Connect with us

बिहार

तेजप्रताप के जन्मदिन पर हुआ कृष्ण-अर्जुन मिलाप, मां राबड़ी ने कहा ‘आ अब घर लौट चलें’

Published

on

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप के जन्मदिन पर सारे गिले शिक्स्वे दूर होते नजर आए। इस मौके पर लालू के दोनों लाल काफी समय बाद एक दूसरे से मिले। तेजस्वी यादव अपनी जनसभाओं के बाद सीधे अपने बड़े भाई से मिलने सीधे उनके आवास पहुंचे। तेजप्रताप यादव ने अपने नए बंगले पर ही जन्‍मदिन समारोह आयोजित किया था। इस अवसर पर मां राबड़ी देवी भी बेटे को आशीर्वाद देने पहुंची और उनसे घर लौटने की विनती की।

मंगलवर को तेजप्रताप यादव ने अपने जीवन के 30 बसंत पूरे कर लिए। अपने जन्मदिन को अनोखे तरीके से मनाते आ रहे तेज प्रताप ने इस बार भी वैसी ही तैयारी कर रखी थी। गौरतलब हो कि पिछले नवंबर में तेजप्रताप ने अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक लेने की अर्जी दाखिल की थी। जिसके बाद पूरा परिवार उनके फैसले के खिलाफ हो गया तथा फिर तेजप्रताप लौट कर अपनी मां राबड़ी देवी के सरकारी आवास पर कभी नहीं गए । राज्य सरकार से उन्होंने अपने लिए राजधानी में अलग आवास आवंटित करा रखा है। जश्न का आयोजन उसी आवास में किया गया था।

तेज प्रताप यादव ने अपने जन्‍मदिन समारोह में शिरकत करने के लिए परिवार के सदस्यों समेत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को भी बुलाया था। मुख्‍यमंत्री व उपमुख्‍यमंत्री तो नहीं आए, लेकिन लालू परिवार के सदस्यों ने शुभकामनाएं देने में संकोच नहीं किया।

मां राबड़ी देवी ने उनकी लंबी उम्र की कामना करते हुए घर लौट आने का आग्रह किया। चुनाव प्रचार के लिए जाने से पहले सुबह भाई तेजस्वी यादव ने उन्हें शुभकामना दी और लौटकर जश्न में शरीक होने का वादा किया था। शाम को जनसभाएं करके लौटने के क्रम में हवाई अड्डे से ही तेजस्वी ने तेज प्रताप के आवास की ओर रुख किया और दोनों भाइयों ने मिलकर गिले-शिकवे दूर किए।

चुनाव प्रचार से लौटने के बाद तेजस्‍वी यादव भी बड़े भाई तेज प्रताप यादव को जन्‍मदिन की बधाई देने गए। दोनों ने साथ केट काटा। इसकी तस्‍वीर ट्वीट करते हुए तेजस्‍वी यादव ने तेज प्रताप को ‘कृष्‍ण’ संबोधित करते हुए जन्‍मदिन की बधाई दी।

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने भी तेजप्रताप की खुशहाली की कामना करते हुए उन्हें लालू-राबड़ी के बताए रास्ते पर चलने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी का समाज के वंचित तबकों की प्रगति में बड़ा योगदान है। मुझे यकीन है कि तेज प्रताप उस परंपरा को आगे बढ़ाएंगे।

तेज प्रताप यादव ने पिछला जन्मदिन अपने तरीके से मनाया था। पटना के यारपुर मोहल्ले स्थित दलित बस्ती में केक काटा और महादलित बच्चों के साथ खुशियां बांटी थी। तब दलित बस्ती में पहुंचे तेज प्रताप का बच्चों ने भी जोरदार स्वागत किया था।

पिछले साल तेज प्रताप यादव के जन्मदिन के दो दिन बाद ही उनकी सगाई हुई थी। तब तेज प्रताप ने कहा था कि ऐश्वर्या ने उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है। लेकिन एकसाल के भीतर ही ऐश्‍वर्या से उनकी शादी तलाक के मुहाने तक पहुंच गई। पत्‍नी ऐश्‍वर्या से तलाक का मुकदमा लड़ रहे तेज प्रताप के जन्‍मदिन समारोह में ऐश्‍वर्या नहीं पहुंचीं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार

लालू प्रसाद के जन्मदिन पर बधाई देने वालों का लगा तांता, बेटों ने भी किया ट्वीट…

Published

on

बिहार के पूर्व मुख्यमत्री लालू प्रसाद यादव का आज 11 जून को जन्मदिन है और उनके समर्थक उन्हें बधाई दे रहे हैं। भले ही वह खुद जेल में बंद हो लेकिन जन्मदिन के मौके पर बधाई देने वालों का तांता लगा है। लालू के बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अपने पिता को जन्मदिन की बधाई दी। तेजस्वी ने लिखा कि गरीबों के लिए लड़ने वाले लालू जी को अवतरण दिवस की बधाई।

तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ‘वंचित, उपेक्षित, उपहासित, उत्पीड़ित और ग़रीब वर्गों के लिए जीवनभर लड़ने वाले योद्धा जन-जन के प्रिय नेता आदरणीय श्री लालू प्रसाद यादव जी को अवतरण दिवस की असीम और अनंत शुभकामनाएं।

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव इस वक्त चारा घोटाला के मामले में जेल की सजा काट रहे हैं।बीते लंबे समय से उनकी तबीयत भी खराब है इसलिए कभी वह जेल में तो कभी रिम्स अस्पताल में भर्ती रहते हैं। लालू के जन्मदिन के अवसर पर उन्हें देश की कई बड़ी हस्तियों ने बधाई दी।

तेजस्वी यादव के अलावा उनके बेटे तेज प्रताप यादव ने भी ट्विटर पर बधाई संदेश पोस्ट किया।तेज प्रताप यादव ने लिखा, ‘तुम्हारी दी आवाज़ के ऋणी हैं हम, अब जो जागे हैं तो कहां किसी से हैं कम’।

यह भी पढ़ें -मेरे खिलाफ लिखने वालों पर कार्रवाई हो तो खाली हो जाएंगे न्यूज चैनलों के स्टूडियो

आपको बता दें कि जेपी आंदोलन से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले लालू प्रसाद यादव की गिनती उन राजनेताओं में होती है जिन्होंने अपने दम पर कई मुकाम हासिल किए।वह बिहार के मुख्यमंत्री बने, केंद्र सरकार में मंत्री बने और कई बार किंग तो कभी किंगमेकर भी बने।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

पटना: कपड़ा व्यवसायी ने पत्नी और बच्चों सहित खुद को गोलीमार कर की आत्महत्या….

Published

on

आत्महत्या

फाइल फोटो

बिहार। राजधानी पटना में एक व्यवसायी ने पत्नी और बच्चों के साथ खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। यह दिल दहला देने वाला मामला कोतवाली थाना क्षेत्र के किदवईपुर का है। जहां कपड़ा व्यवसायी ने पहले अपनी पत्नी और बच्चों को गोली मारी, फिर उसके बाद खुद को गोली मारकर का आत्महत्या कर ली। हालांकि एक बच्चा गंभीर रूप से घायल है।  

कपड़ा व्यावसायी के घर में उसके परिवार के साथ और भी लोग रहते थे। उन्होंने बताया जब सुबह ये लोग बहुत देर तक नहीं उठे तो हमने दरवाजा तोड़ दिया। उसके बाद बेड पर खून से लथपथ लोगों का शव देख कर परिवार वाले घबरा गए। हालांकि बच्चों में एक बच्चे की सांसें चल रही थी। जिसके बाद घरवालों उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया। जहां अभी उसका इलाज चल रहा है।

ये भी पढ़े:पाकिस्तान ने अपने पूर्व राष्ट्रपति को किया गिरफ्तार, मंगलवार को होगी अदालत में पेशी

परिवारवालों  इस घटना की खबर पुलिस को दी, मौके पर पुलिस ने पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आपको बता दें जिस व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बेटी को गोली मारी है वह पटना का बहुत बड़ा कपड़ा व्यापारी है। कपड़ा ही नहीं सर्राफा का भी निशांत की बहुत बड़ी शॉप है। वहीं पुलिस ने जब इस घटना की जांच की तो वह पारिवारिक कलह से जोड़ कर आगे बढ़ा रही है। निशांत सर्राफ पटना के बड़े कपड़ा व्यापारी हैं जिनकी दुकान खेतान मार्केट में है।

वहीं जानकारी के मुताबिक निशांत अभी हाल में गर्मी की छुट्टी मनाकर घर लौटे थे। ऐसे में बेडरूम में तीनों का शव देख कर पुलिस भी हैरत में पड़ गई। हालांकि अभी पूरे मामले की जांच चल रही है। http://www.satyodaya.com 

Continue Reading

बिहार

बिहार में फिर कहर बरपा रहा ‘चमकी’ बुखार, जा चुकी है 25 बच्चों की जान…

Published

on

लखनऊ। बिहार में भीषण गर्मी के बीच ‘चमकी बुखार’ का कहर जारी है। राज्य के मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के इलाकों में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी इंसेफलाइटिस (जेई) से 25 बच्चों की मौत हो चुकी है। बिहार के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में इस बुखार से पीड़ित 100 से ज्यादा बच्चे भर्ती हैं।

इस बीमारी के शिकार आम तौर पर गरीब परिवारों के बच्चे ही हो रहे हैं। 15 वर्ष तक की उम्र के बच्चे इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं और मृतक बच्चों में से अधिकांश की आयु 1 से 7 वर्ष के बीच है।

ये है लक्षण-

एईएस (एक्टूड इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से ग्रसित बच्चों को पहले तेज बुखार और शरीर में ऐंठन होती है। फिर बच्चे बेहोश हो जाते हैं। इस तरह के लक्षण की स्थिति में बच्चों के परिजन और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। उत्तरी बिहार में इसे चमकी बुखार के नाम से जाना जाता है।

सीएम नीतीश कुमार ने जताई चिंता
मौसम में तल्खी और हवा में नमी की अधिकता के कारण होने वाले वाले इस बुखार को लेकर राज्य के सीएम नीतीश कुमार भी चिंता जता चुके हैं। सीएम ने कहा, ‘लोगों को इस बीमारी को लेकर जागरूक कराना होगा। हर साल बच्चे काल के गाल में समा जा रहे हैं। यह चिंता का विषय है।’ गौरतलब है कि उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी और वैशाली में बीमारी का प्रभाव दिखता है। इस साल अब तक एसकेएमसीएच में जो मरीज आ रहे हैं, वह मुजफ्फरपुर और आसपास के हैं।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 12, 2019, 9:34 am
Cloudy
Cloudy
32°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 62%
wind speed: 3 m/s NNE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:30 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending