Connect with us

देश

नई मोदी सरकार में विदेश मंत्री का शपथ ग्रहण करने के बाद एक्शन में आए एस. जयशंकर, महिला के ट्वीट पर ऐसा दिया रिएक्शन….

Published

on

लोकसभा चुनाव

फाइल फोटो

लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचंड जीत के बाद पीएम मोदी ने 30 मई को शपथ ग्रहण किया है। ऐसे में पीएम मोदी के साथ 58 और मंत्रियो ने भी शपथ लिया है। इसी तरह सुषमा स्वराज की जगह नए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ले लिया है। देश के नए विदेश मंत्री का कार्यभार संभालते ही वह एक्शन में आ गए हैं। जिसके बाद बाद वह पूरी तरह पूर्व विदेश मंत्री के नक़्शे कदम पर चल रहे हैं।

दरअसल, एक महिला ने ट्विटर के जरिए मदद की गुहार लगाई तो विदेश मंत्री ने तत्काल मदद करने का आश्वासन दिया।  आपको बता दें कि पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ट्विटर पर काफी एक्टिव रहती थीं ऐसे में अगर कोई भी उनसे मदद मांगता था तो वह हमेशा तैयार रहती थी।

ये भी पढ़े:झारखंड के दुमका जिले में नक्‍सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में एक जवान शहीद, चार घायल

ऐसे में सुषमा स्वराज की जगह नई मोदी सरकार में विदेश मंत्री का कार्यभार संभालने वाले एस जयशंकर को शनिवार को रिंकी नाम की एक महिला ने ट्वीट कर विदेश मंत्री और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को टैग करते हुए मदद की गुहार लगाई। जिसमें उसने लिखा, मेरी बेटी दो साल की है। मैं उसको वापस पाने के लिए 6 महीने से संघर्ष कर रही हूं। वह अमेरिका में है और मैं भारत में हूं, प्लीज आप हमारी मदद करें। मैं आपके जवाब का इंतजार कर रही हूं।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने महिला के तुरंत जवाब देते हुए लिखा, अमेरिका में हमारे राजदूत पूरी मदद करेंगे। आप सारी जानकारी उनको दें। वहीं महालक्ष्मी नाम की एस महिला ने ट्विटर के जरिए विदेश मंत्री से मदद मांगी। उसने कहा कि हम परिवार के साथ जर्मनी और इटली ट्रिप पर हैं, मेरे पति और बेटे का पासपोर्ट मेरे बैग के साथ चोरी हो गया है। हमें 6 जून को भारत लौटना है। कृपया आप हमारी मदद करें। सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले एस. जयशंकर ने तुरंत ट्वीट का जवाब दिया।  

ये भी पढ़े:एस जयशंकर ने संभाली विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी, सुषमा के पद चिन्हों पर चलने का जताया इरादा

वहीं इसके एक और महिला ने अपने पति को कुवैत से वापस बुलाने के लिए ट्वीट किया तो जयशंकर ने तुरंत जवाब देते हुए कहा कि कुवैत में हमारे राजदूत इस पर बड़े गर्मजोशी के साथ काम कर रहे हैं।  कृपया आप लोग उनके संपर्क में बने रहें। ऐसे में सभी का कहना है कि नए विदेश मंत्री भी पूर्व मंत्री की तरह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। यही वजह है जिससे वह लोगों की मदद कर रहे हैं।  http://www.satyodaya.com

देश

कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, कहा- प्रतिशोध की भावना से काम कर रही भाजपा

Published

on

नई दिल्ली। देश में अर्थव्यवस्था के कई सेक्टर्स दबाव में चल रहे हैं। आर्थिक सुस्ती ने निवेशकों के हौसले पस्त कर दिए हैं। ऐसे माहौल में विपक्ष मोदी सरकार पर लगातार हमलावर है। शनिवार को कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के ‘संकट’ को दूर करने के लिए कदम उठाने की बजाय राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने यह सवाल भी किया कि क्या अब देश में भाजपा के लिए एक निजाम और विपक्ष के लिए दूसरा निजाम है? उन्होंने कहा, ‘भारत की अर्थव्यवस्था की स्थिति बहुत गंभीर है और यह राष्ट्रीय चिंता का विषय है। निवेश टूट गया है, लोग बेरोजगार हो रहे हैं और पूंजी नहीं है।’

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर इस सरकार ने जल्द कोई कदम नहीं उठाए तो आने वाला समय और तकलीफदेह होगा। शर्मा ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष के पांच महीने हो गए लेकिन सरकार ने जो करीब 24 करोड़ राजस्व का लक्ष्य रखा था वो उससे बहुत दूर है। वहीं कांग्रेस के अकाउंटेंट के यहां इनकम टैक्स की छापेमारी पर उन्होंने कहा कि, ये सरकार बदले की भावना से काम कर रही है। पार्टी के नेताओं के साथ-साथ अब ये सरकार उसके कर्मचारियों के खिलाफ भी प्रतिशोध की भावना से काम कर रही है। जिन्होंने देश को लूटा और चले गए उन पर इस सरकार का ध्यान नहीं है।

ये भी पढ़ें: देश में ऐसी व्यवस्था हो कि आरटीआई की जरूरत ही न पड़े: अमित शाह

वहीं, शर्मा ने भाजपा पर चुनावी में असीमित खर्च करने का आरोप भी लगाया। उन्होंने चुनावी चंदे का जिक्र करते हुए कहा कि आम चुनाव में भाजपा ने कुल खर्च का 60 फीसदी अकेले ही खर्च किया है। इसी के साथ आनंद शर्मा ने भाजपा पर पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अगर वित्त मंत्री को अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर कोई चिंता है तो उन्होंने इससे जुड़े सवालों का जवाब देना चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

दिल्ली: थाने में फेसबुक लाइव होकर युवक ने खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली। दिल्ली से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां रोहिणी क्षेत्र के प्रेम नगर थाने में एक युवक ने फेसबुक लाइव होकर खुद को आग लगा ली। आग लगाने वाले शख्स का नाम आशू आर्या है। इससे पहले उसने थाने के बाहर खुद पर पेट्रोल डाला और थाने के अंदर जाकर खुद को आग के हवाले कर दिया। जिसमें वह गंभीर रुप से घायल हो गया। जिसके बाद उसे जली हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है।

आशू का कहना है कि दशहरे के दिन उसके पिता यादराम को तीन लड़कों अमरदीप डबास, राजेन्द्र और हरदीप डबास ने मिलकर बुरी तरह पीटा था। दरअसल यादराम का हाथ इनमें से एक शख्स के मोबाइल पर लग गया जिसको लेकर उसने मेरे पिता को मार दिया। इसके बाद आशू ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई और इस हमले की जांच हेड कांस्टेबल संदीप कर रहे थे। आशू का आरोप है कि संदीप ने कोई कार्रवाई नहीं की और 2 दिन से वो उसका फोन भी नहीं उठा रहे थे। वहीं आरोपी उन्हें लगातार धमकियां दे रहे थे इसलिए उसने ये कदम उठाया।

ये भी पढ़े- J&K: राजौरी और अखनूर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने की फायरिंग, एक जवान शहीद, दो घायल

आशू को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में बुरी तरह जली हालत में भर्ती कराया गया है। इस मामले में पुलिस का कहना है कि हेड कांस्टेबल संदीप का 2 दिन पहले एक्सीडेंट हो गया था, जिसमें वो घायल हो गया है। इसलिए वो आशू का फोन नहीं उठा सका। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

देश में ऐसी व्यवस्था हो कि आरटीआई की जरूरत ही न पड़े: अमित शाह

Published

on

नई दिल्ली। केंद्रीय सूचना आयोग के 14वें स्थापना दिवस पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसी व्यवस्था हो कि आरटीआई दाखिल करने की जरूरत ही न पड़े बल्कि सरकार खुद सामने से सूचना दे। अमित शाह ने कहा कि जिस प्रकार से RTI एक्ट की कल्पना की गई होगी उसे लगभग अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचाने में हमारा देश सफल रहा है। आरटीआई एक्ट का मूल प्रावधान व्यवस्था के अंदर जनता का विश्वास खड़ा करना है। ये विश्वास जनता में जागृत करना यही इस कानून का प्रमुख उद्देश्य है।

अपने संबोधन में गृह मंत्री शाह ने कहा कि गुडगवर्नेंस के लिए पारदर्शिता और जवाबदेही जरूरी है। दोनों को सुनिश्चित करने के लिए आरटीआई ने काफी मदद की है। भारत जैसे देश में लोगों की शासन और व्यवस्था में सहभागिता और विश्वास बेहद जरूरी था। उन्होंने कहा कि आजादी के पहले जनता और प्रशासन के बीच एक खाई बन गई थी क्योंकि उस वक्त प्रशासन का उद्देश्य अपने आकाओं की इच्छा को पूरा करना था।

उन्होंने कहा कि आरटीआई से इस खाई को पाटने में काफी मदद मिली है। इन 14 सालों में जनता का विश्वास प्रशासन व व्यवस्था के प्रति बढ़ा है। उन्होंने कहा कि आरटीआई भारत में लोकतंत्र की यात्रआ के अंदर मील का पत्थर साबित हुआ है।

ये भी पढ़ें: यूपीपीसीएस 2017 में राखी वर्मा ने पहले ही प्रयास में दर्ज की सफलता

अमित शाह ने कहा कि पूरे विश्व में सरकारे आरटीआई का कानून बनाकर रुक गईं लेकिन भारत में हमने ऐसा नहीं किया। नरेंद्र मोदी सरकार में हम इसी तरह का प्रशासन देना चाहते हैं कि सूचना का अधिकार के आवेदन कम से कम आएं और लोगों को आरटीआई लगाने की जरूरत ही न पड़े। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब आरटीआई एक्ट बना तब ढेर सारी आशंकाएं व्यक्त की जाती थीं। 2016 में जब कानून की स्टडी मैंने की तो मुझे भी लगा की इसका दुरुपयोग हो सकता है। लेकिन आज हम कह सकते हैं कि दुरुपयोग बहुत कम हुआ है और सदुपयोग बहुत ज्यादा हुआ है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 12, 2019, 5:51 pm
Partly sunny
Partly sunny
31°C
real feel: 31°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 45%
wind speed: 1 m/s NW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:12 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending