Connect with us

बिहार

बिहार : सच में प्यार दीवाना होता है, प्रेमी से शादी करने के लिए लड़की फांद गई बंदिशों की दीवार, दांव पर लगा दी नौकरी, जानिए कहानी   

Published

on

सांकेतिक चित्र

अंधा, दीवाना, पागलपन, प्रेम को न जाने ऐसी कितनी उपमाएं मिली हैं। सच भी तो है जब तक प्रेम में कुछ अलग न हो तब तक वो प्रेम भी कैसा। किसी फिल्म का संवाद है कि जब तक प्रेम में दिक्कतें न आएं तब तक प्रेम प्रेम नहीं कहलाता। ऐसा ही कुछ अलग, कुछ दीवानगी, कुछ अंधापन देखने को मिला सीतामढ़ी जिले की एक लड़की के प्रेम में। छोटे शहरों में तो लड़की का पढ़ पाना ही कठिन है, फिर नौकरी करना तो बड़ी बात है। इस लड़की के पास नौकरी थी लेकिन अपने प्यार के लिए इसने इस नौकरी को भी दांव पर लगा दिया। अपनी नौकरी दांव पर लगा कर इस लड़की ने अपने प्रेमी से शादी की और फिर महिला कक्षपाल की नौकरी छोड़ गायब हो गई। उसके गायब होने के बाद इलाके में इस अनोखे प्यार की काफी चर्चा हो रही है।

ये कहानी है सीतामढी जेल की एक महिला कक्षपाल की। उसे एक लड़के से प्रेम था जिससे वो शादी करना चाहती थी लेकिन घरवालों को ये मंजूर नहीं था। लेकिन परिवार वालों के दबाव बनाने से पहले ही लड़की नौकरी छोड़ गायब हो गई और प्रेमी से शादी रचा लिया।

शादी का पता चलते ही परिवारवालों ने जेल अधीक्षक को फोन कर कहा कि हम अपनी बेटी को ले जाना चाहते हैं, उसे छोड़ दीजिए या नौकरी से निलंबित कर दीजिए लेकिन उसे घर जाने दीजिए। ये सुनते ही जेल अधीक्षक मिथिलेश कुमार खुद महिला कक्षपाल के बैरक में गये, तो पाया कि लड़की काफी निराश है।

उन्हें बैरक में आया देख लड़की ने अधीक्षक से पहले छुट्टी की मांग की, फिर बाद में यहां तक कह डाला कि वह नौकरी नहीं करना चाहती है। अपने प्यार के लिए उसकी जिद और निराशा को देखकर जेल अधीक्षक ने जेल आईजी से बात की। आईजी से लड़की की भी बात करायी।

जेल अधीक्षक ने लड़की को समझा-बुझाकर शांत कराया और सुबह में मामले का समाधान करने की बात कही। लेकिन सुबह पता चला कि लड़की अपने बैरक से गायब है।  इसके बाद जेल से डुमरा थाना पुलिस को पत्र लिखा गया और लड़की की तलाश की जा रही है।

खबरों के अनुसार लड़की जेल के सरकारी आवास में अन्य साथियों के साथ रहती थी। 14 अप्रैल को वह जेल अधीक्षक से जरुरी काम की छुट्टी लेकर कार्यालय से चली गयी। बाद में महिला कर्मियों से अधीक्षक को जानकारी मिली कि लड़की नालंदा जिले के कुसेता गांव निवासी शैलेंद्र कुमार से शादी करने गयी है। शादी करने के बाद दूसरे दिन वह वापस लौट भी आयी थी।

बिना किसी सक्षम प्राधिकार की अनुमति से कार्यालय से गायब होने को लेकर अधीक्षक ने उससे स्पष्टीकरण भी पूछा था, जिसके जवाब में लड़की ने कहा था कि यहां नयी होने के कारण उसे नियम का पता नहीं था, उसे माफ कर दिया जाये, भविष्य में ऐसी गलती नहीं होगी। फिर चेतावनी देकर उसे ड्यूटी करने की छूट दे दी गयी थी। लेकिन उसके बाद वह गायब ही हो गई है।

फिर से घरवालों की नाराजगी और अपने प्रेमी को पाने के लिए लड़की ने नौकरी तक को कथित तौर पर दांव पर लगाने से परहेज नहीं किया। वह अपने प्रेमी से शादी कर चुकी है और फिलहाल कहां है? किसी को पता नहीं।किसी अप्रिय घटना की आशंका को लेकर जेल अधीक्षक ने डुमरा थाना पुलिस को पत्र लिखा है, उसकी तलाश हो रही है। http://www.satyodaya.com

बिहार

दरोगा और कांस्टेबल की गोली मारकर हत्या, सर्विस पिस्टल लेकर फरार हुए बदमाश

Published

on

प्रतिकात्मक चित्र

बिहार में बेखौफ बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहे है। जहां अपराधियों के निशाने पर अब पुलिसवाले आ गए हैं। मामला सारण जिले का है। मंगलवार की रात अपराधियों ने एसआईटी के दारोगा और एक कांस्टेबल की हत्या कर एके-47 रायफल और सर्विस पिस्टल लूट लिया। जानकारी के मुताबिक बदमाशों की खोज में निकली पुलिस टीम पर अपराधियों ने हमला बोल दिया। जिसमें दो पुलिसवालों को गोली मारकर हत्या कर दी।

ये भी पढ़े- कांग्रेस नेता चिदंबरम के फरार होने पर CBI ने जारी किया लुकआउट नोटिस

सारण जिला के मढ़ौरा में एसआईटी के दारोगा मिथिलेश और सिपाही फारुक के पार्थिव शरीर को बिहार के डीजीपी ने सलामी दी। बिहार के डीजीपी ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए अपराधियों की इस हरकत को कायराना बताते हुए नाराजगी जाहिर की है और कहा है कि इस घटना का हम जवाब देंगे और एक-एक को कड़ी सजा दी जाएगी। वहीं शहीद दारोगा के परिजनों ने पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। परिजनों को आशंका है कि मंगलवार की शाम दारोगा की अपराधियों के साथ हुई मुठभेड़ किसी साजिश का हिस्सा भी हो सकता है। पुलिस कर्मियों का शव रात को करीब 11:30 बजे सदर अस्पताल पहुंचा। लेकिन डीएम से अनुमति लेने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद करीब 12:00 बजे रात को पहले दोनों शवों का पोस्टमार्टम किया गया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का निधन

Published

on

फाइल फोटो

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का दिल्ली में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनका दिल्ली में ही इलाज चल रहा था। बता दें कि जगन्नाथ मिश्र तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे। उनके निधन की सूचना मिलते ही राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर है।

अपनी राजनीतिक पकड़ के चलते जगन्नाथ मिश्र बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके थे। उन्होंने अपने करियर शुरूआत कॉलेज के प्रोफेसर के रूप में किया था। इसके बाद वे बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर बने। जबकि वह बचपन से ही उनकी राजनीति में रूचि थी और उनके बड़े भाई, ललित नारायण मिश्र देश के रेल मंत्री थे।

ये भी पढ़े- पति ने पहले पत्नी को पीटा, फिर पिलाया एसिड…

बताते चलें कि जगन्नाथ कॉलेज में पढ़ाने के दौरान ही कांग्रेस में शामिल हो गए थे। जिसके बाद में 1975 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। दूसरी बार वह 1980 में बने और तिसरी बार 1989 से 1990 तक मुख्यमंत्री पद पर रहे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

बिहार: विधायक अनंत सिंह को अरेस्ट करने पहुंची पुलिस, भनक लगते हुए फरार

Published

on

बिहार: बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को गिरफ्तार करने के लिए पटना पुलिस शनिवार रात उनके आवास पर पहुंची। बताया जा रहा है .

कि जब अनंत सिंह को पुलिस के आने की भनक लगी तो वह आवास के पिछले दरवाजे से फरार हो गए। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने अनंत सिंह के सरकारी आवास से छोटन को गिरफ्तार कर लिया है।छोटन विधायक अनंत सिंह का करीबी है।

छोटन बाढ़ के 295/90 के मामले में फरार था, छोटन सिंह पर 22 हत्या के मामले हैं। पुलिस जब अनंत सिंह के घर पहुंची, तो घर का दरवाजा बंद था, लेकिन पुलिस किसी तरह घर के अंदर दाखिल हुई। पुलिस ने विधायक के फरार होने पर कहा कि हमने अनंत सिंह की पत्नी से बातचीत की। उनकी पत्नी ने अनंत सिंह के बारे में कोई जानकारी नहीं दी अब हम आगे की कार्रवाई पर विचार करेंगे।

ये भी पढ़ें: भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी लाल यादव के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है मामला

बाहुबली विधायक अनंत सिंह के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटीज(प्रिवेंशन) एक्ट के तहत केस भी दर्ज हुआ है। विधायक के पैतृक आवास से एक ग्रेनेड और एके-47 भी बरामद किया गया है। इससे पहले बिहार के बाहुबली और निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के घर छापेमारी करके पुलिस ने एक एके-47 बरामद किया था।

पुलिस ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में पटना ग्रामीण एसपी के नेतृत्व में शुक्रवार सुबह से ही छापेमारी शुरू की थी। बताते चलें कि पुलिस ने विधायक के घर से दो बम भी बरामद किए है। बाहुबली विधायक के ऊपर दर्जनों हत्या के केस चल रहे हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 23, 2019, 9:36 am
Fog
Fog
29°C
real feel: 35°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 78%
wind speed: 1 m/s W
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:11 am
sunset: 6:06 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending