Connect with us

देश

पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 33 लाख की अवैध शराब पकड़ी

Published

on

नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा जिले के थाना बिसरख अन्तर्गत गैलेक्सी गोल चक्कर के पास से पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने सोमवार रात चेकिंग के दौरान अवैध शराब से भरा 14 पहियों वाला एक अशोका लेलैंड ट्रक बरामद किया है। 

थाना निरीक्षक मुनीश चौहान ने मंगलवार को बताया कि सोमवार देर रात थाने में एक गुप्त सूचना मिली थी कि एक ट्रक (आरजे 06 जीसी 1248) अवैध शराब के साथ गैलेक्सी गोल चक्कर के पास से कहीं जा रही है। सूचना मिलने के साथ ही पुलिस ने उक्त स्थान पर चैकिंग अभियान चलाया कुछ देर बाद सामने से एक ट्रक आती दिखाई दी। पुलिस ने जब उसे रोका तो उसमें सवार लोग अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए। 

यह भी पढ़ें: IndvsAus : मात्र 10 रन बनाकर भी सचिन-विराट से आगे निकले रोहित शर्मा

चौहान ने बताया कि ट्रक की जब चैकिंग की गई तो उसमे स्टील का एक सेल बना था। जिसमें 522 पेटी अवैध शराब बरामद किया। जिसकी अनुमानित कीमत 33 लाख के लगभग है। जांच करने पर ट्रक का नंबर भी फर्जी पाया गया था। मुकदमा लिख आगे की कार्रवाई की जा रही है।http://www.satyodaya.com 

देश

जल चुनौती से निपटने के लिए हो जन आंदोलन-शेखावत

Published

on

चित्तौड़गढ़: केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा है जल देश ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए बड़ी चुनौती है, लिहाजा इससे निपटने के लिए सबको जन आंदोलन छेड़ना होगा । शेखावत ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि देश में 18 प्रतिशत जनसंख्या के लिये मात्र चार प्रतिशत पानी की उपलब्ध है जो बहुत ही चिंतनीय है। यह बड़ी चुनौती है जिससे निपटने लिये सामुहिक प्रयास करने होंगे। इसके लिए बड़ा जन आंदोलन हो तभी हम इसका सामना कर पायेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की नदी जोड़ने की महत्वकांक्षी परियोजना के तहत हमने ऐसे 31 लिंक की पहचान की है और इनमें से पांच की विस्तृत परियोजना विवरणी (डीपीआर) बनकर तैयार हो चुकी है।

यह भी पढ़ें: चंद्रशेखर की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस को कोर्ट ने लगाई फटकार

उन्होंने जल संरक्षण के लिए राज्य सरकारों से भी आग्रह किया है कि वे इस दिशा में सकारात्मक पहल करे। उन्होंने सीएए एवं एनआरसी का विरोध कर रहे लोगों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे लोग काल्पनिक भय बताकर मजहब के आधार पर देश को बांटने का बड़ा अपराध और महापाप कर रहे हैं। बढ़ती महंगाई के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसा वैश्वीकरण के चलते हो रहा है फिर भी मोदी सरकार महंगाई को थामने में कामयाब रही है।


राजस्थान में बजरी एवं नशा माफिया को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि राज्य में गंभीर अपराधों के साथ महिला अपराधों में बहुत ज्यादा बढ़ोत्तरी हुई है जो राज्य सरकार की असफलता का द्योतक है। इससे पहले श्री शेखावत ने यहां आयोजित आतंकवाद विषय पर आयोजित एक सम्मेलन को भी सम्बोधित किया। उन्होंने श्रीसांवलियाजी एवं कालिका माता के दर्शन किये, इस दौरान उनके साथ सांसद चंद्रप्रकाश जोशी भी उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

चंद्रशेखर की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस को कोर्ट ने लगाई फटकार

Published

on

कहा, पाकिस्तान में है क्या जामा मस्जिद?

लखनऊ। नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली की जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शन के बाद गिरफ्तार किए गए भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद की याचिका पर मंगलवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने न केवल चन्द्रशेखर को उभरता हुआ नेता बताया बल्कि उनकी गिरफ्तारी करने वाली दिल्ली पुलिस को फटकार भी लगायी। कोर्ट ने कहा, ऐसा कहां लिखा है कि किसी धार्मिक स्थल के बाहर कोई शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन नहीं कर सकता। विरोध प्रदर्शन हर भारतीय नागरिक का अधिकार है, लेकिन दिल्ली पुलिस ऐसा बर्ताव कर रही है जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो? तीस हजारी कोर्ट के जज ने कहा, मैंने कई नेताओं को बड़े नेता बनते देखा है, मुख्यमंत्री बनते देखा है। प्रदर्शन करना किस अपराध की श्रेणी में आता है? क्या दिल्ली पुलिस ने संविधान पढ़ा है?

कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कई तीखे सवाल किए। सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा, हमारे पास ड्रोन फुटेज है जिसमें साफ दिख रहा है कि चंद्रशेखर भीड़ को भड़का रहे थे। धरना प्रदर्शन को लेकर अदालत ने कहा कि कोई भी प्रदर्शन कर सकता है। मैंने कई नेताओं को बड़े नेता बनते, मुख्यमंत्री बनते देखा है। प्रदर्शन करना किस अपराध की श्रेणी में आता है? चन्द्रशेखर के वकील महमूद प्राचा ने दिल्ली पुलिस की दलीलों का विरोध किया। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यूपी के सहारनपुर में दर्ज की गईं सभी एफआईआर की जानकारी मांगी है। मामले की सुनवाई बुधवार को भी जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें-शाहीन बाग इलाके में धरना प्रदर्शन पर उचित कार्रवाई करे दिल्ली पुलिस: हाईकोर्ट

बता दें कि पिछले दिनों नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली के दरियागंज और सीलमपुर में प्रदर्शन हुए थे, जिनमें जमकर हिंसा, आगजनी और पुलिस पर पथराव किया गया था। इन प्रदर्शनों में चन्द्रशेखर आजाद भी शामिल थे। इसके जामा मस्जिद में भी उन्होंने धरना दिया था। धरना प्रदर्शन के बाद चन्द्रशेखर ने मार्च निकालने की बात कही थी, लेकिन उससे पहले पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। दरियापुर, सीलमपुर हिंसा मामले में गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों को जमानत मिल चुकी है लेकिन चंद्रशेखर पर गंभीर आरोपों के चलते उन्हें जमानत नहीं मिली। 21 दिसंबर को चंद्रशेखर आजाद को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था, वह दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं। बुधवार को होने सुनवाई से ही तय होगा कि भीम आर्मी प्रमुख को जमानत मिलेगी या नहीं!http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

निर्भया के दोषियों की क्यूरेटिव याचिका खारिज, पीड़िता की मां ने जताया संतोष…

Published

on

निर्भया रेपकांड

फाइल फोटो

नई दिल्ली। निर्भया रेपकांड के दोषियों को देश की सर्वोच्च न्यायलय से बड़ा झटका झटका लगा है।  सर्वोच्च न्यायलय ने विनय शर्मा और मुकेश ने क्यूरेटिव याचिका ख़ारिज कर दी है।  वहीं जिन 2 दोषियों की क्यूरेटिव याचिका खारिज हुई है उनके पास अब सिर्फ राष्ट्रपति की दया याचिका का रास्ता बचा है। इस पर निर्भया की मां आशा देवी की प्रतिक्रिया सामने आई है और उन्होंने संतुष्टि जाहिर की है।

निर्भया की मां आशा देवी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा कि वह अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए पिछले 7 साल से लड़ाई लड़ रही हैं। आज अदालत का फैसला उनके लिए बड़ा दिन है, लेकिन सबसे बड़ा दिन 22 जनवरी होगा, जब उनके बेटी के दोषियों को फांसी दी जाएगी।  जानकारी के मुताबिक बीते दिनों पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया रेप कांड के चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी किया था।  इस वारंट के हिसाब से 22 जनवरी की सुबह 7 बजे चारों को फांसी दी जाएगी।  हालांकि अभी चारों दोषी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं।

ये भी पढ़ें:शाहीन बाग इलाके में धरना प्रदर्शन पर उचित कार्रवाई करे दिल्ली पुलिस: हाईकोर्ट

दो ही दोषियों की याचिका हुई खारिज

निर्भया के चार दोषियों मुकेश, विनय, पवन और अक्षय में से सिर्फ मुकेश-विनय ने ही अभी सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दायर की थी। इस याचिका में अपील की गई थी कि फांसी की सजा से सिर्फ दोषियों ही नहीं बल्कि परिवार पर भी दबाव पड़ रहा है। वहीं याचिकाकर्ता के माता-पिता वृद्ध और अत्यंत गरीब हैं। इस मामले में उनका भारी संसाधन बर्बाद हुआ और अब उन्हें कुछ भी हाथ नहीं लगा है।

दोषियों अब भी राष्ट्रपति का बचा है रास्ता

निर्भया के इन दो दोषियों के लिए अब कोर्ट का रास्ता पूरी तरह से बंद हो चुका है।  यानी दोषी अब दोबारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका नहीं डाल सकते हैं, हालांकि राष्ट्रपति के सामने एक बार दया याचिका दायर की जा सकती है। याचिकाओं के दौर से परे दोषियों को फांसी देने की तैयारी पूरी है और तिहाड़ में डमी के साथ रिहर्सल भी शुरू हो चुकी है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 14, 2020, 5:40 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
20°C
real feel: 19°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 63%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:04 pm
 

Recent Posts

Trending