Connect with us

देश

छोटी गलतियों पर नामांकन रद्द करने वाले चुनाव आयोग ने तेज बहादुर को भेजे नोटिस में खुद कर दी ये गलती

Published

on

वाराणसी में चुनाव आयोग ने सपा का ब्रह्मास्त्र चलने से पहले ही तरकश से निकाल कर हटा दिया है। जी हां सपा ने यहां से पीएम मोदी के खिलाफ शालिनी यादव की जगह बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव को टिकट दिया था। लेकिन निर्वाचन योग ने उनकी उम्मीदवारी रद्द कर दी है।

चुनाव आयोग ने बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर को एक नोटिस भेजा है, जिसमें उनके दो हलफनामों में दिए गए अगल-अलग तथ्यों के संदर्भ में जानकारी मांगी गई थी। कई बार चुनाव आयोग छोटी छोटी गलतियों पर भी प्रत्याशियों का नामाकन रद्द कर देता है लेकिन इस बार चुनाव आयोग ने तेज बहादुर यादव को भेजे गए नोटिस में खुद एक गलती कर दी।

आपको हैरानी होगी कि आयोग ने तेज बहादुर को जानकारी जमा करने के लिए 90 साल का समय दे दिया। जी हां, आपने सही पढ़ा, नोटिस के अनुसार तेज बहादुर यादव को 90 साल बाद चुनाव आयोग के नोटिस का जावब देना होगा।

यह भी पढ़ें : वाराणसी में सपा को लगा बड़ा झटका, तेज बहादुर यादव की उम्मीदवारी रद्द, जानिए क्या है वजह   

दरअसल, मामला यह है कि वाराणसी में तेज बहादुर को जिला निर्वाचन आयोग ने जो नोटिस भेजा था, उसमें आयोग ने तेज बहादुर यादव को सभी साक्ष्य जमा करने के लिए लगभग 90 साल का समय दे दिया। मतलब चुनाव आयोग के नोटिस में तारीख 2019 की जगह 1 मई 2109 लिखा गया है।

हालांकि, यह महज एक टाइपिंग एरर है, जिसकी वजह से चुनाव आयोग के नोटिस में तारीख 2019 की जगह 1 मई 2109 लिखा हुआ दिख रहा है। http://www.satyodaya.com

देश

अस्पताल से नहीं मिली एम्बुलेंस, ऑटो में ले गए परिजन कोरोना मरीज का शव

Published

on

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे है। बढ़ते मामलों के बीच प्रशासन की लापरवाही ही सामने आ रही है। जो दिल दहला देने वाली है। मुंबई के बाद तेलंगाना में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। तेलंगाना के निजामाबाद स्थित सरकारी अस्पताल में कोरोना से मरने वाले एक मरीज के शव को ऑटो रिक्शा की मदद से अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया। सबसे हौरान करने वाली बात यह थी की इस दौरान अस्पताल प्रशासन की किसी भी तरह की निगरानी नहीं थी।

जानकारी के अनुसार, अस्पताल ने 50 वर्षीय व्यक्ति का शव सीधा अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया था। अस्पताल ने मृतक के परिजनों को एंबुलेंस की सुविधा भी नहीं दी। मामला सामने आते ही निजामाबाद सरकारी अस्पताल के सुप्रीटेंडेंट नागेश्वर राव ने कहा कि मृतक का परिजन अस्पताल में ही काम करता है और उनके अनुरोध पर शव परिजनों को सौंप दिया गया था।

यह भी पढ़ें:- हरदोईः सीओ नागेश मिश्रा की कोरोना संक्रमण से पीजीआई में मौत

उन्होंने कहा कि मृतक का परिजन एक युवक की मदद से शव ऑटो रिक्शा में ले गया था। दूसरा युवक भी हमारे अस्पताल के मुर्दाघर में काम करता था। उनके परिजनों ने एम्बुलेंस की प्रतीज्ञा नहीं है। नागेश्वर राव ने आगे बताया 50 वर्षीय मरीज को 27 जून को निजामाबाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वह कोरोना पॉजिटिव था। इलाज के दौरान हालत गंभीर होने के चलते उसने शनिवार को दम तोड़ दिया था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

कपिल सिब्बल ने कहा- क्या अस्तबल से सब घोड़े भाग जाएंगे तब जागेगी कांग्रेस?

Published

on

लखनऊ। राजस्थान की सियासत में पिछले दो दिन से घमासान मचा हुआ है। राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार खतरे में घिर गयी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच आपसी खींचतान ने सरकार का भविष्य अनिश्चित कर दिया है। स्थिति कुछ वैसी ही बन रही है, जैसी कुछ दिन पूर्व मध्य प्रदेश में बनी थी और मुख्यमंत्री कमलनाथ को सीएम की कुर्सी से हाथ धोना पड़ा था। मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही पार्टी की सरकार गिराई थी तो अब राजस्थान में सचिन पायलट कुछ ऐसी ही भूमिका में हैं। #Sachinpilot #आपणो_मुख्यमंत्री_पायलट

राजस्थान सरकार पर मंडरा रहे इस खतरे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व को आगाह किया है। सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व से पूछा है कि क्या हम घोड़ों के अस्पताल से भाग जाने के बाद जागेंगे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने रविवार को एक ट्वीट में यह बात कही। हालांकि उन्होंने किसी मुद्दे का जिक्र नहीं किया है, लेकिन सिब्बल का इशारा साफ है कि वह किन घोड़ों के भागने की बात कर रहे हैं।#Sachinpilot

सीएम गहलोत ने भाजपा पर लगाया आरोप

बता दें कि पिछले दो दिन से राजस्थान की सियासत में उथल-पुथल मची हुई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच जोर-आजमाइश तो काफी पुरानी है। लेकिन अब विधायकों की खरीद-फरोख्त आरोप-प्रत्यारोप ने मामला तूल पकड़ लिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ने भाजपा पर उनकी सरकार अस्थिर करने का आरोप लगाया है। सीएम गहलोत ने कहा है कि भाजपा उनके विधायकों को खरीदने के लिए 15 से 20 करोड़ तक का ऑफर दे रही है। #आपणो_मुख्यमंत्री_पायलट

यह भी पढ़ें-लाॅकडाउन के बीच लखनऊ पर अचानक टिड्डी दल ने किया हमला, मची अफरा-तफरी

इसी बीच रविवार को सचिन पालयल अचानक दिल्ली पहुंचे। यहां उन्होंने पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार पायलट ने सोनिया गांधी से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की शिकायत की है। वहीं राजस्थान भाजपा ने मुख्यमंत्री के आरोपों का खारिज करते हुए इसे कांग्रेस और सरकार की आंतरिक कलह करार दिया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

महाराष्ट्र में राजभवन तक पहुंचा कोरोना, 16 कर्मचारी मिले पॉजिटिव, मचा हड़कंप

Published

on

मुंबई: कोरोना वायरस संक्रमण से परेशान महाराष्ट्र में अब राजभवन तक कोरोना पहुंच गया है।राजभवन में कार्यरत करीब 100 लोगों का कोरोना टेस्ट कराया गया है जिसमे 16 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बताया जा रहा है कि 100 लोगों में अभी तक 55 से 57 लोगों की रिपोर्ट सामने आई है बाकी की रिपोर्ट अभी पेंडिंग में है।

यह भी पढ़ें: ‘बिग बी’ के परिवार के बाद अनुपम खेर के घर पहुंचा कोरोना, मां समेत 4 लोग पॉजिटिव

बता दें कि इससे पहले राजभवन में कार्यरत एक जूनियर इलेक्ट्रिशियन कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, जिसके बाद 100 लोगों का टेस्ट करवाया गया. हालांकि महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी स्वस्थ्य हैं। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामलों में एक दिन में सबसे बड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई क्योंकि शनिवार को इसके 8,139 नए मामले सामने आए जिससे राज्य में इसके कुल मामले बढ़कर 2,46,600 हो गए।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि पिछले 24 घंटे में 223 मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 10,116 हो गई। कोविड-19 के मामलों में शनिवार की बढ़ोतरी ने एक दिन पहले मामलों में 7,862 की बढ़ोतरी को पीछे छोड़ दिया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 13, 2020, 1:46 am
Fog
Fog
29°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s SW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:52 am
sunset: 6:33 pm
 

Recent Posts

Trending