Connect with us

देश

जेपी नड्डा बने भाजपा के कार्यवाहक अध्यक्ष, अमित बने रहेंगे पार्टी के शाह

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में स्वास्थ्य मंत्री रहे जेपी नड्डा को पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। सोमवार को भाजपा संसदीय बोर्ड की हुई बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में नड्डा के नाम पर सहमति बनी। हालांकि पार्टी की असली ताकत अभी भी भाजपा के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह के हाथों में ही रहेगी। बताया जा रहा है कि अमित शाह अगले 6 महीने तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे। उनके मार्गदर्शन में ही जेपी नड्डा पार्टी के रोजाना के कामकाज को देखेंगे। फैसले की जानकारी देते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि भाजपा संसदीय बोर्ड ने जेपी नड्डा को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। इसके बाद पीएम मोदी, अमित शाह समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने नड्डा को बधाई दी।

बता दें कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में स्वास्थ्य मंत्री रहे नड्डा को इस बार सरकार में शामिल नहीं किया गया था। इसके बाद से ही माना जा रहा था कि पार्टी में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। राजनाथ सिंह ने पत्रकारों को बताया, बीजेपी ने अमित शाह के नेतृत्व में कई चुनावों में शानदार सफलता हासिल की है लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा उन्हें गृह मंत्री नियुक्त किए जाने के बाद उन्होंने (अमित शाह) ने खुद कहा था कि पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी और को दी जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें-…चाय बेंचने वाले पीएम मोदी को पंचर जोड़ने वाले सांसद ने दिलाई शपथ

जेपी नड्डा का पूरा नाम जय प्रकाश नड्डा है और वे हिमाचल प्रदेश के ब्राह्मण समुदाय से आते हैं। साफ-सुथरी छवि वाले नड्डा का जुड़ाव आरएसएस से भी रहा है। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली पहली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री भी रहे। नड्डा 16 साल की उम्र में छात्र राजनीति में उतरे और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गए थे। उस वक्त बिहार में छात्र आंदोल अपन चरम पर था और इसी बीच वह 1977 में पटना यूनिवर्सिटी में छात्र संघ चुनाव में सचिव चुने गए। जेपी नड्डा ने हिमाचल विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में 1994 से 1998 तक काम किया। इसके अलावां साल 2008 से 2010 तक हिमाचल सरकार में मंत्री रहे। फिर, 2012 में नड्डा को हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा सांसद चुनाव गया। जब नितिन गडकरी भाजपा अध्यक्ष थे तब वह पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रवक्ता रहे। जेपी नड्डा को पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह का करीबी माना जाता है। http://www.satyodaya.com

देश

खुलेआम घूम रहे बलात्कारियों को मिलनी चाहिए सजा : अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज

Published

on

लखनऊ। अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज,वर्तिका सिंह पूर्व राष्ट्रपति स्वर्ण पदक से सम्मानित व दिल्ली विश्वविद्यालय के इन्द्रप्रस्थ कॉलेज की पूर्व छात्राध्यक्ष ने आज लखनऊ के एक होटल में प्रेस वार्ता कर महिलाओं के सशक्तिकरण शोषण, देश में महिलाओं के साथ आये दिन हो रहे बलात्कार जैसे मुद्दे पर बोलते हुए सरकार से सात सूत्री मांगों को पूरा करने का आग्रह किया ।

उन्होनें कहा कि जो बलात्कारी सरेआम घूम रहा अगर उनपर सरकार कोई कार्यवाई न कर पाए तो हमें बताए । मैं एक अंतर्राष्ट्रीय शूटर हूं बलात्कारियों को मैं खुद शूट कर सकती हूं ।
एक अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज हूं और देश के नागरिक होने के नाते मेरा यह कर्तव्य है कि अगर किसी लड़की के साथ इस प्रकार का कुकृत्य सामने आता है तो उसको इंसाफ दिलाने के लिए आवाज बुलंद करूं। बलात्कारियों को खुलेआम सजा मिलनी चाहिए, ताकि जनता में यह संदेश पहुंच सके कि यदि ऐसा कोई भी अपराध किया तो हश्र बुरा होगा।

महिलाओं को इतना सशक्त बनाने का प्रावधान किया जाए कि किसी भी प्रकार की विषम परिस्थितियों में एक महिला किसी से भी निपट सके। सिर्फ “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का नारा देने से काम नहीं चलेगा बेटियां तभी बचेगी जब उनको आरक्षण से सशक्तिकरण की तरफ ले जाया जाएगा।

न्याय मिलने में इतना समय क्यों? ज्यादा समय देकर अपराधी को सबूत मिटाने का अवसर मिल जाता है। अपराधियों को अधिकतम 3 महीने के अंदर सजा देने का प्रावधान किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: समान कार्य-समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओं को लेकर विद्धुत संविदा कर्मियों का धरना-प्रदर्शन

महिला हेल्पलाइन नंबर 1090 और पुलिस हेल्पलाइन नंबर 100 को सीधा सरकार अपनी निगरानी में कर ले क्योंकि अधिकतर मामलों में 1090 या डायल 100 की तरफ से समुचित रूप से मदद नहीं मिल पाती। इसीलिए अपराधी और भी बेखौफ और बेलगाम हो चुके हैं। हर जिले में शूटिंग रेंज होनी चाहिए। मैंने उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को इसके पूर्व भी इस बाबत एक पत्र लिखा है जिससे पुनः उनको अवगत कराना है।

हमें लगता है कि सरकार की तरफ से कोई न कोई त्वरित कार्यवाही देखने को मिलेगी ताकि भविष्य में लड़कियों के साथ हो रहे घिनौने कुकृत्य को रोकने में सहायता मिल सके।http://WWW.SATYODA.COM

Continue Reading

देश

कल्बे जव्वाद ने सरकार को लिया आड़े हाथ, कहा- पहले करवाती थी एनकाउंटर अब करा रही है मॉब लिंचिंग

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । ऐतिहासिक आसिफी मस्जिद से वरिष्ठ शिया धर्मगुरु ने जुमे के खुतबे में मौलाना कल्बे जावाद ने जताई चिंता जताते हुए शिया समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की शर्मनाक है । पहले इनकॉउंटर के जरिए मारा जाता था । अब मॉब लिंचिंग के जरिये लोगो को मारा जा रहा है । जो लोग मॉब लिंचिंग में मुब्तला है वो हिंदुस्तान के दोस्त नही दुश्मन हैं । ऐसे वाकिये मुल्क और सरकार को बदनाम कर रहे हैं ।

मौलाना कल्बे जव्वाद ने देश के विभिन्न हिस्सों में घट रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं को गंभीर अपराध बताया है । ऐसा प्रतीत हो रहा है कि खुद को आधुनिक कहने वाले लोग मध्य युग में रह रहे हैं । बाबरी मस्जिद और राम मंदिर को धार्मिक मसला बताया । कहा कि नेताओं को इससे दूर रखें ।

यह भी पढ़ें: वांछित चोर को पुलिस ने किया गिरफ्तार…

उन्होंने झारखंड में मुस्लिम युवक को पीट-पीटकर मार डालने की घटना पर चिंता जताया । कहा कि अब सरकार एनकाउंटर नहीं कर रही है बल्कि खामोश तरीके से जनता को कानून हाथ में लेने के लिए प्रेरित कर रही है । उन्होंने कहा कि अपने को सभ्य कहने वाले लोग कहा हैं ।
किसी को घेरकर मार देना आदिकाल की याद दिलाता है हम लोग नए दौर की बात करते हैं लेकिन काम मध्य युग का कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि हुकूमत कोई भी हो मुसलमान के साथ जुल्म ज्यादती खत्म नहीं हुई है । सपा सरकार में भी तमाम एनकाउंटर में मुस्लिम युवाओं को मारा गया। http://WWW.SATYODAYA.COM

Continue Reading

देश

आतंकवाद और कश्मीर समस्या नेहरू की देन, कांग्रेस ने कराया देश का बंटवारा : गृहमंत्री

Published

on

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में राष्टपति बढ़ाने का प्रस्ताव शुक्रवार को लोकसभा में रखा। अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अभी विधानसभा चुनाव कराने का माहौल नहीं है, इसलिए 6 महीने के लिए और राष्ट्रपति शासन बढ़ाया जाए। गृहमंत्री के इस प्रस्ताव का कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने विरोध किया। अमित शाह ने कहा कि 2 जुलाई को राष्टपति शासन लगने के छह माह पूरे हो रहे हैं। लेकिन राज्य में अभी भी चुनावों के लिए उपयुक्त हालात नहीं हैं। इसलिए इस राष्ट्रपति शासन को बढ़ाया जाए क्योंकि वहां विधानसभा अस्तित्व में नहीं है। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी के विरोध पर अमित शाह ने उन्हें जमकर खरी-खरी सुनाई। अमित शाह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए भारत-पाकिस्तान बंटवारा, आतंकवाद और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के चले जाने के पीछे तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया। जिसके बाद कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में जमकर हंगामा किया।

यह भी पढ़ें-बच्चों को यौन हिंसा के बारे में खुलकर बताएं माता-पिता : केशव प्रसाद मौर्य

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस की वजह से देश का बंटवारा धर्म के आधार पर हुआ। अगर कांग्रेस ऐसा न करती तो आज आतंकवाद का मुद्दा ही न होता और न ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर हमसे अलग होता। शाह ने कहा कि कांग्रेस हमें इतिहास न सिखाए।
अमित शाह ने याद दिलाते हुए कहा कि आजादी के समय देश भर में 600 से अधिक रजवाड़े थे लेकिन तब गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल ने हर रियासत को हिंदुस्तान में शामिल करवाया। हैदराबाद और जूनागढ़ की रियासत, हिंदुस्तान में आने से इनकार कर रही थीं लेकिन ये मुद्दा सरदार पटेल के पास था इसलिए कोई दिक्कत नहीं हुई। #Terrorism
इसी दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर का मुद्दा आखिर किसके पास था, आज वहां धारा 370 लगी है। बस अमित शाह के इतना कहते ही कांग्रेस के सांसदों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और अमित शाह का विरोध करने लगे।#Section 370


गृहमंत्री भी अपनी रौ में थे, हंगामे के बावजूद वह अपनी बात पूरी करके ही रुके। अमित शाह कहा कि हम उनका नाम क्यों न लें, जब उनकी ही गलती को आज पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है। इस बीच कांग्रेस के लगातार हंगामे के बाद अमित शाह ने कहा कि चलिए, हम उनका नाम नहीं लेते हैं। लेकिन शाह ने उनके लिए पहले प्रधानमंत्री शब्द का इस्तेमाल किया और इस पर भी बवाल हो गया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 29, 2019, 9:21 am
Partly sunny
Partly sunny
35°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 43%
wind speed: 3 m/s WNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending