Connect with us

प्रदेश

योगी सरकार का नदियों की पूजा कर बाढ़ रोकने का तरीका हास्यास्पद: कांग्रेस

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने प्रदेश में भारी बारिश के आई बाढ़ से हुए नुकसान पर योगी सरकार पर उदासीनता का आरोप लगाया है। अजय कुमार लल्लू ने कहा कि बारिश के चलते यूपी की कई नदियों में जल स्तर खतरे के निशान के ऊपर पहुंच गया। कई तटबंध टूटने के कगार पर। सैकड़ो गांव जलमग्न हो गये है। हजारो एकड़ फसले बर्बाद हो चुकी है। मवेशी संकट में है। लेकिन सरकार ने अभी तक बाढ़ की रोकथाम के लिये कोई ठोस एक्शन प्लान नही बनाया। उन्होंने कहा कि 76 बंधे अति संवेदनशील हैं। बाढ़ स्थायी संचालन समिति की बैठक में 3000 करोड़ रुपये का प्रस्ताव सिंचाई विभाग ने रखा था। लेकिन योगी सरकार ने मात्र 1300 करोड़ रुपया की स्वीकृति किया।

कांग्रेस अध्यक्ष ने जारी प्रेस बयान में कहा कि कोरोना के कहर के बीच बाढ़ का संकट गहराता जा रहा है। लगातार बारिश होने से पूरा प्रदेश बाढ़ की चपेट में है। जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। गोरखपुर, बस्ती, महराजगंज, कुशीनगर, बहराइच, गोण्डा, बाराबंकी, बनारस व फैजाबाद जिलों के सैकड़ो गांव जलमग्न हो गये है। किसानों की हजारो एकड़ की फसले बर्बाद हो गयी है। मवेशियों को चारा का संकट है। बाढ़ में फंसे लोगो के लिये आवागमन की कोई सुविधा नही मिल पायी है। पीड़ित परिवार भोजन की समस्या से जूझ रहे है। सरकार ने अभी तक कही भी खाद्यान्न वितरित नहीं किया है।

उन्होंने आगे कहा कि बूढ़ी गंडक, मवने नाले, घाघरा, सरयू और राप्ती नदी में बने कई तटबंध पहले से ही जर्जर अवस्था मे है। बाढ़ का संकट बढ़ने से बाराबंकी में सरसवां तटबंध, कुशीनगर का अमवा खास सहित कई तटबंध टूटने के कगार पर है। उन्होंने खुद ही अपनी विधानसभा तमकुहीराज के जर्जर तटबंधों की मरम्मत के लिये विधानसभा में मांग उठायी थी। लेकिन सरकार ने अभी तक उसकी सुध नहीं ली है। कहा कि क्या सरकार भीषण बाढ़-संकट का इंतजार कर रही है?

श्री लल्लू ने जलशक्ति मंत्री के नदी में पूजा अर्चना पर तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को गैर-जिम्मेदार बताते हुये कहा कि इस संकट की घड़ी में जहां बाढ़-परियोजनाओं के लिये धन आवंटित करने के साथ ही बाढ़-ग्रस्त इलाको में बाढ़- चौकियां बनाने की जरूरत है। बाढ़ से प्रभावित किसानों को राहत पैकेज देने की जरूरत है। वही प्रदेश सरकार द्वारा नदियों की पूजा कर बाढ़ रोकने का तरीका हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वांग रच रहे है। नदियां मां के समान है, लेकिन बाढ़ की रोकथाम न करना जिम्मेदारियों से भाग रहे है।

यह भी पढ़ें:- यूपीः जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का किया हवाई सर्वेक्षण

अजय कुमार लल्लू ने अपने बयान में कहा कि पिछले साल बाढ़ से सैकड़ों मौते हुई थी। अभी तक सभी पीड़ित परिवारों को मुआवजा नही मिल पाया। बाढ़-राहत कोष मंत्रालय और जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत से जमकर बंदरबाट किया गया। उन्होंने प्रदेश सरकार को सचेत करते हुए कहा कि बाढ़ की विभीषिका को गंभीरता से लें और बाढ़-रोकथाम के लिये ठोस एक्शन प्लान बनाये। उन्होंने प्रदेश सरकार से तुरंत बाढ़ राहत पैकेज की मांग करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार बाढ़ से हुए नुकसान, प्रभावित क्षेत्रों और नष्ट हुई फसलों का मूल्यांकन कर पीड़ित जन-मानस को मुआवजा का प्रबंध करना चाहिये।http://www.satyodaya.com

प्रदेश

पीस पार्टी के अध्यक्ष डाॅ. अय्यूब अंसारी पर लखनऊ पुलिस ने लगाया रासुका

Published

on

लखनऊ। पीस पार्टी के अध्यक्ष डाॅ. अय्यूब पर लखनऊ पुलिस ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्यवाही की गयी है। डॉक्टर अय्यूब पर सांप्रदायिक हिंसा फैलाने की कोशिश करने, समाज में वैमनस्व बढ़ाने की साजिश रचने जैसे आरोप हैं। डाॅ. अय्यूब ने कुछ दिन पहले उर्दू अखबारों में विवादित विज्ञापन और बयान छपवाए थे। जिसके बाद उनके खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। हजरतगंज कोतवाली के सब-इंस्पेक्टर केके सिंह ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

यह भी पढ़ें-पीस पार्टी के अध्यक्ष डाॅ. अय्यूब को लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

बीते 31 जुलाई को लखनऊ पुलिस ने डाॅ अय्यूब को लखनऊ पुलिस ने उन्हें गोरखपुर स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया था। अय्यूब अंसारी ने अपने विज्ञापनों में देश विरोधी बाते कहते हुए समाज को तोड़ने वाली बातें कही थी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

रामपुर: आजम खां के करीबी पूर्व पुलिस अधिकारी आले हसन गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। पूर्व कैबिनेट मंत्री व सांसद आजम खां के करीब पूर्व सीओ आले हसन को आज रामपुर में गिरफ्तार कर लिया गया। आले हसन पर आरोप है कि उन्होंने जौहर विश्वविद्यालय के लिए आजम खां के साथ मिलकर किसानों व अन्य ग्रामीणों की जमीनों पर जबरन कब्जा किया। आले हसन पर 50 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। सोमवार को वह कोर्ट में सरेंडर करने जा रहे थे। तभी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पेशी से गायब रहने पर अदालत ने धारा 82 के तहत कुर्की की उद्घोषणा की कार्रवाई के भी आदेश दिए थे।

2017 में पुलिस सेवा से रिटायर होने के बाद आले हसन जौहर युनिवर्सिटी के मुख्य सुरक्षा अधिकारी बन गए थे। आले हसन और आजम खां की करीबी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि प्रदेश में जब-जब सपा की सरकार बनी तो आले हसन को रामपुर में तैनात किया गया। रामपुर के सीओ सिटी रह चुके आले हसन सपा नेता आजम खान के साथ कई मामलों में नामजद हैं।

यह भी पढ़ें-पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी कोरोना पाॅजिटिव, अस्पताल में भर्ती

बता दें कि सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां भी इस समय जेल में हैं। योगी सरकार आजम खां को भू-माफिया घोषित कर चुकी है। उन पर 55 से अधिक केस दर्ज हैं। आजम खां के विधायक बेटा अब्दुल्ला आजम और विधायक तंजीम फातिमा के खिलाफ भी जालसाजी का केस दर्ज किया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

मुख़्तार के इशारे पर भाजपा विधायक की हत्या कर चोटी भी काट ले गया था हनुमान पांडे

Published

on

बाहुबली मुख्तार अंसारी व अभय सिंह का 15 साल पुराना ऑडियो वायरल

लखनऊ। मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का शाॅर्प शूटर राकेश पांडेय उर्फ हनुमान पांडेय मारा जा चुका है। रविवार को यूपी एसटीएफ ने उसे लखनऊ के सरोजनीनगर थाना क्षेत्र में एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया। राकेश पांडेय के एनकाउंटर के बाद सोशल मीडिया पर मुख्तार अंसारी का 15 साल पुराना एक ऑडियो तेजी से वायरल हो रहा है। यह ऑडियो ठीक उस समय रिकार्ड किया गया था, जब मुख्तार के इशारे पर भाजपा विधायक कृष्णानंद राय पर गोलियां चल रहीं थी। ऑडियो में मुख्तार के साथ अभय सिंह की बातचीत है। दोनों उस वक्त जेल में थे।

ऑडियो की सत्यता की पुष्टि करते हुए आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि उस दिन अभय सिंह ने किसी जमीन की डील को लेकर मुख्तार को फोन मिलाया था। लेकिन उस समय कृष्णा नंद राय पर मुन्ना बजरंगी अपने शूटरों के साथ हमला कर रहा था। मुख्तार ने अभय सिंह की बात काटते हुए कहा-

मुख्तार: इस समय मुन्ना बजरंगी और कृष्णानंद राय के बीच गोली चल रही है…
अभय सिंहः गोली बराबर चल रही है…या एकतरफा…
मुख्तार: जयश्रीराम (कटाक्ष या अहंकारपूर्ण)
अभय सिंह समझ जाता है और चुप हो जाता है।
कुछ देर बाद, मुख्तार: काट लिया मुट्ठी में…

मुख़्तार ने कहा था, काट लीन्हीं चोटी…मुट्ठी में…

आईजी एसटीएफ ने दोनों की बातचीत का मतलब समझाते हुए बताया कि कृष्णा नंद राय एक बड़ी चोटी रखते थे। जब मुख्तार ने अभय के सवाल पर कटाक्षपूर्ण तरीके से जयश्रीराम कहा तो वह समझ गया कि भाजपा विधायक की हत्या हो गयी है। इसके कुछ ही देर बाद मुख्तार ने अभय सिंह से फोन पर कहा, काट लीन्हीं…मुट्ठी में…।

यह भी पढ़ें-UP: BJP विधायक की हत्या का आरोपी इनामी बदमाश एनकाउंटर में ढेर, फैली सनसनी

आईजी एसटीएफ ने बताया कि दरअसल कृष्णानंद राय की हत्या के शाॅर्प शूटर राकेश पांडेय उर्फ हनुमान पांडेय ने उनकी चोटी काट ली थी। जिसे उसने मुख्तार अंसारी को भेंट किया था।

मुख्तार ने इसलिए रखा था हनुमान पांडेय नाम

आईजी एसटीएफ ने बताया मुन्ना बजरंगी और मुख्तार का खास शूटर रहा राकेश पांडेय का दूसरा नाम हनुमान पांडेय मुख्तार ने ही रखा था। दरअसल राकेश पांडेय भोजन बहुत अधिक करता था। इसीलिए मुख्तार ने उसका नाम हनुमान पांडेय रख दिया था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 10, 2020, 3:57 pm
Rain
Rain
34°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 66%
wind speed: 4 m/s E
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:06 am
sunset: 6:18 pm
 

Recent Posts

Trending