Connect with us

देश

अमृतसर दौरे के दौरान गडकरी ने पाक को दी धमकी, कहा- अगर आतंकवाद को रोका नहीं तो….

Published

on

नितिन गडकरी

फाइल फोटो

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण के मतदान के लिए पार्टियों के नेता लगातार रैली और जनसभा को संबोधित करते नजर आ रहे हैं। इसी तरह 12 मई को पंजाब में भी वोटिंग होनी है। जिसकी वजह से बीजेपी नेता और केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पंजाब दौरें के दौरान पाक को धमकी दी हैं अगर उन्होंने आतंकवाद को रोका नहीं तो पाकिस्तान जाने वाले पानी के सभी रास्तों को बंद कर दिया जाएगा।

नितिन गडकरी ने कहा कि 1960 में पाक जरनल अयूब खान और भारत के पीएम जवाहर लाल नेहरू के बीच जलसंधि हुई थी। इस दौरान कागजी लिखावट के तहत ये कहा गया था कि दोनों देशों के बीच भाईचारा, सौहार्द, पारिवारिक रिश्ते हैं, इसलिए हम भारत से निकलने वाली छह नदियों में से तीन नदियों का पानी पाक को देंगे।

ये भी पढ़े:चुनाव आयोग ने 45 हजार मछुआरों का लिस्ट से हटाया नाम, अब मद्रास कोर्ट ने मांगा जवाब…

ऐसे में भारत के लाख समझाने और धमकी देने के बाद भी पाकिस्तान समझ नहीं रहा है। अगर उसने  आतंकवाद और आतंकी संगठनों का समर्थन करने से मना नहीं किया तो हमारे पास पानी को रोकने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचेगा। बता दें गडकरी अमृतसर, लुधियाना के खन्ना और मोहाली के बलौंगी में शिअद-भाजपा प्रत्याशियों के लिए प्रचार-प्रसार करने के लिए पहुंचे थे।

यही नहीं अमृतसर दौरे के दौरान गडकरीने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पाक करार पर खरा नहीं उतर रहा, इसलिए हम भी जलसंधि के करार के लिए बाध्य नहीं है। लेकिन अब पाकिस्तान का पानी बंद कर सारा पानी पंजाब, हरियाणा और राजस्थान को दिया जाएगा। फिर हमें को टेंशन नहीं होगी कि पकिस्तान बम फेंके या बारूद का गोला, उसका जो दिल करे वह करे। उन्होंने कहा हम सभी लोग इस विषय जल्द ही गहराई से विचार करेंगे।

ये भी पढ़े:सिख दंगा पीड़ितों ने पूर्व प्रधानमंत्री को शहीद कहने पर जताई आपत्ति,राहुल गांधी को लिखा पत्र

जानकारी के मुताबिक पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत लगातार पाकिस्तान पर शिकंजा कसते हुए नजर आ रहा है। पुलवामा अटैक के दौरान भारत ने सबसे पहले पाक से एमएफएन का दर्जा खत्म किया उसके पाक में एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दी। जिससे पाकिस्तान तिलमिला गया और अपनी गलती को छिपाने के लिए तरह-तरह के बहाने बनाने लगा। इतना ही नहीं भारत ने पाक को सिंधु जल समझौते के तहत तीन नदियों रावी, सतलज और व्यास से पाकिस्तान को मिलने वाले अपने हिस्से का पानी रोकने का भी फैसला किया था।

ऐसे में एक बार फिर गडकरी ने अमृतसर दौरे के दौरान पाक को आतंकवाद खत्म करने को कहा और साथ में ये भी कहा कि अगर उसने ऐसा नहीं किया तो वह पाकिस्तान जाने वाले पानी के सभी रास्तों को बंद कर देगा।http://www.satyodaya.com

देश

कोर्ट रूम लाइव: विवादित ढांचा विध्वंस मामले में फैसले का काउन-डाउन शुरू

Published

on

लखनऊ। अयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में 28 साल बाद आज फैसला की घड़ी आई है। सीबीआई की विशेष अदालत के जज सुरेंद्र कुमार यादव बस कुछ ही देर में अपना फैसला सुनाएंगे। ढांचा विध्वंस 32 जीवित आरोपियों में से आडवाणी, जोशी, उमा भारती, नृत्य गोपाल दास, कल्याण सिंह और सतीश प्रधान को छोड़कर सभी 26 अभियुक्त अदालत में आ गए है।

ऋतंभरा, चंपत राय, विनय कटियार और बृज भूषण शरण सिंह, डाॅ. राम विलास वेदांती कोर्ट पहुंच चुके हैं। भाजपा सांसद साक्षी महाराज भी कोर्ट पहुंच रहे हैं। उनके वकील प्रशांत सिंह अटल कोर्ट रूम में मौजूद हैं। फैसले से पहले लखनऊ में सीबीआई के स्पेशल कोर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। अदालती फ़ैसले को लेकर अयोध्या को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

बाबरी मस्जिद केस में ये हैं 32 अभियुक्त

लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, महंत नृत्य गोपाल दास, डॉ. राम विलास वेदांती, चंपत राय, महंत धर्मदास, सतीश प्रधान, पवन कुमार पांडेय, लल्लू सिंह, प्रकाश शर्मा, विजय बहादुर सिंह, संतोष दुबे, गांधी यादव, रामजी गुप्ता, ब्रज भूषण शरण सिंह, कमलेश त्रिपाठी, रामचंद्र खत्री, जय भगवान गोयल, ओम प्रकाश पांडेय, अमर नाथ गोयल, जयभान सिंह पवैया, महाराज स्वामी साक्षी, विनय कुमार राय, नवीन भाई शुक्ला, आरएन श्रीवास्तव, आचार्य धर्मेंद्र देव, सुधीर कुमार कक्कड़ और धर्मेंद्र सिंह गुर्जर।

इन 17 आरोपियों का हो चुका है निधन

सीबीआई की तरफ से बनाए गए 49 आरोपियों में से अशोक सिंघल, गिरिराज किशोर, विष्णु हरि डालमिया, मोरेश्वर सावें, महंत अवैद्यनाथ, महामंडलेश्वर जगदीश मुनि महाराज, बैकुंठ लाल शर्मा, परमहंस रामचंद्र दास, डॉ. सतीश नागर, बालासाहेब ठाकरे, तत्कालीन एसएसपी डीबी राय, रमेश प्रताप सिंह, महात्यागी हरगोविंद सिंह, लक्ष्मी नारायण दास, राम नारायण दास और विनोद कुमार बंसल का निधन हो चुका है। कुल 49 अभियुक्त थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

PM मोदी ने नमामि गंगे मिशन के तहत छह मेगा परियोजनाओं का किया उद्घाटन

Published

on

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नमामि गंगे मिशन के तहत उत्तराखंड में छह मेगा परियोजनाओं का वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कृषि सुधार कानून का विरोध करने वालों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कृषि सुधार कानूनों का विरोध कर रहे हैं क्योंकि उनके लिए काले धन की कमाई का एक और स्रोत बंद हो गया है। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे लोग किसानों के खिलाफ हैं, वे चाहते हैं कि बिचैलिये पनपें।

कृषि विधयकों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के इंडिया गेट पर एक टैक्टर हो आग के हलावे कर दिया था। जिस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन सामानों व उपकरणों की किसान पूजा करता है। उन्हें आग लगाकर ये लोग अब किसानों को अपमानित कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जिनकी काली कमाई का जरिया बंद हो रहा वे किसानों को बरगला रहे हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी, वन नेशन वन कार्ड, समेत सभी चीजों का इन लोगों ने विरोध किया। देश की किसानों, श्रमिकों और देश के स्वास्थ्य से जुड़े बड़े सुधार किए गए हैं।इन सुधारों से देश का श्रमिक सशक्त होगा, देश का नौजवान सशक्त होगा, देश की महिलाएं सशक्त होंगी, देश का किसान सशक्त होगा। लेकिन आज देश देख रहा है कि कैसे कुछ लोग सिर्फ विरोध के लिए विरोध कर रहे।

यह भी पढ़ें:- IPL 2020: दिल्ली कैपिटल्स ने टाॅस जीतकर हैदराबाद को बल्लेबाजी का दिया न्योता

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोग कुषि सुधार कानूनों का विरोध सिर्फ विरोध के लिए कर रहे हैं। वे ना तो किसानों के साथ हैं, ना युवाओं के साथ और ना ही जवानों के साथ। पीएम ने हरिद्वार के चंडीघाट में निर्मित गंगा अवलोकन संग्रहालय का भी डिजिटल लोकार्पण किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मां गंगा की निर्मलता सुनिश्चित करने वाले छह बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया है जिनमें एसटीपी और म्यूजियम जैसी परियोजनाएं शामिल हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

बाड़मेर: एम्बुलेंस में खत्म हो गई ऑक्सीजन, युवती ने रास्ते में ही तोड़ा दम

Published

on

बाड़मेर। राजस्थान में स्थित बाड़मेर जिले में चिकित्सा व्यवस्थाओं को लेकर लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। जहां जोधपुर रेफर की गई मरीज को गंभीर हालत में ले जाते समय एम्बुलेंस में ऑक्सीजन खत्म हो गई। जिससे युवती ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। युवती की मौत की खबर की भनक लगते ही नर्सिंग स्‍टाफ एम्बुलेंस खड़ी करके वहां से फरार हो गए। इस घटना को लोगों में अब बवाल मचा हुआ है। मेडिकल विभाग इस गंभीर मामले की जांच कराने के बजाय लीपापोती का प्रयास कर रहा है।

जानकारी के अनुसार, ये मामला चौहटन उपखंड से का है। उपखंड के जैसार गांव निवासी एक किशोरी की फूड पॉइजनिंग के कारण तबीयत बिगड़ गई थी। इस पर परिजनों में उसे सोमवार को चौहटन से बाड़मेर ले जाया गया। वहां से उसे गंभीर हालत में जोधपुर रेफर कर दिया गया, लेकिन जिस एम्बुलेंस में पीड़िता को भेजा गया उसमें रास्ते में ही ऑक्सीजन ख़त्म हो गई। जिसके कारण युवती की मौत हो गई। इसकी जानकारी जैसे ही एम्बुलेंस के संचालक और नर्सिंग स्‍टाफ को मिली तो उनके हाथ-पांव फूल गये। वे एम्बुलेंस को बायतु सीएचसी में छोड़कर मौके से फरार हो गए।

यह भी पढ़ें: समाज की बहन-बेटियाँ प्रदेश में सुरक्षित नहीं, जो अति-शर्मनाक और निन्दनीय- मायावती

पीड़िता के पिता के मुताबिक बाड़मेर से निकलते ही ऑक्सीजन खत्म हो गई। इस पर नर्सिंग स्‍टाफ बायतु अस्पताल में एम्बुलेंस छोड़कर फरार हो गए। प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीएल मंसुरिया के मुताबिक घटना की जानकारी मिली है। मौत का कारण ऑक्सीजन की कमी रही है या अन्य कोई दूसरी वजह इसकी जांच पड़ताल की जा रही है। चिकित्सा व्यवस्था में इस तरह की खामियां चिकित्सा व्यवस्थाओं पर प्रश्नचिन्ह लगाती हैं।http://satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 30, 2020, 11:13 am
Hazy sunshine
Hazy sunshine
33°C
real feel: 38°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 51%
wind speed: 2 m/s NW
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:28 am
sunset: 5:23 pm
 

Recent Posts

Trending