Connect with us

देश

झारखंड: पत्थलगढ़ी का विरोध करने पर उपमुखिया समेत 7 लोगों की हत्या, जंगल में फेंका शव

Published

on

झारखंड

फाइल फोटो

रांची। झारखंड के गुदड़ी के बुरुगुलीकेरा में उपमुखिया सहित 7 ग्रामीणों की हत्या से हर को सन्न है। पत्थलगढ़ी समर्थकों ने पत्थलगढ़ी का विरोध करने वालों की जंगल में ले जाकर सामूहिक हत्या कर दी। पश्चिम सिंहभूम जिले के गुदड़ी प्रखंड के गुलीकेरा ग्राम पंचायत में इस वीभत्स नरसंहार को अंजाम दिया गया है।

जंगल में फेंके गए मृतकों के शव

यह भयानक घटना गुलीकेरा ग्राम पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव की है। मृतकों में उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य 6  ग्रामीण शामिल हैं। मृतकों का शव गांव के पास स्थित जंगल में फेंक दिया गया है। यह दर्दनाक घटना रविवार देर रात को हुई है। इसके अलावा गांव के दो अन्य ग्रामीणों के गायब होने की भी बात सामने आई है। इन दो ग्रामीणों के भी हत्या किए जाने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि अभी पुलिस को इन दोनों की हत्या की सूचना नहीं मिली है।

ये भी पढ़ें:गोमती नगर इलाके का DCP पूर्वी सोमेन वर्मा ने किया औचक निरीक्षण….

पुलिस को सिर्फ उपमुखिया और अन्य छह ग्रामीणों के हत्या की ही सूचना मिली है। मंगलवार की दोपहर को हत्या की घटना की सूचना मिलने के बाद गुदड़ी थाना पुलिस सोनुवा की ओर से घटनास्थल पहुंचने की तैयारी कर रही है। घटनास्थल बुरुगुलीकेरा गांव सोनुआ से 35 किलोमीटर दूर सुदूर जंगल और घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में है। जिसकी वजह से पुलिस वहां पहुंचने में सुरक्षा के दृष्टिकोण से काफी सावधानी बरत रही है।

पत्थलगढ़ी समर्थकों ने दिया वारदात को अंजाम

गुदड़ी थाना प्रभारी अशोक कुमार से मिली जानकारी के मुताबिक पत्थलगढ़ी समर्थकों द्वारा रविवार को गांव में ग्रामीणों के साथ बैठक की गई थी। इस दौरान पत्थलगढ़ी समर्थकों ने पत्थलगढ़ी का विरोध करने वाले उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य 6 लोगों को पीटने लगे, जिसके बाद उनके परिजन वहां से डरकर भाग गए। जिसके बाद पत्थलगढ़ी समर्थक उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य छह लोगों को उठाकर जंगल की ओर ले गए। रविवार को उनके घर वापस नहीं लौटने पर सोमवार को उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य छह लोगों के परिजन गुदड़ी थाना पहुंचे। उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस मामले की छानबीन में लगी ही थी कि मंगलवार दोपहर को पुलिस को उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य छह लोगों की हत्या कर उनका शव जंगल में फेंके जाने की सूचना मिली। सूचना मिलने के बाद लोगों एम् हड़कंप मच गया।

पश्चिमी सिंहभूम जिला मुख्यालय से 35 किमी दूर हुई हत्या

पश्चिमी सिंहभूम जिले के चक्रधरपुर अनुमंडल के गुदड़ी प्रखंड के सोनवा में सामूहिक नरसंहार को अंजाम दिया गया है, एक साथ 7 लोगों की हत्या कर दी गई है| बताया गया है कि सभी मृतक पत्थलगड़ी करने का विरोध कर रहे थे| जानकारी के मुताबिक यह पश्‍च‍िम सिंहभूमि जिले के घोर नक्‍सल प्रभावित गुदड़ी प्रखंड की घटना है। हत्‍या सोमवार देर रात की गई है। इलाका दुरूह होने के कारण पुलिस को देर से जानकारी मिली। हालांकि पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। चक्रधरपुर के डीएसपी नाथू सिंह मीना पुलिस बल के साथ घटना स्‍थल की ओर रवाना हो गए हैं। कहा जा रहा है कि वह पास के सीआरपीएफ कैंप तक ही जाएंगे। अगर हत्‍या मैदानी इलाके में हुई होगी तो वहां तक पुलिस जाने का प्रयास करेगी। वहीं पहाड़ी क्षेत्र में हत्‍या हुई होगी तो पुलिस सुबह रवाना होगी।

घोर नक्सल प्रभावित इलाके की घटना

घटना स्‍थल कहां है अभी इसकी जानकारी नहीं मिल प् रही है। वैसे घटना सोनुवा थाना क्षेत्र में हुई है। घोर नक्‍सल प्रभावि‍त इलाका होने के कारण पुलिस भी अपने कदम फूंक फूंक कर उठा रही है।http://www.satyodaya.com

देश

विज्ञान दिवसः PM मोदी ने कहा- हमारे वैज्ञानिकों की शोध ने दुनिया को दिखाया रास्ता

Published

on

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के मौके पर शुक्रवार को वैज्ञानिकों को शुभकामनाएं दीं। मोदी ने ट्विटर पर अपने शुभकामना संदेश में लिखा, “राष्ट्रीय विज्ञान दिवस हमारे वैज्ञानिकों की प्रतिभा और दृढ़ता का सलाम करने का अवसर होता है। नवाचार के प्रति उनके उत्साह और अग्रणी शोध ने भारत और विश्व की मदद की है। मैं चाहता हूं कि भारतीय विज्ञान का विकास जारी रहे तथा हमारे युवा विज्ञान के प्रति और जिज्ञासा विकसित करें।

यह भी पढ़ें: प्रदेशकरोड़ों हड़पने वाले मुकेश सिंह के खिलाफ कानपुर के आठ लोगों ने दर्ज कराई FIR

उल्लेखनीय है कि प्रसिद्ध वैज्ञानिक सी. वी. रमन ने 28 फरवरी 1028 को रमन प्रभाव की खोज की थी, जिसके लिए उन्हें 1930 में उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। विज्ञान के प्रति युवाओं का ध्यान आकर्षित करने के लिए 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के तौर पर मनाया जाता है।

Continue Reading

देश

दिल्ली हिंसा: पार्षद ताहिर हुसैन पर हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का केस दर्ज

Published

on

नई दिल्ली: दिल्ली में जारी हिंसा के बीच आम आदमी पार्टी के निगम पार्षद हाजी ताहिर हुसैन के खिलाफ गुरुवार शाम दयालपुर थाने में हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का मामला दर्ज कर लिया गया है। इससे पहले आईबी के जवान अंकित शर्मा की हत्या के  बाद उनके परिजनों ने ताहिर पर ही हत्या करने का आरोप लगाया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अंकित शर्मा की हत्या चाकू मारकर की गई है। अंकित के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने ताहिर हुसैन व अन्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया। अब इस  पूरे हिंसा मामले की जांच अपराध शाखा की एसआईटी करेगी। 

यह भी पढ़ें: वित्तीय अनियमितता में फंसी भातखण्डे की कुलपति, राज्यपाल ने दिए जांच के आदेश

बता दें कि इससे पहले पुलिस ने गुरुवार को ताहिर के मकान की तलाशी ली। जहां मौके से घर की छत से पेट्रोल बम, गुलेल और तेजाब बरामद हुआ। उपद्रवियों ने ताहिर के मकान की छत से हमला किया। ताहिर ने बताया था कि कुछ लोगों ने जबरन उसकी छत पर कब्जा कर वारदात को अंजाम दिया।


साक्ष्यों से छेड़छाड़ की थी आशंका 

24 और 25 फरवरी को उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में दंगे भड़क गए थे। इस दौरान कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए जिसमें साफ दिख रहा था कि आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन उपद्रवियों के साथ बातचीत करते दिख रहे हैं।


ताहिर हुसैन ने किया आरोपों का खंडन किया

हिंसा मामले में अपना नाम सामने आने के बाद पार्षद ताहिर हुसैन ने इस पूरे घटना का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि जब उपद्रवी उनके घर के पास जमा होने लगे तो उन्होंने खुद इसकी सूचना पुलिस को दी और वह 24 तारीख को ही घर छोड़कर निकल गए थे।http://www.satyodaya.com 

Continue Reading

देश

दिल्ली हिंसा: केजरीवाल का ऐलान, मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवजा

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अब हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। हिंसा में कई लोगों की जान चली गई थी। वही एक पेट्रोल पंप और घर को आग के हवाले कर दिया गया था। जिसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि हिंसा में कमी आई है। इस हिंसा में सभी को नुकसान हुआ है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को हिंसा पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। राहत राशि का ऐलान करते हुए दिल्ली सरकार के मुखिया केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10 -10 लाख रुपया मुआवजा देने की बात कही है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार के फरिश्ते स्कीम के तहत सभी घायलों को मुफ्त चिकित्सा सुविधा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें:- आईआईटी कानपुर व ला ट्रोब यूनिवर्सिटी ने कानपुर में शुरू की रिसर्च एकेडमी

उन्होंने कहा कि मृतकों के साथ गंभीर रूप से घायल लोगों को 2 लाख और जिसका दंगे में घर दुकान जल गई हैं। उन्हें 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा साथ की हिंसा में अनाथ होने वाले बच्चों को 3-3 लाख मुआवजा दिया जाएगा। वहीं हिंसा में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का नाम सामने आ रहा है। जिस पर केजरीवाल ने कहा कि अगर आप का कोई नेता हिंसा में शामिल होने का दोषी पाया जाता है तो उसे दोगुनी सजा दी जाए। जो भी इस मामले में दोषी पाया जाए उसे कड़ी से कड़ी सजा मिले। राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 28, 2020, 11:00 pm
Fog
Fog
19°C
real feel: 19°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 77%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:02 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending