Connect with us

देश

पुत्र की लंबी उम्र के लिए रखा जाता है ‘हलछठ’ व्रत, जान लें व्रत नियम

Published

on

भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी को यह पर्व भगवान श्रीकृष्ण के ज्येष्ठ भ्राता श्री बलरामजी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन श्री बलरामजी का जन्म हुआ था। श्री बलरामजी का प्रधान शस्त्र हल तथा मूसल है। इसी कारण उन्हें हलधर भी कहा जाता है। उन्हीं के नाम पर इस पर्व का नाम ‘हल षष्ठी’ पड़ा। भारत के कुछ पूर्वी हिस्सों में इसे ‘ललई छठ’ भी कहा जाता है।

आप सोच में पड़ गए होंगे कि इसे आखिर हल छठ के नाम से क्‍यों पुकारा जाता है तो जान लें कि बलराम का प्रमुख शस्त्र हल है इसलिये इसे हल छठ कहा जाता है। बलराम शेषनाग के अवतार हैं। आज के दिन ब्रज, मथुरा और समस्त बलदेव मंदिरों में यह जयंती बड़े ही जोर शोर के साथ मनाई जाती है। यह दिन महिलाओं के लिये खास महत्‍व रखता है। इसको पूरे नियम के साथ रखने से पुत्र की प्राप्‍ति होती है।

हलछठ के व्रत नियम
बलराम जयंती का व्रत करने वाली महिलाओं को कई बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे हरछठ के व्रत में सिर्फ भैंस के दूध का इस्तेमाल किया जाता है। इस दिन आप भूलकर भी गाय के दूध से निर्मित किसी चीज का प्रयोग नहीं कर सकते हैं। इस दिन हल की पूजा की जाती है इसलिए कुछ भी ऐसी वस्तु नहीं खा सकते हैं जो हल से जोतकर न पैदा न हुई हो। साथ ही इस दिन आप फल भी नहीं खा सकते हैं। व्रत का समापन महिलाएं भैंस के दूध से बनी दही औ सूखे फूल को पलाश के पत्ते पर खाकर किया जाता है। क्योंकि हलछठ के दिन निर्जला व्रत रखने के बाद शाम को पसही के चावल या महुए का लाटा बनाकर पारण करने की मान्यता है

इस विधि से करें हल छठ की पूजा
-इस दिन महिलाएं सुबह उठ कर स्‍नान कर के बेटे की लंबी आयु की कामना करते हुए निर्जला व्रत रखती हैं।
-शाम के समय महिलाएं छोटा सा तालाब बनाकर हरछठ के झरबेरी, पलाश की टहनियों व कांस की डाल को एकसाथ बांधने के बाद चना, गेहूं, जौ, धान, अरहर, मूंग, मक्का व महुआ को बांस की -टोकनी या फिर चुकड़ी में भरकर दूध-दही, गंगा जल अर्पित करते हुए षष्ठी देवी की पूजा करती हैं।
– जमीन को साफ कर के वहां पूजा की चौकी बनाई जाती है। वहीं पर हरछ्ठ को लगा देते हैं। फिर कच्चे जनेउ का सूत हरछठ को पहनाते हैं।
-पूजन में सतनजा यानी गेहूं, चना, धान, मक्का, ज्वार, बाजरा और जौ सात प्रकार के अनाज का भुना हुआ लावा चढ़ाया जाता है।
-पूजा के बाद कथा सुनी जाती है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

दिल्ली विस चुनाव से पहले कांग्रेस के पूर्व विधायक शोएब इकबाल ने थामा ‘आप’ का दामन

Published

on

विधानसभा चुनाव

फाइल फोटो

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान होने के बाद एक बार फिर दिल्ली की राजनीति गर्म गई है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस के पूर्व विधायक शोएब इकबाल के आम आदमी पार्टी(आप) में शामिल होने पर सीएम अरविंद केजरीवाल पर तीखा वार किया है।

बता दें दिल्ली में सूबे की 70 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी को वोट डाले जाएंगे और नतीजों का ऐलान 11 फरवरी को किया जायेगा। ऐसे में मतदान की तारीख नजदीक आते ही नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला शुरू हो चुका है। कांग्रेस के पूर्व विधायक शोएब इकबाल ने गुरुवार आप का दामन थाम लिया है।

वहीं शोएब इकबाल के आप में शामिल होने पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। दिल्ली कांग्रेस के प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने कहा है कि चंद घंटे पहले तक एनआरसी और अन्य मुद्दों पर केजरीवाल को कोसने वाले शोएब इकबाल ने पार्टी टिकट कटने की वजह से पार्टी को छोड़ा है। उन्होंने दावा किया कि इसका विधानसभा चुनाव के नतीजों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। शर्मा ने कहा कि इकबाल को इस बात की जानकारी मिल चुकी थी कि पार्टी उन्हें स्थानीय जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के विरोध को देखते हुए विधानसभा चुनाव में टिकट न देने का मन बना रही है।जिसकी वजह से उन्होंने आम आदमी पार्टी में शामिल होने का फैसला किया।

ये भी पढ़ें:गाजियाबाद के नए SSP कलानिधि नैथानी ने लखनऊ वालों के लिए कही ये बात…

जानकारी के मुताबिक दिल्ली कांग्रेस के प्रवक्ता ने इकबाल की आलोचना करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक और अन्य मुद्दों पर आप में शामिल होने से चंद घंटे पहले तक पानी पी- पीकर सीएम अरविंद केजरीवाल को कोस रहे थे। अचानक उसी पार्टी में शामिल होने का निर्णय लेकर सभी को चौंका दिया है।इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इकबाल को जैसे ही टिकट के लिए मना किया जाता है, वह दूसरे दल का रास्ता पकड़ लेते हैं। ऐसा पहली बार नहीं किया है इससे पहले वह साल 1993 में जनता दल में थे और बाद में अन्य दलों में चले गए। इकबाल ने इस बार भी वही काम किया है।

इकबाल की पुरानी पार्टी ने उन पर हमला बोला, वहीं दिल्ली की सत्ता से 20 साल का वनवास समाप्त करने को पूरा जोर लगा रही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने भी इकबाल को नि बक्शा है।बीजेपी ने इकबाल को एक पुराने वीडियो के जरिए घेरा है। दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने शोएब और उनके पुत्र का एक पुराना वीडियो जारी किया और इकबाल पर देश के संविधान के खिलाफ बोलने का बड़ा आरोप लगाया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

गाजियाबाद के नए SSP कलानिधि नैथानी ने लखनऊ वालों के लिए कही ये बात…

Published

on

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है।  जिसमें 14 आईपीएस अधिकारियों सहित लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी का गाजियाबाद ट्रांसफर कर दिया है। गाजियाबाद के नवनियुक्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने शुक्रवार सुबह कमांड कार्यालय पहुंच कर कार्यभार संभाल लिया। एसएसपी को निवर्तमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने प्रभार सौंपा। सुधीर कुमार सिंह का गुरुवार को ही सेनानायक पीएसी आगरा के लिए स्थानांतरण हुआ है। 36 वर्षीय कलानिधि नैथानी 2010 बैच के आईपीएस अफसर हैं।

व्यवस्थित तरीके से अपराध पर नियंत्रण रखने वाले आईपीएस अधिकारी नैथानी मूल रूप से पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड के निवासी हैं। उन्होंने इससे पहले भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में वैज्ञानिक अधिकारी, भारत सरकार के सी-डॉट (सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स) बंगलुरु एवं दिल्ली में पांच साल तक रिसर्च इंजीनियर रह चुके हैं। वह लखनऊ, एसएसपी बरेली, एसपी पीलीभीत, एसपी कन्नौज, एसपी फतेहपुर, एसपी मीरजापुर, कमांडेंट 38 पीएसी अलीगढ़, कमांडेंट 9 पीएसी मुरादाबाद, पुलिस अधीक्षक पुलिस मुख्यालय तथा एएसपी कुंभ मेला और एएसपी सहारनपुर भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें: गुजरात: दलित लड़की का पेड़ से लटकता मिला शव, ट्वीटर पर न्याय की गुहार…

बता दें कि एसएसपी कलानिधि नैथानी ने अपने स्थानांतरण पर कार्य मुक्त होने से पूर्व लखनऊवासियों के लिए ट्विटर पर आभार सन्देश भी दिया। जिसमें उन्होंने कहा कि मैं अपने अधिनस्त पुलिस कर्मियों, वरिष्ठ अधिकारियों, लखनऊ वासियों, पत्रकार बंधुओं सभी के साथ और सहयोग के लिए हमेशा आभारी रहूंगा। विशेष तौर पर लखनऊ की महान जनता को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने कदम-कदम पर साथ दिया और अच्छा कार्य करने हेतु प्रेरित और प्रोत्साहित किया। लखनऊ में जनहित में कार्य करना मुझे बहुत अच्छा लगा और यहां के लोग व यादें हमेशा मेरे द्वारा प्रसन्नता के साथ रखी और स्मरण की जाएगीं। आप सब का कोटि कोटि धन्यवाद। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

मुंबई में शिवसेना ने जीता निकाय चुनाव

Published

on

मुंबई। 10 जनवरी शिवसेना ने उपनगरीय मानखुर्द में बृहन्मुंबई महानगरपालिका के वार्ड संख्या 141 का उपचुनाव जीत लिया। अधिकारियों ने बताया कि वार्ड में चुनाव बृहस्पतिवार को हुआ था और मतों की गिनती शुक्रवार को हुई।

यह भी पढ़ें:अनुराग कश्यप ने कहा, देशद्रोही हैं मुरली मनोहर जोशी, पाकिस्तान भेजो

शिवसेना के उम्मीदवार विट्ठल लोकारे ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी भाजपा के बबलू पंचाल को 1,385 मतों के अंतर से हराया। लोकारे को 4,427 वोट मिले जबकि भाजपा उम्मीदवर को 3,042 मत मिले।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 11, 2020, 10:36 am
Fog
Fog
10°C
real feel: 15°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:02 pm
 

Recent Posts

Trending