Connect with us

देश

राजस्थान: बसपा के छह विधायकों ने थामा कांग्रेस का हाथ, मायावती ने निकाली जमकर भड़ास

Published

on

जयपुर। बसपा सुप्रीमो मायावती को तगड़ा झटका लगा है। उन्हें राजनीतिक चोट खुद उनके विधायकों ने राजस्थान में पहुंचाई है। दरअसल, राजस्थान में बसपा के छह विधायक पार्टी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। विधायकों के इस तरह से दल-बदल ने मायावती का पारा चढ़ा दिया है। उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट कर कांग्रेस पर भड़ास निकाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एक बार फिर से गैर-भरोसेमन्द व धोखेबाज पार्टी होने का प्रमाण दिया है। यह बीएसपी मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपनी कटु विरोधी पार्टी और संगठनों से लड़ने के बजाए हर जगह उन पार्टियों को ही सदा आघात पहुंचाने का काम करती है जो उन्हें सहयोग या समर्थन देते हैं।

मायावती ने एक के बाद एक ट्वीट कर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने लिखा कि,‘ राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार ने एक बार फिर बीएसपी के विधायकों को तोड़कर गैर-भरोसेमन्द व धोखेबाज़ पार्टी होने का प्रमाण दिया है। यह बीएसपी मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है जो दोबारा तब किया गया है जब बीएसपी वहाँ कांग्रेस सरकार को बाहर से बिना शर्त समर्थन दे रही थी।’

उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, ‘कांग्रेस अपनी कटु विरोधी पार्टी/संगठनों से लड़ने के बजाए हर जगह उन पार्टियों को ही सदा आघात पहुंचाने का काम करती है जो उन्हें सहयोग/समर्थन देते हैं। कांग्रेस इस प्रकार एससी, एसटी,ओबीसी विरोधी पार्टी है तथा इन वर्गों के आरक्षण के हक के प्रति कभी गंभीर व ईमानदार नहीं रही है।’

बीएसपी सुप्रीमो ने कांग्रेस को आंबेडकर का विरोधी बताते हुए कहा, ‘कांग्रेस हमेशा ही बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर व उनकी मानवतावादी विचारधारा की विरोधी रही। इसी कारण डॉ. आंबेडकर को देश के पहले कानून मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। कांग्रेस ने उन्हें न तो कभी लोकसभा में चुनकर जाने दिया और न ही भारतरत्न से सम्मानित किया। अति-दुःखद व शर्मनाक।’

मायावती के आरोप पर सीएम गहलोत का जवाब

बसपा सुप्रीमो के इन आरोपों पर राज्स्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस खरीदफरोख्त नहीं करती है। बसपा के विधायक अपनी मर्जी से राज्य के हित में कांग्रेस में शामिल हुए हैं। राज्य में एक स्थिर सरकार के लिए यह उन विधायकों का फैसला है।

ये भी पढ़ें: सीएम योगी ने पीएम मोदी को ट्वीट कर दी जन्मदिन की बधाई

ये हैं वो 6 विधायक

बता दें, जिन 6 बसपा विधायकों ने बसपा छोड़ी है वो पहले से ही कांग्रेस पार्टी को बाहर से समर्थन दे रहे थे। सभी छह विधायकों ने राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी को इसके संबंध में एक पत्र भी सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष ने इसकी पुष्टि की है। सभी छह विधायकों के पार्टी छोड़ने की वजह से उन पर दल-बदल कानून भी लागू नहीं होता है। राजेन्द्र गुढा (उदयपुरवाटी), जोगेंद्र सिंह अवाना (नदबई), वाजिब अली (नगर), लाखन सिंह मीणा (करौली), संदीप यादव (तिजारा) और दीपचंद खेरिया ने कांग्रेस की सदस्यता ली है।http://www.satyodaya.com

देश

दिल्ली हिंसा: केजरीवाल का ऐलान, मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवजा

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अब हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। हिंसा में कई लोगों की जान चली गई थी। वही एक पेट्रोल पंप और घर को आग के हवाले कर दिया गया था। जिसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि हिंसा में कमी आई है। इस हिंसा में सभी को नुकसान हुआ है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को हिंसा पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। राहत राशि का ऐलान करते हुए दिल्ली सरकार के मुखिया केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10 -10 लाख रुपया मुआवजा देने की बात कही है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार के फरिश्ते स्कीम के तहत सभी घायलों को मुफ्त चिकित्सा सुविधा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें:- आईआईटी कानपुर व ला ट्रोब यूनिवर्सिटी ने कानपुर में शुरू की रिसर्च एकेडमी

उन्होंने कहा कि मृतकों के साथ गंभीर रूप से घायल लोगों को 2 लाख और जिसका दंगे में घर दुकान जल गई हैं। उन्हें 5 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा साथ की हिंसा में अनाथ होने वाले बच्चों को 3-3 लाख मुआवजा दिया जाएगा। वहीं हिंसा में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का नाम सामने आ रहा है। जिस पर केजरीवाल ने कहा कि अगर आप का कोई नेता हिंसा में शामिल होने का दोषी पाया जाता है तो उसे दोगुनी सजा दी जाए। जो भी इस मामले में दोषी पाया जाए उसे कड़ी से कड़ी सजा मिले। राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

दिल्ली हिंसा पर चिंतित मुस्लिम धर्मगुरू खालिद रशीद ने की न्यायिक जांच की मांग

Published

on

लखनऊ। दिल्ली में दंगो के बाद जो स्थितियां बनी हैं और जिस तरह पिछले कई दिनो से वहां हालात खराब हुए हैं। उस पर धर्मगुरू चिंतित हैं। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य और मुस्लिम धर्म गुरू मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने दिल्ली के हालातों पर चिंता जाहिर की है।

खालिद रशीद ने कहा कि कि हम लोग दिल्ली के हालातों से परेशान हैं। वहां जल्द से जल्द अमन बहाल हो और सरकार से ये मांग करते हैं कि इस पूरे मामले की न्यायिक जांच हो। जो भी कसूरवार हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिये। लोगों से भी इस बात की अपील है कि किसी के बहकावे मे न आए। अपने पड़ोसियों पर भरोसा रखे। लोग एक दूसरे के साथ रहे। मिलजुल कर एक दूसरे की मदद करें। जिनके घरों में नुकसान हुआ है उसकी मदद करें।

यह भी पढ़ें: मॉर्निंग और इवनिंग वॉक पर लोगो से नमस्ते कर उनका हालचाल लेगी लखनऊ पुलिस

खालिद रशीद ने कहा कि राजनेताओं के जहरिले बयानों पर कतई ध्यान न दे औऱ सरकार ऐसे नेताओं पर सख्त कार्रवाई करें। सरकार माहौल को खुशगवार बनाने में सहयोग करे। खालिद ऱशीद ने कहा ऐसे हालातों में हम सब को एक दूसरे की मदद करनी चाहिये। ये देश गंगा-जमुनी तहजीब के केंद्र रहा है, इसको हमेशा बनाए रखिये। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि हालात जल्द सामान्य हो जाएंगे।

आपको बता दें दिल्ली में जिस तरह से सीएए के खिलाफ और समर्थन कर रहे लोगों के एक दूसरे के सामने आ जाने के बाद से वहां हालात तनाव पूर्ण हो गए थे। दंगे में अबतक 34 लोगों की जान जा चुकी है। दिल्ली के कई इलाकों में तनाव अभी भी कायम है। कई इलाकों में कर्फ्यू जैसे हालात है गृहमंत्री खुद मामले में नजर बनाए हुए है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

जानिए कौन हैं ताहिर हुसैन, जिन पर IB कर्मचारी अंकित शर्मा को मारने का लगा आरोप

Published

on

अंकित शर्मा

फाइल फोटो

नई दिल्ली। दिल्ली के दंगों में अपनी जान गंवाने वालों में इंटीलेंज ब्यूरो (आईबी) के कर्मचारी अंकित शर्मा भी शामिल थे। अंकित शर्मा के परिवारवालों ने अपने बेटे की मौत के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के पार्षद हाजी ताहिर हुसैन पर आरोप लगाया है। वह फिलहाल पुलिस से बच रहे हैं।

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। ये वीडियो नॉर्थ ईस्ट दिल्ली की हिंसा का चांदबाग इलाके का है। वीडियो में कुछ उपद्रवी एक मकान की छत से पत्थर और पेट्रोल बम नीचे फेंक रहे हैं। बताया जाता है कि जिस मकान की छत से हमला हो रहा है। वह  मकान मुस्तफाबाद विधानसभा में नेहरू विहार वार्ड से आप के पार्षद हाजी ताहिर हुसैन का है।

वहीं इस आरोप पर ताहिर हुसैन ने जवाब देते हुए कहा कि यह मकान उन्हीं का है, लेकिन जिस वक्त ये हमला हुआ वो घर पर नहीं थे, वहां से जा चुके थे। ताहिर हुसैन का कहना है कि अंकित की मौत से दुखी हूं। अंकित के परिवार के साथ हूं। दंगाई किसी के नहीं होते। मुझे नहीं पता मेरे घर की छत से कौन पेट्रोल बम और पत्थर फेंक रहा था।

ताहिर हुसैन की छत से दंगाईयों ने किया हमला

आरोप है कि ताहिर हुसैन ने वीडियो जारी कर अफवाह फैलाई थी कि उनके घर पर अटैक हुआ है, जबकि वीडियो के मुताबिक हमला उनकी छत से ही हो रहा है। अब इस वीडियो के तार इसी इलाके में रहने वाले आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की मौत से जुड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें:29 फरवरी को ‘लोकतंत्र बचाओ’ सम्मेलन में बड़ी संख्या में अधिवक्ता लेंगे हिस्सा…

बता दें अंकित शर्मा के परिवार ने ताहिर हुसैन को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। परिवार के मुताबिक, अचानक बाहर से पड़ोस में रहने वाले एक परिवार की मदद के लिए गुहार सुनाई दी। गुहार सुनकर अंकित जब मदद के लिए बाहर आ गए। हालांकि अंकित की मां ने उन्हें रोका भी, लेकिन उन्होंने मां की नहीं सुनी। अंकित उस वक्त जो घर से निकला, फिर वापस नहीं लौटा, लौटी तो अंकित की लाश, वह भी पास के नाले से बरामद हुई।

वायरल वीडियो के जांच की उठी मांग

वहीं आस-पड़ोस में रहने वाले लोग भी ताहिर हुसैन पर ही हिंसा फैलाने का आरोप लगा रहे हैं। जबकि ताहिर हुसैन से अंकित शर्मा को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने सभी आरोपों से साफ़ इनकार कर दिया। वायरल वीडियो की सच्चाई क्या है, ये तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 28, 2020, 3:52 am
Fog
Fog
16°C
real feel: 16°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:02 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending