Connect with us

देश

पूर्व सपा नेता सुरेन्द्र सिंह नागर और संजय सेठ ने थामा भाजपा का दामन

Published

on

नयी दिल्ली। समाजवादी पार्टी से दिग्गज नेताओं का पलायन जारी है। हाल ही में करीब आधा दर्जन नेताओं ने साइकिल का साथ छोड़ दिया है। धारा 370 को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव के रुख से नाराज सपा से राज्य सभा सांसद सुरेन्द्र सिंह नागर और संजय सेठ ने भी पिछले दिनों पार्टी और राज्य सभा से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद शनिवार को दोनों नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। नागर और सेठ ने भाजपा मुख्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। श्री नागर ने इस अवसर पर कहा कि भाजपा के सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास से प्रेरित होकर वह पार्टी में शामिल हुये हैं। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने संविधान के अनुच्देद 370 को हटाकर नया इतिहास रच दिया है। इस घटना ने उन्हें भाजपा में शामिल होने को प्रेरित किया। श्री सेठ ने कहा कि वह पार्टी की अपेक्षाओं को पूरा करने का प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़ें-‘कश्मीरी दुल्हन’ के चक्कर में बुरे फंसे हरियाणा के सीएम, दिल्ली महिला आयोग ने भेजा नोटिस

श्री नागर और श्री सेठ ने हाल ही में राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। श्री सेठ सपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष भी थे। श्री नागर दो बाद उत्तर प्रदेश में विधान परिषद के सदस्य और दो बार सांसद रहे हैं। इस मौके पर श्री यादव ने कहा कि श्री नागर जमीन से जुड़े कार्यकर्ता हैं तथा समाजिक न्याय की राजनीति करते रहे हैं। जबकि श्री सेठ समाजसेवा से जुड़े रहे हैं। इस अवसर पर सपा से भाजपा में पहले ही शामिल हो चुके नरेश अग्रवाल और नीरज शेखर भी उपस्थित थे। श्री नागर और श्री सेठ ने बाद में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की।http://www.satyodaya.com

देश

ऐतिहासिक आनंद भवन पर 4 करोड़ का हाउस टैक्स बकाया, नोटिस जारी

Published

on

प्रयागराज: प्रयागराज आजादी के आंदोलन में क्रांतिकारियों की कर्मस्थली रहा देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के आवास पर हाउस टैक्स का 4 करोड़ 33 लाख रूपया बकाया है जिसके लिये प्रयागराज नगर निगम ने नोटिस जारी की है । आनंद भवन के तहत इस मकान के अलावा जवाहर तारामंडल और स्वराज भवन भी आता है। इसका संचालन जवाहर लाल नेहरू मेमोरियल फंड करता है जिसकी अध्यक्ष कांग्रेस की वर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी है। मेमोरियल फंड में कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता सदस्य हैं।

यह भी पढ़ें: पीजीआई थाने में पुलिसकर्मियों और वकील के बीच तहरीर को लेकर हुई मारपीट…

निगम के मुख्य कर अधिकारी पी के मिश्र ने कहा कि भवन के व्यावसायिक इस्तेमाल से कर की रकम बढ़ गई है। मिश्र ने कहा कि आनंद भवन को दो सप्ताह पहले ही नोटिस जारी कर कर चुकाने को कहा गया है । नोटिस के जवाब में मेमोरियल फंड के सचिव एन बालाकृष्णन ने सर्वे की पूरी रिपोर्ट देने को कहा है । प्रयसगराज की मेयर अभिलाषा ने कहा कि मेमोरियल फंड को पूरी रिपोर्ट जल्द दे दी जायेगी ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नहीं जायेंगे अयोध्या, ये है बड़ी वजह

Published

on

लखनऊ: अयोध्या राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसले का शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने स्वागत किया था। जिसके बाद उन्होंने 24 नवंबर को अयोध्या जाने व रामलला के दर्शन करने का ऐलान किया था। वहीं अब महाराष्ट्र में सरकार बनने में हो रही देरी से ये यात्रा रद्द कर दी है।

बता दें कि उद्धव ठाकरे ने अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद कहा था कि वह 24 नवंबर को अयोध्या जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा था कि एक लंबे विवाद की समाप्ति हुई। भारत के इतिहास में आज का दिन सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। हर किसी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए। आज के दिन मैं बाल ठाकरे और अशोक सिंघल को याद कर रहा हूं। हम पहले भी अयोध्या गए थे, वहां पर पूजा भी की थी और 24 नवंबर को मैं अयोध्या जरूर जाऊंगा।

ये भी पढ़ें: जस्टिस बोबडे को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई 47वें CJI की शपथ…

इसी कड़ी में उद्धव ठाकरे ने कहा कि हर कोई सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश है। आज का दिन हिंदुस्तान के इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी से भी मुलाकात करेंगे। उन्होंने इसी दिन के लिए रथयात्रा निकाली थी, मैं उनसे जरूर मिलूंगा और उनका आशीर्वाद लूंगा। बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद उद्धव ठाकरे अपने नेताओं के साथ अयोध्या गए थे। इन दिनों भाजपा और शिव सेना के बीच घमासान मचा है। जहां एक तरफ दोनों पार्टियों ने महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव एक साथ लड़ा था। वहीं अब सरकार बनाने को लेकर दोनों पार्टियों के बीच तनातनी जारी है।  http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

जस्टिस बोबडे को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई 47वें CJI की शपथ…

Published

on

राम मंदिर

फाइल फोटो

नई दिल्ली। अयोध्या राम मंदिर पर ऐतिहासिक फैसला देने वाली पांच सदस्यीय संविधान पीट का हिस्सा रहे जस्टिस शरद अरविंद बोबडे सोमवार को भारत के 47वें चीफ जस्टिस (सीजेआई) के रूप में शपथ ली है। उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शपथ दिलाई। 63 वर्षीय जस्टिस बोबडे मौजूदा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई का स्थान लेंगे। सीजेआई के तौर पर जस्टिस बोबडे का कार्यकाल करीब 17 महीने का होगा और वह 23 अप्रैल, 2021 को सेवानिवृत्त होंगे। जानिए उनके अधिवक्ता से मुख्य न्यायाधीश बनने तक के सफर को।

आपको बता दें जस्टिस बोबडे का जन्म 24 अप्रैल 1956 को नागपुर में हुआ। उनके पिता फेमस वकील थे। उन्होंने नागपुर यूनिवर्सिटी से कला व कानून में स्नातक किया। 1978 में महाराष्ट्र बार काउंसिल में उन्होंने बतौर अधिवक्ता अपना पंजीकरण कराया।

राम मंदिर

हाईकोर्ट की नागपुर पीठ में 21 साल तक अपनी सेवाएं देने वाले जस्टिस बोबडे ने मार्च, 2000 में बॉम्बे हाईकोर्ट के अतिरिक्त जज के रूप में शपथ ली। 16 अक्टूबर 2012 को वह मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बने। 12 अप्रैल 2013 को उनकी पदोन्नति सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में हुई।

बोबडे ने सुनाए कई अहम फैसले

अयोध्या के अलावा जस्टिस बोबडे और भी कई महत्वपूर्ण मामलों पर फैसला देने वाली पीठ का हिस्सा रह चुके हैं। अगस्त, 2017 में तत्कालीन चीफ जस्टिस जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली 9  सदस्यीय संविधान पीठ का हिस्सा रहे जस्टिस बोबडे ने निजता के अधिकार को मौलिक अधिकार करार दिया था।

 बोबडे 2015 में उस तीन सदस्यीय पीठ में शामिल थे, जिसने स्पष्ट किया कि भारत के किसी भी नागरिक को आधार संख्या के अभाव में मूल सेवाओं और सरकारी सेवाओं से वंचित नहीं किया जा सकता। आपको बता दें बोबडे की अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय पीठ ने बीसीसीआई का प्रशासन देखने के लिए पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक विनोद राय की अध्यक्षता में बनाई गई प्रशासकों की समिति को निर्देश दिया कि वे निर्वाचित सदस्यों के लिए कार्यभार छोड़ें ।

ये भी पढ़ें:बीकानेर: बस और ट्रक में हुई जोरदार भिड़ंत, 10 की मौत 20 से ज्यादा घायल…

जस्टिस बोबडे ने उस तीन सदस्यीय इन हाउस जांच समिति की अध्यक्षता की थी, जिसने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पर एक महिलाकर्मी द्वारा लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप की जांच की। समिति ने चीफ जस्टिस गोगोई को क्लीन चिट दी थी। समिति में जस्टिस बोबडे के अलावा दो महिला जज जस्टिस इंदिरा बनर्जी और जस्टिस इंदु मल्होत्रा भी शामिल हुई थीं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 18, 2019, 2:21 pm
Partly sunny
Partly sunny
26°C
real feel: 26°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 41%
wind speed: 3 m/s NW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:58 am
sunset: 4:45 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending