Connect with us

देश

कर्नाटक: इस्तीफे देने पर अड़े 15 बागी विधायकों की अर्जी पर आज SC करेगा सुनवाई….

Published

on

बागी विधायकों

फाइल फोटो

नई दिल्ली। कर्नाटक में बागी विधायकों का नाटक लगातार जारी है। वहीं इस सियासी राजनीति के बीच मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने बागी विधायकों की अर्जी पर सुनवाई शुरू कर दी है। कोर्ट में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने मुकुल रोहतगी से विधायकों के इस्तीफे की तारीख पूछी है। इसके अलावा उन्हें अयोग्य करार दिए जाने की तारीख भी पूछी है।

जिसके बाद बागी विधायकों की ओर से पेश हुए वकील मुकुल रोहतगी ने कहा, ‘अगर कोई विधायक नहीं रहना चाहता है, तो कोई जबरदस्ती नहीं कर सकता है। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि विधायकों ने इस्तीफा देने का फैसला किया और वापस जनता के बीच जाने की ठानी है। ऐसे में अयोग्य साबित करना इनकी इच्छा के विरुद्ध होगा।

बागी विधायकों के वकील ने वकील रोहतगी ने कहा कि जिन विधायकों ने याचिका डाली है अगर उनकी मांग पूरी होती है तो कर्नाटक की सरकार गिर जाएगी। स्पीकर जबरदस्ती इस्तीफा नहीं रोक सकते हैं। इसी दौरान चीफ जस्टिस ने मुकुल रोहतगी से अयोग्य करार दिए जाने के नियमों के बारे में भी पूछा है।

ये भी पढ़े:दिल्ली पुलिस ने 2 लाख के इनामी जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी को किया गिरफ्तार…

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस-जेडीएस सरकार के 15 विधायकों ने अपने इस्तीफे को लेकर शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी। कर्नाटक के कुल बागी विधायकों में से 10 ने अपने इस्तीफे को लेकर 12 जुलाई को कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। उन सभी विधायकों का स्पीकर पर आरोप था कि बिना किसी वजह के वह उनके इस्तीफे की मंजूरी में देरी कर रहे हैं। वहीं, सोमवार को 5 विधायकों में आनंद सिंह, के सुधाकर, एन नागराज, मुनिरत्ना और रोशन बेग ने कोर्ट में याचिका दाखिल की हैं।

वहीं इस इस्तीफे की पेशकश में सुप्रीम कोर्ट ने 10 विधायकों की याचिकाएं लेकर स्पीकर केआर रमेश को 16 जुलाई तक अपने इस्तीफे और अयोग्यता पर यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा है। वहीं, कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने जानकारी दी कि कर्नाटक विधानसभा में 18 जुलाई गुरुवार को फ्लोर टेस्ट किया जाएगा।

बता दें इन सभी बागी विधायकों की याचिकाओं पर कोर्ट एक साथ सुनवाई करेगा। ये सभी विधायक कोर्ट से उनका इस्तीफा स्वीकार करने के लिए कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष को निर्देश देने की मांग कर रहे हैं। वहीं बागी विधायकों ने साफ शब्दों में ऐलान किया है कि वह सभी लोग एक साथ और अपने इस्तीफे पर अडिग हैं।

गिर सकती हैं कुमारस्वामी की सरकार

बागी विधायकों के इस्तीफे देने के फैसले के बाद कर्नाटक सरकार गिरने के कगार है, क्योंकि इसके 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। इनमें से 13 विधायक कांग्रेस के हैं और 3 विधायक जेडीएस के हैं। 2 निर्दलीय उम्मदीवारों ने भी सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है।http://www.satyodaya.com

देश

जम्मू कश्मीर में अपना एजेंडा फेल होते देख परेशान है पाकिस्तान : भारत

Published

on

नयी दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि वह जम्मू-कश्मीर पर नयी हकीकत को स्वीकार करते हुए भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने की कोशिश न करे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आज यहां नियमित ब्रीफिंग में संवाददाताओं के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि पाकिस्तान परेशान है। उसे लग रहा है कि अब जम्मू-कश्मीर को लेकर उसकी साजिशें सफल नहीं होगी और लोगों को गुमराह करने का उसका एजेन्डा आगे नहीं बढ पायेगा। इसलिए वह दुनिया के सामने चिंताजनक तस्वीर पेश कर भय का माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है। वह ऐसे मामलों को इस घटनाक्रम से जोड़ रहा है जिनका इससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के बारे में निर्णय संविधान के अनुसार किये गये हैं और यह भारत का आंतरिक मामला है। इस निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आयेंगे।

यह भी पढ़ें-जम्मू कश्मीर: फोन व इंटरनेट सेवा बहाल, मस्जिदों में उमड़ी भीड़, स्कूलों व बाजारों में दिखी रौनक

प्रवक्ता ने कहा कि केन्द्र सरकार के निर्णयों से जम्मू-कश्मीर में विकास की गति तेज होगी जिससे वहां के युवाओं को भ्रमित करने का पाकिस्तान का एजेन्डा विफल हो जायेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को नयी हकीकत को स्वीकार कर भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने की कोशिश से बाज आना चाहिए।
एक अन्य सवाल के जवाब में श्री कुमार ने कहा कि पाकिस्तान ने जो भी कदम उठाये हैं वे एकतरफा हैं और इससे पहले भारत के साथ सलाह नहीं की गयी। ये कदम दुर्भाग्यपूर्ण और खेदजनक हैं। भारत ने उससे इन निर्णयों पर पुनर्विचार करने को कहा है। भारत को उम्मीद है कि पाकिस्तान इस बात पर विचार करेगा और महत्वपूर्ण लंबित मुद्दों का समाधान करेगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना का पंजीयन शुरू, इन किसानों को मिलेगा लाभ

Published

on

नई दिल्ली। देश में छोटी जोत रखने वाले किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान मानधन पेंशन योजना के लिए आज से पंजीयन का कार्य शुरु हो गया। इसके तहत 2 हेक्टेयर तक जमीन रखने वाले किसानों को साठ साल के बाद पेशन की सुविधा मिलेगी।

कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि छोटे और सीमांत किसान जीवनभर खेती करते हैं और अंत में उनके पास कुछ नहीं बचता है जिसके कारण ऐसे लोगों को सामाजिक सुरक्षा देना जरुरी हो गया था।

ये भी पढ़ें: ‘नबी’ के बाद ‘सीताराम’ भी हिरासत में, नहीं पहुंच पाए श्रीनगर

इनको किसानों को मिलेगा लाभ

इस योजना के तहत किसानों को साठ साल की आयु के बाद प्रति माह 3000 रुपये पेंशन दी जाएगी। साथ ही अगर किसी किसान की मौत हो जाती है तो उसकी 1500 रुपये प्रति माह उसकी पत्नी को पेंशन मिलेगी। इस योजना का लाभ उन छोटे और सीमांत किसानों को मिलेगा जिनकी उम्र 18 साल से 40 साल तक की है।

उम्र के हिसाब से भरना होगा प्रीमियम

इस पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए अठारह साल की आयु वाले किसानों को प्रति माह 55 रुपये और 40 साल की आयु वाले किसानों को प्रति माह 200 रुपये प्रीमियम देना होगा। किसानों की ओर जो राशि जमा की जाएगी उतनी ही राशि उसमें सरकार भी जमा करेगी। यह स्वैच्छिक पेंशन योजना है और कोई किसान बीच में इस योजना से निकलना चाहेगा तो उसकी जमा राशि को ब्याज के साथ लौटाया जायेगा। बता दें, इस योजना के तहत पांच साल तक नियमित रुप से अंशदान करना होगा इसके बाद ही इससे अलग हुआ जा सकता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

‘नबी’ के बाद ‘सीताराम’ भी हिरासत में, नहीं पहुंच पाए श्रीनगर

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बाद अब सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई महासचिव डी राजा को भी श्रीनगर में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली। शुक्रवार को वाम दलों के नेता अपने पार्टी सहयोगियों से मिलने श्रीनगर जाना चाह रहे थे लेकिन एयरपोर्ट पर ही दोनों को हिरासत में ले लिया गया।

येचुरी ने जानकारी दी कि,‘उन्होंने हमें श्रीनगर में किसी को भी प्रवेश न देने संबधी एक आदेश दिखाया। जिसमें कहा गया था कि सुरक्षा कारणों से पुलिस संरक्षण में भी शहर में जाने की अनुमति नहीं है। हम अब भी उनसे बातचीत करने का प्रयास कर रहे हैं।’

बता दें, सीपीआई(एम) ने भी ट्वीट कर विरोध जताया है। पार्टी की तरफ कहा गया कि , ‘सीताराम येचुरी को श्रीनगर हवाई अड्डे पर हिरासत में रखा गया है और उन्हें कहीं भी नहीं जाने दिया जा रहा। उन्होंने पहले प्रशासन को सूचित किया था कि वह सीपीआईएम विधायक एमवाई तारिगामी से मिलने जाएंगे, जिनकी तबीयत खराब है। इसके अलावा उन्होंने बाकी पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने की भी जानकारी दी थी। हम अवैध रूप से उन्हें हिरासत में लिए जाने का कठोर विरोध करते हैं।’

इसके बाद सीताराम येचुरी ने भी ट्वीट किया और सरकार की कार्रवाई को उनके मूलभूत अधिकारों को उल्लंघन बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि हम केंद्र द्वारा बुनियादी स्वतंत्रता के इस दमन का कड़ा विरोध करते हैं और कश्मीर के लोगों के साथ मजबूती से खड़े हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 9, 2019, 11:11 pm
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 94%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:05 am
sunset: 6:19 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending