Connect with us

देश

Death anniversary : कौन थे गुरु गोबिंद सिंह? जानिए उनके बारे में सबकुछ

Published

on

नई दिल्ली। गुरु गोबिंद सिंह को ज्ञान, सैन्य क्षमता और दूरदृष्टि का सम्मिश्रण माना जाता है। उनका जन्म पटना साहिब में हुआ था और वहां उनकी याद में एक खूबसूरत गुरुद्वारा भी निर्मित किया गया है। वे सिखों के 10वें और अंतिम गुरु थे। उन्होंने ही साल 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी। उन्होंने ही गुरु ग्रंथ साहिब को सिखों का गुरु घोषित किया।

उन्होंने अपना पूरा जीवन लोगों की सेवा करते हुए और सच्चाई की राह पर चलते हुए ही गुजार दिया था। उन्होंने खालसा को पांच सिद्धांत दिए, जिन्‍हें ‘पांच ककार’ कहा जाता है। पांच ककार का मतलब ‘क’ शब्द से शुरू होने वाली उन 5 चीजों से है, जिन्हें गुरु गोबिंद सिंह के सिद्धांतों के अनुसार सभी खालसा सिखों को धारण करना होता है। गुरु गोविंद सिंह ने सिखों के लिए पांच चीजें अनिवार्य की थीं- ‘केश’, ‘कड़ा’, ‘कृपाण’, ‘कंघा’ और ‘कच्छा’। इनके बिना खालसा वेश पूर्ण नहीं माना जाता।

ये भी पढ़ें- शिल्पा शेट्टी ने नवरात्र के आखिरी दिन कन्याओं को अपने हाथों से खिलाया खाना, शेयर की ये फोटो

गुरु गोबिंद सिंह ने संस्कृत, फारसी, पंजाबी और अरबी आदि भाषाओं का ज्ञान था। गुरु गोबिंद सिंह एक लेखक भी थे, उन्होंने कई ग्रंथों की रचना की थी। उन्होंने सदा प्रेम, एकता, भाईचारे का संदेश दिया। किसी ने गुरुजी का अहित करने की कोशिश भी की तो उन्होंने अपनी सहनशीलता, मधुरता, सौम्यता से उसे परास्त कर दिया।

गुरु गोबिंद सिंह जी मानते थे कि मनुष्य को किसी को डराना नहीं चाहिए और न ही किसी से डरना चाहिए। वे अपनी वाणी में उपदेश देते हैं- ”भै काहू को देत नहि, नहि भय मानत आन। वे बाल्यकाल से ही सरल, सहज, भक्ति-भाव वाले कर्मयोगी थे।” उनकी वाणी में मधुरता, सादगी, सौजन्यता एवं वैराग्य की भावना कूट-कूटकर भरी थी। उनके जीवन का प्रथम दर्शन ही था कि धर्म का मार्ग सत्य का मार्ग है और सत्य की सदैव विजय होती है।http://www.satyodaya.com

देश

पूर्वोत्तर रेलवे ने ‘सेवा’ में लगे कर्मचारियों के लिए ट्रेनों में ही बनाए अस्थाई अस्पताल

Published

on

लाॅकडाउन के बीच माल गाड़ियों से जरूरी सामानों की हो रही आपूर्ति

लखनऊ। देश भर में लाॅकडाउन के चलते यात्री रेल सेवा भले ही बाधित हो लेकिन जरूरी सामान और खाद्यन्न की आपूर्ति के लिए रेलवे विभाग लगातार सक्रिय है। 22 मार्च से 28 मार्च के बीच कुल 29 मालगाड़ियों से देश भर में गेहू, खाद्य तेल, उर्वरक, लोहा, सीमेंट, कोयला आदि की आपूर्ति की गयी। यात्री सेवा ठप होने के बावजूद इस कार्य के लिए रेलवे के सैकड़ों कर्मचारी दिन-रात सेवा में लगे हुए हैं।

जिनमें स्टेशन मास्टर से लेकर सफाईकर्मी तक शामिल हैं। लखनऊ एवं गोरखपुर बेस के रेकों को अपने होम डिविजन पर लाने हेतु उनके संचालन के लिए मण्डलीय नियंत्रक कक्ष दिन-रात कार्य कर रहा है। ऐसे में इन कर्मचारियों के लिए भोजन, पानी सहित बीमारी से बचाव के लिए भी उचित व्यवस्था की गयी है। मण्डल के वाणिज्य नियंत्रक कक्ष को ‘कोरोना कन्ट्रोल सेन्टर’ बनाया गया है। जो कोरोना संबधित प्राप्त सूचनाओं पर 24 घन्टे कार्य कर रहा है।

बाकी विभागों एवं राज्य सरकार से समन्वय स्थापित कर किसी भी आपातकालीन स्थिति में सहायता के लिए उपलब्ध रहेगा।

हर स्टेशन पर हो रही स्क्रीनिंग

कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोको पायलट, गार्ड, एसी अटेण्डेंट, ओबीएचएस स्टाफ एवं आरपीएफ कर्मियों के स्टेशन पर उतरते ही थर्मल स्क्रीनिंग कराई जा रही है। रेलवे कर्मचारियों को महामारी से बचाव के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। इन कर्मचारियांे को फेस मास्क, हैंड ग्लब्स और साबुन तथा उचित सेनिटाइजेशन के लिए सेनिटाइजर का भी प्रबन्ध किया गया है।

यह भी पढ़ें-प्रदेश में 527 कम्युनिटी किचन चालू, 26,298 वाहन कर रहे डोर स्टेप डिलीवरी

मण्डल रेल प्रबन्धक डा. मोनिका अग्निहोत्री ने अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों का उत्सावर्धन करते हुए कहा, इस संक्रमण काल में हम सभी को अपना मनोबल ऊंचा रखते हुए समाज के प्रति अपने दायित्वों को पूरा करते रहना है। मण्डल रेल प्रबन्धक ने अपील कि सभी कर्मचारी प्रधानमंत्री नरेेंद्र मोदी द्वारा जारी देशव्यापी लाॅक डाउन का पालन पूरी निष्ठा व ईमानदारी से करें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

लोगों को बसों से भेजना अनुचित, भुगतने पड़ेंगे गंभीर परिणाम- नीतीश कुमार

Published

on

इससे बीमारी और फैलेगी, रोकथाम व निपटना होगी सबके लिए मुश्किल

लखनऊ। कोरोना वायरस पूरे देश में तेजी से अपना पैर पसारता जा रहा है। पूरे देश में लॉकडाउन के बाद भी स्थति गंभीर बनी हुई है। इस लॉकडाउन के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बड़ा बयान सामने आया है। नीतीश कुमार ने लॉकडाउन टूटने की बात कहते हुए कहा है कि लोगों को एक जगह से दूसरी जगह भेजना गलत है। इससे लॉकडाउन करने का कोई फायदा नहीं होगा। सीएम नीतीश ने कहा कि अगर इससे बीमारी फैलती है तो उसे रोक पाना मुश्किल होगा। नीतीश कुमार का यह बयान तब आया है।

इसे भी पढ़ें- lockdown: भूखे व गरीबों की मदद के लिए इस्लामिक सेंटर ने भी बढ़ाया हाथ

जब दिल्ली और उत्तर प्रदेश सरकार बसों के जरिए लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का काम कर रही है। नीतीश कुमार ने सुझाव दिया कि लोग जहां फंसे हुए हैं, उनके लिए उसी स्थान पर व्यवस्था किया जाए। कैम्प लगाकर सरकार उन्हें ठहराए और भोजन की व्यवस्था करे।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन जारी है। इस दौरान सारे कल-कारखाने से लेकर काम-धंधा ठप है। इस कारण अन्य राज्यों से आए मजदूर मुश्किल में पड़ गए हैं। उनके पास खाने और किराया देने को पैसे नहीं हैं। ऐसे में वे बड़ी संख्या में पैदल ही अपने गांव की तरफ चल पड़े हैं।

इसे भी पढ़ें- राजधानी लिए अच्छी खबर, पिछले चार दिनों से लखनऊ में नहीं मिला कोरोना पॉजिटिव

इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश की सरकार ने 200 बसों का इंतजाम किया है। ये बसे नोएडा और गाजियाबाद से हर दो घंटे में लोगों को लेकर जाएंगी। दिल्ली और एनसीआर में काम करने वाले सबसे ज्यादा मजदूर पूर्वांचल और बिहार के हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

कोरोना महामारी से विश्व में अब तक 26,934 मौते, 590,899 लोग संक्रमित

Published

on

बीजिंग: विश्व के अधिकतर देशों में फैल चुके कोरोना वायरस ‘कोविड 19’ का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और अब तक इस खतरनाक वायरस से 26,934 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 590,899 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैलता जा रहा है और देश में अब तक इससे संक्रमितों की संख्या 834 हो गयी है जबकि इसके संक्रमण से अब तक कुल 19 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें: संदिग्ध परिस्थितियों में युवक ने लगाई फांसी, मौत


इस वैश्विक महामारी के केंद्र चीन में 81,934 लोगों की कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और करीब 3,295 लोगों की इस वायरस के चपेट में आने के बाद मौत हो चुकी है।
पिछले 24 घंटे के दौरान इस बीमारी का सबसे बुरा प्रकोप इटली से सामने आया है। यहां मरने वालों की संख्या बढ़कर 9134 हो गयी है जबकि अबतक 86,498 मरीज संक्रमित हो चुके हैं।
अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 100000 से अधिक हो गयी है। अमेरिका संक्रमितों के एक लाख के आंकड़े को पार करने वाला पहला देश है। यहां कोरोना वायरस से अब तक 1689 लोगों की मौत हो चुकी हैं जबकि 103,942 लोग इससे संक्रमित हुए हैं।


स्पेन में भी कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है और इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 4858 हो गयी है जो चीन से भी अधिक है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक स्पेन में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 64059 हो गयी है। खाड़ी देश ईरान में भी कोरोना वायरस का कहर जारी है। ईरान में इस वायरस की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,378 हो चुकी है जबकि 32,332 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं। दक्षिण कोरिया में मृतकों की संख्या 139 पहुंच चुकी है जबकि 9,478 लोग इससे संक्रमित हुए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

March 28, 2020, 9:56 pm
Clear
Clear
24°C
real feel: 23°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 60%
wind speed: 2 m/s W
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:31 am
sunset: 5:52 pm
 

Recent Posts

Trending