Connect with us

देश

दर्दनाक: तांत्रिक के कहने पर गर्भवती को गला घोटकर मारा, पेट फाड़कर निकाला बच्चा…

Published

on

सांकेतिक तस्वीर

पंजाब से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। मामला बटाला के गांव काला नंगल की है। जहां अंधविश्वास के चक्कर में आकर एक निसंतान महिला ने एक तांत्रिक के कहने पर एक गर्भवती महिला को मौत के घाट उतार दिया। वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने इस संबंध में सात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें जेल भेज दिया गया। वहीं पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

पुलिस ने बताया कि काला नंगल गांव के रहने वाले बलविंदर सिंह की 28 वर्षीय पत्नी जसबीर कौर 7 महीने की गर्भवती थी। तभी उनके पड़ोस में रहने वाली महिला जोगिंदर कौर उसे बहाने से बुलाकर अपने घर ले गई। जहां आरोपियों ने तांत्रिक के कहने पर गर्भवती का पेट फाड़कर बच्चे को बाहर निकाल दिया। हालांकि बच्चा मरा हुआ निकला। जिसकी वजह से आरोपियों ने उसे अपने घर के आंगन में ही गड्ढ़ा खोदकर जमीन के अंदर दफना दिया। घरवालों के तलाश के बाद शक होने पर पति बलविंदर सिंह गांव वालों को लेकर पत्नी की तलाश में जोगिंदर कौर के घर जा पहुंचा।  तलाशी के बाद उसकी नजर लोहे के एक बड़े बक्से पर पड़ी। जब उसे खौलकर देखा गया तो उसमें उसकी पत्नी जसबीर की लाश पड़ी थी।

यह भी पढ़े- अलीगढ़ में सपा नेता की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार…

वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस की सख्ती से पूछताछ के बाद आरोपी महिला  ने बताया कि पांच साल से उसकी कोई संतान नहीं थी। इसलिए महिला तांत्रिक दीशो के कहने पर ही उसने अपने परिवार के साथ मिलकर ये गुनाह किया।पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।http://www.satyodaya.com

 

देश

चीनी एप पर बने अश्लील वीडियो वॉट्सएप पर हो रहे वायरल

Published

on

नई दिल्ली। सब निगाहें झुकी हैं। कोई कुछ देख रहा है तो कोई कुछ पढ़ रहा है। तकनीक अपनी पीक पर है। चीनी ऐप्स के लिये यह समय बेहद अच्छा है। उसके शॉर्ट शेयरिंग वीडियोज एप ने भारत के ज्यादातर शहरों में अपना जाल फैला लिया है। युवाओं का उत्साह भी इन ऐप्स को लेकर चरम पर है। कुछ सेकेण्ड्स के वीडियो बनाकर वे अपना टैलेंट दिखा रहे हैं। लेकिन अब यही वीडियो ऐप्स अश्लीलता के वाहक भी बन रहे हैं।

इस तरह के वीडियोज आपको हर जगह मिल जाएंगे। गंदे गाने, चुटकुले या फिर अश्लील डांस सब इन पर मौजूद हैं। लेकिन समस्या इसलिये बढ़ गई है क्योंकि अब इन वीडियोज की पहुंच 30 करोड़ से ज्यादा भारतीयों तक सीधे हो गई है। दरअसल, वॉट्सऐप के जरिये अब इन वीडियोज को शेयर किया जा रहा है।

हालांकि, टेक फर्मों का कहना है कि उन्होंने अनुचित वीडियोज पर नजर रखने के लिए टीम गठित की है। साथ ही स्मार्ट ऐल्गोरिदम और कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित सिस्टम का प्रयोग किया जाता है। । टिक टॉक का कहना है कि ‘हम यूजर्स के लिए सुरक्षा सुविधाओं को लगातार बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’ लेकिन इन सबके बावजूद भी टिक टॉक, लाइक, वीगो जैसे वीडियो एप पर तेजी से ऐसे वीडियो बन रहे और उनका प्रसार भी हो रहा है।

क्या है उपाय?

साइबर मामलों के विशेषज्ञ और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता पवन दुग्गल के मुताबिक, अश्लील वीडियोज को इन मोबाइल ऐप्स के जरिये फैलने से रोकने का एक ही तरीका है कि हम मध्यस्थ दायित्व के मुद्दों को हल करें।

इंफॉर्मेशन टेक्नालॉजी एक्ट 2000 की धारा 67 के अंतर्गत यदि कोई भी ट्रांसमिशन, प्रकाशन या इलेक्ट्रॉनिक रूप में पब्लिश या प्रसारित कोई भी जानकारी, जो वासनापूर्ण है या उन लोगों के दिमाग को भ्रष्ट कर देती हैं, जो ऐसी चीजों को देखने, पढ़ने या सुनने की संभावना रखते हैं या इसमें शामिल होते हैं, तो इसे एक अपराध के रूप में देखा जाएगा। हालांकि इस मामले में जमानत का प्रावधान है और इसके जरिये रोक लगा पाना मुश्किल है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

तेलंगाना में टीआरएस कार्यकर्ताओं ने की खुलेआम गुंडागर्दी, महिला पुलिस पर भांजी लाठियां….

Published

on

तेलंगाना

फाइल फोटो

नई दिल्ली। तेलंगाना से पुलिस और फॉरेस्ट्स गार्ड का एक वीडियो बड़ी तेजी के साथ वायरल हो रहा है, जिसमें वहां के लोग उन्हें पीट रहे हैं। वहीं इस मार-पीट के दौरान एक शख्स फ़ॉरेस्ट रेंज अधिकारी अनीता के सिर पर भी गाने से कई वार किए हैं। ऐसा कहा जा रहा है ये हमला करने वाले लोग तेलंगाना राष्ट्रीय समिति (टीआरएस) के हैं।

बता दें यह पूरा मामला तेलंगाना के आसिफाबाद जिले के सिरपुर कगाजनगर का है। जहां रविवार को वृक्षारोपण अभियान के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच भिड़ंत हो गई। हलांकि अधिकारी ने हमलावर शख्स की पहचान कर ली है। हमलावर का नाम कोनेरू कृष्णा है। वह स्थानीय निकाय का चेयरमैन है और इलाके के टीआरएस विधायक का भाई भी है।

ये भी पढ़े:दोबारा ‘बल्लेबाजी’ न मिलने की दुआ मांग रहा है यह युवा विधायक

जानकारी के मुताबिक बता दें फॉरेस्ट गार्ड की टीम राज्य सरकार के आदेश के बाद इलाके में वृक्षारोपण के लिए गई थी। जहां यह वृक्षारोपण अभियान कालेश्वरम इरीगेशन प्रोजेक्ट का हिस्सा है जो सीएम चंद्रशेखर राव का दूसरा सबसे बड़ा सपना है। वहीं इस घटना के बारे में महिला अधिकारी का कहना है कि वह लोगों को बता रही थी कि वह सरकार के निर्देशों का पालन कर रही हैं, लेकिन वहां मौजूद भीड़ ने उनकी बात सुनी नहीं। हालांकि इस बारे में पुलिस ने कहा कि वह हमलावरों की पहचान कर जल्द ही उन्हें अरेस्ट करेगी।  http://www.satyodaya.com 

Continue Reading

देश

दोबारा ‘बल्लेबाजी’ न मिलने की दुआ मांग रहा है यह युवा विधायक

Published

on

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में निगम अफसर की बैट से पिटाई करने वाले भाजपा विधायक आकाश को जमानत मिल गयी है और वह जेल से बाहर आ गए है। आकाश विजयवर्गीय भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र हैं। जेल से बाहर आते समर्थकों ने उन्हें गोद में उठा लिया और जय-जयकार करने लगे। आकाश को माला और फूलों से लाद दिया गया। समर्थकों और जनता की भीड. से उत्साहित आकाश ने कहा, मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि मुझे दोबारा बल्लेबाजी करने का अवसर न दे। अब गांधीजी के दिखाए रास्ते पर चलने की कोशिश करूंगा। शनिवार शाम जमानत मिलने पर उनके समर्थकों ने भाजपा कार्यालय के बाहर हर्ष फायरिंग भी की। वहीं जिस जर्जर मकान को तोड़ने के दौरान विधायक ने निगम अफसर की पिटाई की थी उसे रविवार को तोड़ा जाना था लेकिन फिलहाल निगम ने उस मकान को तोड़ने की कार्रवाई को टाल दिया है।#Akashvijayvargiya
रविवार सुबह जेल से रिहा होने के बाद आकाश ने मीडिया से कहा, जब पुलिस के सामने ही एक महिला को खींचा जाता है, मुझे उस समय कुछ और करने की बात समझ में नहीं आई। मैंने जो भी किया मुझे उसका अफसोस नहीं। लेकिन भगवान मुझे दोबारा बल्लेबाजी करने का मौका नहीं दे। रविवार को जेल प्रशासन ने आकाश को तय समय से डेढ़ घंटे पहले यानी साढ़े सात बजे ही रिहा कर दिया, ताकि जेल के बाहर भीड़ एकत्रित न हो।

आकाश को बात रखने का मौका नहीं मिला

भाजपा विधायक के वकीलों ने कहा कि जिस महिला का मकान तोड़ा जा रहा था वह घटना वाले दिन ढाई बजे निगम अफसरों के खिलाफ बदसलूकी करने की रिपोर्ट लिखवाने गई थी। उसकी सुनवाई नहीं हुई तो विधायक वहां पहुंचे। पुलिस ने जनप्रतिनिधि की बात सुनने के बजाए उनके खिलाफ ही केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। जबकि जनप्रतिनिधियों के खिलाफ ऐसे मामलों में जांच होनी चाहिए। उनका पक्ष भी सुना जाना चाहिए।

निगमकर्मी को बैट से पीटा था

26 जून को निगम अधिकारी धीरेंद्र बायस टीम के साथ जर्जर मकान को ढहाने के लिए पहुंचे थे। इस दौरान आकाश वहां आए और टीम को बगैर कार्रवाई के लिए जाने के लिए कहा। लेकिन अधिकारियों ने कार्रवाई जारी रखी और आकाश ने बैट से अधिकारी की पिटाई की थी। शुक्रवार को बायस की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 30, 2019, 9:21 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
32°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 66%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending