Connect with us

देश

दिल्ली में आने वाला है ‘जीवन संकट’! हवा और पानी दोनों हो रहे जहरीले

Published

on

लखनऊ। हवा और पानी, यही वह दो तत्व हैं जिनकी वजह से धरती पर जीवन संभव हो सका है। लेकिन देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा और पानी ने ही जीवन पर संकट खड़ा कर दिया है। दिल्ली में हवा और पानी दोनों खतरनाक स्तर तक प्रदूषित हो चुका है। अगर जल्द ही हम संभले नहीं तो वह दिन दूर नहीं जब दिल्ली में ‘जीवन संकट’ पैदा हो सकता है।

दिल्ली-एनसीआर में ‘वायु इमरजेंसी’ के बीच अब पानी को लेकर एक रिपोर्ट आई है, जो चिंताजनक है। केन्द्र सरकार ने एक सर्वे रिपोर्ट जारी कर चेताया है कि दिल्ली में पानी प्रदूषण भी बढ. रहा है। प्रमुख शहरों में किए गए सर्वें में दिल्ली में सबसे ज्यादा जल प्रदूषण पाया गया है। केन्द्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने शनिवार को देश के प्रमुख शहरों से लिए गए पेयजल के नमूनों की जांच रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट में शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध होने के मामले में दिल्ली 21वें स्थान पर है। पानी के नमूनों की जांच भारतीय मानक ब्यूरो ने की है।

इस रिपोर्ट में पेय जल शुद्धता के मामले में मुंबई पहले स्थान पर है। मंुबई में पीने योग्य पानी हर मानक पर खरा उतरा। वहीं दिल्ली का पानी सबसे ज्यादा खराब है। भारतीय मानक ब्यूरो ने पानी की जांच 10 मानकों पर की है। केन्द्रीय मंत्री ने रिपोर्ट जारी करते हुए कहा, हमारा उद्देश्य किसी को दोष देना या राजनीति करना नहीं है। सरकार का मकसद है कि जनता को स्वच्छ जल और हवा मिले। पीएम मोदी ने कहा है कि हम 2024 तक हर घर में स्वच्छ जल उपलब्ध कराएंगे। हमारी सरकार इसके लिए काम भी कर रही है।


रामविलास पासवान ने कहा, देश भर में पेयजल की जांच तीन चरणों में की जाएगी। पहले चरण में सभी राज्यों की राजधानियों, दूसरे चरण में सभी स्मार्ट सिटी और तीसरे चरण में सभी जिलों में पीने के पानी की जांच की जाएगी। श्री पासवान ने कहा कि पूरे देश से गंदे और दूषित पानी की शिकायतें मिल रही हैं। हमें देश को दूषित पानी से बचाना है।

पानी की शुद्धता के अनुसार सर्वे सूची

देश भर में सबसे शुद्ध पेयजल मुंबई का है। इसके बाद हैदराबाद, भुवनेश्वर, रांची, रायपुर, अमरावती, शिमला, चंडीगढ., त्रिवेंद्रम, पटना, भोपाल, गुवाहाटी, बैंगुलुरू, गांधीनगर, लखनऊ, जम्मू, जयपुर, देहरादून, चेन्नई, कोलकाता और सबसे बाद में दिल्ली।

यह भी पढ़ें-सीओ कैंट को धमकाने के मामले में मंत्री स्वाति सिंह पर हो सकती है बड़ी कार्रवाई

बता दें कि पिछले महीने भारतीय मानक ब्यूरो ने दिल्ली में पीने के पानी की जांच की थी। जांच में दिल्ली का पानी कई मानकों पर फेल निकला था। भारतीय मानक ब्यूरो ने कुल 11 जगहों से लिए पानी के नमूने की जांच की तो आरंभिक जांच में ही कई मानकों पर विफल पाए गए। तब केन्द्रीय मंत्री ने कहा था कि पानी के इन नमूनों की अंतिम जांच रिपोर्ट एक महीने के अंदर आएगी। श्री पासवाल ने बताया कि इसी के बाद से देश भर में पेयजल की जांच शुरू की गयी है। जिसमें देश के सभी राज्यों की राजधानी समेत 100 स्मार्ट सिटी की योजना के अंतर्गत आने वाले शहरों में पीने के पानी की शुद्धता की जांच की जा रही है।http://www.satyodaya.com

देश

गोवा: एक बार फिर मिग 29-के लड़ाकू विमान हुआ क्रैश, बाल-बाल बचे पायलट….

Published

on

फाइल फोटो

नई दिल्ली। गोवा में मिग 29-के लड़ाकू विमान क्रैश हो गया है। नौसेना की माने तो मिग 29-के उड़ान भरने के थोड़ी देर बाद ही दुर्घटना का शिकार हो गया। हालांकि विमान अपने प्रशिक्षण उड़ान पर था। मिग 29-के विमान में सवार दोनों पायलट कैप्टन एम शोखंड और लेफ्टिनेंट कमांडर दीपक यादव की जन बच गयी है।

 बता दें यह विमान मिग के फाइटर जेट संस्‍करण का ट्रेनर विमान था। नौसेना के प्रवक्‍ता कमांडर विवेक मधवाल  ने बताया कि यह हादसा विमान के इंजन में आग लग की वजह से हुई है। 

जानकारी के मुताबिक सितंबर महीने में मध्‍य प्रदेश के ग्‍वालियर में वायुसेना का एक मिग 21 ट्रेनर विमान भी क्रैश हो गया था। इस हादसे में भी किसी की जान नहीं गई थी और समय रहते ही विमान के ग्रुप कैप्टन और स्क्वाड्रन लीडर समेत दोनों पायलटों ने खुद को सुरक्षित इजेक्‍ट कर लिया था।

ये भी पढ़ें:ऐश्वर्या और अभिषेक ने मनाया अपनी लाडली बेटी आराध्या बच्चन का बर्थडे…

वह विमान भी नियमित प्रशिक्षण उड़ान पर था जो ग्‍वालियर एयरबेस के नजदीक ही हादसे का शिकार हो गया था। भारतीय वायु सेना ने इस हादसे की कोर्ट ऑफ इन्‍क्‍वायरी के आदेश जारी करते हुए कर्नल रैंक के एक अधिकारी को जांच की जिम्‍मेदारी सौंपी थी।

इसी साल मार्च महीने में राजस्थान के बीकानेर में भारतीय वायुसेना का मिग-21 बाइसन लड़ाकू विमान क्रैश हो गया था। हालांकि, पायलट ने विमान क्रैश होने से पहले ही पैराशूट के सहारे छलांग लगा दी थी। विमान ने बीकानेर के पास नल एयरबेस से उड़ान भरी ही थी कि पक्षी के टकराने के चलते यह हादसा हो गया था। यह विमान भी अपने नियमित मिशन पर था। 

इस साल मिग फाइटर जेट क्रैश होने की अब तक की यह चौथी घटना है। रिपोर्टों के मुताबिक, मिग विमानों के क्रैश होने की घटनाएं बेहद आम हो गई हैं। करीब पांच दशक पुराने इन विमानों को वायुसेना की ओर से बदलने की मांग काफी लंबे समय से की जा रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

ढाई साल बाद SSC CGL का Result जारी, आधिकारिक वेबसाइट पर करें चेक

Published

on

लखनऊ। कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने संयुक्त स्नातक स्तरीय पराक्षा (CGL) परीक्षा 2017 के अंतिम परिणाम SSC की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिए गए हैं। उम्मीदवार जो SSC CGL 2017 भर्ती परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे। वे अपने परीक्षा परिणाम ssc.nic.in पर देख सकते हैं।

बता दें कि स्टाफ सेलेक्शन कमीशन द्वारा भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी की गई थी। जिनमें से असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर के 599 पद, सहायक सांख्यिकी अधिकारी के 50 पद और 30 अलग-अलग श्रेणियों के पद शामिल हैं। इस तरह कुल 7471 पदों को शामिल किया गया है। इस प्रकार एसएससी सीजीएल-2017 के जरिए 8120 अभ्यर्थियों को नौकरी मिली है।

यह भी पढ़ें: STF ने प्रतिबंधित पंक्षियों की तस्करी करने वाले गिरोह का किया भंड़ाफोड़, 6 गिरफ्तार

गौरतलब है कि शीर्ष अदालत ने 31 अगस्त, 2018 को परीक्षा परिणाम के जारी होने पर रोक लगा दी थी। SSC CGL पेपर लीक के आरोप के कारण भारी विरोध का सामना करना पड़ा। इस बीच स्टाफ सेलेक्शन कमीशन ने पेपर लीक के आरोप की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। सीबीआई जांच होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई, 2019 को इस परीक्षा परिणाम पर लागी रोक हटा दी। अब वे उम्मीदवार जो इतने लंबे समय से परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे हैं। उनके लिए खुशखबर आई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

ट्रेन में सफर के दौरान महिला ने 3 बेटों को दिया जन्म, फिर हुआ ये….

Published

on

ट्रेन

फाइल फोटो

नई दिल्ली। ट्रेन में यात्रा के दौरान एक महिला ने एक साथ तीन बेटों को जन्म दिया है। इस खबर को सुनकर जहां ट्रेन की बोगियों में ख़ुशी बिखरी हुई थी, वहीं दूसरे पल लोगों के बीच दुःख का भी माहौल बन गया।

जानकारी के मुताबिक बंगलौर-गुवाहाटी एक्सप्रेस में असम की एक महिला यात्रा कर रही थी। वह ओडिशा के भद्रक रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार की सुबह ट्रेन में ही तीन बेटों को जन्म दिया था। हालांकि जन्म के बाद तीनों नवजात की तबियत ठीक नहीं थी, इसके बाद रेलवे की तरफ से तीनों को नवजात को भद्रक मेडिकल में भर्ती कराया गया। लेकिन इलाज के दौरान ही नवजात की मृत्यु हो गई। जिसके बाद उत्साह शोक में बदल गया। हालांकि तीन शिशु पुत्रों को जन्म देने वाली मां की स्वास्थ्य अवस्था ठीक होने की सूचना अस्पताल की तरफ से दी गई है। यह घटना पूरे भद्रक शहर के साथ अब प्रदेश में भी चर्चा का विषय बन गई है।

ये भी पढ़ें:मासूम बच्चे ने प्रदूषण को बताया दिल्ली का फेस्टिवल, देखें वायरल निबंध…

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सपृक्त महिला का घर असम प्रदेश में है और वह बंगलौर में अपने पति के साथ रहती थी। वहां से वह अपने एक रिश्तेदार के साथ बंगलौर-गुवाहाटी एक्सप्रेस से असम जा रही थी। आज सुबह ट्रेन में उन्हें प्रसव पीड़ा हुई। इसके बाद ट्रेन को भद्रक रेलवे स्टेशन पर रोका गया। वहां पर डाक्टर की मदद से महिला ने तीन शिशु पुत्र को जन्म दिया। इसके बाद मां एवं शिशु पुत्र को रेलवे पुलिस ने भद्रक जिला मुख्य अस्पताल में भर्ती कराया। जबकि असुरक्षित प्रसव के कारण नवजात शिशु पुत्रों की मौत होने की सूचना मिल रही है। लेकिन इलाज के बाद महिला पूरी तरह से स्वस्थ है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 16, 2019, 3:50 pm
Partly sunny
Partly sunny
28°C
real feel: 28°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 36%
wind speed: 1 m/s WNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:56 am
sunset: 4:46 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending