Connect with us

देश

पाकिस्तान का दोगलापन फिर हुआ उजागर, आतंकी हाफिज सईद को बताया धर्मगुरु

Published

on

भारतीय मीडिया के हाथ लगा अहम सबूत

नई दिल्ली । पाकिस्तान का दहशतगर्दों से प्रेम लगाव कोई नई बात नहीं है । सारी विश्व बिरादरी पाकिस्तान की इस फितरत से वाकिफ है और समय-समय वह पाकिस्तान को आतंकियों पर लगाम लगाने की पुरजोर नसीहत भी देती रही है । इसके बावजूद खुद पाकिस्तान भी अपनी हरकतों से इस बात का सबूत देता रहता है कि वह आतंकवादियों को खुला संरक्षण दे रहा है । अब एक बार फिर पाकिस्तान ने भारत के सबसे बड़े दुश्मन और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की तारीफ में कसीदे गढ़कर इस बात को साबित कर दिया है कि पाकिस्तान को आतंकवादियों से कितनी मोहब्बत है । इस बार भारतीय मीडिया के हाथ एक ऐसा पत्र लगा है, जिससे यह साबित होता है कि पाकिस्तान न सिर्फ आतंकवादियों की पनाहगार है बल्कि उसकी जमीन पर आतंकियों का बोलबाला भी है । यह वो पत्र है जो पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) नसीर जंजुआ ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक आमिर हमजा को लिखा है । इस पत्र में अंतरराष्ट्रीय आतंकी आमिर हमजा के लिए पाकिस्तान के एनएसए आदरसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं । इस पत्र ने आतंकवाद के प्रति पाकिस्तान के दोगलेपन की पोल पूरी दुनिया के सामने खोल दी है ।

पाकिस्तानी NSA के पत्र की प्रमुख बातें

पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर जंजुआ ने लश्कर प्रमुख आमिर हमजा को लिखे पत्र में उसका शुक्रिया अदा किया है । नसीर जंजुआ लिखते हैं, ‘सम्मानीय आमिर हमजा साहब, मैं उम्मीद करता हूं कि आप सही सलामत होंगे । आपने रद्दुल फसाद से संबंधित जो कागजात भिजवाए थे, मैं उसके लिए आपका शुक्रगुजार हूं । आपने बलूचिस्तान में चल रहे मेरे काम की सही पहचान की । यह आपकी दुआओं के असर से है । राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के तौर पर मेरे द्वारा किए जा रहे कामों की आपने प्रशंसा की है, जिसके लिए मैं आपका शुक्रगुजार हूं । मैं खुदा से दुआ करूंगा कि वह मुझे और ताकत और हिम्मत बख्शे, जिससे मैं नेशनल एक्शन प्लान को असल रूप में लागू कर सकूं और देश की सेवा में पूरी ईमानदारी के साथ अपना योगदान दूं । मैं आपका बेहद शुक्रगुजार रहूंगा, यदि आप मेरे लिए दुआ करें और मुझे इसी प्रकार मार्गदर्शन देते रहें ।’

वहीं दूसरी तरफ हाफिज सईद के संगठन जमात-उद दावा के नेता आमिर हमजा ने अपनी किताब से जुड़े कई ऐसे खुलासे किए हैं जो पाकिस्तान के हुक्मरानों का आतंकी हाफिज सईद के प्रति समर्थन दर्शाते हैं । जमात-उद दावा पर लिखी गई इस किताब के जरिए आमिर हमजा ने बताया है कि संगठन के काम के लिए नवाज शरीफ और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर जांजुआ ने भी हाफिज के काम की तारीफ की है । लाहौर के एक होटल में ‘जेयूडी रोल अगेंस्ट टेररिज्म’ नामक पुस्तक का विमोचन करते हुए आमिर हमजा ने कहा कि हमारे नेता हाफिज सईद पाकिस्तान के इकलौते धार्मिक गुरू हैं, जिन्होंने देश के अंदर और बाहर आतंकवाद की आलोचना की है ।

अमेरिकी मीडिया ने आईएसआई को बताया तालिबान समर्थक

इससे पहले अमेरिकी मीडिया ने दावा किया था कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) सीमावर्ती क्षेत्र में तालिबान को अब भी चोरी-छिपे सहयोग करती है । ‘वाशिंगटन टाइम्स’ की एक रिपोर्ट में पाकिस्तानी सीमाक्षेत्र में उन विशिष्ट मोहल्लों और आसपास के इलाकों का जिक्र है, जिन्हें तालिबान आतंकवादी पनाहगाह की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं । रिपोर्ट में आरोप लगाया गया कि अफगानिस्तान से आतंकवादी बेधड़क पाकिस्तानी सेना के गढ़, क्वेटा में आते जाते हैं, जहां वे सेना और इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) के अधिकारियों से मिलते हैं ।http://www.satyodaya.com

देश

आरएसएस प्रमुख के काफिले की गाड़ी ने बाइक को मारी टक्कर, एक बच्चे की मौत

Published

on

जयपुर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के काफिले की गाड़ी से बड़ा हादसा हो गया है। जिसमें एक बच्चे की मौत और वहीं एक अन्य के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजस्थान के अललर में बुधवार आसएसएस प्रमुख के काफिले की गाड़ी ने हरसोली मुंडावर सड़क पर एक बाइक को टक्कर मार दी।

ये भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र ने ठुकराई पाक की अपील, कश्मीर पर मध्यस्थता से किया इनकार

इस टक्कर में सरपंच चेतराम यादव गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि उनके 6 साल के पोते सचिन की मौत हो गई। बताया जा रहा है यह हादसा उस वक्त हुआ जब उनका काफिला तिजारा के गहनकर से लौट रहा था। बता दें, चेतराराम यादव को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

पीके मिश्रा प्रधानमंत्री मोदी के नए प्रधान सचिव बने, पीके सिन्हा प्रमुख सलाहकार बनाए गए

Published

on

नृपेंद्र मिश्रा के पद छोड़ने के बाद पीके मिश्रा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रमुख सचिव बनाया गया है। वहीं, पीके सिन्हा को प्रमुख सलाहकार बनाया गया है। बता दें, पीके मिश्रा पूर्व कैबिनेट सचिव रह चुके हैं।

गैरतलब है कि पीएम मोदी ने अपने ट्विट में लिखा कि 2019 के चुनाव नतीजे आने के बाद श्री नृपेंद्र मिश्रा जी ने खुद को प्रिंसिपल सेक्रेटरी के पद से सेवामुक्त किए जाने का अनुरोध किया था। तब मैंने उनसे वैकल्पिक व्यवस्था होने तक पद पर बने रहने का आग्रह किया था।

पीएम ने अपने ट्विट में आगे लिखा था कि 2014 में जब मैंने प्रधानमंत्री के रूप में दायित्व संभाला, तब मेरे लिए दिल्ली भी नई थी और नृपेंद्र मिश्रा जी भी नए थे। लेकिन दिल्ली की शासन-व्यवस्था से वे भली-भांति परिचित थे। उस परिस्थिति में उन्होंने प्रिंसिपल सेक्रेटरी के रूप में अपनी बहुमूल्य सेवाएं दीं। उस समय उन्होंने न सिर्फ व्यक्तिगत रूप से मेरी मदद की, बल्कि 5 साल देश को आगे ले जाने में, जनता का विश्वास जीतने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। एक साथी के रूप में 5 साल तक हमेशा उन्होंने साथ दिया।

आपको बता दें कि मिश्रा 2006 से 2009 के बीच ट्राई (भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण) के अध्यक्ष रह चुके हैं और 2009 में ही रिटायर हुए। ट्राई के पूर्व अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा 1967 बैच के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हैं और उत्तर प्रदेश कैडर के हैं। मिश्रा उत्तर प्रदेश से हैं और राजनीति शास्त्र एवं लोक प्रशासन में स्नातकोत्तर हैं। मिश्रा की अध्यक्षता में ट्राई ने अगस्त 2007 में सिफारिश की थी कि स्पेक्ट्रम की नीलामी की जानी चाहिए। मिश्रा 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में कथित अनियमितताओं के मामले की सुनवाई में दिल्ली की एक अदालत में अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में पेश हो चुके हैं।

Continue Reading

देश

संयुक्त राष्ट्र ने ठुकराई पाक की अपील, कश्मीर पर मध्यस्थता से किया इनकार

Published

on

नई दिल्ली। भारत ने जबसे जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे में संशोधन किया है तबसे पाकिस्तान पूरी दुनिया के आगे गिड़गिड़ा रहा है। लेकिन उसे हर जगह से सिर्फ ठोकरें ही मिली है। अब पाक को संयुक्त राष्ट्र में भी मुंह की खानी पड़ी है। बुधवार को यूएन ने कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता को लेकर पाक को साफ-साफ जवाब दे दिया कि यह मुद्दा दोनों देशों की आपसी बातचीत के जरिए ही सुलझाया जाए और उसकी मध्स्तथता की अपील खारिज कर दी।

यूएन के सेक्रेटरी जनरल के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा, ‘मध्यस्थता पर हमारी स्थिति पूर्ववत ही है, उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। महासचिव ने दोनों देशों की सरकार से संपर्क किया है। जी-7 की बैठक में भारत के प्रधानमंत्री से मुलाकात कर इस पर चर्चा की और पाकिस्तान के विदेश मंत्री से इस पर बात हुई है।’

इसके साथ ही यूएन का कहना है कि दोनों देशों के कश्मीर मसले का हल शांतिपूर्ण तरीके से और आपसी बातचीत के जरिए निकालना चाहिए। बता दें, ऐसा कर यूएन भारत के रूख का ही समर्थन किया है क्योंकि भारत कश्मीर मुद्दे पर किसी भी तीसरे पक्ष के मध्यस्थता करने का विरोध करता है।

ये भी पढ़ें: अभिषेक मनु सिंघवी का मोदी सरकार पर तंज, कहा- मीठा-मीठा गप, कड़वा-कड़वा थू

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ लगाई है। भारत की तरफ से विदेश मंत्रालय के सचिव ने कहा कि हमारे कदम से पाकिस्तान को अहसास हो गया है कि उसके आतंकी मसूबे अब कामयाब नहीं होंगे। भारत ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा भड़काने के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार बताया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 12, 2019, 10:31 am
Fog
Fog
30°C
real feel: 38°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 86%
wind speed: 3 m/s E
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 6
sunrise: 5:20 am
sunset: 5:45 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending