Connect with us

देश

छोटी गलतियों पर नामांकन रद्द करने वाले चुनाव आयोग ने तेज बहादुर को भेजे नोटिस में खुद कर दी ये गलती

Published

on

वाराणसी में चुनाव आयोग ने सपा का ब्रह्मास्त्र चलने से पहले ही तरकश से निकाल कर हटा दिया है। जी हां सपा ने यहां से पीएम मोदी के खिलाफ शालिनी यादव की जगह बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव को टिकट दिया था। लेकिन निर्वाचन योग ने उनकी उम्मीदवारी रद्द कर दी है।

चुनाव आयोग ने बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर को एक नोटिस भेजा है, जिसमें उनके दो हलफनामों में दिए गए अगल-अलग तथ्यों के संदर्भ में जानकारी मांगी गई थी। कई बार चुनाव आयोग छोटी छोटी गलतियों पर भी प्रत्याशियों का नामाकन रद्द कर देता है लेकिन इस बार चुनाव आयोग ने तेज बहादुर यादव को भेजे गए नोटिस में खुद एक गलती कर दी।

आपको हैरानी होगी कि आयोग ने तेज बहादुर को जानकारी जमा करने के लिए 90 साल का समय दे दिया। जी हां, आपने सही पढ़ा, नोटिस के अनुसार तेज बहादुर यादव को 90 साल बाद चुनाव आयोग के नोटिस का जावब देना होगा।

यह भी पढ़ें : वाराणसी में सपा को लगा बड़ा झटका, तेज बहादुर यादव की उम्मीदवारी रद्द, जानिए क्या है वजह   

दरअसल, मामला यह है कि वाराणसी में तेज बहादुर को जिला निर्वाचन आयोग ने जो नोटिस भेजा था, उसमें आयोग ने तेज बहादुर यादव को सभी साक्ष्य जमा करने के लिए लगभग 90 साल का समय दे दिया। मतलब चुनाव आयोग के नोटिस में तारीख 2019 की जगह 1 मई 2109 लिखा गया है।

हालांकि, यह महज एक टाइपिंग एरर है, जिसकी वजह से चुनाव आयोग के नोटिस में तारीख 2019 की जगह 1 मई 2109 लिखा हुआ दिख रहा है। http://www.satyodaya.com

देश

शिमला: भीषण अग्निकांड में पंचायत भवन व डाकघर समेत कई मकान जलकर राख

Published

on

फाइल फोटो

शिमला: हिमाचल के शिमला जिले की तहसील कोटखाई के प्रेमनगर बाजार में बुधवार को भीषण अग्निकांड हुआ है। जिसके चलते भारी स्तर पर नुकसान हुआ है। जानकरी के अनुसार रात भड़की आग से 5 दुकानें, दो स्टोर, पंचायतघर, उचित मूल्य की दुकान, डाकघर, क्लिनिक व दो क्वार्टर बुरी तरह जलकर खाक हो गए हैं। अचानक लगी इस आग से इलाके में हड़कंप मच गया। वहीं इस भीषण आग से लाखों रुपए का  नुकसान हुआ है।

ये भी पढ़ें: बेखौफ बदमाशों ने दिनदहाड़े युवक को किया अगवा, जांच में जुटी पुलिस

घटना की सूचना मौके पर दमकल विभाग को दी गई और साथ ही स्थानीय लोगों भी आग बुझाने के प्रयास में जुट गए। बताया जा रहा है कि लकड़ी से बने मकान होने के चलते इलाके में आग तेजी से फैल गई। इसके बाद दमकल विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। बता दें कि आग इतनी जबरदस्त थी कि बुधवार तड़के साढ़े तीन बजे तक इस पर काबू पाया गया।  फिलहाल अभी तक किसी के भी हताहत होने की सूचना प्राप्त नहीं हुई है। कोटखाई पुलिस ने केस दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंचकर नुकसान का आंकलन कर रही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

सुलेमानी की हत्या का भारत के 430 शहरों में हुआ विरोधः जावद जरीफ

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिका-ईरान में ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी को मारे जाने से तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसी बीच ईरान के विदेश मंत्री जावद जरीफ ने कहा कि उनके देश के प्रति अमेरिका नीति की आलोचना की है और अमेरिकी कार्रवाई जनसंहार को अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन बताया है। ईरान कूटनीति में रुचि रखता है। हमें अमेरिका के साथ बातचीत करने में कोई दिलचस्पी नहीं है।

उन्होंने दावा किया है कि सुलेमानी की हत्या का भारत के 430 शहरों में विरोध हो रहा है। विदेश मंत्री में यह बात बुधवार को नई दिल्ली में वैश्विक कूटनीति पर आयोजित कार्यक्रम राससीना डायलाॅग-2020 में कही। जवाद जरीफ ने कहा कि आतंकी संगठन आईएसआईएस के सामने सुलेमानी इकलौता बड़ा खतरा थे, मगर अब वह उनकी मौत का जश्न मना रहा है। बता दें कि बीते दिनों अमेरिकी ने बगदाद एयरपोर्ट पर हवाई हमला कर कासिम सुलेमानी की हत्या कर दी थी, जिसके बाद ईरान ने भी मिसाइल से हमला किया था।

यह भी पढ़ें:- यूक्रेन विमान हादसे को लेकर खामनेई के खिलाफ प्रदर्शन, इस्तीफा देने की मांग

यूक्रेन विमान हादसे का जिक्र करते हुए ईरानी विदेश मंत्री जरीफ ने कहा कि यात्री विमान को मार गिराना एक भूल थी। बता दें कि यूक्रेन का विमान बगदाद एयरपोर्ट के पास क्रैश हो गया था। बाद में रिपोर्ट आई थी कि ईरानी मिसाइल से ही यूक्रेन विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था, जिसमें करीब 176 लोगों की मौत हो गई थी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को कोर्ट ने दी जमानत, रखी ये शर्त…

Published

on

भीम आर्मी

फाइल फोटो

नई दिल्ली। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को बुधवार को दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट से जमानत मिल गई। चंद्रशेखर आजाद पर जामा मस्जिद इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के दौरान भीड़ को उकसाने का आरोप लगा था। उन पर यह आरोप लगाया गया है कि उन्होंने बिना इजाजत के मार्च निकाला।

अडिशनल सेशन जज कामिनी लाउ ने आजाद को कुछ शर्तों के साथ जमानत दी हैं। कोर्ट ने उन्हें 16 फरवरी तक दिल्ली में किसी तरह का प्रदर्शन न करने का आदेश दिया है। दरअसल, गत 20 दिसंबर को भीम आर्मी ने सीएए के खिलाफ जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च का आयोजन किया था और पुलिस से इसकी इजाजत भी नहीं मांगी।इस मामले में अरेस्ट किए गए अन्य 15 लोगों को 9 जनवरी को जमानत मिल गई है।

ये भी पढ़ें:अब 22 जनवरी को नहीं दी जाएगी निर्भया के दोषियों को फांसी, जानिए क्यों…

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई थी। कोर्ट ने पुलिस से पूछा था कि किस कानून में लिखा है कि धार्मिक स्थान के बाहर प्रदर्शन नहीं किया जा सकता? वहीं कोर्ट ने कहा, ‘लोग शांति से कहीं भी प्रदर्शन कर सकते हैं। जामा मस्जिद पाक में नहीं है जो वहां प्रदर्शन नहीं करने दिया जाए। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन तो पाक में भी करने दिया जाता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 15, 2020, 6:11 pm
Fog
Fog
17°C
real feel: 17°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 91%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:05 pm
 

Recent Posts

Trending