Connect with us

देश

खुशखबरी! एक जून से चलने वाली ट्रेनों की आज से कीजिये बुकिंग, देखें पूरी लिस्ट

Published

on

लखनऊ: इंडियन रेलवे 1 जून से चलने वाली 200 यात्री पैसेंजर्स ट्रेनों की बुकिंग गुरुवार आज से शुरू करने जा रहा है। ये सभी  ट्रेनें टाइम टेबल के हिसाब से अलग-अलग शहरों में पटरियों पर दौड़ती नजर आएंगी। इससे अलग-अलग राज्यों में फंसे लोगों को अपने गृह स्थान तक पहुंचने में मदद मिलेगी और यात्रियों को फायदा होगा। ट्रेनों की बुकिंग 21 मई यानी आज सुबह 10 बजे शुरू होगी. इसके अलावा ये ट्रेनें वर्तमान में चल रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अलग होंगी।


​​​आपको बता दें 1 जून से चलने वाली इन ट्रेनों में सभी प्रकार के कोच होंगे, जिसमें ​1st ac, ​​2nd​ ​ac,​ 3rd ac   और स्लिपर कोच के साथ जनरल बोगी भी होगी। जनरल बोगी में यात्रा करने के लिए भी कन्फर्म टिकट लेना होगा। ट्रेन की कोई भी बोगी अनारक्षित नहीं होगी, सभी के लिए सीट के बराबर ही टिकट की बुकिंग होगी ताकि यात्रियों में दूरी बनी रहे।

​देखें ट्रेनों की पूरी लिस्ट ​

पहली लिस्टइंडियन रेलवे की तरफ से चलाई जाने वाली ​(ये 100 ट्रेनें अप एंड डाउन मिलाकर 200 हो जाएंगी) देशभर के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचेंगी।

दूसरी लिस्ट

रेल मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा, ‘रेलवे द्वारा 1 जून से 200 नॉन एसी ट्रेनों की शुरुआत की जाएगी, जो समय सारणी के अनुसार चलेंगी। यात्री इन ट्रेनों के लिये केवल ऑनलाइन टिकट बुक कर सकेंगे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
1 Comment

देश

राशिफल: सिंह राशि वालों को होगा धन लाभ, मीन राशि के लोगों के बढ़ेंगे खर्च

Published

on

राशि फलादेश मेष :-
(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)

राजकीय बाधा दूर होगी। आय में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यवसाय ठीक चलेगा। स्वयं व परिवार की स्वास्थ्य पर व्यय हो सकता है। देवदर्शन सुलभ होंगे। सत्संग का लाभ मिलेगा।

🐂 राशि फलादेश वृष :-
(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)
कारोबारी नए अनुबंध हो सकते हैं। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। ऐश्वर्य पर खर्च होगा। वरिष्ठजन सहयोग करेंगे। मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी। कार्यस्थल पर समयानुकूल परिवर्तन संभव है। तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। योजना फलीभूत होगी।

👫🏻 राशि फलादेश मिथुन :-
(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)

बाहरी मतभेद समाप्त होंगे। कोई बड़ी समस्या से सामना हो सकता है। समय अनुकूल है। ठीक होगा। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। घर-परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें: गर्मियों में ज्यादा ठंडा पानी पीना हो सकता हैं खतरनाक, हो सकती हैं ये समस्या

🦀 राशि फलादेश कर्क :-
(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

दूसरों से अपेक्षा न करें। तनाव व चिंता रहेंगे। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कुसंगति से हानि होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में कमी रहेगी। आंखों को चोट व रोग से बचाएं। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। फिजूलखर्ची से बजट बिगड़ेगा।

🦁 राशि फलादेश सिंह :-
(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
पारिवारिक सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। अज्ञात भय सताएगा। शारीरिक कष्ट संभव है। दूसरों की बातों में न आएं, हानि हो सकती है। नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय हो सकता है। बेरोजगारी की समस्या से छुटकारा मिलेगा। यात्रा लाभदायक रहेगी।

🙎🏻‍♀️ राशि फलादेश कन्या :-
(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)

पुराने भूले-बिसरे मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। मान बढ़ेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। धनार्जन होगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। राजकीय कोप भुगतना पड़ सकता है। जोखिम उठाने व जल्दबाजी करने से बचें। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा।

⚖ राशि फलादेश तुला :-
(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। परिवार के सदस्य सहयोग प्रदान करेंगे। अज्ञात भय सताएगा। मेहनत का फल पूरा-पूरा मिलगा। रुके कार्य पूर्ण होंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में इजाफा होगा। आलस्य हावी रहेगा। लाभ में वृद्धि होगी।

🦂 राशि फलादेश वृश्चिक :-
(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

स्वास्थ्य का ध्यान रखें। अपनों में से किसी का व्यवहार दिल पर चोट पहुंचा सकता है। व्यवसाय ठीक चलेगा। उच्चाधिकारी की प्रसन्नता का ख्याल रखें। अनावश्यक क्रोध न करें, बात बिगड़ सकती है। शोक समाचार मिल सकता है। भागदौड़ अधिक होगी।

🏹 राशि फलादेश धनु :-
(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)
ऐश्वर्य के साधनों पर खर्च होगा। मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता बनी रहेगी। वस्तुएं संभालकर रखें। रीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। रचनात्मक कार्य पूर्ण होंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। पीठ पीछे चु्गलखोर सक्रिय रहेंगे।

🐊 राशि फलादेश मकर :-
(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)
कार्य का बोझ स्वास्‍थ्य को प्रभावित कर सकता है। थकान रहेगी। वरिष्ठजन सहयोग करेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। प्रॉपर्टी के कार्यों के लिए समय अनुकूल है। रोजगार मिलेगा। आय में वृद्धि होगी।

🏺 राशि फलादेश कुंभ :-
(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
कार्य पर अधिक ध्यान देना पड़ेगा। राजकीय रुकावटें दूर होंगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। घर-परिवार के किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। रोमांस का अवसर नहीं मिलेगा।

🐋 राशि फलादेश मीन :-
(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)

घर-बाहर अशांति रह सकती है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। भाइयों से मतभेद बढ़ सकते हैं। नौकरी में कार्य का बोझ बढ़ सकता है। विवाद से बचें। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में विशेष सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

कोरोना से मरने वाले लोगों के शवों का सर्जिकल पोस्टमार्टम जरूरी नहीं: ICMR

Published

on

लखनऊ। कोरोना से होने वाली मौतों को लेकर भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने नई गाइडलाइन जारी की हैं। आईसीएमआर ने कहा है कि कोरोना से मरने वाले शवों का सर्जिकल पोस्टमार्टम कराना जरूरी नहीं है। आईसीएमआर ने कहा है कि महामारी से मरने वाले लोगों के शवों के फॉरेंसिक पोस्टमार्टम के लिए चीर-फाड़ करने वाली तकनीक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से मुर्दाघर के कर्मचारियों के अत्यधिक एहतियात बरतने के बावजूद शव में मौजूद द्रव तथा किसी तरह के स्राव के संपर्क में आने से इस जानलेवा रोग की चपेट में आने का खतरा हो सकता है। आईसीएमआर ने ‘भारत में कोविड-19 मौतों में चिकित्सा-विधान के लिए मानक दिशा निर्देशों’ में यह जानकारी दी है।

यह भी पढ़ें-विधानसभा के सभी अधिकारी व कर्मचारी डाउनलोड करें आरोग्य सेतु ऐप: स्पीकर

कहा है कि इससे शव के निस्तारण में डॉक्टरों, मुर्दाघर के कर्मचारियों, पुलिसकर्मियों और अन्य सभी लोगों में संक्रमण फैलने से रुकेगा। दिशा निर्देशों के अनुसार कोरोना वायरस के कारण अस्पताल तथा चिकित्सा निगरानी के तहत मौत का कोई भी मामला गैर-एमएलसी है। इसमें पोस्टमार्टम करने की आवश्यकता नहीं होती है। निर्देशों के तहत मौत का प्रमाणपत्र इलाज कर रहे डॉक्टर देंगे। कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के जो शव अस्पताल लाए जाते हैं उन्हें डॉक्टर आपात स्थिति में चिकित्सा-विधान मामले के तौर पर देख सकते हैं और उसे मुर्दाघर भेजा जाएगा तथा पुलिस को सूचित किया जाएगा। जिसके बाद पुलिस मौत की वजह जानने के लिए चिकित्सा-विधान पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर सकती है।

दिशा निर्देशों में कहा गया है कि इन मामलों में फॉरेंसिक पोस्टमार्टम की छूट दी जा सकती है। दुर्घटना या आत्महत्या से होने वाली मौत के मामलों में मृतक कोविड-19 से संक्रमित या संदिग्ध हो सकता है। अगर मरीज की अस्पताल में मौत हुई है तो फॉरेंसिक पोस्टमार्टम के लिए शव के साथ चिकित्सा रिकॉर्ड और अन्य सभी संबंधित दस्तावेज भी भेजे जाएं। जांच के बाद अगर किसी अपराध का संदेह नहीं है तो पुलिस के पास चिकित्सा-विधान पोस्टमार्टम से छूट देने का अधिकार है। आईसीएमआर ने कहा है कि जांच कर रहे पुलिस अधिकारी को महामारी के ऐसे हालात के दौरान अनावश्यक पोस्टमार्टम से छूट देने के लिए सक्रिय कदम उठाने चाहिए।

प्लास्टिक बैग को बिना खोले शव की पहचान की जाए

फॉरेंसिक पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के अनुसार सर्जिकल पोस्टमार्टम से बचने के लिए बाहरी जांच के साथ ही कई तस्वीरें लेनी चाहिए और मौखिक पोस्टर्माटम करना चाहिए। दिशा निर्देशों के मुताबिक अगर कोविड-19 जांच रिपोर्ट नहीं आई है तो शव को मुर्दाघर से तब तक नहीं निकालना चाहिए जब तक कि अंतिम रिपोर्ट न मिल जाए। सभी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद ही इसे जिला प्रशासन को सौंपना चाहिए। प्लास्टिक बैग को बिना खोले शव की पहचान की जाए और अधिकारियों की मौजूदगी में यह किया जाए।

शव दफनाएं तो सीमेंट का लेप जरूर लगाएं

इसमें कहा गया है कि शव के पास दो से अधिक रिश्तेदार नहीं होने चाहिए और उन्हें शव से कम से कम एक मीटर की दूरी बरतनी चाहिए। कानूनी प्रवर्तन एजेंसियों की मौजूदगी में शव को शवदाह गृह ले जाया जाए जहां मृतक के पांच से अधिक रिश्तेदार एकत्रित न हों। शव को मुर्दाघर ले जाते समय कर्मचारी पूरी तरह से निजी रक्षात्मक उपकरण (पीपीई) पहनें। अगर शव को दफनाया जाना है तो ऊपरी सतह पर सीमेंट का लेप होना चाहिए। दिशा निर्देशों में कहा गया है कि जितना संभव हो शव का इलेक्ट्रिक तरीके से अंतिम संस्कार करना चाहिए। ऐसे धार्मिक रीति-रिवाजों से बचना चाहिए जिसमें शव को छूना पड़ता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

देश में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटों में 5611 नए मामले, 1,06,750 तक पहुंची संख्या

Published

on

लखनऊ। भारत में कोरोना वायरस की एक दिन में अब तक की सबसे बड़ी उछाल देखने को मिली है। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 5,611 नए मामले सामने आए हैं, और करीब 140 लोगों की मौतें हुई हैं। बुधवार को जारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर करीब 106750 हो गए हैं और कोविड-19 से अब तक 3303 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना के कुल 106750 केसों में 61149 एक्टिव केस हैं, वहीं 42297 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है या फिर वह ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस से अब तक सर्वाधिक 1325 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 37136 हो गई है। तो चलिए जानते हैं टॉप 10 राज्य में क्या है कोरोना वायरस की स्थिति…. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की बड़ी तहाबी देखने को मिल रही है।

महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल 37136 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें से 9639 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 1325 लोगों की जान जा चुकी है।

वहीं दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार बढ़ते ही जा रही है। राजधानी में कोरोना वायरस के अब तक 10554 मामले आ चुके हैं। कोविड-19 महामारी से जहां 168 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 4750 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। महाराष्ट्र के बाद कोविड-19 ने सबसे ज्यादा गुजरात में तबाही मचाई है। गुजरात में कोरोना के 12 हजार मामले पार कर चुके हैं। यहां 12140 मामले अब तक आए हैं, जिनमें 719 लोगों की मौत हो चुकी है और 5043 लोग या तो स्वस्थ हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

मध्य प्रदेश में भी कोरोना वायरस का आंकड़ा बढ़ने से थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 5465 हो गई है, जिनमें से 258 लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसके अलावा, 2630 लोग ठीक हो चुके हैं। तमिलनाडु में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 12 हजार पार कर चुकी है। इस राज्य में अब तक 12448 कोरोना के मामले आ चुके हैं। यहां इस महामारी से 84 की मौत भी हो चुकी है और 4895 पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं।

इसे भी पढ़ें-स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन होंगे डब्ल्यूएचओ एग्जीक्यूटिव बोर्ड के अगले चेयरमैन

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के अब तक 2532 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 1621 लोगों का इलाज हो गया है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। यहां 52 की मौत भी हुई है। बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या 1500 के करीब पहुंच चुकी है। कोरोना वायरस के बिहार में अब तक 1498 मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि, बिहार में कोरोना वायरस से 9 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 534 लोग ठीक हो चुके हैं।

उत्तर प्रदेश: यूपी में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। अब तक यहां 4926 केस आ चुके हैं। हालांकि, इनमें से 2918 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं और 123 लोगों की मौत हो चुकी है।

राजस्थान में भी कोरोना के मामलो में काफी तेजी देखी जा रही है। यहां कोरोना वायरस के अब तक 5845 मामले सामने आ चुके हैं। 143 लोगों की मौत का मामला सामने आया है, वहीं 3337 लोग ठीक हो चुके हैं। बंगाल में भी कोरोना कहर बरपा रहा है। यहां कोरोना वायरस के अब तक 2961 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिनमें से 1074 की मौत हो चुकी है। इनमें से 250 लोग ठीक भी हो चुके हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 21, 2020, 10:57 am
Sunny
Sunny
32°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 55%
wind speed: 1 m/s SSE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 8
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:20 pm
 

Recent Posts

Trending