Connect with us

व्यापार

जियो प्लेटफॉर्म्स की 2.32% हिस्सेदारी खरीदेगी अमेरिकी इन्वेस्टमेंट फर्म केकेआर

Published

on

जियो प्लेटफॉर्म्स में अब तक 78562 करोड़ रुपए का निवेश

लखनऊ। JIO प्लेटफॉर्म्स में इंवेस्टमेंट के लिए निवेशकों की लाइन लगी है। उसे पिछले 1 महीने में पांचवा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला है। KKR ने 2.32% इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 11,367 करोड़ रु के निवेश की घोषणा की है। KKR ने जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रु आंकी है। करीब 1 महीना पहले फेसबुक के इंवेस्टमेंट के साथ, जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का जो सिलसिला शुरू हुआ था वह थम नही रहा है। अब तक कुल पांच बड़े इंवेस्टर्स द्वारा जियो प्लेटफॉर्म्स में कुल 78,562 करोड़ रु का निवेश हो चुका है। सबसे पहले फेसबुक निवेश ले कर आया। उसके बाद विश्व के अग्रणी निवेशक सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स एवं जनरल अंटलांटिक और अब KKR। एशिया में KKR का यह सबसे बड़ा निवेश है।

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की “फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी” है। ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर #1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की “होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी” बनी रहेगी।

1976 में स्थापित, केकेआर के पास वैश्विक निजी उद्यमों में निवेश का लंबा अनुभव है। निजी इक्विटी और टेक्नोलॉजी ग्रोथ फंड के माध्यम से KKR ने बीएमसी सॉफ्टवेयर, बाइटडांस और गोजेक सहित कई प्रौद्योगिकी कंपनियों में सफलतापूर्वक निवेश किया है। फर्म ने तकनीकी कंपनियों में $ 30 बिलियन (कुल उद्यम मूल्य) से अधिक का निवेश किया है, और आज फर्म के टेक पोर्टफोलियो में प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार क्षेत्रों की 20 से अधिक कंपनियां हैं।

  • जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेशकों की लगी लाइन
  • एक महीने में पांचवा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला
  • फेसबुक, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक और अब KKR
  • कुल 78,562 करोड़ रु का इंवेस्टमेंट हुआ

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा कि “दुनिया के सबसे सम्मानित वित्तीय निवेशकों में से एक KKR का एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में स्वागत करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है। KKR भारतीय डिजिटल इको सिस्टम में बदलाव की हमारी यात्रा का हमसफर बनेगा। यह सभी भारतीयों के लिए लाभप्रद होगा। KKR, भारत में एक प्रमुख डिजिटल सोसाइटी के निर्माण के हमारे महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझा करता है। एक महत्वपूर्ण भागीदार होने का KKR का ट्रैक रिकॉर्ड शानदार है। हम जियो को आगे बढ़ाने के लिए KKR के वैश्विक प्लेटफॉर्म, इंडस्ट्री की जानकारीयां और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने की उम्मीद करते हैं।

इसे भी पढ़ें-जेसीपी नवीन अरोड़ा ने किया फ्लैगमार्च, पुलिस ने ड्रोन कैमरों से की निगरानी

केकेआर के सह-संस्थापक और Co-CEO हेनरी क्राविस ने कहा, “कुछ कंपनियों के पास ही देश के डिजिटल इको सिस्टम को बदलने की ऐसी क्षमता होती है जैसा की Jio Platforms भारत में और संभवतः दुनिया भर में कर रहा है। Jio Platforms एक सच्चा स्वदेशी प्लेटफॉर्म है जो भारत में डिजिटल क्रांति कर रहा है और इसके पास देश को प्रौद्योगिकी समाधान और सेवाएं देने की बेजोड़ क्षमता है। हम Jio Platforms की प्रभावशाली गति, विश्व स्तरीय इनोवेशन और मजबूत नेतृत्व टीम के कारण निवेश कर रहे हैं। इस निवेश को हम भारत और एशिया प्रशांत में अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के समर्थन के लिए KKR की प्रतिबद्धता के रूप में देखते हैं।

जियो एक ऐसे “डिजिटल भारत” का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। http://www.satyodaya.com

व्यापार

राम मंदिर निर्माण शुरू होने के लिए अपने आप को खुशनसीब मानता हूँ- वसीम रिज़वी

Published

on

लखनऊ। कई सरकारो में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन रहे वसीम रिज़वी का कार्यकाल 18 मई को समाप्त हो गया है वही वसीम रिज़वी की तरफ से बोर्ड के गठन तक वर्तमान बोर्ड के कार्यकाल बढ़ाए जाने को लेकर सरकार से अपील की गई है। जिसमे उन्होने कहा है वक्फ की उपविधि के अनुसार कोई प्रशासक अथवा कार्यपालक अधिकारी कार्य नहीं देख सकता है, वक्फ का जल्द गठन या कार्यकाल ना बढ़ाए जाने पर कार्य प्रभावित होंगे।

अपने बयान में वसीम रिज़वी ने कहा है, की राम मंदिर मामले में हमने सुप्रीम कोर्ट में सही बात बोली और जीत हासिल की है। राम मंदिर निर्माण शुरू होने के लिए अपने आप को खुशनसीब मानते है। वहीं कहा पाकिस्तानी संगठनों ने मेरी हत्या कराने की कोशिश की, दिल्ली क्राइम ब्रांच ने शूटर्स को पकड़ा है

इसे भी पढ़ें-सिद्धार्थनगर में मिले 11 नए कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या पहुंची 60

वक्फ सम्पत्ती को लेकर कहा हमने वक्फ संपत्तियों को कट्टरपंथियों के दबाव से मुक्त किया है, जिन कब्रों के लिए लाखों रुपए की वसूली होती थी हमने उनको फ्री किया है। हमने सीबीआई जांच को सहयोग करने के लिए वक्फ घोटाले के आरोपियों की सूची और साक्ष्य दिए है। लेकिन मेरे हटने के बाद यह साक्ष्य सुरक्षित रह पाएंगे या नहीं बड़ा सवाल है, जो लोग पहले गालियां देते थे। आज हिंदूवादी संगठनों के दरवाजे हाथ जोड़े खड़े हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू गिरफ्तार

Published

on

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू गिरफ्तार

Continue Reading

व्यापार

सराहनीय निर्णय: लखनऊ के निजी स्कूल ने दो महीने की फीस माफी का किया ऐलान

Published

on

राष्ट्रीय अभिभावक मंच ने स्कूल प्रबंधक को किया सम्मानित

लखनऊ। लाॅकडाउन के बीच निजी स्कूलों की महंगी फीस से अभिभावकों को राहत दिलाने के लिए चलाई जा रही राष्ट्रीय अभिभावक मंच की मुहिम का असर दिखने लगा है। राजधानी के एक निजी स्कूल ने अपने स्कूल में पढ़ने वाले सभी बच्चों की दो महीने की फीस माफ करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही B.L.Y. पब्लिक स्कूल ने इस बहस को नई दिशा भी दे दी है कि लाॅकडाउन के दौरान स्कूलों की फीस माफ होनी ही चाहिए।

यह भी पढ़ें-सुपर साइक्लोन में तब्दील हुआ अम्फान, पश्चिम बंगाल में मचा सकता है भारी तबाही

स्कूल के इस फैसले का राष्ट्रीय अभिभावक मंच ने स्वागत किया है। मंच संयोजक अभिषेक खरे ने मंगलवार को B.L.Y. पब्लिक स्कूल के प्रबंधक दिलीप यादव को माला पहना कर सम्मानित किया। इस मौके पर अभिषेक खरे ने कहा, दिलीप यादव का यह निर्णय अन्य निजी स्कूलों के लिए प्रेरणा का काम करेगा।

मंच के अभिभावक राहुल गुप्ता ने कहा, मुझे पूरी उम्मीद है कि अन्य स्कूल भी इस दिशा में जल्द ही सकारात्मक कदम उठाएंगे। इस मौके पर उपस्थित स्टेशनरी विक्रेता एवं निर्माता एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह चैहान ने कहा, यदि सभी निजी स्कूल इसी तरह निर्णय लेने लगेंगे तो अभिभावकों को काफी राहत मिलेगी। कार्यक्रम में अभिषेक खरे, राहुल गुप्ता, जितेन्द्र सिंह चौहान, स्कूल प्रबंधक दिलीप यादव के अलावा सुशील गुप्ता, संतोष त्रिपाठी, सुशील सिंह व स्कूल स्टाफ के अन्य लोग भी उपस्थित रहे।

राष्ट्रीय अभिभावक मंच ने छेड़ी मुहिम

बता दें कि लाॅकडाउन के दौरान निजी स्कूलों की महंगी फीस से अभिभावकों को राहत दिलाने के लिए ही राष्ट्रीय अभिभावक मंच का गठन किया गया है। मंच संयोजक अभिषेक खरे व अभिभावक राहुल गुप्ता ने मंच के माध्यम से एक बहस छेड़ दी है कि लाॅकडाउन के चलते पहले ही आर्थिक तंगी का सामना कर रहे अभिभावकों को स्कूलों की महंगी फीस से छूट मिलनी चाहिए।

क्योंकि संकट के इस दौर में प्राइवेट नौकरी करने वाला हर पिता या अभिभावक की पहली प्राथमिकता परिवार का पेट भरने की है। करीब 2 महीने के लाॅकडाउन ने नौकरी और रोजगार को लगभग खत्म कर दिया है। ऐसे विपरीत हालात में अपने बच्चों की महंगी स्कूल फीस भर पाना हर किसी के लिए मुश्किल हो गया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 22, 2020, 5:43 pm
Sunny
Sunny
39°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 28%
wind speed: 1 m/s ESE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:21 pm
 

Recent Posts

Trending