Connect with us

देश

राजनीति के हाशिए पर पहुंच चुका है ब्राह्मण समाज : शैलेन्द्र दुबे

Published

on

लखनऊ। चंद्र शेखर आजाद विचार मंच की ओर से आयोजित एक ऑनलाइन संगोष्ठी में प्रतिभाग करते हुए ऑल इण्डिया पॉवर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबे ने कहा कि वर्तमान भारतीय राजनीति में ब्राह्मण समाज पूरी तरह से हाशिए पर पहुंच चुका है। देश के प्रमुख राजनीतिक दल ब्राह्मण समाज की या तो पूरी तरह उपेक्षा कर रहे हैं या फिर यह धारणा बना लिए हैं कि ब्राह्मण हमें वोट नहीं देगा तो जाएगा कहां।

‘भारत की राजनीति में हाशिए पर जा रहा ब्राह्मण समाज’ नामक विषय पर आयोजित संगोष्ठी में शैलेन्द्र दुबे ने कहा, इतिहास गवाह है कि ब्राह्मण समाज सदा ही राष्ट्र को दिशा देने का काम करता रहा है। भारत की संस्कृति और सनातन धर्म की रक्षा के लिए आदि शंकराचार्य सामने आए तो राष्ट्रहित में आए थे। इसी प्रकार गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए नाना साहब पेशवा, रानी लक्ष्मीबाई, मंगल पांडे, बाल गंगाधर तिलक, चंद्रशेखर आजाद, पंडित राम प्रसाद बिस्मिल आदि महान आत्माओं ने केवल ब्राह्मण समाज के लिए नहीं अपितु राष्ट्र की रक्षा के लिए और गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए आगे बढ़कर नेतृत्व दिया था।

अब भी न जागे तो मिट जाएगा नामो-निशान

श्री दुबे ने कहा कि आज फिर वह समय आ गया है, जब ब्राह्मण समाज अपनी निजी राजनीतिक सोंच से ऊपर उठकर अपनी अणु शक्ति को पहचाने। ब्राह्मणों को आज राजनीतिक तौर पर सशक्त ढंग से संगठित होकर खड़ा होने की जरूरत है। यदि ब्राह्मण समाज इस या उस राजनीतिक दल का पिछलग्गू बना रहेगा तो हाशिए पर तो पहले ही जा चुका है, उसका नामो-निशान ही मिट जाएगा और अंततः राष्ट्र का ही अहित होगा। श्री दुबे ने कहा कि ब्राह्मण समाज को अपने को संगठित करने और सभी राजनीतिक दलों को अपनी गुणवत्ता परक शक्ति का लोहा मनवाने के लिए संकल्प बद्ध होना ही पड़ेगा।

एक-दूसरे को सहयोग कर बनाना होगा सशक्त: रीना त्रिपाठी

संगोष्ठी के अंत में चंद्र शेखर आजाद विचार मंच की संयोजक रीना त्रिपाठी ने कहा कि सभी ब्राह्मणों को एक मजबूत और राजनीतिक संगठन के तौर पर गुणवत्ता परक दबाव समूह बनाना होगा। हम सब को साहस और हौसले से परिपूर्ण और एकजुट होकर, एक-दूसरे को सशक्त बनाने का प्रयास करना होगा। हमें अपने समाज को प्रतिनिधित्व देते हुए राष्ट्र को जगाए रखने की भूमिका निभानी होगी।

संगोष्ठी में शामिल हुए विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गूगल मीट पर आयोजित संगोष्ठी में राकेश पांडे, आदि शंकर मिश्रा, ममता शुक्ला, सीमा द्विवेदी, प्रेमा जोशी, पूनम दिक्षित, राम कुमार भारद्वाज, शिव प्रकाश दीक्षित, त्रिभुवन शर्मा, नारायण शाश्वत, एचएन मिश्रा, आशुतोष अग्निहोत्री, अजय कुमार मिश्रा, अनीश तिवारी, अशोक पाठक, रितेश उपाध्याय, प्रवीण उपाध्याय, शिव शंकर पांडे, श्रीकांत त्रिपाठी, सुरेश त्रिवेदी, मुकेश दुबे, आशुतोष अग्निहोत्री, गिरिराज पाठक,

यह भी पढ़ें-प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सभी तटबंध सुरक्षित, राहत कार्य जारी: अनिल राजभर

शुभम त्रिवेदी, शुभम शर्मा, एडवोकेट अविनाश शर्मा, राम व्यास, राहुल गौर, हेमंत शर्मा, रजनीश तिवारी, हरिओम गौर, अमित कुमार पाठक, डॉक्टर रितेश उपाध्याय, हेमंत गौर, मनीष दीक्षित, प्रमोद तिवारी, अखिलेश्वर तिवारी सहित कई ब्राह्मण संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया।http://www.satyodaya.com

देश

बड़ी खबर: गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया Paytm ऐप, बताई ये वजह

Published

on

नई दिल्ली। देश में बीते तीन महीनों में केंद्र सरकार की ओर से कई सारे ऐप्स पर बैन लगा दिया गया है। जिसमें कई ऐप तो ऐसे भी थे, जिन्हें आम इंसान अपनी रोजना की जिंदगी में हर थोड़ी-थोड़ी देर पर इस्तेमाल करता था। इन ऐप्स के बैन होने के बाद लोगों को काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ा था। वहीं अब गूगल ने भी Paytm को लेकर एक बड़ा कदम उठाया है, जिससे इसके यूजर्स को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

दरअसल गूगल ने अपने प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप को हटा दिया है। गूगल ने इस ऐप हो प्ले स्टोर से हटाने की वजह भी बताई है। गूगल का कहना है कि वह किसी भी गैंबलिंग (जुआ खेलने वाले) ऐप का समर्थन नहीं करेगा। जिसके बाद अब इसे प्ले स्टोर से हटा दिया गया है। Paytm और UPI ऐप One97 Communication Ltd की ओर से डेवलप किया गया है।

यह भी पढ़ें : नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर पर साइबर अटैक, कई कम्प्यूटरों से संवेदनशील डाटा चोरी

नहीं सर्च हो रहा ऐप

बताया जा रहा है कि अब गूगल प्ले स्टोर पर पेटीएम ऐप को सर्च करने पर यह नहीं दिख रहा है। हालांकि पहले से एंड्रॉयड स्मार्टफोन में इंस्टाल हुआ ऐप पहले की तरह की काम कर रहा है। आपको बता दें कि पेटीएम पेमेंट ऐप के अलावा अन्य कई सुविधाएं भी उपलब्ध करवा रही है, जिनमें Paytm for business, Paytm money, Paytm mall आदि शामिल है और यह सभी अभी गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध हैं। हालांकि पेटीएम ऐप को प्ले स्टोर से हटाने को लेकर गूगल की ओर से अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर पर साइबर अटैक, कई कम्प्यूटरों से संवेदनशील डाटा चोरी

Published

on

लखनऊ। सीमा पर चीन के साथ चल रही तनातनी के बीच देश पर साइबर अटैक हो चुका है। हाल ही में एक चीनी कंपनी द्वारा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित 10 हजार भारतीयों की जासूसी की खबर आने के बाद अब महत्वपूर्ण कम्प्यूटर डाटा चोरी का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यह साइबर अटैक नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (NIC) पर किया गया है। जिसमें बेहद संवेदनशील और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित डाटा चोरी होने की खबर है। दिल्ली पुलिस ने सितंबर की शुरूआत में ही इस संबंध में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें-हाईवे किनारे मिला नग्न अवस्था में युवती का शव, मचा हड़कंप…

बताया जा रहा है कि इस साइबर अटैक के पीछे अमेरिकी हैकर्स का हाथ है, जिन्होंने बेंगलुरु की एक फर्म के माध्यम से एनआईसी में सेंधमारी की। एनआईसी में भारतीय सुरक्षा, प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और तमाम वीआईपी हस्तियों से संबंधित डाटा सुरक्षित रहता है। बताया जा रहा है कि एनआईसी के कई कम्प्यूटरों पर एक साथ किए इस साइबर अटैक की जानकारी होते-होते काफी सारा डाटा चोरी हो चुका था।

बैंगलुरू स्थित फर्म के माध्यम से अमेरिकी हैकर्स ने अटैक!

खबरों के मुताबिक बेंगलुरू स्थित एनआईसी में कार्यरत कुछ अधिकारियों के ऑफिशियल मेल आईडी पर एक मेल आया। जिसके लिंक पर क्लिक करते ही कई सारे मैसेज आने शुरू हो गए। शक होने पर अधिकारियों ने घटना की जानकारी दिल्ली स्थित एनआईसी मुख्यालय को दी। जिसके तुरंत बाद देश भर में एनआईसी से जुड़े सभी अधिकारियों व कर्मचारियों व कार्यालयों को सतर्क कर बड़े साइबर अटैक से बचा गया। फिलहाल इस साइबर अटैक में कितना डाटा चोरी हुआ या कितना नुकसान हुआ, इस बारे में कोई औपचारिक पुष्टि नहीं की गयी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

बेंगलुरु: कोरोना संक्रमित भाजपा के राज्यसभा सांसद अशोक गास्ती का निधन

Published

on

नई दिल्ली। कर्नाटक के बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद अशोक गास्ती का गुरुवार को निधन हो गया है। वह कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे। अशोक गास्ती की रिपोर्ट कोरोना पाॅजिटिव आने के बाद उन्हें 2 सितंबर को बेंगलुरु के मनिपाल अस्पताल के भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत आने के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था।

यह भी पढ़ें:- टाटा ग्रुप बनाएगा नया संसद भवन, त्रिकोणीय होगी बिल्डिंग

अशोक गस्ती अभी हाल ही में 22 जुलाई को राज्यसभा सदस्य पद की शपथ ली थी। कर्नाटक के रायचूर जिले में बीजेपी को संगठिन और मजबूत बनाने का श्रेय गास्ती को दिया जाता है। आशोक गास्ती 18 साल के थे तभी उन्होंने बीजेपी ज्वाइन की थी और कर्नाटक बीजेपी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 18, 2020, 2:53 pm
Partly sunny
Partly sunny
36°C
real feel: 43°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 55%
wind speed: 2 m/s NW
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:23 am
sunset: 5:37 pm
 

Recent Posts

Trending