Connect with us

देश

मूर्ति मामला: सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर मायावती ने पैसे लौटाने से किया इंकार, जानिए वजह   

Published

on

सुप्रीम कोर्ट

फाइल फोटो

नई दिल्ली। बसपा सुप्रीमो मायावती ने शहरों में अपने द्वारा बनवाई गई हाथी मूर्तियों पर खर्च किए गए पैसों को सही जगह लगाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट के समक्ष हलफनामा दायर किया है। कोर्ट में उन्होंने जो हलफनामा पेश किया है उसमें लिखा है कि मूर्तियां बनवाना लोगों की इच्छा थी। इसलिए उन्होंने हलफनामा दायर कर पैसे देने से साफ मना कर दिया है।

मायावती ने कहा जब मैं मुख्यमंत्री पद पर थी, तो उस दौरान इन मूर्तियों को बनवाने के लिए उचित बजट का आंवटन किया गया था। इतना ही नहीं इन मूर्तियों पर खर्च किए पैसों पर आगे बात करते हुए कहा कि पैसों को चाहे शिक्षा पर खर्च किया जाए या अस्पतालों पर यह अलग बात हैं। हालांकि यह कोर्ट नहीं तय कर सकता है। मूर्तियों पर आगे बात करते हुए मायावती ने कहा कि यह बस लोगों को प्रेरणा दिलाने के लिए बनवाई गई थी।

ये भी पढ़े:लोकसभा चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को लगा झटका, इस विधायक ने छोड़ा साथ, थामा कांग्रेस का हाथ

मायावती ने ये भी कहा कि शहर में हाथी की मूर्तियां महज हस्तशिल्प को दर्शाती हैं न कि वह बीएसपी का प्रचार-प्रसार करती हैं। मायावती ने अपने हलफनामें में ये भी कहा कि बस दलित द्वारा बनाई गई मूर्तियों को ही क्यों मुद्दा बनाया जा रहा है जबकि बीजेपी और कांग्रेस ने भी इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, सरदार पटेल, शिवाजी की मूर्तियों की स्थापना की है। उनसे सवाल क्यों नहीं कर रही है कोर्ट।

आपको बता दें सुप्रीम कोर्ट में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठम पर आज हलफनामे पर फैसला हो सकता है। इससे पहले कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था कि मायावती को मूर्तियों में खर्च की गई सरकारी धनराशि को लौटना चाहिए।http://www.satyodaya.com

 

देश

पीएम मोदी ने आधार को सोशल मीडिया से जोड़ने के प्रस्ताव पर कही ये बात…

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा में पीएम मोदी ने आधार को सोशल मीडिया से जोड़ने के प्रस्ताव को लेकर यह बात बुधवार को स्पष्ट कर दी है। उन्होंने कहा कि आधार और सोशल मीडिया प्रोफाइल को जोड़ने का केंद्र सरकार का कोई प्रस्ताव नहीं है।

बता दें कि इससे पहले अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट ने सोशल मीडिया अकाउंट को आधार कार्ड से जोड़ने की याचिका को खारिज कर दिया था। दरअसल सोशल मीडिया को आधार से लिंक करने का मामला लंबे समय से चर्चा में हैं। इसके पीछे दावा किया जाता रहा है कि इससे फेक न्यूज और पेड न्यूज पर लगाम लगेगी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही इस संबंध में एक याचिका को खारिज कर दिया था।

यह भी पढ़ें:- आजम, तंजीन और अब्दुल्ला के खिलाफ अदालत ने जारी किया गैर जमानती वारंट

बीजेपी नेता और अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय की ओर से दाखिल की गई याचिका में कहा गया था कि आधार से सोशल मीडिया अकाउंट्स जोड़े जाने से फर्जी अकाउंट पर लगाम लगाई जा सकती है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

किसानों के हितों व उनकी भलाई को लेकर गंभीर है सरकार: नरेन्द्र सिंह तोमर

Published

on

फाइल फोटो

नई दिल्ली। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बीते बुधवार को संसद परिसर में कहा कि मोदी सरकार किसानों के हितों और उनकी भलाई को लेकर गंभीर है। उन्होंने कहा कि देशभर में इस बार बारिश से किसानों का काफी नुकसान हुआ है। जिसका राज्य स्तर पर आंकलन किया जा रहा है। राज्य सरकारों द्वारा किसानों को बारिश से हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है। राज्यों से जब नुकसान की रिपोर्ट आ जाएगी उसके बाद केंद्र सरकार वहां के किसानों के लिए रकम देगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार किसानों के हितों को लेकर शुरू से ही गंभीर है।

उन्होंने महाराष्ट्र के किसानों के साथ भेदभाव की बात को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि सरकार सभी राज्यों के साथ समान व्यवहार कर रही है।

यह भी पढ़ें: तुर्की: एफ 35 विमान पर नीति में बदलाव करे अमेरिका


पी. चिदंबरम के जमानत याचिका को लेकर उच्चतम न्यायालय ने ईडी को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

उच्चतम न्यायालय ने आईएनएक्स मीडिया धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम की जमानत याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को बुधवार को नोटिस जारी किए। न्यायमूर्ति आर भानुमति की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने चिदम्बरम की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल व अभिषेक मनु सिंघवी की दलीलें सुनने के बाद ईडी को नोटिस जारी करके जवाब तलब किया है। न्यायलय ने मामले की सुनवाई के लिए 26 नवंबर की तारीख मुकर्रर की है। ईडी को उससे पहले तक जवाब सौंपने को कहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

दिल्ली, लखनऊ समेत उत्तर भारत में महसूस किए गए भूकंप के झटके

Published

on

लखनऊ। दिल्ली-एनसीआर, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में कुछ हिस्सों में मंगलावर शाम को भूकंप के झटके महसूस किए गए है। लखनऊ सहित प्रदेश के कौशाम्बी, मुरादाबाद में करीब 7 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए।

भूकंप के झटके का एहसास होने के बाद लोग अपने घरों, दफ्दरों और दुकानों से बहार निकलकर सड़क पर आ गए। सूत्रों के अनुसार किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है। वहीं, दिल्ली-एनसीआर में रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5 मापी गयी है। भारत-नेपाल सीमा के पास भूकंप का केंद्र था।

यह भी पढ़ें:- गुजरात में आया 4.3 तीव्रता का भूकंप, जान-माल के नुकसान की खबर नहीं

जानकारी के मुताबिक आज आए भूकंप का केंद भारत-नेपाल सीमा के पास पाया गया। सोमवार को गुजरात में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। जहां 4.3 तीव्रता मापी गई थी। जिसका केंद्र भचाऊ के पास था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 20, 2019, 8:49 pm
Fog
Fog
19°C
real feel: 19°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 82%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:59 am
sunset: 4:45 pm
 

Recent Posts

Trending