Connect with us

Featured

अयोध्या पर सुप्रीम फैसला Live… विवादित ढांचे की भूमि हिंदुओं को दी जाए

Published

on

लखनऊ। अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने विवादित जमीन को हिंदुओं को देने का फैसला दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में पांच जजों की संविधान पीठ ने यह ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सभी जजों ने एकमत होकर ये फैसला सुनाया है। इस पीठ में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अतिरिक्त जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस अब्दुल नजीर, जस्टिस धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ शामिल रहे।

हाइलाइट्स

मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन फैसले में कई विरोधाभास है, इसलिये हम फैसले से संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि हम इस फैसले का मूल्यांकन करेंगे और आगे की कार्रवाई पर फैसला लेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को 3 महीने के अंदर ट्रस्ट के लिए नियम बनाने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि विवादित ढ़ाचे की जमीन हिंदू पक्ष को दी जाए। सरकार मंदिर के लिए ट्रस्ट बनाएगी।

सुप्रीम कोर्ट ने मुसलमानों को मस्जिद के लिए अयोध्या में ही अहम और उचित जगह पर वैकल्पिक जमीन देने के लिए कहा है। केंद्र या राज्य सरकार मस्जिद केे लिए 5 एकड़ जमीन दे ।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस बात के प्रमाण हैं कि अंग्रेजों के आने के पहले से राम चबूतरा और सीता रसोई की हिंदू पूजा करते थे। रेकॉर्ड्स के सबूत बताते हैं कि विवादित जमीन के बाहरी हिस्से में हिंदुओं का कब्जा था।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुस्लिम पक्ष भूमि पर अपना दावा साबित करने में नाकाम रहा है।

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि आस्था के आधार पर भूमि का मालिकाना हक नहीं दिया जा सकता है। कोर्ट का कहना है कि फैसला कानून के आधार पर होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी है।

शिया वक्फ बोर्ड का दावा एकमत से खारिज, सीजेआई गोगोई ने कहा, ‘हमने 1946 के फैजाबाद कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली शिया वक्फ बोर्ड की सिंगल लीव पिटिशन (SLP) को खारिज करते हैं।

चीफ जस्टिस ने कहा एएसआई की जांच को ध्यान में रखकर फैसला दिया गया है।

अयोध्या मामले पर निर्मोही अखाड़ा का सूट खारिज किया गया

रामजन्म भूमि कानूनी व्यक्ति नहीं है: सुप्रीम कोर्ट

चीफ जस्टिस ने कहा कि एएसआई की रिपोर्ट के अनुसार नीचे मंदिर था। लेकिन एएसआई ये नहीं बता पाया कि मस्जिद मंदिर तोड़ कर बनाई गई है।

चीफ जस्टिस ने कहा कि मुस्लिम गवाह भी ये बात मानते हैं कि दोनों ही पक्ष वहां पूजा करते थे।

Featured

प्रदेश में रोजगार और रोजी रोटी का संकट: अखिलेश यादव

Published

on

बड़ी संख्या में छोटे व्यापारी हो रहे प्रताड़ित

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश में लोगों के सामने रोजगार और रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया। सरकार की उदासीनता और अदूरदर्शिता से प्रदेशवासियों के सामने बहुत बड़ी समस्या पैदा हो रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश को ठप कर सरकार ने करोना संक्रमण को रोकने के लिए जो ढोल पीटा था वह असफल हो गया।

अखिलेश ने बताया कि सरकार ना तो व्यापारियों की कोई मदद कर रही और ना तो दुकानों को खोलने का कोई दिशा निर्देश स्पष्ट है। सरकार कुछ कहती है। अधिकारी कुछ और डंडा चलाते है। बड़ी संख्या में छोटे व्यापारी प्रताड़ित किए जा रहे हैं। सरकारी अधिकारी और कर्मचारी व्यापारियों के ऊपर जबरन जुर्माना ठोक रहे हैं।

यह भी पढ़ें :- हर जरूरतमंद के खाते में 10 हजार रुपए तत्काल डाले सरकार: प्रियंका गांधी

उन्होंने कहा कि दो माह लॉक डाउन के चलते पहले से ही भुखमरी के कगार पर पहुंच गए व्यापारी अब इस सरकारी आतंक और जुर्माने को कैसे झेल पाएंगे? डंडे के बल पर सरकारी कर्मचरियों और अधिकारियों ने व्यापारियों में डर और आतंक कायम कर रखा है। लोकतंत्र में यह अन्यायपूर्ण व्यवस्था अवैधानिक और अनैतिक है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां तक व्यापार जगत की बात है लॉकडाउन अवधि में बाजार बंदी से सर्वाधिक प्रभावित छोटे व्यापारी हुए हैं। सड़क किनारे बैठकर या ठेला पर सामान बेचने वाले, गाड़ियों की मरम्मत करने वाले मैकेनिक, कपड़े के व्यापारी, दर्जी, मोची, स्टेशनरी और पुस्तक विक्रेता, बिजली सामान के विक्रेता, कुम्हार, धोबी, तेली, नाई, बढई, फल विक्रेता, चाय दुकानदार और दूसरे छोटे-मोटे व्यापार कर अपनी आजीविका चलाने वालों की जिंदगी के ये दिन बहुत ही कष्ट कारक हैं। ये सब रोज कमाकर खाने वाले हैं। इन्हें कोई भी राहत नहीं दी गई।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

लोक गायिका मालिनी अवस्थी के पिता का निधन…

Published

on

लखनऊ। चर्चित लोक गायिका मालिनी अवस्थी के पिता का गुरुवार को निधन हो गया। इस दुःखुद समाचार की जानकारी उत्तर प्रदेश सूचना विभाग के डायरेक्टर शिशिर ने अपने ट्वीटर हैंडल से दी। मालिनी अवस्थी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद विश्वास पात्र अफसर अवनीश अवस्थी की पत्नी हैं।

अवनीश अवस्थी वर्तमान समय में योगी सरकार अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

जमानत मिलने के बाद फिर गिरफ्तार हुए कांग्रेस नेता अजय लल्लू, 14 दिन के लिए भेजे गए जेल

Published

on

लखनऊ। कोरोना काल के बीच रजनीतिक उठापटक जारी है। साथ ही बस मामला अब रजनीतिक तूल पकड़ चुका है। आगरा में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ़्तारी के बाद लखनऊ पुलिस देर रात अजय लल्लू को राजधानी लेकर पहुंची। इस दौरान पुलिस ने अजय लल्लू का मेडिकल चेकअप कराया और कोरोना जांच करवाई। इसके बाद सीधे लखनऊ पुलिस ने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने अजय लल्लू को पेश किया। जहां उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

अजय लल्लू को लखनऊ लाने की सूचना पुलिस को पहले से ही थी। इसके चलते हजरतगंज से लेकर महानगर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई। पुलिस ने अजय कुमार लल्लू का आगरा से सीधे महानगर स्थित सिविल में मेडिकल चेकअप कराया और कोरोना जांच करवाई। इसके बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने उन्हे पेश किया गया, जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। अजय लल्लू के लखनऊ लाने की सूचना जैसे ही पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को मिली वाह मिलने पहुंच गए। हालांकि भारी पुलिस बल होने के चलते कोई अजय कुमार लल्लू से नही मिल सका।

यह भी पढ़ें: खुशखबरी! एक जून से चलने वाली ट्रेनों की आज से कीजिये बुकिंग, देखें पूरी लिस्ट

इस दौरान कांग्रेस विधान मंडल दल कि नेता आराधना मिश्रा अजय कुमार लल्लू के वकील सहित कांग्रेसी न्यायिक मजिस्ट्रेट क आवास पहुंचे। आराधना मिश्रा ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है। गिरफ़्तारी के बाद से प्रदेश अध्यक्ष से बात तक नही हो सकी। इसके बाद सीधे आराधना मिश्रा सहित कई कांग्रेसी नेता तेलीबाग स्थित सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस पहुंच गए, जहां कार्यकर्ताओं ने देर रात तक प्रदर्शन कर नारेबाजी की।

दरसल कांग्रेस की ओर से बॉर्डर पर खड़े श्रमिकों को छोड़ने के लिये एक हज़ार बस का इंतेज़ाम करने का दावा किया था। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की ओर से लगातार राज्य सरकार को पत्र लिख कर बस से श्रमिको को छोड़ने कि परमीशन मांगी गई थी। कई दिनों तक दोनो तरफ़ से लेटर बाज़ी का दौर चलता रहा। वही प्रियंका गांधी से बस का विवरण सरकार से मांगा गया। इस पर प्रियंका गांधी के निजी सचिव की ओर से बसों का विवरण दिया। जिसमें कई बसों की जगह एंबुलेंस और ऑटो के नंबर थे। जब इसकी जांच की गई तो जानकारी ग़लत देने की बात सामने आई। आरटीओ लखनऊ की ओर से मंगलवार रात हजरतगंज थाने में प्रियंका गांधी के निजी सचिव, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अन्य के खिलाफ 420 के साथ कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया। लखनऊ पुलिस ने आगरा से अजय लल्लू को गिरफ्तार किया और देर रात उनका मेडिकल चेकअप कराने के बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 2, 2020, 10:36 am
Mostly cloudy
Mostly cloudy
31°C
real feel: 38°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 70%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:27 pm
 

Recent Posts

Trending