंदगी महसूस करने की जगह इन संक्रमित मौलवियों को छुपाने के लिए पुलिस-कर्मियों व स्वास्थ्य कर्मियों को देश की पचासियों बस्तियों में दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। इनकी ही जान बचाने गए डॉक्टरों पर हमले किए गए। क्वॉरेंटाइन किए गए तब्लीगी नर्सों के साथ अश्लील हरकतें करने लगे और डॉक्टरों पर थूकने लगे। नरेला के क्वॉरेंटाइन सेंटर में तो सेना के चिकित्सकों और सैनिकों को ही बुलाना पड़ा। केवल निजामुद्दीन में ही नहीं, देश भर में मौलवियों ने मुस्लिम समाज को भड़काने वाले भाषण भी दिए।

बंगाल के एक मौलवी अब्बास सिद्दीकी ने तो नमाजियों को भड़काते हुए यहां तक कह दिया कि अल्लाह ऐसा वायरस भेजें जिससे 50 करोड़ हिंदू खत्म हो जाए। विहिप के संयुक्त महा सचिव ने यह भी कहा कि कोरोना पीड़ित व्यक्तियों की संख्या में से आधे से अधिक संख्या तबलीगी, मौलवी या उनसे संक्रमित लोगों की है। संपूर्ण देश तब्लीगियों और उनसे प्रभावित कट्टरपंथियों के इस व्यवहार से बहुत आश्चर्यचकित व खिन्न है। ऐसा लग रहा है कि कोरोना संक्रमण को हथियार के रूप में प्रयोग कर इनमें आत्मघाती बम बनने की होड़ लगी है.http://www.satyodaya.cam

Continue Reading

प्रदेश

लखनऊः हेल्प यू ट्रस्ट ने 28 लोगों को दी ’कोरोना वारियर’ की उपाधि

Published

on

लाॅकडाउन के बीच गरीबों व जरूरतमंदों को उपलब्ध करा रहे राशन और भोजन

लखनऊ। करोना वायरस महामारी को देखते हुए हेल्प यू एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट ने हेल्प यू कोरोना वारियर फंड की स्थापना की है। इस फंड में कोई भी व्यक्ति कम से कम 500 की आर्थिक सहायता राशि दे सकता है।

ट्रस्ट ने यह भी निर्णय लिया है कि सहयोग करने वाले व्यक्ति को कोरोना वारियर की उपाधि से सम्मानित भी किया जाएगा। ट्रस्ट द्वारा प्रतिदिन जरूरतमंदों और निराश्रित लोगों के लिए लखनऊ पुलिस के माध्यम से लंच पैकेट का वितरण किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-देश का हर नागरिक इस कठिन दौर में फौजी की तरह संघर्ष कर रहा- वसीम रिजवी

इस ट्रस्ट के प्रबंधक ने लखनऊ पुलिस और डायल 112 का भी सहयोग के लिए आभार प्रकट किया हैं। अब तक सहयोग राशि के अलावा इस महामारी के बीच जरूरतमंदों और निराश्रित लोगों की मदद के लिए तमाम लोगों को कोरोना वारियर उपाधि से सम्मानित भी किया जा चुका है।

श्री हर्ष वर्धन अग्रवाल ने बताया कि अब तक “कोरोना वारियर” की उपाधि से डॉ० शिव नारायण कुरील, श्री के०पी०एस० चौहान, श्री मानवेन्द्र प्रताप सिंह, श्री ए०के० जायसवाल, श्री ब्रजेश मिश्रा, श्री वीरेन्द्र सिंह, श्री पवन अग्रवाल, श्री प्रशांत सिंह ‘अटल’, श्री खालिद गौरी, श्री तारिक़ गौरी,श्री मनीष शर्मा तथा श्री वंश खन्ना आदि को सम्मानित किया गया है l

ट्रस्ट के प्रबंधक ने अपील करते हुए कहा है कि आपदा की इस घड़ी में सब के सहयोग की अत्यधिक जरूरत है एवं सामर्थ्यवान लोग से व्यक्तिगत निवेदन है कि अपने सामर्थ्य के अनुसार ट्रस्ट में सहयोग कर मानव सेवा को जारी रखें। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनहित और देश हित में जारी सभी निर्देशों का पालन भी करें, और लॉकडाउन के दौरान अपने घर में रहकर इस चैन को तोड़ने में सहयोग करें, जिससे देश इस वैश्विक महामारी से उबर सके।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 5, 2020, 7:38 pm
Clear
Clear
32°C
real feel: 31°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 22%
wind speed: 2 m/s WNW
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:23 am
sunset: 5:56 pm
 

Recent Posts

Trending