Connect with us

देश

आतंकी मसूद अजहर के समर्थन में चीन ने फिर चली चाल, भारत से मांगे और सबूत

Published

on

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचाने के लिए चीन ने फिर अपनी चाल चल दी है। मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार चीन ने भारत से मसूद के खिलाफ और सबूत मांगे हैं। 2017 में भी चीन ने अड़ंगा लगाकर जैश सरगना मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचा लिया था। चीन ने सबूतों का राग अलापकर एकबार फिर अपने इरादे जाहिर कर दिये हैं कि वह फिर से अड़ंगा डालने वाला है।

आज ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन इस प्रस्ताव को लाने वाले हैं। चीन ने कहा कि समाधान ऐसा होना चाहिए जो सभी पक्षों को स्वीकार्य हो और समस्या को हल करने वाला हों। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति के तहत अजहर को नामित करने का प्रस्ताव 27 फरवरी को फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका द्वारा प्रस्तुत किया गया था।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा मैं यह दोहराता हूं कि चीन जिम्मेदाराना रवैया अपनाना जारी रखेगा और यूएनएससी की 1267 समिति के विचार-विमर्श में हिस्सा लेगा। चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वीटो की शक्ति रखनेवाला सदस्य है और सबकी निगाहें चीन पर हैं जो पूर्व में अजहर को संयुक्त राष्ट्र से वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के भारत के प्रयासों में अड़ंगा डाल चुका है। चीन इस बात पर जोर दे रहा है कि समाधान सभी को स्वीकार्य होना चाहिए। अगर चीन अड़ंगा नहीं लगाता है तो आज मसूद ग्लोबल आतंकी घोषित हो जाएगा। वहीं भारत ने अमेरिका और फ्रांस के साथ पुलवामा आतंकी हमले के बाद कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज शेयर किए हैं ताकि मसूद के खिलाफ पुख्ता सबूत पेश किया जा सके।   http://www.satyodaya.com

देश

भारी बारिश से मुंबई बेहाल, 24 घण्टे में 32 लोगों की मौत, स्कूल-काॅलेज व दफ्तर बंद

Published

on

नई दिल्ली। कुछ समय पहले तक सूखे से जूझ रहा महाराष्ट अब तेज बारिश और बाढ़ से जूझने लगा है। देश की आर्थिक राजधानी में थोड़ा देर से पहुंचा मानसून ऐसा जमकर बरसा है कि पिछले 10 वर्षों का रिकार्ड तोड. दिया। मुंबई में पिछले पांच दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिससे अब जन-जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। कई इलाकों में 5 से 6 फीट तक पानी भर गया है। यहां 24 घंटे में 375.2 मिमी (37.5 सेमी) पानी बरस गया। इतनी बारिश 5 जुलाई 1974 को हुई थी। राज्य में बारिश से जुड़े हादसों में पिछले 24 घण्टों में 32 लोगों के मरने की खबर है।
इसमें मुंबई में 20, पुणे में 6 और कल्याण में 3, नासिक में 3 की जान गई। मुंबई के मलाड ईस्ट के पिम्परीपाड़ा में सोमवार देर रात 11ः30 बजे दीवार #MumbaiRainlive गिरने से 18 की मौत हो गई और 60 जख्मी हो गए। महाराष्ट्र सरकार ने मलाड हादसे के मृतकों के परिजन को 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। वहीं, मलाड के सबवे में एक कार पानी में डूब गई, जिसमें दो युवक गुलशाद और इरफान की मौत हो गई। हादसों वाली जगहों पर एनडीआरएफ और पफायर ब्रिगेड की टीमें पहंुच गयी हैं जो राहत कार्य में लगी हुई हैं।#MumbaiRainsLiveUpdates

मौसम विभाग ने मंगलवार को भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था। लिहाजा सरकार ने आज सभी सरकारी और निजी स्कूल-कॉलेज और ऑफिस बंद रखने का फैसला किया। भारी बारिश की वजह से मुंबई एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट की फ्लाइट फिसल गई, जिससे मुख्य रनवे बंद कर दिया गया। 55 उड़ानों का रूट डायवर्ट हुआ और 52 उड़ानें रद्द कर दी गईं। मुंबई में बचाव के लिए नेवी की टीम भेजी गई है। 1000 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया।#Maharashtra
उधर, मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश सहित छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, झारखंड, उत्तर प्रदेश, अरुणाचल, असम, बंगाल में अगले दो दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

रेल फैक्ट्रियों के निजीकरण पर सोनिया गांधी ने उठाये सवाल, मोदी पर जमकर साधा निशाना

Published

on

नई दिल्ली। यूपीए चेयरपर्सन और रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी ने मंगलवार को सरकार पर जमकर हमला बोला है। सोनिया ने रायबरेली की मॉडर्न कोच फैक्ट्री के निजीकरण पर सवाल उठाया। लोकसभा में उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरकार निजी पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। इस दौरान उन्होंने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र किया।

सोनिया गांधी ने कहा कि, मैं सदन का ध्यान सरकार की उस योजना की तरफ खींचना चाहती हूं, जिसमें रेलवे की 6 उत्पाद इकाईयों का कंपनीकरण किया जाना है। इसके पहले चरण में रायबरेली की मॉडर्न कोच फैक्ट्री होगी। उन्होंने कहा कि, जो कंपनीकरण का असली मायने नहीं जानते हैं मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि कंपनीकरण निजीकरण की शुरूवात है। यह देश की अमूल्य संपत्ति को कौड़यों के दाम चंद लोगों के हवाले करने की साजिश है। इससे हजारों-हजारों लोग बेरोजगार हो जाते हैं।

यूपीए चेयसपर्सन ने कहा कि, असली चिंता तो इस बात की है कि सरकार ने इस प्रयोग के लिए रायबरेली की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को चुना है जो कि कई कामयाब परियोजनाओं में से एक है। यह भारतीय रेलवे का सबसे आधुनिक कारखाना है। यूपीए सरकार ने इसे आगे ले जाने का काम किया था।

सोनिया ने उन 2000 से ज्यादा मजदूरों और कर्मचारियों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से यह उपलब्धि हासिल की। लेकिन साथ ही वह बोलीं कि यह बहुत दुख की बात है कि अब उनका और उनके परिवार का भविष्य भारी संकट में है। यह समझना मुश्किल है कि क्यों सरकार ऐसी औद्योगिक इकाई का कंपनीकरण करना चाहती है।

आगे सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि इस फैसले में मजदूर यूनियन तक को भरोसे में नहीं लिया गया और न  ही उन श्रमिकों को विश्वास में लिया जिनके पसीने से ये उद्योग खड़े हुए हैं। सरकार को यह याद रखना चाहिये कि सार्वजनिक उद्योगों का उद्देश्य लोगों का कल्याण करना है न कि निजी पूंजिपतियों को लाभ पहुंचाना।

इसके साथ ही सोनिया गांधी ने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों को आधुनिक भारत का मंदिर कहा था। आज यह देख कर अफसोस होता है कि इस तरह के मंदिर खतरे में हैं। मुनाफे के बावजूद उनके कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा। HAL, BSNL, MTNL के साथ क्या हो रहा है किसी से छिपा नहीं है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

तमिलनाडु : सुलुर एयरबेस के पास तेजस विमान का फ्यूल टैंक गिरा, जांच के दिए गए निर्देश

Published

on

भारतीय वायु सेना के हल्के लड़ाकू विमान तेजस का फ्यूल टैंक मंगलवार को उड़ान के दौरान तमिलनाडु के सुलुर एयरबेस के पास खेत में गिर गया। वायुसेना ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

तेजस हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) हैं और किसी भी अग्रिम मोर्चे के फाइटर प्‍लेन की तरह इसकी भी उम्र कम से कम 30 वर्ष है। खेतों में गिरा फ्यूल टैक 1200-लीटर ड्रॉप टैंक था। इस हादसे के कारण की जांच की जा रही है कि कैसै ये घटना हुई क्योंकि ये सुरक्षा को लेकर बड़ा खतरा हो सकता था।

गौरतलब है कि हाल ही में हरियाणा के अंबाला में भारतीय वायु सेना का लड़ाकू विमान ‘जगुआर’ के साथ बड़ी दुर्घटना होते-होते बच गई जिसके बाद विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी थी। दरअसल, इंडियन एयरफोर्स के एक जगुआर पायलट अपने विमान के ईंधन टैंक के इंजन को एक चिड़िया से टकराने के बाद सुरक्षित अंबाला जेट एयरबेस में उतारने में सफल रहे थे।

बता दें कि तेजस भारत में विकसित किया जा रहा एक हल्का जेट लड़ाकू विमान है। हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड (एचएएल) द्वारा निर्मित युद्धक विमान है। वहीं, विमान का आधिकारिक नाम तेजस 4 मई 2003 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखा था।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 2, 2019, 4:31 pm
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending