Connect with us

व्यापार

शिक्षकों ने भरी हुंकार, 6 नवम्बर को होगी शिक्षक सम्मान बचाओ महारैली

Published

on

लखनऊ। अपने अधिकारों के साथ-साथ सम्मान की रक्षा के लिए शिक्षकों ने एकजुट होकर सड़क पर उतरने का ऐलान किया है। चारबाग स्थित रवीन्द्रालय में रविवार को आयोजित उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक के सम्मेलन में प्रदेश भर से ब्लाॅक अध्यक्ष, मंत्री व जिलाध्यक्ष शामिल हुए।
सम्मेलन में मुख्य अतिथि एमएलसी व नेता शिक्षक दल विधान परिषद ओम प्रकाश शर्मा ने कहा कि शिक्षकों ने अपने संघर्षों व बलिदानों के बल पर उपलब्धियां व सम्मान अर्जित किया है। लेकिन वर्तमान सरकार में शिक्षकों की उपलब्धियों को छीना जा रहा है। कहा कि सरकार ने पुरानी पेंशन, सामूहिक बीमा व परिवार नियोजन भत्ता छीन लिया है। सरकार ऐसे आदेश जारी कर रही है जिससे शिक्षकों को उनके दायित्वों के निर्वहन में परेशानी हो रही है। सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर बैठे लोग शिक्षकों को अपमानित करने वाले बयान दे रहे हैं। प्रदेश का शिक्षक समाज ऐसे व्यवहार को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा।

सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. दिनेश चन्द्र ने कहा कि प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में 5 लाख शिक्षकों की कमी है। स्कूलों में छात्रों के लिए मूलभूत सुविधाएं भी नदारद हैं। इसके बाद भी पिछले ढाई वर्ष में प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों में रिकार्ड 28 लाख छात्रों का नामांकन हुआ है। कहा कि कुछ अधिकारी और तथाकथित स्वयंसेवी संगठन प्राथमिक शिक्षा का निजीकरण करना चाहते हैं। यह लोग प्रदेश के बेसिक शिक्षकों व बेसिक शिक्षा को बदनाम कर रहे हैं। स्कूलों में सुविधाओं को बढ़ाने और शिक्षकों की मांगों को पूरा करने के बजाय सरकार शिक्षकों पर प्रेरणा एप थोप कर उनकी निजता का हनन करना चाहती है। प्रदेश का बेसिक शिक्षक इसे किसी कीमत पर स्वीकार नहीं करेगा। संगठन ने कहा कि प्रदेश के बेसिक से लेकर माध्यमिक व महाविद्यालयों के शिक्षक 06 नवम्बर को लखनऊ में महारैली करेगा।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष इं. हरिकिशोर तिवारी ने कहा कि प्रदेश का शिक्षक संसाधनों के अभाव व विपरीत परिस्थितियों में बेहतर कार्य कर रहा है परन्तु सरकार में कुछ अधिकारी अपनी निजी स्वार्थ सिद्धी के लिए शिक्षकों को बदनाम कर रहे हैं। कहा कि प्रदेश का कर्मचारी वर्ग शिक्षकों के साथ है। उप्र पीसीएस एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष बाबा हरदेव सिंह ने कहा कि जिस राष्ट्र का शिक्षक सुखी नहीं होता वह राष्ट्र उन्नति नहीं कर सकता। प्रदेश के बेसिक शिक्षकों के सिर पर तमाम गैर शैक्षणिक कार्यों का बोझ लाद दिया गया है। उस पर भी उन्हें बदनाम किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश अधिकारी महापरिषद प्रदेश के शिक्षकों के साथ है ।

यह भी पढ़ें-World river day : यूथ हॉस्टल ने राइड फाॅर नेचर का किया आयोजन

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के महामंत्री संजय सिंह ने कहा कि शिक्षक सदैव से ही अपने दायित्व व कर्तव्यों के प्रति जागरूक है। शिक्षक सदैव राष्ट्र के साथ खड़ा रहा, लेकिन मौजूदा समय में इनकी कार्यक्षमता को प्रभावित किया जा रहा है। आज पूरे प्रदेश का शिक्षक सरकार के आदेशों से आजिज होकर संघर्ष का मन बना चुका है। सम्मेलन को हेम सिंह पुण्डीर एमएलसी, जगवीर किशोर जैन एमएलसी, सुरेश त्रिपाठी एमएलसी, धु्रव कुमार त्रिपाठी एमएलसी, भक्तराज राम त्रिपाठी, शिवशंकर पाण्डेय, देवेन्द्र श्रीवास्तव, राधेरमण त्रिपाठी, सुधांशु मोहन, बृजेश पाण्डेय, अर्चना मिश्रा, वन्दना सक्सेना, अर्चना तिवारी आदि ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन प्रान्तीय महामंत्री संजय सिंह ने किया। http://www.satyodaya.com

व्यापार

लखनऊ लाॅकडाउनः लुआक्टा ने जरूरतमंदों को उपलब्ध कराया राशन

Published

on

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालय शिक्षक संघ (लुआक्टा) ने मंगलवार को राजधानी के कुर्मांचल नगर में गरीबों व जरूरतमंदों को राशन सामग्री वितरित की। लाॅकडाउन से प्रभावित लोगों की मदद के लिए चल रही लुआक्टा की मुहिम के तहत यहां की झुग्गी झोपड़ियों में चल रहे सामूहिक किचन में एक समय का राशन दिया गया। कुर्मांचल नगर का यह सामुदायिक भोजन केंद्र जनसहयोग से चल रहा है। जिससे यहां की 4 बस्तियों के 50 परिवारों के लगभग 160 लोगों को भोजन मिल रहा है।

यह भी पढ़ें-गरीबों, मजदूरों की मदद के लिए सिपेट ने लखनऊ नगर निगम को दिए 5 लाख रुपए

भोजन पकाने का कार्य स्वयं जरूरत मन्द लोग खुद ही कर रहे हैं। राशन बांटने वालों में लुआक्टा की तरफ से डॉ राजीव शुक्ला, डॉ प्रोतिमा पुरी, डॉ सुनीता कुमार, डॉ मेहंदी अब्बास जैदी शामिल रहे। जबकि तमाम शिक्षकों ने इसमें सहयोग दिया था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

कांग्रेस ने सीएम योगी को याद दिलाया वादा, कहा- किसानों को दें मुआवजा

Published

on

अजय कुमार लल्लू ने सीएम योगी को लिखा पत्र

लखनऊ। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर लॉकडाउन के बीच, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा। जिसमें उन्होनें कहा कि आम आदमी और छोटे रोजगार वाले लोगों के लिए 6 महीने तक बिजली बिल माफ करने की मांग करते हुए, ओलावृष्टि और बेमौसम बरसात की मार खाये किसानों को मुआवजा देने की मांग की है।

इसे भी पढ़ें-COVID-19: भारत में कोरोना के अब तक 1251 केस, देखें किस राज्य में कितनी मौतें

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र के माध्यम से अवगत कराते हुए कहा है। कोरोना महामारी से पूरा जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लॉक डाउन के दौरान किसानों, गरीबों, छोटे दुकानदारों को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पत्र के माध्यम से कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से ओलावृष्टि के दौरान किसानों के हुए नुकसान को भरपाई करने के लिए मुआवजा देने की मांग की है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है, कि सरकार ने किसानों को मुआवजा देने की घोषणा की थी।

किसान मुआवजे की अभी तक राह देख रहे हैं। किसानों के पास इस समय फूटी कौड़ी भी नहीं है। ऐसे में मुआवजा उनके लिए बहुत बड़ी राहत होगी। सरकार को तत्काल उनके खाते में मुआवजा राशि भेज देनी चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष ने यह भी कहा कि वर्तमान समय में किसान आम आदमियों छोटे दुकानदारों के पास कुछ भी नहीं बचा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के किसान व्यापारियों और आम आदमियों और छोटे दुकानदारों के लिए बिजली का बिल दे पाना काफी मुश्किल ऐसे में इन लोगो का कम से कम 6 माह का बिजली का बिल माफ किया जाए। अजय लल्लू ने पत्र के माध्यम से कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसानों व्यापारियों एवं छोटे दुकानदारों की तरफ से मेरी गुजारिश को अनदेखी नहीं करेंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

व्यापार

KGMU, PGI के बाद अब लोहिया संस्थान में भी हो सकेगी कोरोना की जांच

Published

on

लखनऊ में होगा यह तीसरा संस्थान

लखनऊ। डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ में अब कोरोना की जांच होगी। इसकी तैयारी शुरू हो गईं हैं। लखनऊ में कोरोना वायरस की जांच करने वाला यह तीसरा सरकारी संस्थान होगा। अभी तक केजीएमयू और पीजीआई में इसकी जांच होती थी। लोहिया संस्थान के निदेशक डॉ. एके त्रिपाठी ने बताया कि जांच के किए पैथोलॉजी विभाग के चार कमरे लिए जा रहे हैं। जिसमें बायोसेफ्टी का इंतजाम होगा।

यह भी पढ़ें-कोरोना से निपटने के लिए सीएम रिलीफ फण्ड में अंशदान की अपील

वहीँ संस्थान के पास एक पीसीआर की मशीन है। दूसरी मशीन के लिए अधिकारियों से कहा गया है। एक दिन में 40 जांच करने का लक्ष्य रखा गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 1, 2020, 8:04 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
31°C
real feel: 30°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 32%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:27 am
sunset: 5:54 pm
 

Recent Posts

Trending