Connect with us

देश

पांच करोड़ अल्पसंख्यक छात्रों को स्काॅलरशिप देगी मोदी सरकार, मदरसों का होगा आधुनिकीकरण

Published

on

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दी जानकारी

नई दिल्ली। प्रचंड बहुमत से सत्ता में लौटे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस बार अल्पसंख्यकों पर विशेष ध्यान केन्द्रित करने जा रहे हैं। मोदी सरकार ने इन पांच वर्षों में अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को शिक्षित कर आगे बढ़ाने की दिशा में बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को ऐलान किया कि अल्पसंख्यक समाज के सामाजिक-आर्थिक सशक्तीकरण के लिए अगले पांच वर्षों में पांच करोड़ विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जाएगी और इनमें आधी संख्या में लड़कियां होंगी।
श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग की ऐसी लड.कियों को जो बीच में ही स्कूल छोड़ देती हैं, उन्हें प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों से ब्रिज कोर्स कराकर शिक्षा और रोजगार से जोड़ा जाएगा। देशभर के मदरसों में मुख्यधारा की शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए मदरसा शिक्षकों को विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से प्रशिक्षण दिलाया जाएगा ताकि वे मदरसों में मुख्यधारा की शिक्षा- हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, कंप्यूटर आदि का ज्ञान बच्चों को दे सकें। यह काम अगले महीने से शुरू कर दिया जाएगा। #ModiForAll

यह भी पढ़ें-उत्तर प्रदेश में पहली बार, 50 के करीब पहुंचा पारा, गर्मी ने तोड़े रिकार्ड

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अगले पांच वर्षों में प्री-मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक एवं मेरिट-कम-मीन्स आदि योजनाओं द्वारा पांच करोड़ विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी जाएगी, जिनमें 50 प्रतिशत से ज्यादा लड़कियों को शामिल किया जाएगा। इनमें आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग की लड़कियों के लिए 10 लाख से ज्यादा ‘बेगम हजरत महल बालिका छात्रवृत्ति’ भी शामिल है। नकवी ने कहा कि जिन क्षेत्रों में शैक्षणिक संस्थाओं के लिए पर्याप्त ढांचागत सुविधाएं नहीं हैं, वहां प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम (पीएमजेवीके) के तहत पॉलिटेक्निक, आईटीआई, गर्ल्स हॉस्टल, स्कूल, कालेज, गुरुकुल जैसे आवासीय विद्याालय, कॉमन सर्विस सेंटर आदि का युद्ध स्तर पर निर्माण शुरू किया गया है।

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए फ्री कोचिंग

नकवी ने कहा कि नुक्कड़ नाटकों, लघु फिल्मों आदि जैसे सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से जागरूकता और प्रोत्साहन का अभियान चलाया जाएगा। इस कड़ी में पहले चरण में देश के 60 अल्पसंख्यक बहुल जिलों को चयनित कर इस अभियान को प्रारंभ किया जाएगा। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि इसके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर अल्पसंख्यक- मुस्लिम, ईसाई, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी- युवाओं को केंद्र एवं राज्य की प्रशासनिक सेवाओं, बैंकिंग, कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु फ्री-कोचिंग की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि राजस्थान के अलवर में विश्वस्तरीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो जाएगा।
अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की अधीनस्थ संस्था मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान की 65वीं आमसभा की बैठक के बाद केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली इंसाफ, ईमान और इकबाल की सरकार ने विकास की सेहत को सांप्रदायिकता एवं तुष्टीकरण की बीमारी से मुक्ति दिलाकर सेहतमंद, समावेशी सशक्तिकरण का माहौल तैयार किया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

आरएसएस कल मनाएगा अंतरराष्ट्रीय ईद मिलन समारोह

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । आरएसएस का आनुषांगिक संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच कल अंतरराष्ट्रीय ईद मिलन समारोह मनाने जा रहा है । ये कार्यक्रम संसद के एनेक्सी हॉल में होगा । जहां मुस्लिम देश के राजदूतों के एलावा देश के प्रमुख राजनीतिक दलों व अनेक धर्मों के शीर्ष प्रतिनिधियों के भाग लेने की संभावना है ।

आप को बता दें कि कार्यक्रम में भाजपा के बड़े नेताओं के अलावा आरएसएस के प्रमुख नेता भी शामिल हो सकतें हैं । इस कार्यक्रम के माध्यम से संगठन इस्लाम के भाईचारे वाले भावना को उजागर करना चाहता है ।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट ने इन 6 प्रस्तावों पर लगाया मुहर, बुजुर्गों को भी मिली सौगात

वहीं मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संरक्षक इंद्रेश कुमार ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस्लाम शांति की बात करने वाला धर्म है । इस कार्यक्रम के जरिए से उनका उद्देश्य इस्लाम के मूल उद्देश्यों को लोगों के सामने पहुचाना होता है । इंद्रेश कुमार के अनुसार मुस्लिम राष्ट्रीय मंच यह कार्यक्रम कई वर्षों से करता आ रहा है । http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

‘वन्दे मातरम एक्सप्रेस’ में बासी खाने को लेकर एक यात्री ने की शिकायत, हो सकती है होटल पर कार्रवाई…

Published

on

वन्दे भारत एक्सप्रेस

फाइल फोटो

नई दिल्ली। देशभर के रेलवे स्टेशन पर खाने को लेकर अक्सर कार्रवाई की जाती है। इसी तरह देश की सबसे तेज रफ़्तार से चलने वाली ट्रेन ‘वन्दे भारत एक्सप्रेस’ में यात्रियों को बासी खाना परोसे जाना का मामला सामने आया है। जिसके बाद कानपुर का एक फाइव स्टार होटल जांच के घेरे में आ चुका है।  

जानकारी मुताबिक वन्दे भारत एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे आर्मी के एक कर्नल ने खाने को लेकर शिकायत की थी। इस ट्रेन में उस दिन फतेहपुर से सांसद और केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी सवार थी।

ये भी पढ़े: अरुणाचल प्रदेश के शियांग में मिला लापता विमान AN-32 का मलबा, 13 लोग थे सवार….

वहीं इस संदर्भ में आईआरसीटीसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने मंगलवार को बताया की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए ट्रेन में खाना मुहैया कराने वाले होटल को दंडित किया जा सकता है। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि बासी खाने की शिकायत 9 जून को मिली थी। आईआरसीटीसी (पर्यटन) के समूह महाप्रबंधक राजेश कुमार ने बताया, ‘हमें अभी तक बस एक यात्री की ओर से बासी खाने की शिकायत मिली है, लेकिन हम इस पर कार्रवाई करेंगे।

वहीं उनका ये भी कहना है कि हमें लगता है कि कानपुर के फाइव स्टार होटल ने चावल को यात्रियों में पूरा करने के लिए बासी चावल का इस्तेमाल किया। जो यात्रियों के मुताबिक ताजा नहीं थे। ऐसे में अब आईआरसीटीसी के समूह महाप्रबंधक, होटल के भोजन और पैकेजिंग का निरीक्षण कर रहे हैं।’ राजेश कुमार ने बताया कि, ‘उन्होंने कई बार देखा है कि वे लोग उस गाड़ी में भोजन ले जा रहे थे जिसमें एसी नहीं थी। जिससे हो सकता है गर्मी वजह से परेशानी हुई हो। http://www.satyodaya.com 

Continue Reading

देश

अरुणाचल प्रदेश के शियांग में मिला लापता विमान AN-32 का मलबा, 13 लोग थे सवार….

Published

on

विमान एएन-32

फाइल फोटो

नई दिल्ली। इंडियन एयरफोर्स के लापता विमान एएन-32 का मलबा मिल चुका है। विमान का मलबा अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले में पाया गया है। इस हादसे के दौरान विमान एएन-32 में 13 लोग सवार थे।  

एएन-32 विमान का मलबा मिलने के बाद इंडियन एयरफोर्स के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने पुष्टि करते हुए यह जानकारी दी है। इंडियन एयरफोर्स ने कहा, “अरुणाचल प्रदेश के टाटो इलाके के उत्तरपूर्व में लीपो से 16 किलोमीटर उत्तर में लगभग 12,000 फुट की ऊंचाई पर एयरफोर्स के लापता एएन-32 विमान का मलबा आज देखा गया। अब हेलीकॉप्टर पूरे इलाके में विमान की अच्छे से तलाश कर रहे हैं”।

ये भी पढ़े:मेरे खिलाफ लिखने वालों पर कार्रवाई हो तो खाली हो जाएंगे न्यूज चैनलों के स्टूडियो

आपको बता दें 3 जून से लेकर इस विमान को तलाशने के लिए इंडियन एयरफोर्स ने लगातार अभियान जारी कर रखा था। वहीं यह हवाई खोज पिछले 7 दिनों से जारी रखा गया था। रूसी एएन-32 विमान से सम्पर्क 3 जून को दोपहर में असम के जोरहाट से चीन के साथ लगी सीमा के पास स्थित मेंचुका उन्नत लैंडिंग मैदान के लिए उड़ान भरने के बाद टूट गया था। इस विमान में 13 व्यक्ति सवार थे। विमान के लापता होने के बाद वायुसेना ने मेंचुका और उसके आसपास के क्षेत्र में एक व्यापक खोज अभियान शुरू कर दिया था।  

एयरफोर्स की कड़ी मेहनत और चलाए गए अभियान की वजह से बीते शनिवार को एएन- 32 परिवहन विमान के बारे में सूचना मुहैया कराने वाले को पांच लाख रुपये का इनाम देने की भी घोषणा की थी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 11, 2019, 7:41 pm
Mostly clear
Mostly clear
37°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 44%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:42 am
sunset: 6:30 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending