Connect with us

Featured

विभूति खंड थाने के नवनिर्माण इमारत का डीजीपी ने किया उद्घाटन

Published

on

लखनऊ। #विभूतिखंड थाने के नवनिर्माण थाने का यूपी के डीजीपी ओपी सिंह के द्वारा उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद रहे। आपको बता दें की विभूतिखंड थाने की नई इमारत लगभग 4000 वर्ग फिट में बनाया गया है और ये उत्तर प्रदेश का अब तक का सबसे भव्य थाना है इसके निर्माण में लगभग 2 साल का समय भी लगा है।

#नव निर्माण थाने का उद्घाटन करने पहुंचे डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि वे शुक्रगुजार हैं कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश सरकार के सहयोग से विभूतिखंड थाने के भव्य इमारत का निर्माण संभव हुआ है। इस अवसर पर डीजीपी ने कहा कि इस खूबसूरत इमारत की तरह हम सभी पुलिस वालों को अपने आचरण को ही खूबसूरत और जनता के प्रति नरम बनाना होगा। डीजीपी ने हिदायत देते हुए कहा कि हमें अपने आचरण को बेहतर बनाने की और उसमें लगातार सुधार करने की आवश्यकता है जिससे कि हम आम जनता से ज्यादा से ज्यादा जुड़ सकें और उनका भरोसा हम पर बना रहे हैं। वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने इस अवसर पर बताया कि इस वर्ष पुलिस का बजट 1800 करोड़ से बढ़कर 2400 करोड़ हो गया है। सरकार के द्वारा पुलिस विभाग के लिए यह कदम बहुत ही सराहनीय है।

यह भी पढ़ें :- प्रदर्शन के दौरान पुलिस अभ्यर्थियों ने खाया जहरीला पदार्थ…

आपको बता दें कि नवनिर्माण विभूतिखंड थाने में हेल्पडेस्क के साथ ही महिलाओं की सुनवाई के लिए अलग से कक्ष तथा इमारत के अंदर बहुत बड़े हाॅल और साथ ही मनोरंजन के लिए टेबल, टेनिस, शतरंज जिम, जैसी तमाम सुविधाएं भी दी गई हैं। इस थाने के अंदर वह सभी सुविधाएं हैं जिसकी एक पुलिसकर्मी अपेक्षा करता है और साथ ही साथ इन सुविधाओं का लाभ यहां आने वाली आम जनता को भी मिलेगा। वहीं इस अवसर पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने राजधानी के सभी पुलिस कर्मियों को अपना कर्तव्य संपूर्ण ईमानदारी से करने की और जनता के प्रति अच्छे आचरण पेश करने की हिदायत दिया और साथ ही उन्होंने डीजेपी ओपी सिंह समेत तमाम लोगों का धन्यवाद प्रकट किया है।http://www.satyodaya.com

Featured

जीआरपी ऑफिस में तैनात जवान व गर्भवती में कोरोना संक्रमण की पुष्टि

Published

on

जीआरपी लाइन के कुछ हिस्से सील व सिल्वर जुबली अस्पताल 24 घंटे के लिए बंद

लखनऊ। राजधानी में कोरोना वायरस ने रफ्तार पकड़ लिया है। जीआरपी ऑफिस में तैनात एक जवान व एक गर्भवती महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। जीआरपी जवान में कोरोना संक्रमण की पुष्टि जैसे ही उसके ऑफिस में मिली हड़कंप मच गया। अब तक अब तक 28 जवान कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। जबकि सिल्वर जुबली अस्पताल में एक गर्भवती महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। उसके बाद अस्पताल बंद कर दिया गया। कर्मचारियों को क्वॉरंटीन किया गया। लखनऊ में कोरोना मरीजों की संख्या 323 तक पहुंच गई है।

सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक जीआरपी लाइन के कुछ हिस्से को सील करने के लिए कहा गया है। जिन इलाकों में संक्रमण फैला है उस इलाके को सील करने को कहा गया है। जीआरपी के अफसरों को पत्र लिखकर जवानों के संपर्क में आने वालों की सूची मांगी गई है। जगत नारायण रोड स्थित सिल्वर जुबली बीएमसी में बांसमंडी निवासी गर्भवती (23) को परिवारीजनों ने सोमवार को प्रसव पीड़ा होने पर भर्ती कराया था। गर्भवती का नमूना लेकर कोरोना जांच कराई गई थी। जिसकी रिपोर्ट मंगलवार को पॉजिटिव आई तो सीएमओ को मामले की जानकारी देते हुए उनके निर्देश पर गर्भवती को तुरंत ही कानपुर रोड स्थित लोकबंधु राजनारायण संयुक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब उसका प्रसव लोकबंधु अस्पताल में ही कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें :- आम की बिक्री करने पर अब नहीं लगेगा मण्डी शुल्क

सीएमओ ने बताया कि गर्भवती के कोरोना संक्रमित निकलने पर सिल्वर जुबली बीएमसी को 24 घंटे के लिए बंद रखते हुए सैनिटाइज कराया जा रहा है। सभी संबंधित डॉक्टर व कर्मचारियों को क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए गए हैं। गर्भवती कोरोना संक्रमित निकलने पर परिवारीजनों की भी जांच की जाएगी। गर्भवती को कोरोना संक्रमण कैसे हुआ? परिवारीजनों और आस-पास के लोगों के बारे में पता किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि सर्विलांस एवं कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 243 लोगों के नमूने एकत्र करे केजीएमयू जांच के लिए भेजे गए हैं। सीएमओ प्रवक्ता योगेश रघुवंशी के मुताबिक चिकमंडी, खटीकाना, मौलवीगंज, तकिया, बारूदखाना, मकबरा गोलागंज, पीर जलील खटकाना समेत अन्य इलाकों में जागरुकता अभियान चलाया गया। सर्वे कर कोरोना लक्षण वालो लोगों को चिन्हित किया गया। उनके नमूने लिए गए। इस काम में 46 टीमें लगाई गई थी।

यह भी पढ़ें :- शराब, बीयर व भांग की दुकानों की ई-लाटरी अब 4 से 6 जून के बीच होगी

प्रवक्ता योगेश रघुवंशी के मुताबिक कोरोना संक्रमित छह स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किए गए हैं। चार मरीज लोकबंधु अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए हैं। जिनमें से एक मरीज सीआरपीएफ बिजनौर व एक मरीज निगोहां निवासी है। वहीं दो अन्य मरीज राजधानी निवासी हैं। इनमें से एक महिला भी है। दो मरीज दूसरे मेडिकल संस्थान से डिस्चार्ज हुए हैं। 14 दिन सभी को घर में क्वॉरंटीन रहने की सलाह दी गई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

आम की बिक्री करने पर अब नहीं लगेगा मण्डी शुल्क

Published

on

आम उत्पादक कहीं भी कर सकेंगे आम की बिक्री

लखनऊ। आम की बिक्री करने पर अब मण्डी शुल्क नहीं देना होगा। आम उत्पादक कहीं भी आम की बिक्री कर सकेंगे। इसके लिये मण्डी में भीड़ करने की आवश्यकता नहीं होगी। कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि आम विपणन पर मण्डी शुल्क मुक्त कर दिया गया है। इस सम्बन्ध में उन्होंने इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सीधे उत्पादकों के बाग या किसी एक निर्धारित स्थान से आम खरीदें। कृषि उत्पादन आयुक्त ने यह जानकारी अपने सभाकक्ष में उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा प्रदेश में आम विकास की योजना प्रस्तुतीकरण के दौरान दिए। इस दौरान प्रमुख सचिव उद्यान, प्रमुख सचिव कृषि, निदेशक मण्डी आदि अधिकारी उपस्थित थे।

आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आम की गुणवत्तायुक्त पौध उत्पादन प्रदेश के प्रमुख प्रजातियों दशहरी, लंगड़ा, चैसा, रटौल एवं गौरजीत का जीआई पंजीकरण कराना एवं अन्य प्रदेशों में इन प्रजातियों के आम को प्रोत्साहित करना तथा प्रदेश के आम को मूल्य सम्वर्द्धन कर उसकी पहचान बनायी जायें। उन्होंने कहा कि आम उत्पादकों को उनकी फसल का उचित मूल्य प्राप्त हो तथा ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार सृजित हो, इसके लिए आम से विभिन्न उत्पाद बनाने के लिए छोटी-छोटी खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों की स्थापना, आम पकाने के लिए राइपनिंग चेम्बर की स्थापना, निर्यात को बढ़ाने के लिए फलपट्टी क्षेत्रों में पैक हाउस का निर्माण कराया जाना शामिल किया जाये।

यह भी पढ़ें :- शराब, बीयर व भांग की दुकानों की ई-लाटरी अब 4 से 6 जून के बीच होगी

कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि आम के स्वाद के आधार पर वर्गीकरण करने के लिए आम के टेस्टिंग विशेषज्ञ नामित किये जायें जो आम को स्वाद के आधार पर वर्गीकृत कर सकें। वहीं संयुक्त निदेशक उद्यान डॉ. आरके तोमर ने 5 वर्ष की अवधि के लिए योजना का प्रस्तुतीकरण किया। लघु एवं सीमान्त कृषकों को आम उत्पादन से जोड़ने के लिए इजराईल द्वारा दी गयी तकनीकी को समावेषित करते हुए ड्रिप सिचाई के साथ सघन बागवानी तथा घने एवं अनुत्पादक हो गये आम के बागों को कैनोपी प्रबन्धन से उत्पादक बनाये जाने पर भी जोर दिया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

अंत्योदय राशन कार्डों के होंगे सत्यापन, सत्यापन कार्यवाही की सूचना आयोग को देने के निर्देश

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अंत्योदय श्रेणी के राशन कार्डों के सत्यापन किए जांएगे। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत सत्यापन कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष नंदकिशोर यादव ने प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद को निर्देश दिया है कि सभी अंत्योदय श्रेणी के राशन कार्डों का सत्यापन कराते हुए किए गए कार्यवाही की सूचना से आयोग को अवगत कराया जाए।

राज्य खाद्य आयोग अध्यक्ष ने कहा कि आयोग में कई प्रकरणों की सुनवाई के समय यह संज्ञान में आया है कि खाद्य अधिनियम 2013 के अंतर्गत प्रदेश में प्रचलित अंत्योदय श्रेणी के राशन कार्ड प्रभावशाली एवं अपात्र व मृत लोगों के जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह भी संज्ञान में आया है कि कई उचित दर विक्रेताओं द्वारा अपने नाम से एवं अपने पुत्र व संबंधियों के नाम से भी अंत्योदय कार्ड गलत तथ्यों को प्रस्तुत करके बनवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिन व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है उनके नाम से भी अंत्योदय कार्ड प्रचलन में हैं।

यह भी पढ़ें :- COVID-19: कोरोना वायरस के लक्षण होने पर भी टेस्ट आता है नेगेटिव, जाने क्यों?

श्री यादव ने कहा की जिन पात्र व्यक्तियों के नाम से पूर्व में अंत्योदय कार्ड बना था उस समय वह पात्र थे लेकिन वर्तमान में कुछ कार्ड धारकों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो गई होगी। इसलिए पात्रता सूची से ऐसे व्यक्तियों का नाम काट दिया जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रचलित सभी अंत्योदय श्रेणी के राशन कार्डों का सत्यापन कराया जाना अति आवश्यक है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 5, 2020, 6:57 am
Rain
Rain
22°C
real feel: 23°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 100%
wind speed: 3 m/s NNE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:28 pm
 

Recent Posts

Trending