Connect with us

बिहार

बीएसएफ से सिनेमा की तरफ रुख करने वाले भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी को जानिए क्यों जाना पड़ा था तिहाड़ जेल…

Published

on

अपने बहुचर्चित गाने की वजह से गए थें जेल

दिल्ली के ओखला बाजार में लिट्टी की दूकान लगाने वाले खेसारी लाल आज भोजपुरी के सुपरस्टार हैं।अत्यंत ही गरीबी का जीवन जी चुके खेसारी के पिता लिट्टी-चोखा बेच कर घर-परिवार का गुजारा करते थें। बहुत ही जल्दी खेसारी की शादी हो गयी थी।दूकान में काम करने के साथ खेसारी कम्पटीशन की तैयारी भी करते थें।शादी के महज ढाई साल बाद ही खेसारी का चयन बीएसएफ में हो गया।

वो कहते हैं न की भगवन की मर्जी के आगे किसी की नहीं चलती है। दुनिया में सितारे की तरह चमकने के लिए जन्मे खेसारी का मन बीएसएफ में नहीं लगा।जिसके बाद वो जल्द ही अपनी जॉब छोड़ कर भोजपुरी इंडस्ट्री की तरफ आ गए।अपने एल्बम के बाद खेसारी ने ‘साजन चले ससुराल’ से भोजपुरी फिल्‍मों में इंट्री की थी। इस फिल्‍म के लिए उन्‍हें 11 हजार रुपये मिले थे। उनकी यह फिल्‍म सिल्‍वर जुबली साबित हुई।

अब तक 60 फिल्म कर चुके खेसारी को अपनी एक एल्बम की वजह से जेल की हवा भी खानी पड़ी थी। इसका कारण था उनके लोकप्रिय एल्बम ‘बोल बम’ का गाना की वजह से जेल की हवा भी खानी सबसे ज्याद लोकप्रियता उनके एल्बम ‘बोल बम’ से मिली। खेसारी ने एक गाना गाया था ‘काहे सानिया मिर्जा दूल्हा खोजले पाकिस्तानी’। इस गाने के रिलीज होने के दो दिन बाद ही खेसारी पर सानिया मिर्जा ने मानहानि का केस कर दिया था। जिसके बाद उन्‍हें तिहाड़ जेल ही हवा खानी पड़ी थी। हालांकि तीन दिन बाद ही वे जेल से वापस आ गये थे। इस गाने से उन्‍हें एक आम इंसान से खास बना दिया।

यह भी पढ़ें- रांची: नाबालिग के साथ चलती कार में दुष्कर्म करने के बाद पहुंचाया मेरठ, आपबीती सुनकर आपके भी हो जाएंगे रोंगटे खड़े…

तिहाड़ से आने के बाद लोगों में खेसारी का क्रेज और भी ज्यादा बढ़ गया था। इक्का-दुक्का एल्बम करने वाले आज भोजपुरी सिनेमा की पहली पसंद बन गए हैं। इसके साथ उनके ऊपर कई भोजपुरी गाने भी फिल्माएं गए हैं। बतातें चलें कि कल ही खेसरिया ने अपना 33वां जन्मदिन मलाया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार

‘पंच के बात मूड़े पर, खूंटा गाड़ब दरे पर’ वाली कहावत को सच कर रहे हैं तेजप्रताप यादव, लालू-राबड़ी मोर्चा को बताया असली RJD, मांगा अपने प्रत्याशी के लिए समर्थन

Published

on

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव के जन्मदिन पर लगा कि अब परिवार की मुश्किलें हल हो गई हैं, लेकिन ये सब केवल एक दिन की बात ही थी। तेजप्रताप के जम्दीन के मौके पर उनकी मां राबड़ी देवी आयीं, छोटे भा तेजस्वी यादव आये। मां ने घर लौटने की गुहार भी लगाई, भाई ने कृष्ण कह कर बधाई भी दी लेकिन तेजप्रताप अपने फैसले पर अडिग रहे। सबको लगा कि अब तेजप्रताप मां गए हैं लेकिन अगले ही दिन वह निर्दलीय प्रत्याशी अंगेश कुमार सिंह उर्फ अंगराज के समर्थन में शिवहर लोस क्षेत्र में जनसंपर्क करने पहुंच गए।

तेजप्रताप यादव लोगों से मिले तथा अपने लालू-राबड़ी मोर्चा को असली राजद बताते हुए समर्थन की अपील। बता दें कि तेजप्रताप यादव ने अपनी ओर से दो उम्मीदवारों के नाम घोषित किए थे। इनमें जहानाबाद से चंद्रप्रकाश और शिवहर से अंगेश कुमार सिंह थे। हालांकि राजद की ओर से इन दोनों ही जगहों पर अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं।

तेजप्रताप ने कहा कि विकास की गंगा बहेगी। काम बेहतर होगा। कई जगहों पर गाड़ी से उतरकर दुकानों पर पहुंचे। लोगों से सीधा संवाद किया। साथ ही अंगेश को वोट देने की अपील की। उन्होंने शिवहर लोस क्षेत्र के मधुबन, ढाका, चिरैया, पचपकड़ी, घोड़ासहन में रोड शो किया और अंगेश कुमार सिंह का लोगों से परिचय कराया। नारा दिया लालू को जेल से निकालना है।

इस बीच गुरुवार को शिवहर लोस सीट से राजद प्रत्याशी के तौर पर सैय्यद फैसल अली ने नामांकन पत्र मोतिहारी कलेक्ट्रेट में दाखिल किया। कुछ देर बाद सूचना मिली कि तेजप्रताप शिवहर संसदीय सीट क्षेत्र में पहुंचे हैं।

गौरतलब है कि टिकट बंटवारे को लेकर राजद में विवाद था। तभी तेजप्रताप ने लालू-राबड़ी मोर्चा का गठन किया था। कहा था कि लोकसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेंगे। इस बीच तेजप्रताप के जन्मदिन पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव उनसे मिलने गए थे। बताया था कि तेजस्वी से उनका कोई मतभेद नहीं है, सब ठीक हो जाएगा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

‘मोदी’ ने राहुल गांधी पर ठोका मुकदमा, रागा को हो सकती है दो साल की जेल, जानिए क्या है मामला    

Published

on

लोकसभा चुनाव के दौरब अब देश की राजनीति आरोपों प्रत्यारोपों से उठ कर कोर्ट में जा पहुंची है। जी हां बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ सिविल कोर्ट में मानहानि का आपराधिक मुकदमा दायर किया है। भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 500 के तहत उन्होंने आज पटना के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में केस दर्ज कराया है। इस मुकदमे में आरोप सही पाए जाने पर दो साल की सजा का प्रावधान है।

सुशील मोदी का आरोप है कि राहुल गांधी ने दिनांक 13.04.2019 को बैंगलोर से कुछ दूरी पर स्थित कोलार में अपनी एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी टाइटल वाले प्रत्येक व्यक्ति को चोर बताया है। उन्होंने इस बात को कई बात दोहरायाऔर उनका ये भाषण कई टीवी चैनल पर लाइव दिखाया गया।

इतना ही नहीं, कई अखबारों ने भी इस भाषण को प्रमुखता से छापा और पटना में अनेक लोगों ने टीवी में इसे देखा और अखबारों में पढ़ा।

सुशील मोदी ने दायर की गई अर्जी में राहुल गांधी पर यह आरोप लगाया है कि उनके इस भाषण से जितने भी मोदी टाइटल वाले व्यक्ति हैं उनको चोर बताया गया है जिससे समाज में उनकी छवि धूमिल हुई है। यह एक आपराधिक कृत्य है जिसकी सजा राहुल गांधी को अवश्य न्यायालय से मिलनी चाहिए।

इस मुकदमे में सुशील मोदी ने बताया कि उनके गवाह संजीव चौरसिया, नितिन नवीन, मनीष कुमार हैं। उन्होंने कोर्ट से यह दरख्वास्त की है कि इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ संज्ञान लेकर उन्हें न्यायालय द्वारा तलब किया जाए और उनके खिलाफ मानहानि का आपराधिक मुकदमा चलाकर सजा दी जाए। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

सुशील मोदी ने लगाया लालू यादव पर बड़ा आरोप, बेटे तेजस्वी ने दी तीखी प्रतिक्रिया, कहा…!!

Published

on

फाइल फोटो

लोकसभा चुनाव के इस दौर में पार्टियों का एक दूसरे पर हमला लगातार बढ़ गया है। एक के बाद एक आरोप लगाये जा रहे हैं। ऐसे में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि लालू ने प्रेम गुप्ता को अरुण जेटली के पास अपना संदेश देकर भेजा था कि मुझे सीबीआइ से बचा लें तो मैं नीतीश कुमार की सरकार को गिरा दूंगा।

सुशील मोदी के बयान के बाद बिहार की राजनीति गरमा गयी है। जदयू ने जहां सुशील मोदी को सही ठहराया है तो वहीं राजद ने इसपर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

पिता पर हुई इस टिप्पणी के बाद लालू प्रसाद के छोटे बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर सुशील मोदी के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने लिखा है कि सृजन चोर सुशील मोदी हार देख बौखला गए है। मानसिक दिवालिएपन की पराकाष्ठा लांघ कह रहे हैं कि लालू जी संघ से मिले हुए है। अरे, लालू जी वो है जिन्होंने संघियों की आंखों में उंगली डाल बिगड़ैल बलवाई संघियों की नाक में रस्सी पिरोई है। कोई और बहाना खोजों, राफ़ेल चोर के गोतिया भाई सृजन चोर!

तेजस्वी ने आगे लिखा है कि सृजन चोर जी, लालू जी ने संघ की घृणित नफ़रती राजनीति को बिहार में पांव पसारने नहीं दिया। आडवाणी जी को नकेल डाल उनकी उन्मादी यात्रा को रोका। 15 वर्ष में एक भी दंगा होने नहीं दिया! ख़ानदानी चोर साहब, हार की बौखलाहट में आपकी कुतर्कों से परिपूर्ण मूर्खता पर ठहाके लगा लोग हंस रहे है।

तेजस्वी ने सुशील मोदी के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी तंज कसा और लिखा कि नीतीश जी संघ की गोद में लेटे दूध पी रहे है। बिहार में संघ के असल जन्मदाता नीतीश जी हैं। संघियों ने पलटी मारने के 6 महीने बाद इनको दूध पिलाना बंद किया तो फिर लालू जी की शरण में आना चाहते थे। चाचा, कब तक अपने सहबाला सृजन चोर जैसी पंचर स्टेपनी के बूते अपनी रेंगती राजनीति को खींचेंगे?

देश का लाखों करोड़ रुपया लूटाकर भगाने वाले और लूटकर भागने वाले एक ही “वर्ण और जात-बिरादरी“ के हैं। इन भगौडे डकैतों और चोर-लुटेरों में एक भी दलित-पिछड़ा,आदिवासी और मुसलमान नहीं है। तो देश के महाचोर ख़ानदानी ठग-लुटेरे किस डकैत जमात के हुए। बोलो रे छाती पीटने वाले “ठगों”?? http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 19, 2019, 4:17 pm
Partly sunny
Partly sunny
33°C
real feel: 32°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 27%
wind speed: 4 m/s NW
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:09 am
sunset: 6:02 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 7 other subscribers

Trending