Connect with us

खेल- खिलाड़ी

विश्वकप टीम में जगह मिलते ही ‘सर जडेजा’ ने खुले तौर पर किया BJP का समर्थन, चर्चाओं का बाजार गर्म

Published

on

फाइल फोटो

वर्ष 2019 एक तरह से बहुत ही निर्णायक माना जा रहा है। एक तरफ जहां देश को एक सत्ता का फैसला होगा वहीं दूसरी तरफ क्रिकेट जगत में भारत विश्व विजेता बनने उतरेगा। इस चुनावी मौसम में जहां एक तरफ नेताओं के बयान लू की तरह पूरे माहौल को गर्म किए हुए हैं वहीं दूसरी तरफ विश्वकप में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली टीम की घोषणा ने चर्चाएं बढ़ा दी हैं।

तो महत्वपूर्ण बात ये है कि आजकल चुनाव और क्रिकेट ही सुर्खियों में छाए हुए हैं। ऐसे में चुनाव और क्रिकेट की चर्चा अगर एक साथ होने लगे तो लोगों की उत्सुकता बढ़ना स्वाभाविक है। सोमवार को इंग्लैंड में होने वाली आईसीसी वर्ल्ड कप क्रिकेट के लिए टीम के चयन की घोषणा गई। इस चयन के बाद सोशल में चुने गए और न चुने गए खिलाड़ियों को लेकर खूब चर्चा हुई। लेकिन इस चर्चा से भी बड़ी चर्चा हो रही है उस खिलाड़ी कि जिसने अपने चयन के कुछ समय बाद ही उस पार्टी का खुल कर समर्थन किया जिसे वो इस लोकसभा चुनाव में जीत दिलाना चाहते हैं। जी हां, किसी समय में सर जडेजा के नाम से मशहूर भारतीय टीम के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ही वो खिलाड़ी हैं जो अभी चर्चा में चल रहे हैं। जडेजा के चयन ने उतना लोगों को नहीं चौंकाया जितना कि चुनाव को लेकर उनके राजनैतिक ट्वीट ने।

राजनीतिक परिवार से संबंध रखने वाले जडेजा की पत्नी भी राजनीति में सक्रिय हैं। ऐसे में लग रहा था कि जडेजा अपना टीम इंडिया में सिलेक्शन का इंतजार ही कर रहे थे। टीम में चयन होने के कुछ ही घंटों बाद जडेजा ने भारतीय जनता पार्टी को अपना समर्थन करने वाला एक ट्वीट जारी कर दिया। जडेजा की पत्नी रिवाबा जडेजा पिछले महीने ही बीजेपी में शामिल हुई थीं।

जडेजा का टीम इंडिया में चयन पक्का तो नहीं था लेकिन उनके चयन की स्थिति मजबूत ही थी। हालांकि जडेजा हमेशा ही प्रमुख खिलाड़ी के तौर पर टीम में कभी दावेदार नहीं रह सके थे। वे बढ़िया स्पिनर होने के बाद भी टीम में प्रमुख गेंदबाज के तौर पर कभी नहीं चुने गए। इसके बावजूद उनकी चुने जाने की संभावना उनके एक ऑलराउंडर के तौर पर बहुत ज्यादा थी। उनके अलावा केवल हार्दिक पांड्या और विजय शंकर ही हैं जो टीम में ऑलराउंडर के तौर पर थे, लेकिन स्पिन ऑलराउंडर केवल जडेजा ही हैं।

जडेजा के इस कदम की सोशल मीडिया पर आलोचना भी हो रही है। इस 23 अप्रैल को ही गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर  मतदान होना हैं। रवींद्र जडेजा के ट्वीट की टाइमिंग विवाद पैदा कर सकती है। जडेजा परिवार केवल भाजपा से ही जुड़ा हो ऐसा नहीं है रवींद्र के पिता और उनकी बहन नान्यबा और पिता अनिरुद्धसिंह ने भी रविवार को ही जमनगर के कलेवाद शहर में औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा की है। रवींद्र की बड़ी बहन नान्यबा एक नर्स हैं और वे महिला सशक्तिकरण, किसानों और युवाओं के लिए काम करना चाहती हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खेल- खिलाड़ी

इस दिग्गज खिलाड़ी ने कहा- भारत के पास है वर्ल्ड कप जीतने का बेहतरीन मौका…

Published

on

मुंबई: आईसीसी विश्व कप को शुरू होने में अब कुछ ही दिन रह गया है। जहां ब्रिटेन में शुरू हो रहे विश्व कप के बारे में चर्चा करते हुए पूर्व भारतीय कप्तान दिलीप वेंगसरकर को लगता है कि विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम के पास 30 मई को जीतने के लिए ‘बेहतरीन मौका’ है। भारत 5 जून को साउथम्प्टन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा।

वहीं दिलीप वेंगसरकर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ‘भारत के पास विश्व कप जीतने का बेहतरीन मौका है। कम से कम सेमीफाइनल तक वे जरूर जाएंगे। लेकिन मैं फाइनल के बारे में कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता। जबकि हमारे पास बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं और वे सभी फॉर्म में हैं।

वेंगसरकर मुंबई टी-20 लीग के मेंटोर हैं। मुंबई के क्रिकेट संघ ने आज दूसरे सत्र के शुरुआत की घोषणा की, जो 14 मई से होने वाला है। इस मौके पर लीग के दूत सचिन तेंदुलकर और मेंटोर सुनील गावस्कर भी मौजूद रहे। तेंदुलकर ने लीग की प्रशंसा करते हुए कहा कि टी-20 मुंबई लीग जल्द ही ऐसा बनने जा रहा है जिसमें देश भर के अधिकतर खिलाड़ी भाग लेना चाहेंगे। क्योंकि यहां की क्रिकेट अलग तरह की है और हर कोई इसका हिस्सा बनना चाहता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

Happy B’day Sachin: वो पल जब एक साथ रोए थे लाखों लोग, जानिए क्रिकेट के भगवान की कहानी…

Published

on

फाइल फोटो

क्रिकेट की दुनिया के भगवान कहे जाने वाले मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का आज जन्मदिन है। क्रिकेट में 24 वर्षों तक छाये रहने वाले सचिन तेंदुलकर आज 46 साल के हो गये है। 24 अप्रैल 1973 को दिन में एक बजे मुंबई के शिवाजी पार्क राणाडे रोड स्थित निर्मल नर्सिंग होम में सचिन का जन्म हुआ था। सचिन 16 वर्ष की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले इस ‘छोटे सचिन’ ने 40 के हो जाने  के बाद ही अपने बल्ले को आराम दिया। इस सफर के दौरान सचिन ने इतने कीर्तिमान रच डाले कि उन्हें ‘क्रिकेट के भगवान’ का दर्जा दे दिया गया। क्रिकेट को धर्म और सचिन को उसका भगवान बताने वाले करोड़ों फैंस के लिए आज का दिन किसी त्योहार से कम नहीं है।

आज हम उनकी विदाई भाषण की कुछ महत्वपूर्ण बात जानेंगे

सचिन ने जिस मैदान से करियर की शुरुआत की थी उसी ग्राउंड पर अपने परिवार और घरेलू दर्शकों के बीच क्रिकेट छोड़ा। मास्टर ब्लास्टर जब आखिरी बार मैदान पर उतरे तो उन्होंने 22 यार्ड की उस पिच को झुककर सलाम किया। वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरा और आखिरी मैच खत्म होने के बाद रवि शास्त्री ने उनसे सवाल पूछने के बजाय, उन्हें ही माइक सौंप दिया।

 सचिन का विदाई भाषण- सबसे पहले मेरे पिता का नाम आता है, जिनकी मृत्यु 1999 में हो गई थी। उस समय मैं लंदन में था जब यह खबर मिली। मेरे बड़े भाई नितिन ज्यादा बोलना पसंद नहीं करते, और उनसे डर भी लगता था। 1990 में मैं जब अंजलि से मिला। धन्यवाद अंजलि, मेरे जीवन के दो अनमोल हीरे, सारा (बेटी) और अर्जुन (बेटा) को जन्म दिया। मेरा करियर शुरू हुआ जब मैं 11 साल का था। मैंने अपने करियर की शुरुआत मुंबई से की थी।

बीसीसीआई भी मेरे करियर के शुरुआत से गजब की समर्थक रही और मैं अपने चयनकर्ताओं को भी धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं अपने फर्ज से चूक जाऊंगा, अगर मैंने अपने डॉक्टर्स को धन्यवाद नहीं किया। मैं मीडिया को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे मेरे स्कूल के दिनों से अब तक कवर किया। मैं अपने दिल से सभी फैंस को धन्यवाद कहना चाहता हूं।

यह भी पढ़े- Election 2019: बीजेपी ने गुरदासपुर से एक्टर सनी देओल को दिया टिकट, किरण खेर चंडीगढ़ से उम्मीदवार…

आपको बता दें कि सचिन तेंदुलकर ने भारत के लिए 200 टेस्ट मैच, 463 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उनके नाम टेस्ट और वनडे में 100 शतक दर्ज हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक बनाने वाले तेंदुलकर दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं। इसके अलावा यह सलामी बल्लेबाज क्रिकेट की दुनिया में 34357 रन का पहाड़ खड़ा कर चुका है। इस महान खिलाड़ी ने साल 2013 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

खराब प्रदर्शन का भुगतना पड़ा खामियाजा, रहाणे से छिनी कप्तानी

Published

on

अजिंक्य रहाणे मुंबई के खिलाफ मैच से पहले कप्तानी से हटाए गए, स्टीवन स्मिथ को सौंपी गई कमान

नई दिल्ली। आईपीएल किसी भी कीमत पर जीत मायने रखती है। जो इस कसौटी पर खरा उतरेगा वही टिका रह सकता है। राजस्थान रायल्स टीम पिछले कई मैचों से आईपीएल में खराब प्रदर्शन कर रही जिसका खामियाजा अब कप्तान अजिंक्य रहाणे को चुकाना पड.ा है। फ्रेंचाइजी ने रहाणे से कप्तानी छीन ली है और स्टीव स्मिथ को कप्तान बना दिया है। अब सीजन के बाकी बचे मैचों में राजस्थान की कप्तानी स्टीवन स्मिथ संभालेंगे। बता दें कि अब तक रहाणे की अगुवाई में राजस्थान रॉयल्स ने इस सीजन में 8 मैच खेले जिनमें से 6 मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा। राजस्थान की टीम अंक तालिका में 7वें नंबर पर है। मुंबई इंडियंस के खिलाफ जयपुर में होने वाले आईपीएल मैच से पहले राजस्थान रॉयल्स ने लिया फैसला लिया है।
राजस्थान रॉयल्स टीम ने शनिवार को एक बयान जारी कर कहा कि अजिंक्य रहाणे ने पिछले साल प्लेऑफ तक टीम के सफर में अच्छी भूमिका अदा की। हालांकि, फ्रैंचाइजी को लगता है कि टीम के 2019 के सत्र में अभियान को ट्रैक पर लाने की दिशा में कुछ नया करना जरूरी है। स्टीव हमेशा ही राजस्थान के टीम नेतृत्व का हिस्सा रहे हैं और रहाणे उनके साथ अहम भूमिका निभाएंगे। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्मिथ इससे पहले पुणे सुपरजाइंट के भी कप्तान रह चुके हैं।

कोच ने दिए थे रहाणे को हटाने के संकेत

राजस्थान रॉयल्स के कोच पैडी अप्टन ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ हार के बाद रहाणे को हटाने के संकेत दे दिए थे। अप्टन ने ये बात मानी थी कि राजस्थान की टीम एक यूनिट के तौर पर विफल साबित हुई है।

प्लेइंग इलेवन में भी फिट नहीं बैठ रहे रहाणे

अजिंक्य रहाणे ने इस सीजन में 8 मैच में 131 की स्ट्राइक रेट से 201 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से केवल एक फिफ्टी निकली है। जबकि आईपीएल में उनका ओवरऑल स्ट्राइक रेट 120.56 का ही रहा है। पिछले दो सीजन पर नजर डाली जाए तो उनकी स्ट्राइक रेट 120 से कम रहा है। टी20 फॉर्मेट में किसी भी सलामी बल्लेबाज के लिए यह स्ट्राइक रेट कम मानी जाती है। पंजाब के खिलाफ मुकाबले में रहाणे मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने आए थे, लेकिन जरूरत पड़ने पर वो बड़े शॉट नहीं लगा सके और नतीजा टीम को हार मिली। अजिंक्य रहाणे को कप्तानी से तो हटा ही दिया गया है लेकिन अगर राजस्थान की टीम उन्हें प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दे तो कोई हैरानी नहीं होगी। दरअसल रहाणे की फॉर्म खराब है और वो प्लेइंग इलेवन में फिट भी नहीं बैठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें-घर में ही है रोहित शेखर का कातिल! पत्नी व भाइयों से सख्ती से पूछताछ कर रही पुलिस

रहाणे के बल्लेबाजी की शुरुआत करने के चलते राजस्थान रॉयल्स के बैटिंग ऑर्डर पर भी असर पड़ता है। टीम के पास ज्यादातर बल्लेबाज टॉप ऑर्डर के ही हैं। इनमें स्टीव स्मिथ, राहुल त्रिपाठी और संजू सैमसन के नाम शामिल हैं। रहाणे के ओपनिंग करने से राहुल त्रिपाठी को मिडिल ऑर्डर में उतरना पड़ रहा है। राहुल सलामी बल्लेबाज हैं और बल्लेबाजी में नीचे आने से उन्हें रन बनाने में मुश्किल हो रही है। रहाणे मिडिल ऑर्डर में तेज रफ्तार से रन नहीं बना पाते, ऐसे में उनका प्लेइंग इलेवन से ड्रॉप होना भी तय ही दिख रहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 19, 2019, 12:16 am
Partly cloudy
Partly cloudy
29°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 44%
wind speed: 1 m/s WNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:19 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 8 other subscribers

Trending