Connect with us

देश

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर राज्य परिवहन मंत्री ने केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री को लिखा पत्र

Published

on

नई दिल्ली। सर्दियों का मौसम शुरू होने से पहले दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। खराब हवा का कारण पड़ोसी राज्यों में जलने वाली पराली को बताया जा रहा है। पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने से निकलने वाला धुआं दिल्ली पहुंचने लगा हैं और वहां की हवा खराब होने लगी है। प्रदूषण बढ़ने से दिल्ली के लोग काफी परेशान है और मुंह पर मास्क लगाकर निकलने को मजबूर है। होने को है। दिल्ली सरकार ने दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण से निपटने के लिए मंगलवार से ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान लागू हो रहा है। दिल्ली में बीते एक हफ्ते में प्रदूषण का स्तर 14 फीसद बढ़ गया है. कुछ इलाकों में तो हालात ये हैं कि हवा की गुणवत्ता और खराब होने से एक्यूआई 300 को पार हो गई है। जो बेहद खराब स्तर माना जाता है. हालात और अभी आगे और खराब होने का अंदेशा है। बता दें कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब, और 401 से 500 के बीच गंभीर श्रेणी का माना जाता है।

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गलहोत ने केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन को पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र में सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) के डाटा को शेयर करने की मांग की है। मंत्री ने कहा हैं कि सफर द्वारा पराली से होने वाले प्रदूषण को कम बताने वाले डाटा पर भी सवाल उठाए है। केन्द्र सरकार से प्रदूषण पर जल्दी रोकने के लिए उचित कदम उठाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें:- आईएनएक्स मीडिया केस: कोर्ट ने ईडी को दी चिदंबरम की गिरफ्तारी की इजाजत

महीने के आखिरी सप्ताह में मौसम और खराब होने की संभावना सबसे ज्यादा हैं। क्योकि दीपावली के दौरान पटाखे और अतिशबाजी के चलते हवा सबसे खराब हो सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे इस प्रदूषण स्तर के बढ़ने से लोगों के स्वास्थ्य की चिंता हो रही है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि नवंबर में यह प्रदूषण स्तर में और ज्यादा इजाफा होगा। सरकार अपना काम कर रही है। मगर यह अस्थायी उपाय हैं। इसलिए मेरी सभी एजेंसियों, केंद्र सरकार और पड़ोसी राज्यों से अपील है कि वह पराली को जलाने से रोकें, जिससे दिल्ली को प्रदूषित होने से रोका जा सके।http://www.satyodaya.com

देश

पायलट और उनके 19 समर्थक विधायकों को स्पीकर ने कारण बताओ नोटिस किया जारी

Published

on

लखनऊ। कांग्रेस ने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाने के साथ ही उनके प्रति दो वाफादार मंत्रियों की बर्खास्तगी के बाद उन्हें अयोग्य घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने सचिन पायलट समेत बागी विधायकों को नोटिस जारी करने के साथ ही राजस्थान में सियासी सरगर्मियां तेज हो गई है। विधानसभा अध्यक्ष ने बुधवार को कांग्रेस की शिकायत के आधार पर पायलट समेत 19 विधायकों को नोटिस भेजा है। उन्हें शुक्रवार तक अपना जवाब दाखिल करना है। उनसे कहा गया कि विधानसभा सचिवालय की ओर से जारी किया गया है। इस नोटिस में 17 जुलाई दोपहर 1 बजे तक विधानसभा भवन में जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है।

वहीं, राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया कि कांग्रेस विधायक दल की बैठकों में शामिल नहीं होने के लिए सचिन पायलट और पार्टी के 18 अन्य सदस्यों को नोटिस जारी किया गया। यदि वे 2 दिनों के भीतर जवाब नहीं देते हैं, तो यह माना जाएगा कि वे सीएलपी से अपनी सदस्यता वापस ले रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- कोरोना वायरस: 24 घंटे में सबसे ज़्यादा 29,429 नए मामले सामने आए, 582 लोगों की मौत

पांडे ने आगे कहा कि भगवान सचिन पायलट को ज्ञान दें और वह सरकार को गिराने की कोशिश न करें। उन्हें अपनी गलती स्वीकार करनी चाहिए। वार्ता के लिए दरवाजे उनके लिए हमेशा खुले थे और आज भी खुले हैं। लेकिन, अब वह इस सब से आगे निकल गए हैं, इसलिए ये चीजें अब मायने नहीं रखती हैं।

इन विधायकों को जारी हुआ नोटिस

यह नोटिस उन विधायकों को जारी किया गया है। जो कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नहीं शामिल हुए हैं। सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पी.अर.मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया को नोटिस भेजा गया है।

इसके अलावा हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत को नोटिस भेजने की खबरें है। कांग्रेस विधायक दल की बैठक के लिए मुख्य सचेतक महेश जोशी ने व्हिप जारी किया था। इन विधायकों पर व्हिप का उल्लंघन करने का आरोप है।

गौरतलब है, कि राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस ने सचिन पायलट पर बड़ी कार्रवाई करते हुए मंगलवार को उन्हें उपमुख्यमंत्री पद और प्रदेशाध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया। पद से हटाए जाने के बाद पायलट पर आरोप है कि वह भाजपा के साथ मिलकर सरकार गिराना चाहते हैं। उन्होंने कांग्रेस के साथ धोखा किया है। लेकिन उन्होंने इस बात का खंडन किया है।

उन्होंने कहा है कि वह अभी भी कांग्रेस में हैं और फिलहाल भाजपा में नहीं जा रहे हैं। पायलट ने कहा है कि सरकार गिराने की बात करना गलता है, मैं अपनी ही पार्टी के खिलाफ ऐसा क्यों करूंगा।पायलट कहा पार्टी विरोधी गतिविधियों और कांग्रेस विधायकों की दो बैठकों में शामिल नहीं होने पर उन्हें अयोग्य क्यों नहीं ठहराया जाना चाहिए। इस बात को वे स्पष्ट करें। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

कोरोना वायरस: 24 घंटे में सबसे ज़्यादा 29,429 नए मामले सामने आए, 582 लोगों की मौत

Published

on

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है पिछले 24 घंटाें के दौरान अब तक के सबसे ज्यादा 29 हजार से अधिक नये मामले सामने आये हैं जिससे संक्रमितों का आंकड़ा 9.36 लाख के पार पहुंच गया है हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान इससे 20 हजार से अधिक रोगी ठीक भी हुए हैं।

यह भी पढ़ें: क्या होगा सचिन पायलट का अगला कदम, मौजूदा हालात पर BJP की नजर


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश भर में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 29,429 नये मामले सामने आये हैं जिससे संक्रमितों की संख्या 9,36,181 हाे गयी है। इससे पहले तीन दिन तक लगातार 28 हजार से अधिक मामले सामने आये थे। पिछले 24 घंटों के दौरान 582 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 24,309 हो गई है।

संक्रमण के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच राहत की बात यह है कि इससे स्वस्थ होने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है और पिछले 24 घंटों के दौरान 20,572 से अधिक रोगी स्वस्थ हुए हैं जिन्हें मिलाकर अब तक कुल 5,92,032 रोगमुक्त हो चुके हैं। देश में अभी कोरोना संक्रमण के 3,19,840 सक्रिय मामले हैं।

कोरोना महामारी से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटाें में संंक्रमण के 6,741 नये मामले सामने आये जिससे संक्रमितों का आंकड़ा 2,67,665 पर पहुंच गया है। इसी अवधि में 213 लोगों की मौत हुई है जिसके कारण मृतकों की संख्या 10,695 हो गयी है। वहीं 1,49,007 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

क्या होगा सचिन पायलट का अगला कदम, मौजूदा हालात पर BJP की नजर

Published

on

जयपुर: राजस्थान के गहलोत सरकार ने मंत्रिमंडल से सचिन पायलट को हटा दिए है। सचिन को मंत्रिमंडल से हटाए जाने के बाद बीजेपी सरकार राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर सक्रिय होती नजर आ रही है। फिलहाल, बीजेपी अभी मौजूदा हालात पर अपनी नजर बनाये हुए है।

यह भी पढ़ें: राजदीप के पिता प्यारेलाल रैकवार के निधन पर प्रिंयका गांधी ने भेजा शोक संवेदना पत्र

बता दें कि मंगलवार दिनभर भाजपा नेताओं ने इस मुद्दे पर मंथन किया। सूत्रों के मुताबिक कहा जा रहा है कि बुधवार (आज)  भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की राजस्‍थान के सियासी घटनाक्रम पर चर्चा होगी। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर समेत पार्टी के वरिष्‍ठ नेता उपस्थित रहेंगे।


वहीं सभी की निगाहें सचिन पायलट के अगले कदम पर टिकी हुई हैं। सूत्रों के मुताबिक कहा जा रहा है कि वह बुधवार सुबह 10 बजे प्रेस कांफ्रेंस कर अपने अगले कदम का ऐलान कर सकते हैं।अपने खिलाफ पार्टी की तरफ से अनुशासनात्‍मक कार्रवाई होने के बाद उन्‍होंने अगले कदम पर चुप्‍पी साध रखी है।

भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं पायलट 

उधर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि बगावत करने वाले सचिन पायलट के हाथ में कुछ नहीं है और वे केवल भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं। भाजपा मध्य प्रदेश के खेल को राजस्थान में भी दोहराना चाहती थी और ‘यह सब’ पिछले छह महीने से चल रहा था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 15, 2020, 5:23 pm
Partly sunny
Partly sunny
33°C
real feel: 43°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 79%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 8
sunrise: 4:53 am
sunset: 6:32 pm
 

Recent Posts

Trending