Connect with us

देश

हरियाणा बोर्ड ने जारी किया 10th का रिजल्ट, 57.39 प्रतिशत छात्र हुए पास

Published

on

आज हरियाणा बोर्ड ऑफ सकेंड्ररी एजुकेशन ने 10th का रिजल्ट जारी  कर दिया है। हरियाणा बोर्ड परीक्षा में चार छात्रों ने टॉप किया है हिमांशु, संजू, इशा  देवी और शालिनी को 500 में से 497 अंक मिले हैं। वहीं दूसरे पायदान पर भी 4 छात्र आए हैं। निधि, रितिका, तन्नू और दिव्या को 500 में से 496 अंक मिले हैं। इसी तरह तीसरे स्थान पर 8 छात्र हैं। इन्हें 500 में से 495 अंक मिले हैं। 

हरियाणा बोर्ड की 10th  की परीक्षा में इस बार 57.39 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। हरियाणा बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में कुल 3,64,967 छात्रों ने हिस्सा लिया था इसमें से 2.09,445 छात्र पास हुए हैं। 17,196 छात्रों की कंपार्टमेंट आई है। हरियाणा दसवीं की परीक्षा में एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है कुल 62.17% लड़कियां सफल हुई हैं जबकि 53.43% लड़के पास हुए हैं। छात्र परिणाम घोषित होने के 20 दिनों के भीतर रीएवोल्यूशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 
रिजल्ट को छात्र हरियाणा बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट bseh.org.in पर जाकर देख सकते हैं।

यह भी पढ़े: पुलिस भर्ती परीक्षा 2013 के अभ्यर्थियों ने की मांग, नियुक्ति नहीं तो इच्छा मृत्यु ही दे दी जाए…

 इसके अलावा कुछ थर्ड पार्टी वेबसाइट पर भी आप यह रिजल्ट देख सकते हैं। बता दें कि हरियाणा बोर्ड ने दसवीं कक्षा के एग्जाम्स का आयोजन 8 मार्च से 30 मार्च 2019 तक किया था। इस परीक्षा में करीब 4 लाख छात्रों ने हिस्सा लिया था। बोर्ड दसवीं कक्षा का परिणाम परीक्षा खत्म होने के 42 दिनों के भीतर कर रहा है। http://www.satyodaya.com


देश

#RajivGandhiJayanti सांप्रदायिक धुव्रीकरण और असहिष्णुता देश के लिए घातक : मनमोहन सिंह

Published

on

नयी दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने कहा है कि पिछले कुछ वर्षों में सांप्रदायिक धुव्रीकरण, असहिष्णुता और अप्रिय घटनाओं में वृद्धि हुई है जो देश की राजनीति के लिए नुकसानदेह है। मनमोहन सिंह ने यह बातें भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की 75वीं जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में कहीं। श्री सिंह ने कहा कि कुछ समेह देश में नफरत फैला रहे हैं, भीड़ कानून को अपने हाथ में ले रही है। यह न केवल चिंता का विषय है बल्कि ऐसी घटनाओं से देश कमजोर होगा। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसी घटनाएं राष्टीय एकता, अखण्डता और साम्प्रदायिक सौहार्द के खिलाफ हैं। #RajivGandhiJayanti

देश के विकास में राजीव गांधी के योगदान को याद करते हुए श्री सिंह ने उनकी पंक्तियों को पढ़ा, ‘देश की एकता एवं अखंड़ता से अधिक महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है। भारत एक अविभाज्य देश है और धर्मनिरपेक्षता हमारे राष्ट्रवाद की रीढ़ है। यह सहिष्णुता से अधिक मायने रखती है। कोई भी धर्म नफरत और असहिष्णुता नहीं सिखाता। घरेलू और बाहरी ताकतें देश को विभाजित करने के लिये हिंसा और साम्प्रदायिक तनाव को फैलाने की कोशिशें कर रही हैं।’ पूर्व प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि श्री गांधी के मूल्य दरअसल वहीं मूल्य थे जिससे राष्ट्रवाद परिभाषित होता था जिसमें एक धर्मनिरपेक्ष दृष्टिकोण था। साथ ही सहिष्णुता की भावना थी और साम्प्रदायिक सद्भाव के लिये प्रतिबद्धता थी। #Rajiv_Gandhi

यह भी पढ़ें-रामलला विराजमान के वकील ने कोर्ट के सामने रखे मंदिर के सुबूत

श्री सिंह ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि श्री गांधी को याद करने से मतलब केवल उनके व्यक्तित्व एवं योगदान को याद करना मात्र नहीं होना चाहिए बल्कि उनके मूल्यों का पालन करना भी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि श्री गांधी ने 21वीं सदी में देश को एक आधुनिक प्रगतिशील एवं वैज्ञानिक दृष्टि वाला राष्ट्र बनाया। इसके अलावा श्री गांधी ने सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार के माध्यम से जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूती प्रदान की और शिक्षा में काफी सुधार किया। साथ ही मिजोरम में उग्रवाद को भी समाप्त किया। इसी प्रकार उन्होंने चीन के साथ संवाद की प्रक्रिया भी शुरू की। इस अवसर पर श्री सिंह ने कुछ बुद्धिजीवियों एवं जानी-मानी हस्तियों को श्री गांधी स्मृति पुरुस्कार प्रदान किये।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा, जम्मू-कश्मीर भारत का आंतरिक मामला

Published

on

नई दिल्ली। भारत सरकार के जम्मू-कश्मीर के लिए विशेष प्रावधान यानि कि आर्टिकल 370 को हटाने के बाद पाकिस्तान पूरी दुनिया के आगे गिड़गिड़ा चुका है। लेकिन उसे कहीं से भी मदद नहीं मिली है। मंगलवार को अमेरिकी रक्षा मंत्री ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताकर भारत के रूख का समर्थन किया है। साथ ही कहा है कि भारत-पाक के बीच किसी भी मुद्दे का निपटारा द्विपक्षीय बातचीत के जरिए निपटाया जाना चाहिए।

अमेरिकी रक्षा मंत्री का यह बयान पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ टेलीफोन पर बातचीत के एक दिन बाद आया है। दरअसल, भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को अपने अमेरिकी समकक्ष डा. एस्पर से टेलीफोन पर बात की।

राजनाथ सिंह ने इस बातचीत में आतंकवाद का मुद्दा उठाया साथ ही अमेरिका के क्षेत्र में शांति तथा स्थिरता बनाए रखने के प्रयासों की सराहना की। रक्षा मंत्री सिंह ने कहा कि आर्टिकल 370 भारत का आंतरिक मामला है और यह फैसला जम्मू-कश्मीर की भलाई के लिए ही लिया गया है। इसका उद्देश्य इस प्रान्त में विकास तथा आर्थिक प्रगति लाना, लोकतंत्र को मजबूत करना तथा वहां के लोगों को समृद्ध बनाना है।

भारत का रूख का अमेरिकी रक्षा मंत्री डा. एस्पर ने समर्थन करते हुए यह बात स्वीकार की है कि आर्टिकल 370 भारत का आंतरिक मामला है। इसी के साथ उन्होंने उम्मीद जताई है कि भारत-पाक सभी मुद्दे को हल द्विपक्षीय बातचीत के जरिए ही निपटाएंगे।

बता दें, राजनाथ ने डा. एस्पर को अमेरिकी रक्षा मंत्री का पद संभालने पर बधाई दी। साथ ही दोनों देशों के साथ में मिलकर काम करने पर प्रसन्नता जताई। वहीं आगे भी कंधे से कंधा मिलाकर काम करने की अपनी वचनबद्धता भी दोहरायी है। उन्होंने सैन्य सहयोग, रक्षा नीति, अनुसंधान और विकास में सहयोग, रक्षा व्यापार, प्रौद्योगिकी और औद्योगिक सहयोग सहित विभिन्न मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान किया। इस वर्ष दोनों देशों की तीनों सेनाओं का संयुक्त सैन्य अभ्यास भी होना है। इसे लेकर भी बातचीत की गई है और हो रहीं तैयारियों पर संतोष व्यक्त किया है।

ये भी पढ़ें: गुलाम नबी आजाद नहीं पहुंच पाए जम्मू, एयरपोर्ट से ही दिल्ली भेजे गए

मोदी सरकार की महात्वाकांक्षी परियोजना मेक इन इंडिया को लेकर भी राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा कंपनियों को भारत के डिफेंस सेक्टर में निवेश करने के लिए आह्वान किया है। इसी के साथ-साथ दोनों मंत्रियों ने इस साल अमेरिका में होने वाले 2 प्लस 2 डायलाग को लेकर भी उत्साह प्रकट किया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

रामलला विराजमान के वकील ने कोर्ट के सामने रखे मंदिर के सुबूत

Published

on

नयी दिल्ली। अयोध्या राम जन्म भूमि विवाद को लेकर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सोमवार को इस मामले पर सुनवाई नहीं हो पाई थी। मंगलवार को सुनवाई शुरू होते ही रामलला विराजमान के वकील सीएस वैद्यनाथन ने पुरातत्व विभाग की खुदाई में मिले सबूत कोर्ट के सामने रखे। वैद्यनाथन ने दलील दी कि विवादित स्थल पर पहले मंदिर था। विवादित ढांचा मंदिर के अवशेष पर स्थापित किया गया फिर उसे ढहाकर।
रामलला विराजमान के वकील के वकील ने कहा कि मुस्लिम पक्ष ने पहले कहा था कि विवादित स्थल पर जमीन के नीचे कुछ नहीं था, लेकिन बाद में कहा कि वहां खुदाई में इस्लामिक ढांचा के अवशेष मिले हैं। जबकि पुरातत्व विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि विवादित स्थल के नीचे मंदिर के अवशेष मिले हैं, इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस रिपोर्ट को स्वीकार किया है। खुदाई में प्राप्त कलाकृतियों और दस्तावेजों से स्पष्ट है कि विवादित स्थल ही भगवान का जन्मस्थान है। उस स्थल की शुचिता और प्रवित्रता बरकरार रखनी चाहिए।
मंदिर की ऐतिहासिकता का प्रमाण देते हुए सीएस वैद्यनाथन ने कोर्ट को बताया कि आज कल लोग हवाई जहाज से लोग सबरीमाला जाते हैं और कुछ ही घण्टों में दर्शन करके लौटे आते हैं, लेकिन भगवान राम की जन्मभूमि के दर्शन के लोग सदियों से जाते हैं, जबकि उस दौर में सरयू और अन्य नदियों पर कोई पुल भी नहीं था।

यह भी पढ़ें-लोक मंगल दिवस पर महापौर ने सुनीं जनता की समस्याएं, अधिकारियों को निस्तारण के दिए निर्देश

रामलाल के वकील ने कोर्ट को बताया कि 12वीं शताब्दी में 1114 से लेकर 1155 ईसवी तक साकेत मंडल का राजा गोविंदचन्द्र था। उस समय अयोध्या ही उसकी राजधानी थी और यहां भगवान श्रीहरि विष्णु का भव्य मंदिर था, जिसकी पुष्टि पुरातत्वविदों ने भी की है। इसके अलावा समय-समय पर भारत भ्रमण पर आए अनेक विदेशियों ने भी अपनी किताब में उस स्थान पर भव्य मंदिर की बात कही है। श्री वैद्यनाथन ने एएसआई की रिपोर्ट का भी हवाला दिया। कहा कि एएसआई की रिपोर्ट में कछुआ और मगरमच्छों का भी उल्लेख है, मुस्लिम धर्म का इनसे कोई मतलब नहीं है। वैद्यनाथन ने कोर्ट को बताया कि 1992 में जब विवादित मस्जिद ढहाई गई तो उसमें से कुछ स्लैब गिर रहे थे जिन पर संस्कृत में कुछ लिखा गया था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 21, 2019, 3:21 am
Partly cloudy with thunderstorms
Partly cloudy with thunderstorms
26°C
real feel: 31°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 100%
wind speed: 2 m/s W
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:11 am
sunset: 6:08 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending