Connect with us

बिहार

मतदान से पहले तेजप्रताप यादव को लगा बड़ा झटका, बगावत के बाद भी पूरी नहीं होती दिख रही ‘लालू के लाल’ की जिद्द

Published

on

फाइल फोटो

अपनी पार्टी के लिए लगातार मुसीबतें बढ़ाने वाले तेजप्रताप यादव को लोकसभा चुनाव की वोटिंग से पहले चुनाव आयोग ने बड़ा झटका दिया है। इस लोकसभा चुनाव में राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने अपनी पार्टी के खिलाफ जाते हुए लालू-राबड़ी मोर्चा नाम से नयी पार्टी बनाई है। इतना ही नहीं उन्होंने इस पार्टी से अपने उम्मीदवार अंगेश कुमार सिंह का बिहार की शिवहर लोकसभा सीट से नामांकन भी दाखिल करवाया था लेकिन बुधवार को चुनाव आयोग ने अंगेश कुमार सिंह का नामांकन रद्द कर दिया।

अंगेश को अपना उम्मीदवार बनाने के बाद तेजप्रताप न केवल उसके नामांकन में शामिल हुए थे, बल्कि उनके लिए उन्होंने प्रचार भी किया था। इस दौरान तेजप्रताप ने लालू-राबड़ी मोर्चा को असली राजद बताते हुए जनता से अंगेश को वोट देने की अपील भी की थी। लेकिन अब खबरें बता रही हैं कि अंगेश का नामांकन दस्‍तावेज में कमी के कारण रद्द कर दिया गया है। हालांकि इस बात की आधिकारिक पुष्टि होना अभी बाकी है।

शिवहर सीट से आरजेडी ने सैयद फैसल अली को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। आरजेडी के नेता अंगेश कुमार सिंह पार्टी की ओर से टिकट न मिलने पर बागी हो गए थे और शिवहर से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था। अंगेश सिंह ने दावा किया था कि वे लालू-राबड़ी मोर्चा के झंडे के साथ वह चुनावी मैदान में उतरेंगे। बता दें कि लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने अपने जिन दो उम्मीदवारों के नाम घोषित किए थे, उनमें शिवहर के अंगेश कुमार सिंह का भी नाम था।

अंगेश के चुनाव मैदान में आने से राजद प्रत्याशी फैसल अली की मुश्किलें बढ़ गई थीं, क्योंकि अंगेश को राजपूत बिरादरी का पूरा समर्थन मिल रहा था। वहीं स्थानीय होने के कारण भी वोट में वृद्धि के आसार थे, किंतु अब बदली परिस्थिति में जहां राजद की स्थिति मजबूत होगी, वहीं अब मुकाबला सीधा एनडीए एवं महागठबंधन के बीच होगा।

बता दें कि तेजप्रताप की मांग ठुकराए जाने के बाद से ही ये विवाद चल रहा है। बिहार महागठबंधन में सीट शेयरिंग के तहत आरजेडी ने शिवहर से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। पार्टी ने सैयद फैसल अली को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। http://www.satyodaya.com

बिहार

बिहार: विधायक अनंत सिंह को अरेस्ट करने पहुंची पुलिस, भनक लगते हुए फरार

Published

on

बिहार: बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को गिरफ्तार करने के लिए पटना पुलिस शनिवार रात उनके आवास पर पहुंची। बताया जा रहा है .

कि जब अनंत सिंह को पुलिस के आने की भनक लगी तो वह आवास के पिछले दरवाजे से फरार हो गए। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने अनंत सिंह के सरकारी आवास से छोटन को गिरफ्तार कर लिया है।छोटन विधायक अनंत सिंह का करीबी है।

छोटन बाढ़ के 295/90 के मामले में फरार था, छोटन सिंह पर 22 हत्या के मामले हैं। पुलिस जब अनंत सिंह के घर पहुंची, तो घर का दरवाजा बंद था, लेकिन पुलिस किसी तरह घर के अंदर दाखिल हुई। पुलिस ने विधायक के फरार होने पर कहा कि हमने अनंत सिंह की पत्नी से बातचीत की। उनकी पत्नी ने अनंत सिंह के बारे में कोई जानकारी नहीं दी अब हम आगे की कार्रवाई पर विचार करेंगे।

ये भी पढ़ें: भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी लाल यादव के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है मामला

बाहुबली विधायक अनंत सिंह के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटीज(प्रिवेंशन) एक्ट के तहत केस भी दर्ज हुआ है। विधायक के पैतृक आवास से एक ग्रेनेड और एके-47 भी बरामद किया गया है। इससे पहले बिहार के बाहुबली और निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के घर छापेमारी करके पुलिस ने एक एके-47 बरामद किया था।

पुलिस ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में पटना ग्रामीण एसपी के नेतृत्व में शुक्रवार सुबह से ही छापेमारी शुरू की थी। बताते चलें कि पुलिस ने विधायक के घर से दो बम भी बरामद किए है। बाहुबली विधायक के ऊपर दर्जनों हत्या के केस चल रहे हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी लाल यादव के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है मामला

Published

on

बिहार: भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव एक धोखाधड़ी के मामले में फंस गए हैं। बता दें कि 18 लाख रुपये का चेक बाउंस होने के मामले में उनके खिलाफ शनिवार को छपरा में एफआईआर दर्ज कराई गई है। बता दें कि भोजपुरी सुपरस्टार खेसारी लाल यादव छपरा के धनाडीह गांव से हैं।

बता दें कि खेसारी लाल यादव ने इसी साल जून में छपरा के असहनी गांव में अपनी पत्नी चंदा देवी के नाम पर  करीब 7 कट्ठा जमीन 22 लाख रुपये में खरीदी थी। खेसारी लाल ने यह जमीन मृत्युंजय पांडे नाम के एक व्यक्ति से खरीदी थी। मृत्युंजय पांडे को 22 लाख रुपये अदा करने को लेकर खेसारी लाल यादव ने उन्हें पहले बैंक ऑफ बड़ौदा का 18 लाख रुपये का एक चेक दिया था और बाकी की रकम कैश में अदा करने का भरोसा दिया था। जानकारी के मुताबिक जब मृत्युंजय पांडे 18 लाख रुपये के चेक को कैश कराने बैंक गए, तो खेसारी लाल यादव का चेक बाउंस हो गया। सूत्रों के मुताबिक बैंक ने खेसारी लाल यादव के अकाउंट में पर्याप्त रकम ना होने की बात कहते हुए चेक बाउंस हो जाने की जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: काबुल: शादी समारोह में हुआ बम धमाका, 63 की मौत, 182 घायल

इसके बाद मृत्युंजय पांडे ने खेसारी लाल यादव के खिलाफ पुलिस स्टेशन में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया। अपने ऊपर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किए जाने को लेकर खेसारी लाल यादव ने कहा कि उनके खाते में 70 लाख रुपये हैं, मगर उन्होंने जानबूझकर बैंक को मृत्युंजय पांडे को 18 लाख रुपये का भुगतान करने से रोका था। खेसारी लाल ने बताया कि मृत्युंजय पांडे ने रकम के भुगतान से पहले जमीन का दाखिल खारिज करने की बात कही थी। मगर 3 महीना बीत जाने के बाद भी मृत्युंजय पांडे अपने नाम पर दाखिल खारिज नहीं करवा पाए। खेसारी लाल ने बताया कि उन्हें इस बात की आशंका है कि यह जमीन विवादित हो सकती है और इसीलिए उन्होंने बैंक ऑफ बड़ौदा को 18 लाख रुपये के चेक का भुगतान करने से रोका है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

बिहार

बिहार में बाहुबली विधायक के घर से पुलिस ने बरामद की AK-47

Published

on

फाइल फोटो

बिहार के बाहुबली और निर्दलीय विधायक अनंत सिंह के घर पर पुलिस ने छापेमारी की। जहां तलाशी के दौरान एक AK-47 और विस्फोटक बरामद किया गया। विधायक के आवास में मिले हथियार और विस्फोटक देखने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। बता दें कि अनंत कुमार सिंह को बिहार के बाहुबली नेताओं में गिना जाता है। पुलिस अभी भी जांच में जुटी हुई है।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने मोकामा विधायक अनंत सिंह के पैतृक गांव लदमा में पटना ग्रामीण एसपी के नेतृत्व में शुक्रवार सुबह से ही छापेमारी शुरू है। पुलिस ने विधायक के घर से दो बम भी बरामद किया है। बाहुबली विधायक के ऊपर दर्जनों हत्या के केस पहले से चल रहे हैं। इसी मामले को लेकर पुलिस पिछले कुछ दिनों से अनंत सिंह के कई ठिकानों पर दबिश दे रही थी और आज पुख्ता जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने अनंत सिंह के गांव में छापेमारी की और एके-47 बरामद किया।

ये भी पढ़े- अखिलेश बोले- देश में नफरत का माहौल तैयार कर लोगों को बांट रही है बीजेपी

बता दें, किसी ज़माने में अनंत सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी हुआ करते थे। 2005 में वह पहली बार जदयू के टिकट पर चुनाव जीते थे और 2010 में भी वह जदयू के टिकट पर विधायक बने। 2015 में अनंत सिंह को हत्या के मामले में उन्हें जेल जाना पड़ा था जिसके बाद उन्होंने जेल से ही मोकामा से निर्दलीय चुनाव लड़ा और विधायक बने। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 19, 2019, 8:01 am
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:10 am
sunset: 6:10 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending