Connect with us

व्यापार

गाजियाबाद: सीवर में उतरे पांच सफाई कर्मचारियों की मौत, सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश

Published

on

गाजियाबाद। शहर में सीवर सफाई के दौरान एक बड़ा हादसा हो गया है। यहां नंदग्राम में सीवर साफ करने उतरे पांच लोगों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि उन्हें सीवर में उतरने के लिए ठेकेदार ने कहा था। सीवर में उनकी दम घुटने से मौत हुई है। पांचो की पहचान अब तक नहीं हो पाई है। इस घटना पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है। इसके साथ ही मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख सहायता राशि देने का ऐलान किया है। सीएम योगी ने प्रबंध निदेशक को इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

ये भी पढ़ें: योगी ने नए मंत्रियों को दिया ‘इंस्ट्रक्शन’, बताई 5 मंत्रियों के प्रमोशन की वजह

दरअसल, बुधवार को नंदग्राम में सीवर सफाई का कार्य चल रहा था। सीवललाइन साफ करने एक आदमी अंदर नहीं गया। जब वो बाहर निकल कर नहीं आया तो उसे देखने दूसरा आदमी भी अंदर चला गया है। इसी तरह पांचो लोग अंदर गए और वहीं उनका दम घुट गया। दम घुटने के कारण उनकी मौत हो गई। हादसे की जानकारी मिलने के बाद अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। तुरंत ही सीवर लाइक को भी बंद कर दिया गया था। मृतकों के शव को अस्पताल भेज दिया गया है। http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

16 अप्रैल को देश भर के ज्वेलरी व्यापारी मनाएंगे ज्वेलरी दिवस

Published

on

ज्वेलरी व्यापार को अधिक पारदर्शी और विश्वसनीय बनाने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान

लखनऊ। देश भर में फैले 4 लाख से अधिक ज्वेलरी व्यापारी और उनसे जुड़े लगभग 20 लाख कारीगर आगामी 16 अप्रैल को देश भर में ज्वेलरी दिवस के रूप में मनाएंगे। यह घोषणा ज्वेलरी एवं उससे जुड़े कारीगरों के शीर्ष संगठन आल इंडिया ज्वेलर्स एन्ड गोल्डस्मिथ फेडरेशन ने आज की। यह संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा ज्वेलरी व्यापार के लिए गठित प्रमुख संगठन हैं, जो मूलरूप से देश के छोटे ज्वेलर्स एवं ज्वेलरी कारीगरों का प्रतिनिधित्व करता है।

देश में लगभग 4 लाख से अधिक ज्वेलर्स हैं जिनमें लगभग 95% छोटे ज्वेलर्स हैं। केवल मात्र 30 हजार जेवेलर्स बीआइएस हॉलमार्क से पंजीकृत हैं। ज्वेलरी व्यवसाय में देश भर में लगभग 20 लाख कारीगर हैं जो आभूषण बनाते हैं। देश में प्रतिवर्ष लगभग 900 टन सोने की सालाना खपत है। लगभग 3 लाख करोड़ रुपये का सोना आयात होता है। लगभग 12.5 % इम्पोर्ट ड्यूटी और 3% जीएसटी के हिसाब से ये व्यापार सरकार को लगभग 50 हजार करोड़ रुपये का राजस्व प्रदान करता है। वहीं चांदी का व्यापार भी देश भर में बड़े पैमाने पर अलग से होता है।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की कैट ने देश के समस्त रिटेल व्यापार को आधुनिक एवं उच्च स्तरीय बनाने का निर्णय लिया हुआ है। जिसके अंतर्गत प्रत्येक महत्वपूर्ण व्यापार को बेहतर तकनीक से जोड़ा जाएगा, ताकि भारत के हर क्षेत्र के व्यापारी आत्मनिर्भर बन कर किसी बी देसी अथवा वैश्विक व्यापारिक चुनौती का मुकाबला कर सकें। इस योजना के तहत देश के ज्वेलरी व्यापार को बेहतर, पारदर्शी एवं विश्वसनीय बनाने के लिए देश भर के छोटे ज्वेलर व्यापारियों एवं ज्वेलरी कारीगरों को साथ जोड़कर कैंट ने हाल ही में आल इण्डिया ज्वैलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन (एआईजेजीऍफ़) का गठन किया है। जिसमें देश के सभी राज्यों के छोटे ज्वेलर्स के व्यापारी संगठनों के व्यापारी नेता एवं ज्वेलरी कारीगर शामिल हैं।

बता दें कि, आल इंडिया ज्वेलर्स एन्ड गोल्डस्मिथ फेडरेशन के राष्ट्रीय संयोजक पंकज अरोरा, फाउन्डर मेंबर विनोद माहेश्वरी ने बताया की आगामी 16 अप्रैल को देश भर में ज्वेलरी दिवस मनाते हुए दिल्ली में एक ज्वेलरी व्यापारी महासम्मेलन आयोजित होगा। जिसमें देश के सभी राज्यों के प्रमुख ज्वेलरी व्यापारी बड़ी संख्यां में भाग लेंगे। सम्मेलन में ज्वेलरी व्यापार की वर्तमान ज्वलंत समस्याओं एवं उनका समाधान तथा किस प्रकार से व्यापारी सरकार के साथ सहयोग करते हुए देश के ज्वेलरी व्यापार में वृद्धि कर सकते हैं। भारत से किस प्रकार ज्वेलरी का ज्यादा से ज्यादा निर्यात किया जा सकता है, इस पर चर्चा करते हुए अपनी आगामी रणनीति तय करेंगे। उन्होंने ने बताया की ज्वेलरी व्यापार के प्रमुख ज्वलंत मुद्दों को लेकर संगठन का प्रतिनिधिमंडल शीघ्र केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान से शीघ्र मिलेगा।

विनोद माहेश्वरी ने संगठन के विषय में जानकारी देते हुए कहा की वर्तमान में देश का ज्वेलरी व्यापार बेहद निराशा के दौर से गुजर रहा है। वर्तमान में जहाँ आभूषणों की बिक्री में कमी आ रही है तो वहीं दूसरी ओर सरकार की नीतियां भी ज्वेलरी व्यापार को ढेर करने में लगी हुई हैं। उन्होंने कहा की देश के छोटे ज्वेलर्स एवं उनसे जुड़े कारीगर इस व्यापार को बेहतर बनाने के लिए सरकार के दृष्टिकोण का स्वागत करते हैं और सरकार को समर्थन का भरोसा देते हैं किन्तु सरकार को छोटे ज्वेलर्स से चर्चा कर उनकी समस्याओं को समझना जरूरी है और उसके अनुसार इस व्यापार के लिए नीति बनाई जाए।

यह भी पढ़ें :- कोरोना का कहर: 6 दिन में निवेशकों के 11 लाख करोड़ रुपए डूबे

उन्होंने बताया कि वाणिज्य मंत्रालय द्वारा गठित डोमेस्टिक गोल्ड कॉउन्सिल में अभी तक उन छोटे ज्वेलरी व्यापारियों का प्रतिनिधित्व नहीं है, जो देश में प्रतिवर्ष हो रहे गोल्ड व्यापार का 85 प्रतिशत हिस्सा है। लिहाजा एआइजीजेएफ को भी डोमेस्टिक गोल्ड कॉउन्सिल में शामिल किया जाना चाहिए। देश के ज्वेलरी व्यापारी आभूषणों पर हॉलमार्किंग करने के सरकार के आदेश का स्वागत करते हैं और सरकार के साथ सहयोग करते हुए देश के सभी ज्वेलर्स को हॉलमार्किंग के साथ जोड़ना चाहते हैं। किन्तु देश भर में ज्वेलरी आभूषणों की बिक्री के पैटर्न को देखते हुए हॉलमार्किंग नियमों में 20 कैरट ज्वेलरी को भी मान्यता दी जाए। यह आवश्यक है वहीं हॉलमार्किंग के वर्तमान नियम के अनुसार ज्वेलर को हॉलमार्क का रिकॉर्ड रखने के लिए बाध्य किया गया है, जबकि हॉलमार्क के स्टॉक का रिकॉर्ड हॉलमार्किंग सेंटर को रखना चाहिए। 2 लाख रुपये तक के आभूषणों की नकद बिक्री के स्थान पर 100 ग्राम आभूषणों की नकद बिक्री को अनुमति देनी चाहिए। प्रत्येक जिला मुख्यालय पर सरकार स्वयं के हॉलमार्किंग सेंटर खोले तभी आभूषणों को सही तरीके से हॉलमार्क किया जा सकता है।

श्री अरोरा ने कहा की किसी भी व्यापारी द्वारा हॉलमार्किंग सेंटर खोलने पर सरकार को उसे प्रोत्साहित करना चाहिए। हॉलमार्किंग मशीनों के आयात शुल्क में सरकार को छूट देनी चाहिए। गोल्ड मेटल लोन एवं बैंकों से क़र्ज़ ज्वेलरी व्यापारियों को बैंकों से आसानी से दिलवाया जाए। सर्राफा व्यवसाइयों को प्राथमिकता पर आर्म लाइसेंस ऑनलाइन एवं सरल प्रक्रिया से दिया जाए। ज्वेलरी कारीगरों को आसान तरीके से मुद्रा योजना के अंतर्गत ऋण दिया जाए। ज्वेलरी व्यापारियों द्वारा पुराने गहने खरीदने पर सरकार दिशा निर्देश भी जारी करे जिससे आये दिन पुलिस द्वारा सराफा व्यापारियों का उत्पीड़न रोका जाए। ज्वेलरी व्यापारियों को सीटीटी के रिफंड का समुचित प्रावधान किया जाए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

महिलाओं को निशाना बनाकर लूटपाट करने वाले दो शातिर लुटेरे गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। राजधानी में हुसैनगंज पुलिस ने शुक्रवार को बाल विद्या मंदिर के पास से दो शातिर लुटेरों को धर दबोचा है। हुसैनगंज पुलिस ने दोनों लुटेरों के पास से लूट के मोबाइल व घटना में इस्तेमाल की गई बाइक को बरामद किया है। वहीं पुलिस ने लुटेरों की पहचान करन और आलोक के रूप में की है।

ये भी पढ़ें: परिवहन निगम को ट्राईमैक्स कंपनी ने लगाया 46 लाख का चूना…

दिनेश सिंह, डीसीपी मध्य, लखनऊ ने प्रेस वार्ता कर बताया कि पकड़े गए लुटेरे भीड़भाड़ वाले इलाके में महिलाओं को निशाना बनाकर लूटपाट की वारदात को अंजाम देते थे। जानकारी के अनुसार लुटेरे महिलाओं से लूटे गए पर्स व मोबाइल, सोने की चेन आदि को चारबाग के पास राहगीरों को बेचकर खुद के शौक पूरा करते थे और साथ ही नशे का सेवन भी करते थे। पुलिस क पूछताछ में पता चला कि पकड़े गए दोनों लुटेरों के खिलाफ गौतमपल्ली व हुसैनगंज थाने में पहले से मुकदमा दर्ज है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

लखनऊ : लोगों ने बच्चा चोर को पकड़कर पुलिस को सौंपा…

Published

on

लखनऊ। मड़ियांव थाना क्षेत्र में गुरुवार को बच्चा चोरी की घटना से हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने एक युवक को एक बच्चे के साथ पकड़ लिया। आरोप है कि युवक बच्चे को अपहरण कर ले जा रहा था। युवक बच्चे के साथ सीतापुर के महमूदाबाद निकलने की फिराक में था। लेकिन इसी बीच बच्चे के एक रिश्तेदार की नजर उस पर पड़ गयी। संदिग्ध युवकों के साथ बच्चे को देखकर रिश्तेदार ने जब पूछता की तो एक युवक भागने लगा। बच्चे के रिश्तेदार ने एक को दबोच लिया।

यह भी पढ़ें-घण्टाघर प्रदर्शनः सीएम योगी की बेरुखी से भड़का महिलाओं का गुस्सा

शोर सुनकर आस-पास के लोग भी जमा हो गए। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस आरोपी युवक को पूछताछ के लिए थाने लेकर चली गयी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 29, 2020, 2:38 am
Fog
Fog
18°C
real feel: 19°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 82%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:01 am
sunset: 5:37 pm
 

Recent Posts

Trending