Connect with us

देश

केरल में विमान हादसे के बाद यूपी के मथुरा में भी पसरा मातम, जानिए क्या है कनेक्शन

Published

on

विमान के सह पायलट मथुरा निवासी अखिलेश शर्मा की भी मौत, गर्भवती पत्नी पर टूटा मुसीबत का पहाड़

नई दिल्ली। वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से स्वदेश लौट रहे कई लोगों के लिए यात्रा काल बनकर सामने आई। केरल में भारी बारिश के बीच लैंड करने की कोशिश में हुए विमान हादसा हो गया। एयरपोर्ट अधिकारियों के मुताबिक इस दुर्भाग्यशाली उड़ान के कमांडर डीवी साठे ने विमान को बचाने की अंतिम दम तक कोशिश की। वे हादसे को तो नहीं टाल पाए। लेकिन अपनी जान देकर भी विमान के अधिकतर यात्रियों की जान बचाने में कामयाब रहे। इस हादसे में सह पायलट अखिलेश शर्मा की भी मौत हो गई है।

सह पायलट अखिलेश शर्मा यूपी के मथुरा के गोविंद नगर के रहने वाले थे। अखिलेश की मौत की सूचना पर परिवार में और घर के आस-पास शोक का माहौल है। मूल रूप से थाना हाईवे क्षेत्र के अंतर्गत गांव मोहनपुर अणुकी निवासी तुलसीराम शर्मा गोविंद नगर के सेक्टर ए में रहते हैं। तुलसीराम का 32 वर्षीय पुत्र अखिलेश शर्मा इस विमान का को-पायलट था। रात करीब 10ः30 बजे परिवार को एयर इंडिया की ओर से इस घटना की सूचना दी गई। मौत की सूचना मिलने पर परिवार के लोग स्तब्ध रह गए।

केरल भाई व बहनोई रवाना

सूचना मिलने के बाद अखिलेश का छोटा भाई राहुल और बहनोई रात में ही दिल्ली एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए। जहां से वह केरल पहुंचेंगे।

2017 में हुए थे नियुक्त

अखिलेश के पिता तुलसीराम ने बताया कि 2017 में अखिलेश शर्मा एयर इंडिया में को-पायलट के रूप में भर्ती हुआ था। लॉकडाउन के बाद वह अभी तक घर नहीं आया था। कल शाम को दुबई से एयर इंडिया की फ्लाइट लेकर वह केरल के कारीपुर के लिए उड़ा था। जहां यह हादसा हो गया।

दो भाई व एक बहन

तुलसीराम शर्मा के 3 पुत्र और एक पुत्री है। पुत्री सबसे बड़ी है, जिसकी शादी हो चुकी है। वहीं दूसरे नंबर पर अखिलेश थे। वह पहले भाईयो में सबसे बड़े थे। अखिलेश से छोटे राहुल और सबसे छोटा रोहित है। राहुल पानी का कारोबार करता है। जबकि छोटा भाई रोहित पढ़ाई कर रहा है।

दो वर्ष पूर्व हुई थी शादी

अखिलेश शर्मा की करीब 2 वर्ष पूर्व ही धौलपुर निवासी मीरा से शादी हुई थी। मीरा इस समय गर्भवती है। अखिलेश की मौत की सूचना अभी परिवारीजनों ने पत्नी को नहीं दी है।

पायलट कैप्टन दीपक वसंत साठे

इस हादसे में मारे गए विमान के कैप्टन डीवी साठे इंडियन एयरफोर्स में विंग कमांडर रह चुके थे। एयर इंडिया में शामिल होने से पहले वह भारतीय वायुसेना में एक प्रायोगिक परीक्षण पायलट थे। बताया जा रहा है कि कैप्टन दीपक साठे मिग 21 के भी पायलट थे, जो 17 स्क्वाड्रन (गोल्डन एरो) अंबाला में रहे। स्क्वाड्रन 1999 कारगिल युद्ध में भी गया था। कैप्टन साठे वायुसेना प्रशिक्षण अकादमी में प्रशिक्षक भी रहे। 1981 में वायुसेना में भर्ती साठे 2003 में स्क्वॉड्रन लीडर के रूप में रिटायर हुए। उन्हें एनडीए में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर से नवाजा गया था। साठे बोइंग 737 भी उड़ा चुके थे।

पायलट साठे ने एयरफोर्स में लंबा समय बिताया था। उनको 11 जून 1981 को एयरफोर्स में कमीशन मिली थी और 22 साल की सेवा के बाद 30 जून 2003 को रिटायर हुए थे। एयरफोर्स में उन्होंने एएफए में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर जीता था और फाइटर पायलट बने थे। एयर इंडिया एक्सप्रेस 737 में जाने से पहले दीपक एयर इंडिया के एयरबस 310 की उड़ान भी भर चुके थे।

एनडीए के पूर्व छात्र

कैप्टन दीपक साठे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र थे। उन्हें राष्ट्रपति पदक भी प्रदान किया गया था। एयर मार्शल (सेवानिवृत्त) भूषण गोखले ने बताया कि कैप्टन दीपक वी. साठे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के 58वें पाठ्यक्रम से थे। उन्होंने जून, 1981 में सोर्ड ऑफ ऑनर के साथ वायुसेना अकादमी को पास किया था। दीपक साठे के पिता सेना में ब्रिगेडियर थे। उन्होंने अपना दूसरा बेटा खोया है। उनके पहले पुत्र कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे। दीपक देश के उन चुनिंदा पायलटों में से एक थे, जिन्होंने एयर इंडिया के एयरबस 310 विमान और बोइंग 737 को उड़ाया था।

यह भी पढ़ें:- केरल: लैंडिंग के समय एयर इंडिया का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सहित पांच की मौत

बता दें कि दुबई से 190 लोगों को लेकर आ रहा एयर इंडिया का विमान शुक्रवार को केरल के कारीपुर एयरपोर्ट के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसमें दो पायलट सहित 17 लोगों की मौत हो गई है।http://www.satyodaya.com

देश

बड़ी खबर: गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया Paytm ऐप, बताई ये वजह

Published

on

नई दिल्ली। देश में बीते तीन महीनों में केंद्र सरकार की ओर से कई सारे ऐप्स पर बैन लगा दिया गया है। जिसमें कई ऐप तो ऐसे भी थे, जिन्हें आम इंसान अपनी रोजना की जिंदगी में हर थोड़ी-थोड़ी देर पर इस्तेमाल करता था। इन ऐप्स के बैन होने के बाद लोगों को काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ा था। वहीं अब गूगल ने भी Paytm को लेकर एक बड़ा कदम उठाया है, जिससे इसके यूजर्स को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

दरअसल गूगल ने अपने प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटा दिया है। गूगल ने इस ऐप हो प्ले स्टोर से हटाने की वजह भी बताई है। गूगल का कहना है कि वह किसी भी गैंबलिंग (जुआ खेलने वाले) ऐप का समर्थन नहीं करेगा। जिसके बाद अब इसे प्ले स्टोर से हटा दिया गया है। Paytm और UPI ऐप One97 Communication Ltd की ओर से डेवलप किया गया है।

यह भी पढ़ें : नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर पर साइबर अटैक, कई कम्प्यूटरों से संवेदनशील डाटा चोरी

नहीं सर्च हो रहा ऐप

बताया जा रहा है कि अब गूगल प्ले स्टोर पर पेटीएम ऐप को सर्च करने पर यह नहीं दिख रहा है। हालांकि पहले से एंड्रॉयड स्मार्टफोन में इंस्टाल हुआ ऐप पहले की तरह की काम कर रहा है। आपको बता दें कि पेटीएम पेमेंट ऐप के अलावा अन्य कई सुविधाएं भी उपलब्ध करवा रही है, जिनमें Paytm for business, Paytm money, Paytm mall आदि शामिल है और यह सभी अभी गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध हैं। हालांकि पेटीएम ऐप को प्ले स्टोर से हटाने को लेकर गूगल की ओर से अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर पर साइबर अटैक, कई कम्प्यूटरों से संवेदनशील डाटा चोरी

Published

on

लखनऊ। सीमा पर चीन के साथ चल रही तनातनी के बीच देश पर साइबर अटैक हो चुका है। हाल ही में एक चीनी कंपनी द्वारा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित 10 हजार भारतीयों की जासूसी की खबर आने के बाद अब महत्वपूर्ण कम्प्यूटर डाटा चोरी का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यह साइबर अटैक नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (NIC) पर किया गया है। जिसमें बेहद संवेदनशील और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित डाटा चोरी होने की खबर है। दिल्ली पुलिस ने सितंबर की शुरूआत में ही इस संबंध में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें-हाईवे किनारे मिला नग्न अवस्था में युवती का शव, मचा हड़कंप…

बताया जा रहा है कि इस साइबर अटैक के पीछे अमेरिकी हैकर्स का हाथ है, जिन्होंने बेंगलुरु की एक फर्म के माध्यम से एनआईसी में सेंधमारी की। एनआईसी में भारतीय सुरक्षा, प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और तमाम वीआईपी हस्तियों से संबंधित डाटा सुरक्षित रहता है। बताया जा रहा है कि एनआईसी के कई कम्प्यूटरों पर एक साथ किए इस साइबर अटैक की जानकारी होते-होते काफी सारा डाटा चोरी हो चुका था।

बैंगलुरू स्थित फर्म के माध्यम से अमेरिकी हैकर्स ने अटैक!

खबरों के मुताबिक बेंगलुरू स्थित एनआईसी में कार्यरत कुछ अधिकारियों के ऑफिशियल मेल आईडी पर एक मेल आया। जिसके लिंक पर क्लिक करते ही कई सारे मैसेज आने शुरू हो गए। शक होने पर अधिकारियों ने घटना की जानकारी दिल्ली स्थित एनआईसी मुख्यालय को दी। जिसके तुरंत बाद देश भर में एनआईसी से जुड़े सभी अधिकारियों व कर्मचारियों व कार्यालयों को सतर्क कर बड़े साइबर अटैक से बचा गया। फिलहाल इस साइबर अटैक में कितना डाटा चोरी हुआ या कितना नुकसान हुआ, इस बारे में कोई औपचारिक पुष्टि नहीं की गयी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

बेंगलुरु: कोरोना संक्रमित भाजपा के राज्यसभा सांसद अशोक गास्ती का निधन

Published

on

नई दिल्ली। कर्नाटक के बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद अशोक गास्ती का गुरुवार को निधन हो गया है। वह कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे। अशोक गास्ती की रिपोर्ट कोरोना पाॅजिटिव आने के बाद उन्हें 2 सितंबर को बेंगलुरु के मनिपाल अस्पताल के भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत आने के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था।

यह भी पढ़ें:- टाटा ग्रुप बनाएगा नया संसद भवन, त्रिकोणीय होगी बिल्डिंग

अशोक गस्ती अभी हाल ही में 22 जुलाई को राज्यसभा सदस्य पद की शपथ ली थी। कर्नाटक के रायचूर जिले में बीजेपी को संगठिन और मजबूत बनाने का श्रेय गास्ती को दिया जाता है। आशोक गास्ती 18 साल के थे तभी उन्होंने बीजेपी ज्वाइन की थी और कर्नाटक बीजेपी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 18, 2020, 4:11 pm
Partly sunny
Partly sunny
35°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 59%
wind speed: 3 m/s NW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:23 am
sunset: 5:37 pm
 

Recent Posts

Trending