Connect with us

देश

पंजाब: 109 घंटे जिंदगी की जंग लड़ने के बाद हार गया 2 साल का फतेहवीर….

Published

on

फाइल फोटो

पंजाब। पंजाब के संगरूर जिले में 150 फीट गहरे बोरवेल में गिरे जिस बच्चे की जिंदगी के लिए लोग दुआ मांग रहे थे। आज उस बच्चे ने दम तोड़ दिया। मंगलवार को 2 साल के फतेहवीर को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाल लिया गया था, लेकिन हॉस्पिटल ले जाने पर डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। 109 घंटे बाद 2 साल का फतेहवीर जिंदगी की लड़ाई हार गया।  

बता दें, संगरूर जिले के भगवानपुरा गांव में 2 साल का बच्चा फतेहवीर सिंह गुरुवार की शाम करीब 4 बजे अपने घर के पास खेलते वक्त बोरवेल में जा गिरा था। लगभग 7 इंच की चौड़ाई वाला बोरवेल एक कपड़े से ढका हुआ था, लेकिन अचानक बच्चा खेलते-खेलते गड्ढे में गिर गया। फतेहवीर को चिकित्सीय सुविधा प्रदान करने के लिए डॉक्टरों की एक टीम वहां मौके पर ही मौजूद थी।

जानकारी के मुताबिक बच्चे के बोरवेल में गिरने के बाद उसकी मां उसे बचाने की काफी कोशिश की, लेकिन उसकी सारी कोशिशें नाकाम रहीं। वहीं लोगों के अनुसार बोरवेल कपड़े से ढका हुआ था, इसलिए बच्चा दुर्घटनावश उसमें गिर गया।

ये भी पढ़े:मुख्यमंत्री योगी की अध्‍यक्षता में आज होगी कैबिनेट की बैठक, इन फैसलों पर लग सकती है मुहर

वहीं बच्चे को बोरवेल से निकालने के लिए एक रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया। वहां मौजूद अधिकारियों ने बच्चे को ऑक्सीजन पहुंचाने में तो सफल रहे लेकिन वे उस तक खाना-पीना नहीं पहुंचा पाए थे। बच्चे को बचाने के लिए बोरवेल के समांतर एक दूसरा बोरवेल खोदा गया था और उसमें कंक्रीट के बने 36 इंच व्यास के पाइप भी डाले गए थे। लेकिन फतेहवीर को बचाने का यह आईडिया भी बेकार ही रहा।

हालंकि कड़ी मेहनत के बाद फतेहवीर को मंगलवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) की टीम ने बाहर निकाला और फिर उसे तत्काल इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

आपको बता दें फतेहवीर अपने माता-पिता का इकलौता बच्चा था। वहीं इस दिल दहला देने वाली घटना पर पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने भी ट्वीट कर दुःख व्यक्त किया है। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि वह एनडीआरएफ, स्थानीय प्रशासन और बाहरी विशेषज्ञों द्वारा लगातार बचाव कार्यों पर नजर बनाए हुए थे। http://www.satyodaya.com

देश

मां ने नाबालिग बेटी को वैश्यावृति में धकेला, भाई ने किया दुष्कर्म…

Published

on

मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी से रिश्तों को तार-तार कर देने वाली एक खबर आई है। यहां एक मां ने ही अपनी बेटी को देह व्यापार में ढकेल दिया। इतना ही नहीं युवती के सगे भाई ने उसके साथ दुराचार किया। रिश्तों को शर्मसार करने देने वाली यह घटना मुंबई के मानखुर्द की है। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। जिसमें पीड़िता की मां, भाई और पति भी शामिल है।

यह भी पढ़े:हैदराबाद: बेटे ने की पिता की हत्या, लाश के टुकड़े कर बाल्टियों में भरा

पुलिस अधिकारी के मुताबिक नाबालिग बच्ची की मां ने पिछले साल अप्रैल महीने में उसकी शादी जबरन एक युवक से करा दी थी। पीड़िता का पति उसके साथ संबंध बनाने के लिए रोज उसकी पिटाई करता था। पति से तंग आकर पीड़िता अपने मायके चली गई। इस घटना के कुछ ही दिन बाद लड़की की मां ने उसे जबरन वैश्‍यावृत्ति में धकेल दिया। इतना ही नहीं लड़की के भाई ने भी उसके साथ दुष्‍कर्म किया। जिसके बाद पीड़िता ने शनिवार रात को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई तब जाकर हैवानियत का पर्दाफाश हुआ। 

पीड़िता ने अपनी मां पर आरोप लगाते हुए पुलिस को बताया कि उसकी मां पैसे के लिए एक साठ वर्षीय बुजुर्ग के साथ संबंध बनाने के लिए दबाव डाल रही थी। इन अत्‍याचारों के खिलाफ जब अपने भाई से मदद मांगने पहुंची तो उसने भी मेरे साथ जबरदस्ती की। उसने धमकी दी कि अगर इस घटना का जिक्र किसी से किया तो सिर धड़ से अलग कर दूंगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

अरुण जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे लालकृष्ण आडवाणी

Published

on

फाइल फोटो

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सोमवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिलने एम्स पहुंचे। अरुण जेटली 9 अगस्त से एम्स में भर्ती हैं और सांस लेने व फेफड़े की समस्या से जूझ रहे हैं। अरुण जेटली को देखने के लिए सभी केंद्रीय मंत्रीयों का ताता लगा हुआ है।

ये भी पढ़े- कश्मीर को लेकर अमित शाह ने की बैठक, अजित डोभाल भी शामिल

अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है। केंद्रीय मंत्रियों में राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, जितेंद्र सिंह, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई दिग्गज नेताओं ने एम्स पहुंचकर उनका हालचाल जाना। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

40 साल बाद दिल्ली पर मंडरा रहा भयंकर बाढ़ का खतरा, केजरीवाल सरकार में हाहाकार

Published

on

नई दिल्ली। लगभग आधा हिन्दुस्तान इन दिनों बाढ़ की चपेट में है। देश के 10 राज्य भारी बारिश और बाढ़ से परेशान हैं। राष्टीय राजधानी दिल्ली में फिलहाल बारिश तो सामान्य है लेकिन हरियाणा से छोड़े गए बाढ़ के पानी ने दिल्ली के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। हरियाणा से रविवार को 8.72 लाख क्यूसेक पानी यमुना में छोड़ा गया। जो सोमवार शाम तक दिल्ली में पहुंच जाएगा। हथिनी कुंड से दिल्ली की तरफ छोड़ा गया यह पानी अब तक की सबसे बड़ी जलराशि है। जो दिल्ली के निचले इलाकों में तबाही भी मचा सकता है। वर्ष 1978 में यमुना में सबसे बड़ी बाढ़ आई थी और तब हरियाणा ने दिल्ली की ओर 7 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा था। ऐसे में स्थिति की गंभीरता को समझा जा सकता है।
मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सोमवार दोपहर 1 बजे आपातकालीन बैठक की। इस बैठक में दिल्ली के सभी अधिकारी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को अलर्ट मोड पर कर दिया है। अगले 24 से 72 घण्टे दिल्ली के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। यमुना का जलस्तर पहले ही खतरे के निशान को पार कर चुका है। सोमवार सुबह यमुना का जलस्तर 204 मीटर था।

राष्टीय राजधानी पर 40 साल बाद बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सभी इलाकों के लोगों को शाम 6 बजे तक सरकार के बनाए टेंट में पहुंच जाने का निर्देश दिया है। सरकार ने लोगों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं।

बैठक में एक प्रेस वार्ता करते हुए केजरीवाल ने बताया कि राजधानी के निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। लगातार मुनादी की जा रही है। सरकार 24 घण्टे स्थिति पर नजर बनाए हुए है। लोगों को उनके बच्चों पर खास ध्यान देने को कहा गया है। सरकार का प्रयास है कि किसी तरह का जान-माल का नुकसान न हो।

यह भी पढ़ें-पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व सांसद की पत्नी भाजपा में शामिल, सियासी सरगर्मी बढ़ी

सीएम ने कहा कि आने वाले दो दिन दिल्ली के लिए काफी मुश्किल भरे होने वाले हैं। किसी प्रकार की मदद के लिए 011-22421656 और 011- 21210849 पर कॉल की जा सकती है।
केन्द्रीय जल आयोग का अनुमान है कि हरियाणा का पानी दिल्ली में पहुंचने के बाद यमुना बैराज का जलस्तर 207 मीटर को पार कर जाएगा। इससे ऊपर भी जा सकता है।
जानकारी के मुताबिक यमुना की तलहटी से हजारों लोगों को सुरक्षित टेंटों में पहुंचाया जा चुका है। नौकाओं और गोताखोरों को भी तैनात कर दिया गया है। कुछ जगहों पर यमुना के पानी को सड़क पर आने से रोकने के लिए बोरियों में मिट्टी भरकर दीवार भी बनाई जा रही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 19, 2019, 5:31 pm
Fog
Fog
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s WNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:10 am
sunset: 6:10 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending