Connect with us

बिहार

पटना: कपड़ा व्यवसायी ने पत्नी और बच्चों सहित खुद को गोलीमार कर की आत्महत्या….

Published

on

आत्महत्या

फाइल फोटो

बिहार। राजधानी पटना में एक व्यवसायी ने पत्नी और बच्चों के साथ खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। यह दिल दहला देने वाला मामला कोतवाली थाना क्षेत्र के किदवईपुर का है। जहां कपड़ा व्यवसायी ने पहले अपनी पत्नी और बच्चों को गोली मारी, फिर उसके बाद खुद को गोली मारकर का आत्महत्या कर ली। हालांकि एक बच्चा गंभीर रूप से घायल है।  

कपड़ा व्यावसायी के घर में उसके परिवार के साथ और भी लोग रहते थे। उन्होंने बताया जब सुबह ये लोग बहुत देर तक नहीं उठे तो हमने दरवाजा तोड़ दिया। उसके बाद बेड पर खून से लथपथ लोगों का शव देख कर परिवार वाले घबरा गए। हालांकि बच्चों में एक बच्चे की सांसें चल रही थी। जिसके बाद घरवालों उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया। जहां अभी उसका इलाज चल रहा है।

ये भी पढ़े:पाकिस्तान ने अपने पूर्व राष्ट्रपति को किया गिरफ्तार, मंगलवार को होगी अदालत में पेशी

परिवारवालों  इस घटना की खबर पुलिस को दी, मौके पर पुलिस ने पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आपको बता दें जिस व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बेटी को गोली मारी है वह पटना का बहुत बड़ा कपड़ा व्यापारी है। कपड़ा ही नहीं सर्राफा का भी निशांत की बहुत बड़ी शॉप है। वहीं पुलिस ने जब इस घटना की जांच की तो वह पारिवारिक कलह से जोड़ कर आगे बढ़ा रही है। निशांत सर्राफ पटना के बड़े कपड़ा व्यापारी हैं जिनकी दुकान खेतान मार्केट में है।

वहीं जानकारी के मुताबिक निशांत अभी हाल में गर्मी की छुट्टी मनाकर घर लौटे थे। ऐसे में बेडरूम में तीनों का शव देख कर पुलिस भी हैरत में पड़ गई। हालांकि अभी पूरे मामले की जांच चल रही है। http://www.satyodaya.com 

बिहार

बिहार में फिर कहर बरपा रहा ‘चमकी’ बुखार, जा चुकी है 25 बच्चों की जान…

Published

on

लखनऊ। बिहार में भीषण गर्मी के बीच ‘चमकी बुखार’ का कहर जारी है। राज्य के मुजफ्फरपुर और इसके आसपास के इलाकों में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) और जापानी इंसेफलाइटिस (जेई) से 25 बच्चों की मौत हो चुकी है। बिहार के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में इस बुखार से पीड़ित 100 से ज्यादा बच्चे भर्ती हैं।

इस बीमारी के शिकार आम तौर पर गरीब परिवारों के बच्चे ही हो रहे हैं। 15 वर्ष तक की उम्र के बच्चे इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं और मृतक बच्चों में से अधिकांश की आयु 1 से 7 वर्ष के बीच है।

ये है लक्षण-

एईएस (एक्टूड इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से ग्रसित बच्चों को पहले तेज बुखार और शरीर में ऐंठन होती है। फिर बच्चे बेहोश हो जाते हैं। इस तरह के लक्षण की स्थिति में बच्चों के परिजन और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। उत्तरी बिहार में इसे चमकी बुखार के नाम से जाना जाता है।

सीएम नीतीश कुमार ने जताई चिंता
मौसम में तल्खी और हवा में नमी की अधिकता के कारण होने वाले वाले इस बुखार को लेकर राज्य के सीएम नीतीश कुमार भी चिंता जता चुके हैं। सीएम ने कहा, ‘लोगों को इस बीमारी को लेकर जागरूक कराना होगा। हर साल बच्चे काल के गाल में समा जा रहे हैं। यह चिंता का विषय है।’ गौरतलब है कि उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी और वैशाली में बीमारी का प्रभाव दिखता है। इस साल अब तक एसकेएमसीएच में जो मरीज आ रहे हैं, वह मुजफ्फरपुर और आसपास के हैं।

Continue Reading

बिहार

झारखंड: दुमका गैंगरेप मर्डर केस में कोर्ट ने 11 आरोपियों को सुनाई उम्रकैद की सजा….

Published

on

झारखंड

फाइल फोटो

नई दिल्ली। देशभर से आए दिन रेप और हत्या की खबरें आती रहती हैं। ऐसे कई सारे रेप केस हैं जो सुर्खियों में रहे हैं। इसी तरह झारखंड के दुमका जिले में साल 2017 में रेप के जुर्म में एक स्थानीय अदालत ने सोमवार को 11 लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई हैं।

अतिरिक्त लोक अभियोजक सुरेंद्र प्रसाद सिन्हा ने बताया कि जिला एंव सत्र न्यायधीश पवन कुमार ने सभी दोषियों पर कुल 2।97 लाख रूपये का जुर्माना लगाया है। आपको बता दें न्यायधीश ने इन्हें 7 जून को दोषी करार दिया था।

ये भी पढ़े:कठुआ गैंगरेप के मुख्य आरोपी की बेटी चीख-चीख कर बोली- बच्ची का रेप नहीं हत्या हुई

वहीं मुफ्फसिल पुलिस थाने में दर्ज एफआईआर के मुताबिक रेप के दोषियों ने पहले महिला से 4 हजार रूपये और मोबाइल फोन छीन लिया। इतना ही नहीं इसके साथ उन्होंने महिला और उसके दोस्त के जमकर मारपीट भी खूब की, क्योंकि लड़की का दोस्त आदिवासी था।

उसके बाद दोषियों सबसे पहले अपने और स्साथियों को फोन किया उन्हें बुलाया उसके बाद युवती और उसके दोस्त को चारो तरफ से घेर लिया। दोनों के घेरने के बाद 6 सितंम्बर 2017 को उन लोगों दिघी गाँव के समीप उसके साथ गैंगरेप किया।   

ये भी पढ़े:प्रदर्शन के दौरान पुलिस अभ्यर्थियों ने खाया जहरीला पदार्थ… 

आपको बता दें युवती और उसका दोस्त यहां से 8 किलोमीटर दूर दिघी में सीधो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के परिसर से पैदल लौट रहे थे, जब उन्हें रिंग रोड और दिघी रोड के चौराहे पर ये लोग मिले। जिसके बाद उन लोगों ने लड़की और उसके दोस्त को रोक कर मारपीट की और फिर रेप किया। यह पहला मौका नहीं जब किसी लड़की के साथ गैंगरेप हुआ।

इसी तरह देशभर में चर्चित जम्मू-कश्मीर के कठुआ रेप और भी कई सारे केस पड़े हुए हैं। झारखंड रेप केस  की तरह कठुआ रेप मर्डर केस में भी पठानकोट की अदालत ने 7 में से 6 आरोपियों का दोषी ठहराया है। हालांकि नाबालिग होने की वजह से एक आरोपी को बरी कर दिया है। http://www.satyodaya.com 

Continue Reading

बिहार

झारखंड के चौपारण में बस-ट्रक में हुई भीषण टक्कर, 11 की मौत 25 लोग घायल…

Published

on

झारखंड

फाइल फोटो

पटना। शहर में आए दिन लोग सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में झारखंड के गुमला से बिहार मसौढ़ी आ रही महारानी बस झारखंड के चौपारण प्रखंड के जीटी रोड स्थित दनुआं घाटी में सोमवार तड़के दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में 11 लोग मरे गए, जबकि 25 लोग घायल हैं।

बस-ट्रक के टक्कर में बस के परखच्चे उड़ चुके हैं। इस हादसे का शिकार हुई कई लोग बिहार के गया, डोभी, बाराचट्टी के रहने वाले हैं। प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक हादसा इतना भयावह है कि मरने वालों की संख्‍या और बढ़ भी सकती है।

वहीं इस घटना की सूचना मिलते ही हजारीबाग के डीसी रविशंकर शुक्‍ला राहत-बचाव कार्य की देखरेख के लिए घटनास्‍थल पर पहुंच गए हैं। गंभीर रूप से घायल लोगों को बेहतर इलाज के लिए मुख्‍यालय से डॉक्‍टरों की टीम मौके पर रवाना हो गई है। बस के चालक मोहम्मद मुजाहिद की भी हादसे में मौत हो गई है।

जानकारी के मुताबिक गुमला से मसौढ़ी जा रही महारानी बस तड़के साढ़े तीन बजे हादसे का शिकार हो गई। दुर्घटनास्‍थल बिहार और झारखंड का सीमा क्षेत्र है। इस भयानक हादसे के समय बस में सभी यात्री सो रहे थे। जबकि बस का ब्रेक फेल होने को हादसे का कारण बताया जा रहा है। बताया गया कि सड़क पर पहले से खड़े छड़ लदे खराब ट्रक में बस के टकराने से यह हादसा हुआ है।

ये भी पढ़े:आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बड़ा हादसा, प्राइवेट बस पलटने से 30 लोग हुए घायल…

इस हादसे की सूचना के बाद चौपारण थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बस में फंसे लोगों को निकालने का प्रयास कर रही है। जानकारी के मुताबिक अब तक 9 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं। हालांकि हादसे में जान गंवाने वाले यात्रियों की पहचान अब तक नहीं हो पाई है। इस हादसे का शिकार हुए लोगों में बस का ड्राइवर और खलासी भी शामिल हैं। वहीं इस हादसे जहां 11 लोगों की मौत हुई वहीं लगभग 25 लोग घायला भी हैं। जिनको इलाजके लिए चौपारण प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में भर्ती कराया जा चुका है।

आपको बता दें इस हादसे के दौरान बस में सवार यात्री प्रदीप शर्मा ने बताया कि बस का ब्रेक फेल होने से यह हादसा हुआ है। बस का ब्रेक फेल होने से चालक ने नियंत्रण खो दिया था। वहीं बस में सवार रहे संतन विश्‍वकर्मा ने बताया कि बस का ब्रेक फेल होने के बारे में ड्राइवर ने यात्रियों को आगाह किया था। उसने बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन सड़क पर पहले से खड़े सरिया से लदे ट्रक में भीषण टक्‍कर हो गई। जिससे लोगों को इस हादसे का शिकार होना पड़ा।

आपको बता दे बता दें कि जीटी रोड में चौपारण की दनुआ घाटी मौत की घाटी बन गई है। यहां पिछले 4 महीने में अलग-अलग हादसों में लगभग 30 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 11, 2019, 1:36 pm
Sunny
Sunny
38°C
real feel: 44°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 44%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 11
sunrise: 4:42 am
sunset: 6:30 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending