Connect with us

देश

दिल्ली: देश छोड़ कर भागने से पहले पुलिस ने मोंटी चढ्ढा को एयरपोर्ट पर किया गिरफ्तार…

Published

on

मोंटी चड्ढा

फाइल फोटो

नई दिल्ली। शराब कारोबारी रहे पॉन्टी चड्ढा के बेटे मोंटी चड्ढा को दिल्ली आईजीआई एयरपोर्ट से अरेस्ट कर लिया गया है। दिल्ली पुलिस की इकनोमिक ओफेंस विंग ने वेब ग्रुप के वाइस चेयरमैन मोंटी चड्ढा पर लोगों को फ्लैट्स देने के नाम पर 100 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला है। ऐसे में पुलिस इन्हें रिमांड पर लेने के लिए अदालत में पेश करेगी।  

देश छोड़ कर भागने के फ़िराक में था पॉन्टी चड्ढा  

दिल्ली पुलिस की इकनोमिक ओफेंस विंग की नजर में आने के बाद मोंटी चड्ढा फुकेट (थाइलैंड) भागने की कोशिश में था। लेकिन मौके पर दिल्ली पुलिस ने पहुंचकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़े:दिल्ली में बढ़ा ऑटो-रिक्शे का किराया, जानिए प्रति किलो मीटर देने होंगे कितने रूपये……

जाने पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक  गाज़ियाबाद डेवलपमेंट अथॉरिटी ने साल 2003 में हाईटेक सिटी डेवलेप करने के लिए एक योजना निकाली थी।इसके बाद साल 2005 में आरोपियों ने अपनी कंपनी उप्पल चड्ढा हाईटेक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर अखबारों में विज्ञापन दिया था।जिसके बाद प्रोजेक्ट बुकिंग काफी  डिस्काउंट ऑफर दिए गए।लेकिन करीब 11 साल बाद भी 65 से 85 प्रतिशत रकम लेने के बाद कोई फ्लैट्स नहीं दिए। ऐसे में लोगों के अनुसार मोंटी चड्ढा ने लगभग 100 करोड़ से भी ज्यादा की धोखाधड़ी की है।

एफआईआर में इन लोगों के भी नहीं हुए हैं दर्ज

दिल्ली पुलिस की इकनोमिक ओफेंस विंग ने जो मामला दर्ज किया है उसमें- एम/एस उपल चड्डा हाईटेक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, हरमनदीप सिंह कंधारी, राजेन्द्र सिंह चड्डा, मनप्रीत सिंह चड्डा उर्फ मोंटी चड्डा, गुरजीत सिंह कोचर, कृतिका गुप्ता को भी आरोपी करार दिया गया है।http://www.satyodaya.com   

देश

राजस्थान: अलवर लिचिंग मामले में पहलू खान और उनके 2 बेटों के खिलाफ पुलिस ने दायर की चार्जशीट….

Published

on

पहलू खान

फाइल फोटो

नई दिल्ली। राजस्थान के अलवर में पहलू खान के मामले में एक नया मोड़ आया है। राजस्थान पुलिस ने पहलू खान और उनके बेटे के खिलाफ गैर क़ानूनी तरीके से गो तस्करी करने के जुर्म में चार्जशीट दाखिल की है। बता दें पहलू खान की 1 अप्रैल 2017 को भीड़ ने उस वक्त पीट-पीट कर हत्या कर दी, जब वह मवेशियों को ले जा रहा था। ऐसे में गौरक्षकों ने गौतस्करी के शक में उसे पीट-पीट कर मार डाला था।

ये घटना उस समय हुई थी जब वो जयपुर से मवेशी ख़रीदकर हरियाणा के नुंह अपने घर जा रहे थे। पुलिस ने इस मामले में 2 एफआईआर दर्ज की थी। एक एफआईआर  पहलू खान की हत्या के मामले में 8 लोगों के ख़िलाफ़ और दूसरी बिना कलेक्टर की अनुमति के मवेशी ले जाने पर पहलू और उसके परिवार के खिलाफ हुई थी। वहीं दूसरे मामले में पहलू ख़ान और उसके दो बेटों के ख़िलाफ़ अब चार्जशीट दाख़िल की गई है। पहलू ख़ान की मौत हो चुकी है ऐसे में उनके ख़िलाफ़ तो केस बंद हो जाएगा, लेकिन उनके बेटों के ख़िलाफ़ केस लगातार चलता रहेगा।

ये भी पढ़े:दिल्ली: एनएच-24 में टेम्पो और पानी टैंकर में हुई भिडंत, 3 की मौत 10 घायल….

चार्जशीट के मुताबिक पहलू खान के खिलाफ राजस्थान में गोहत्या और तस्करी को लेकर जारी कानून के तहत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। हालांकि इस मामले में आठों को जमानत मिल चुकी है।  मृतक पहलू खान के बेटे इरशाद खान ने अप्रैल 2017 में बताया था इस तस्करी के दौरान वह अपने पिता के साथ था।

वे सभी एक दूसरे को नाम के लेकर बुला रहे थे। पहले इन लोगों ने हमें रोका, फिर मारने लगे। जबकि हमने उन्हें कागजात भी दिखाए थे,ताकि बता सकें कि हम तस्कर नही हैं। लेकिन उन लोगों ने कागज फाड़ डाला और पीटना शुरू कर दिया। इतना ही नहीं पहलू खान के बेटे ने बताया कि उन लोगों ने मेरे सामने मेरे पिता को मार डाला।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

दिल्ली: एनएच-24 में टेम्पो और पानी टैंकर में हुई भिडंत, 3 की मौत 10 घायल….

Published

on

फाइल फोटो

नई दिल्ली। सड़क हादसों का सिलसिला लगातार जारी है। एनएच 24 पर एक तेज रफ्तार टेम्पो और पानी की टैंकर में टक्कर हो गई। इस भयानक हादसे में 3 लोगों की मौत जबकि 10 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

बता दें यह हादसा दिल्ली के कल्यानपुरी के पास की है। जानकारी के मुताबिक जिस टेम्पो का एक्सीडेंट हुआ, उसमें कुल 13 लोग सवार थे। टेम्पो के सभी लोग नैनीताल घूमने के लिए जा रहे थे। इस भयानक हादसे में टेम्पो का चालक भी मारा गया है।

वहीं इस हादसे के बारे में आसपास के लोगों का कहना है कि टेम्पो ट्रेवलर गाड़ी तेज रफ्तार से जा रही थी। तभी आगे जा रहे पानी के टैंकर को जोरदार टक्कर मार दी। जिसके बाद टेम्पो ट्रेवलर मे बैठे तमाम लोग घायल हो गए।

ये भी पढ़े:पुणे: दीवार गिरने से हुआ दर्दनाक हादसा, 15 की मौत दो गंभीर रूप से घायल….

हादसे में घयल हुए लोगों को आनन-फानन में लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 13 लोगो मे से 7 लोगो को लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया, वहीं इन लोगों के बारे डॉक्टरों का कहना है कि वह अब खतरे से बाहर है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

राहुल गांधी के बाद पार्टी में हुई इस्तीफों की बरसात, अब तक 150 नेताओं ने छोड़ा अपना पद…

Published

on

फाइल फोटो

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस्तीफा देने की रट लगाए बैठे हुए हैं। ऐसे में कई नेता राहुल गांधी का समर्थन करते हुए अपने पदों से इस्तीफ़ा दे दिया है। जानकारी के मुताबिक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कई सचिव, कई राज्य इकाईयों के पदाधिकारियों, युवा कांग्रेस और महिला कांग्रेस के कई पदाधिकारियों ने इस्तीफे की पेशकश की है।  

जानकारी के मुताबिक बता दें युवा कांग्रेस और महिला कांग्रेस के कुछ पदाधिकारियों ने गांधी के समर्थन में इस्तीफा देने को लेकर हस्ताक्षर मुहिम भी शुरू की है। इस्तीफे की पेशकश में पदाधिकारियों ने हस्ताक्षर किए हैं जिनमें ज्यादा से ज्यादा लोग जूनियर हैं।

ये भी पढ़े:पुणे: दीवार गिरने से हुआ दर्दनाक हादसा, 15 की मौत दो गंभीर रूप से घायल….

दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया भी उन नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने गांधी के समर्थन में इस्तीफा दिया है। लिलोठिया ने कहा, ”मैंने शुरू से ही राहुल गांधी के नेतृत्व में काम किया। मैं जानता हूं कि कांग्रेस पार्टी में उनकी क्या रोल है। मेरी और लाखों कांग्रेस कार्यकर्ताओं यही इच्छा है कि राहुल गांधी कांग्रेस का नेतृत्व करते रहें। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा मुझे राहुल गांधी पर विश्वास है, इसलिए यह कदम उठाया है। इसके बाद से कई नेताओं ने इस्तीफे दिए हैं। ऐसे में आने वाले समय में और भी कई नेता इस मुहीम से जुड़ेंगे।”

राहुल के समर्थन में 150 नेताओं ने दिया इस्तीफा

बता दें अब जिन नेताओं ने इस्तीफा दिया है उसमे से एक कांग्रेस महासचिव दीपक बाबरिया भी हैं। पदाधिकारियों की बात करें तो विरेंद्र राठौर, अनिल चौधरी, जितेन्द्र भगेल, राजेश धरमाणी, नीटा डिसूज़ा, सुमित्रा चौहान, संजय चौखर और वीरेंद्र वशिष्ट जैसे नाम हैं। कुल मिलाकर इस्तीफों की संख्या 150 पर पहुंच गई है। गोवा के काग्रेस अध्यक्ष गिरीश ने भी राहुल के समर्थन में इस्तीफ़ा की पेशकश की है।

जानकारी के मुताबिक इस्तीफों का ये दौर लगातार जारी रहेगा। इस्तीफे का मामला यहां तक पहुंच गया है कि युवा नेताओं ने राहुल गांधी के समर्थन मे इस्तीफ़े तो दिए, लेकिन उन्होंने सीनियर नेताओं को तीन दिन का समय दिया है। अगर सीनियर नेताओं ने तीन दिन के भीतर इस्तीफे नहीं दिए तो सभी युवा नेता उनके घर जाकर इस्तीफा मांगेंगे।

ये भी पढ़े:खुलेआम घूम रहे बलात्कारियों को मिलनी चाहिए सजा : अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज

वैसे, इन इस्तीफों को लेकर फिलहाल पार्टी की ओर से कोई ऑफिशियल पुष्टि नहीं की गई है। इससे पहले गुरुवार रात को पार्टी के विधि विभाग के प्रमुख विवेक तन्खा ने इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि सभी नेताओं को अपने पद छोड़ देने चाहिए, ताकि राहुल गांधी अपनी नई टीम बना सकें।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद 25 मई को हुई पार्टी कार्य समिति की बैठक में राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। हालांकि कार्य समिति के सदस्यों ने उनकी पेशकश को खारिज करते हुए उन्हें बड़े बदलाव लाने की बात कही थी। इसके बाद से राहुल गांधी लगातार इस्तीफे की पेशकश पर अड़े हुए हैं। जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता चाहते हैं कि राहुल गांधी पार्टी का नेतृत्व करें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 29, 2019, 1:11 pm
Partly sunny
Partly sunny
40°C
real feel: 46°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 30%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 11
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending