Connect with us

व्यापार

ऐतिहासिक समिट के लिए पैदल दक्षिण कोरिया पहुंचे किम जोंग उन

Published

on

 

सियोल । रह-रह कर परमाणु हथियारों और मिसाइलों की धमकी देने वाले नॉर्थ कोरियाई नेता किम जोंग उन ने आज जब अपने देश की सीमा लांघते हुए दक्षिण कोरिया की भूमि में प्रवेश किया तो पूरी दुनिया ने राहत की सांस ली । किम ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन से गर्मजोशी से मुलाकात की । उनकी मुलाकात दोनों देशों की सीमा पर बने डिमिलिट्राइज जोन यानी डीएमजेड पर हुई । डीएमजेड पर बने गांव पनमूनजेओम के पीस हाउस में मून ने किम जोंग उन का खुलेदिल से स्वागत किया । नार्थ कोरियाई नेता न्यूक्लियर संकट पर आयोजित अंतर कोरियाई सम्मेलन समिट में हिस्सा लेने के लिए साउथ कोरिया पहुंचे हैं ।

दुनिया ने ली राहत की सांस

सम्मेलन को लेकर उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन बेहद उत्साहित थे और उन्होंने शुक्रवार सुबह पैदल ही सीमा पार करते हुए साउथ कोरियाई राष्ट्रपति का हाथ थाम लिया तो जैसे पूरी दुनिया ने राहत की सांस ली । किम जोंग उन 1950-53 के कोरियाई युद्ध के बाद साउथ कोरिया की भूमि पर कदम रखने वाले पहले नार्थ कोरियाई शासक हैं । इस दौरान किम ने माओ स्टाइल वाला सूट पहन रखा और उनके साथ आए प्रतिनिधमंडल के अधिकांश लोग मिलिटरी ड्रेस में थे ।

किम ने बताया नए इतिहास की शुरुआत

बैठक के बाद विजिटर्स डायरी में किम जोंग ने मुलाकात को ऐतिहासिक बताया । किम जोंग ने लिखा, ‘यहां से एक नया इतिहास लिखा जाएगा । हम शांति स्थापित करने वाले इतिहास के नए अध्याय की शुरुआत कर रहे हैं ।’ अमेरिका ने भी इस बैठक का स्वागत किया है ।

किम की बहन भी गई हैं साथ

उत्तर कोरिया के 09 सदस्यीय प्रतिनिधमंडल में देश के ऑनरेरी अध्यक्ष किम योंग नैम, विदेश मंत्री री योंग हो और किम की बहन किम यो जोंग भी हैं । किम यो जोंग उत्तर कोरिया की वर्कर्स पार्टी के प्रोपेगैंडा एंड एजिटेशन डिपार्टमेंट की निदेशक हैं । किम यो जोंग ने दक्षिण कोरिया में शीतकालीन ओलंपिक खेलों के दौरान सियोल का ऐतिहासिक दौरा भी किया था ।

ट्रैक-टू डिप्लोमेसी पर जोर

समिट के सुबह के सत्र के बाद दोनों पक्ष एक सांकेतिक समारोह में साथ मिलकर पौधारोपण करने से पहले अलग-अलग दोपहर का भोजन करेंगे । इसके बाद दोनों नेताओं के बीच संक्षिप्त और अनौपचारिक वार्ता होगी । सियोल के एक प्रवक्ता के मुताबिक, इस बैठक के अंत में मून और किम जोंग उन एक समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे और एक ऐलान करेंगे ।

परमाणु कार्यक्रम पर होगी बात

दोनों नेताओं के बीच नार्थ कोरिया के विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम को लेकर बातचीत होने की उम्मीद है । दक्षिण कोरिया ने इस बात को लेकर आगाह किया है कि नार्थ कोरिया को परमाणु हथियार कार्यक्रम छोड़ने के लिए राजी करना बेहद मुश्किल होगा । नार्थ कोरिया और दक्षिण कोरिया के नेताओं के बीच एक दशक पहले हुई मुलाकात के बाद हालात बहुत बदल गए हैं ।

पनमुनजोम में हो रहा सम्मेलन

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच यह ऐतिहासिक सम्मेलन पनमुनजोम में हो रहा है। पनमुनजोम कोरियाई प्रायद्वीप की एकमात्र ऐसी जगह है, जहां नार्थ कोरिया, साउथ कोरिया और अमेरिकी सैनिक हर दिन हर रात एक दूसरे से रूबरु होते हैं । कोरियाई युद्ध के बाद से यहां युद्धविराम लागू है ।

अमेरिका से हुई थी गुप्त बैठक

इससे पहले नार्थ कोरिया के साथ अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के निदेशक माइक पोम्पियो की गुपचुप बैठक की खबरें आईं थीं । किम जोंग उन के साथ उनकी सीक्रेट मुलाकात हुई थी । पोम्पियो 31 मार्च और एक अप्रैल के बीच उत्तर कोरिया के गुप्त दौरे पर गए थे । पोम्पियो के दौरे का मकसद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन के बीच सीधी बातचीत का रास्ता साफ करना था ।

फरवरी में रखी थी मुलाकात की नींव

इस शिखर सम्मेलन का मुख्य मुद्दा और उद्देश्य कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु हथियारों पर रोक और शांति स्थापित करना है । इस सम्मेलन की नींव तभी रखी गई थी जब फरवरी के महीने में किम जोंग उन की बहन विंटर ओलंपिक्स में हिस्सा लेने के लिए दक्षिण कोरिया आई थीं ।

मई-जून में ट्रंप से मुलाकात संभव

नार्थ कोरिया और साउथ कोरियाई राष्ट्रप्रमुखों के बीच की मुलाकात के कुछ सप्ताह पहले ही नार्थ कोरियाई तानाशाह किम ने न्यूक्लियर प्रोग्राम समाप्त करने की घोषणा की थी । उन पर अमेरिका सहित पूरा विश्व समुदाय काफी समय से न्यूक्लियर प्रोग्राम खत्म करने का दबाव डालता रहा है । नार्थ कोरियाई तानाशाह किम और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात मई या जून में हो सकती है । उनकी मुलाकात का समय और स्थान अब तक तय नहीं हुआ है ।http://www.satyodaya.com

व्यापार

मदरसा सुल्तानपुर मदारिस में पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित

Published

on

लखनऊ। चौक स्थित मदरसा सुल्तानपुर मदारिस में गुरुवार को पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महापौर संयुक्ता भाटिया के साथ स्वामी सारंग व ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती यूनिवर्सिटी के कुलपति भी मौजूद रहे। मदरसा परिसर में छात्रों व मेहमानों ने मिलकर करीब 100 पौधे जमीन में रोपित किए और उनमें पानी डाला। इस मौके पर महापौर ने छात्रों का अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित किया।

यह भी पढ़ें-बीएस-4 ने परिवर्तन चौक से हजरतगंज तक निकाली रैली आरक्षण बचाओ रैली

मदरसा के प्रिसिपल अंसार रजा ने कहा कि पौधारोपण सबाब का काम है। क्योंकि इससे सभी लोगों को स्वच्छ आबो-हवा मिलती है। साथ ही हमारी धरती और पर्यावरण सुरक्षित होती है। अंसार रजा ने कहा कि हर धर्म में पौधरोपण को पुण्य का काम बताया गया है। हम लोगों ने इस कार्यक्रम की शुरूआत की है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

होली पर स्पेशल बसों के एडवांस टिकट पर नहीं मिलेगी कोई छूट

Published

on

सांकेतिक चित्र

15 दिनों तक होली पर चलेंगी अतिरिक्त बसें

लखनऊ। परिवहन निगम ने इस बार होली स्पेशल बसों में यात्रियों को निराश कर दिया है। यात्रियों को अब एडवांस टिकट बुकिंग पर किराए में छूट नहीं मिलेगी। परिवहन निगम प्रशासन होली के दौरान 3 से 17 मार्च के बीच पंद्रह दिनों तक होली पर अतिरिक्त बसें चलाने जा रहा है। इन दौरान एडवांस टिकट हो या तत्काल, किसी भी प्रकार के किराए में यात्रियों को छूट नहीं देने का निर्णय लिया है।

क्षेत्रीय प्रबंधक पल्लव बोस ने बताया कि परिवहन निगम पहली बार किसी त्यौहार पर किराए में छूट नहीं देने की योजना लेकर आया है। त्यौहार के दिनों में उदाहरण के तौर पर दिल्ली से लखनऊ आने वाले यात्रियों की भीड़ को देखते हुए लखनऊ से खाली बसें दिल्ली भेजी जाती है। इससे रोडवेज को खाली बस भेजने पर एक तरफ से नुकसान उठाना पड़ता है। इस योजना के लागू होने से जो नुकसान होता था वह कम हो जाएगा और यात्रियों की भीड़ जहां ज्यादा होगी वहां आसानी से बसें भेजकर यात्रियों को तत्काल बसों की सुविधा मुहैया कराई जा सकेगी।

ये भी पढ़ें: सीएमओ कार्यालय में मारपीट करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

सुगम एप से होगी शिकायत:

सीट का कवर फटा है। बस की फर्श उखड़ी हैं। खिड़कियों के शीशे ठीक नहीं है। ड्राइवर मोबाइल पर बात कर रहा है या फिर बस में अन्य कोई खामियां है। यात्री अब सीधे तौर पर इन खामियों को ‘सुगम एप’ पर सूचना देकर या फोटो खींचकर उजागर कर सकेंगे।

रोडवेज के अफसरों ने बताया कि बसों की मरम्मत में लापरवाही अब छुप नहीं सकेंगी। शिकायत आने पर इसकी गाज डिपो के फोरमैन से लेकर अफसरों पर गिरेगी। सुगम एप पर बस नंबर से सूचना भेजते ही बस किस डिपो की है? पोल पट्टी खुल जाएगी। यात्री इस एप पर अपना सुझाव भी दे सकेंगे। परिवहन निगम जल्द ही यात्री हित में इस एप को लांच करेगा।

परिवहन निगम एमडी डॉ. राजशेखर का कहना है कि बस में सफर के दौरान यात्रियों को जो भी कमियां नजर आएंगी उसके बार में सुगम एप के जरिए जानकारी दे सकेंगे। जिससे बसों को दुरूस्त कराकर यात्रियों को बेहतर सेवा दी जा सके। एप पर यात्रियों से फीड बैक भी लिया जाएगा। इसी माह यह एप लांच करने की तैयारी है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

गलत ऑपरेशन से मरीज की मौत के मामले में अस्पताल के निदेशक पर दर्ज केस

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ: राजधानी में कथित रूप से गलत ऑपरेशन से मरीज की मौत के मामले में अदालत के आदेश पर एक निजी अस्पताल व उसके निदेशक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि शिकायतकर्ता की शिकायत के आधार पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत के आदेश पर अलीगंज थाने में बीते 5 फरवरी को विद्या हॉस्पिटल एवं ट्रॉमा सेंटर और उसके निदेशक डॉक्टर के.के. गुप्ता के खिलाफ भारतीय दण्ड विधान की धारा 304—ए (लापरवाही के कारण मौत) के तहत दर्ज किया गया।

शिकायतकर्ता अमर कुमार तिवारी के अनुसार उन्होंने पिता शिव कैलाश तिवारी को गर्दन के निचले हिस्से में दिक्कत होने पर मड़ियांव स्थित विद्या हॉस्पिटल में डॉक्टर के.के गुप्ता को दिखाया था। जहां डॉ. ने उनके पिता की रीढ़ में परेशानी होने की बात कहते हुए गर्दन के नीचे के हिस्से में छोटा सा ऑपरेशन करने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन 6 मई 2018 को हुआ था।

ये भी पढ़ें: चोरों ने डिफेंस एक्सपो की पार्किंग से दिनदहाड़े उड़ाई कार…

ऑपरेशन के बाद से उनके पिता कभी भी बिस्तर से नहीं उठ सके। आरोप है कि इस बारे में डॉक्टर गुप्ता से शिकायत करने पर उन्होंने बात करना बंद कर दिया। पिता की परेशानी के चलते जब तिवारी ने उनको दूसरे अस्पताल में दिखाया, तो वहां डॉ. ने बताया कि उनके पिता का अत्यधिक ब्लड शुगर रहते गलत ऑपरेशन किया गया है और अब उन्हें नहीं बचाया जा सकता।

जिसके बाद 15 मार्च 2019 को उनके पिता की मौत हो गई। आगे उन्होंने कहा कि इस विषय में जब पुलिस से शिकायत की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार पीड़ित तिवारी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। जहां मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने गत 27 जनवरी को पुलिस को इस सिलसिले में सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। जिसके आधार पर अस्पताल और आरोपी डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 21, 2020, 1:35 pm
Partly sunny
Partly sunny
21°C
real feel: 21°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 72%
wind speed: 5 m/s E
wind gusts: 10 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 6:08 am
sunset: 5:32 pm
 

Recent Posts

Trending