Connect with us

देश

मिशन 2019 से पहले ममता को लगा झटका, उनके करीबी नेता अनुपम हाजरा ने इस पार्टी का थामा हाथ  

Published

on

लोकसभा

फाइल फोटो

कोलकाता। लोकसभा 2019 के चुनाव के डेट आते ही पार्टियों में खलबली मच गई है। ऐसे में पार्टी के नेता व विधायक अपने पार्टी का साथ छोड़ दूसरी पार्टियों में शामिल होकर मिशन 2019 में अपनी जीत दर्ज करना चाहते हैं। हाल ही में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को बड़ा झटका लगा है। टीएमसी से निकाले जाने के बाद सांसद अनुपम हाजरा और पश्चिम बंगाल के 2 वर्तमान विधायक ने मंगलवार को बीजेपी का दामन थाम लिया है।

लोकसभा

आपको बता दें हाजरा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल के बोलपुर से अपनी जीता का झंडा गाड़ा था। टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं को गद्दार कहा है। हाजरा भाजपा मुख्यालय में पार्टी महासचिव एवं पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हुए। आपको बता दें तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए हाजरा को 9 जनवरी को पार्टी से निकाल दिया था।

बस टीएमसी के ही नेताओं ने नहीं बल्कि बगदा से कांग्रेस विधायक दुलाल चंद्र बर और हबीबपुर से माकपा विधायक खगेन मुर्मू ने भी अपनी पार्टी को झटका देते हुए बीजेपी में शामिल हो गए। इन 3 नेताओं के अलावा बंगाल से एक अल्पसंख्यक समुदाय के विभिन्न सदस्य भी भाजपा में शामिल हुए।

ये भी पढ़े: कांग्रेस महासचिव बनने के बाद पहले भाषण में प्रियंका ने मोदी सरकार पर जमकर किया कटाक्ष, मांगा पांच साल का हिसाब…

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कुछ ‘गद्दार’ नेता  भाजपा में शामिल हो रहे हैं और लोग उन्हें करारा जवाब देंगे। उन्होंने ये भी कहा कि, ‘भाजपा के पास चुनाव लड़ने के लिए लोग नहीं हैं, इसलिए वह सभी पार्टियों के नेताओं से गुहार लगा रहे हैं कि कोई तो उनकी टिकट पर चुनाव लड़ ले। ममता ने कहा सबसे पहले गद्दार मुकुल रॉय उनके साथ गया था और अब वह सभी गद्दारों को शामिल कर रहे हैं।’

ऐसे में मुकुल रॉय ने भी टीएमसी प्रमुख ममता पर तंज कसते हुए दावा किया कि राज्य में उनके खिलाफ एक लहर दौड़ रही है। उन्होंने कहा अभी इतना ही नहीं उनकी पार्टी से और भी कई नेताओं की  भाजपा में शामिल होने की उम्मीद है। उन्होंने दावा किया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के शासन में राज्य में संवैधानिक व्यवस्था चरमरा गई है और कई नेता उनकी पार्टी छोड़ रहे हैं। वही लोग अब पश्चिम बंगाल के हित में बीजेपी में शामिल होकर अपनी जीत के झंडे लहराएंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

दिल्ली हिंसा: अजीत डोभाल ने संभाली कमान, प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

Published

on

लखनऊ। दिल्ली में जारी हिंसा को हैंडिल करने के लिए अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल खुद मैदान में उतरेंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अजीत डोभाल को सरकार ने पूरी छूट भी दी है। ताकि हिंसा थामने के लिए किसी तरह की कोई समस्या न आए। पिछले तीन दिन से दिल्ली में जारी हिंसा में भारी पैमाने पर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाया गया है। हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा भी 20 पर पहुँच गया है। 22 फरवरी से शुरू हुआ बवाल धीरे-धीरे हिंसक टकराव में बदल चुका है। सड़कों पर दंगाइयों की भारी भीड़ के आगे दिल्ली पुलिस भी खुद को बेबस पा रही है। इसी का नतीजा है कि दंगा थमने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। #DelhiCAAClashes #delhivoilence

अजीत डोभाल सीधे प्रधानमंत्री और कैबिनेट को अपनी रिपोर्ट देंगे। अमेरिकी राष्टपति डोनाल्ड टंप के जाते ही डोभाल ने मंगलवार रात से ही मोर्चा भी संभाल लिया। रात करीब 12ः30 बजे डोभाल ने हिंसा प्रभावित जाफराबाद और सीलमपुर का दौरा किया। एनएसए ने मुस्तफाबाद हिंसा में घायल लोगों को बड़े हास्पिटल में भेजने का निर्देश दिया है। डोभाल के साथ दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डोभाल ने एक मीटिंग में दिल्ली पुलिस को साफ कह दिया है कि किसी भी कीमत पर अब हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो भी दंगा करते हुए पकड़ा जाए, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें-दिल्ली हिंसा पर हाईकोर्ट आज करेगा सुनवाई, पुलिस अफसर भी तलब

उधर गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार सुबह हिंसा में गंभीर रूप से घायल दिल्ली पुलिस के डीसीपी अमित शर्मा के परिजनों से बात की। साथ ही डीसीपी के स्वास्थ्य के बारे में हाल-चाल जाना। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा पर काबू पाने के लिए अमित शाह ने मंगलवार रात तक करीब 24 घण्टे के अंदर 3 बैठकें की। इन बैठकों के बाद ही अजीत डोभाल देर रात हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

दिल्ली हिंसा पर हाईकोर्ट आज करेगा सुनवाई, पुलिस अफसर भी तलब

Published

on

सामाजिक कार्यकर्ता ने अपनी याचिका में भाजपा नेताओं पर लगाया आरोप

लखनऊ। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जारी हिंसा को लेकर हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। नागरिकता कानून को विरोध में 22 फरवरी से शुरू हुआ बवाल तीन दिन गुजरने के बाद भी थमा नहीं है। दिल्ली के कई इलाकों में लगातार पथराव, आगजनी और फायरिंग हो रही है। हिंसा में अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है। सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर की याचिका पर सुनवाई के लिए हाईकोर्ट ने बुधवार 12.30 बजे का समय निर्धारित किया है। कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कहा कि है कि सुनवाई के समय कोर्ट रूम में वरिष्ठ पुलिस अफसर भी मौजूद रहें। हर्ष मंदर ने अपनी याचिका में भाजपा नेता कपिल मिश्रा, केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा पर दंगा भड़काने का आरोप लगाया है। याचिका में मांग की गयी है कि इन सभी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की जाए।

यह भी पढ़ें-भाकपा ने अलीगढ़ व दिल्ली की हिंसा पर चिंता व्यक्त की

याचिका में यह भी मांग की गयी है कि उत्तर- पूर्वी जिले में हुई हिंसा की जांच के लिए एक विशेष जांच दल गठित किया जाए। साथ हिंसा में मारे गए और घायलों के लिए उचित मुआवजा, महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा, हिरासत में लिए गए लोगों को कानूनी सहायता, प्रभावित क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे लगाने और हिंसाग्रस्त क्षेत्र में सेना की तैनाती करने की मांग की गयी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

17 राज्यों की 55 राज्यसभा सीटों पर 26 मार्च को होगा चुनाव

Published

on

नई दिल्ली: राज्यसभा की अप्रैल में रिक्त हो रही 55 सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होंगे। चुनाव आयोग ने बताया है कि 17 राज्यों से चुने गए राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल अप्रैल में समाप्त हो रहा है। इनमें उपसभापति हरिवंश, मोतीलाल वोरा, रामदास आठवले, दिग्विजय सिंह, डॉ संजय सिंह, कुमारी शैलजा, विजय गोयल, प्रेमचंद गुप्ता, तिरुचि शिवा आदि प्रमुख हैं।

आयोग के मुताबिक, चुनाव की अधिसूचना 6 मार्च को जारी होगी और 13 मार्च को नामांकन होगा। 16 मार्च को नामंकन पत्रों की जांच व 18 मार्च को नाम वापस लेने की अंतिम तारीख होगी। जिसके बाद 26 मार्च को सुबह 9 बजे से लेकर शाम चार बजे तक वोटिंग होगी।  शाम 5 बजे से मतगणना शुरू होगी और उसी दिन नतीजों का ऐलान कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: यूं ही नहीं जल रही दिल्ली, हिंसा के पीछे है गहरी साजिश: दिल्ली पुलिस

महाराष्ट्र की सात, ओडिशा की चार, तमिलनाडु की छह, पश्चिम बंगाल की पांच, आंध्र प्रदेश की चार, तेलंगाना की दो, असम की तीन, बिहार की पांच, छत्तीसगढ़ की दो, गुजरात की चार, हरियाणा की दो, हिमाचल की एक, झारखंड की दो, मध्य प्रदेश की तीन, मणिपुर की एक, राजस्थान की तीन और मेघायल की एक राज्यसभा सीटों पर चुनाव होगा।

बता दें कि मध्यप्रदेश से तीन राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह, प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल नौ अप्रैल को पूरा हो रहा है। इस वजह से रिक्त होने वाली तीन सीटों के लिए निवार्चन कराया जा रहा है। दो सौ तीस सदस्यीय विधानसभा में वर्तमान में विधायकों की संख्या के आधार पर माना जा रहा है कि तीन में से दो सीटों पर कांग्रेस और एक सीट पर भाजपा प्रत्याशी विजयी हो सकते हैं। मध्यप्रदेश से राज्यसभा की कुल 11 सीट हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 27, 2020, 5:45 am
Fog
Fog
14°C
real feel: 15°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 93%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:03 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending