Connect with us

देश

जामिया, एएमयू बवाल पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, हिंसा जारी रहने तक नहीं करेंगे सुनवाई

Published

on

कहा, छात्रों को हिंसा ओर अगजनी करने का अधिकार नहीं

लखनऊ। नागरिकता कानून के विरोध में देश भर के विश्वविद्यालयों और शैक्षिक संस्थानों में हिंसक प्रदर्शन कर रहे छात्रों को सुप्रीम कोर्ट ने दो टूक जवाब दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा, आप छात्र हैं तो इसका ये मतलब नहीं कि आप को हिंसा और आगजनी करने का अधिकार है। दिल्ली की जामिया और अलीगढ. मुस्लिम यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन का मुद्दा सोमवार को सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया। याचिका कर्ताओं ने कहा कि जामिया और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी में छात्रों पर पुलिस की बर्बरता असंवैधानिक है। इस मामले में याचिका कर्ताओं ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है।

यह भी पढ़ें-रोडवेज बस व डंपर की हुई टक्कर, महिला समेत 2 लोगों की मौत, अन्य घायल…

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील इंदिरा जय सिंह और काॅलिन गोंजालवेज ने मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की बेंच से इस मामले में सुनवाई की मांग की है। याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सीजेआई एसए बोबडे ने छात्र हिंसा पर सवाल खड़े किए। सीजेआई ने कहा कि जब तक हिंसा जारी रहेगी, कोर्ट कोई सुनवाई नहीं करेगा। पहले छात्रों का उपद्रव रुकवाया जाए। यदि कल (मंगलवार) हिंसा नहीं हुई तो 17 दिसंबर को कोर्ट सुनवाई करेगा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि छात्रों को यह अधिकार नहीं है कि वह सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाएं, आगजनी करें। सीजेआई ने कहा, हम अधिकार सुनिश्चित करेंगे, लेकिन हिंसा थमने के बाद। कहा कि हम शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के खिलाफ नहीं हैं लेकिन हिंसा को सही नहीं ठहराया जा सकता। याचिकाकर्ताओं ने मांग की कि रिटायर्ड जजों की एक कमेटी गठित कर जामिया कैंपस में भेजी जाए, ताकि स्थिति नियंत्रण में आ सके। याचिका कर्ता जय सिंह ने कहा कि पूरे देश में मानवाधिकार की स्थिति नाजुक है। #JamiaMilia

दिल्ली हाईकोर्ट का तुरंत सुनवाई से इनकार

वहीं जामिया में भारी बवाल के बाद छात्रों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में दायर याचिका पर तत्काल सुनवाई से कोर्ट ने इनकार कर दिया है। याचिकाकर्ता ने जामिया यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा की न्यायिक जांच की मांग की है। साथ ही कहा है कि पुलिस हिरासत में लिए गए 52 छात्रों को मेडिकल सहायता और मुआवजा दिया जाए। दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा कि वे कोर्ट तक रजिस्ट्री के माध्यम से ही पहुंचें। #JamiaProtests

यह भी पढ़ें-जामिया, एएमयू छात्रों के समर्थन में उतरे लखनऊ के सामाजिक संगठन

बता दें कि जामिया यूनिवर्सिटी में पिछले कई दिनों से सीएए के विरोध में छात्र प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन रविवार रात को अचानक प्रदर्शन उग्र और हिंसक हो गया। छात्रों ने कई बसों और वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इसके बाद यूपी की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी छात्रों ने उग्र प्रदर्शन शुरू कर दिया। एएमयू में छात्रों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए जामिया और एएमयू में पुलिस व सुरक्षा बलों ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया, आंसू गैस के गोले भी दागे। http://www.satyodaya.com

देश

एक सिर्फ तब्लीगी जमात ही कसूरवार नहीं: सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी

Published

on

ऑल इण्डिया मोहम्मदी मिशन ने इलेक्ट्रानिक मीडिया की कवरेज पर उठाए सवाल

लखनऊ। आज पूरी दुनिया कोरोना महामारी से मुकाबला कर रही है। भारत कोरोना के साथ भूख से भी लड़ रहा है। भारत में गरीबों की संख्या करीब 80 करोड़ है। इनमें से करोड़ों लोगों को दो वक्त की रोटी और साफ पानी मुश्किल से मिल पाता है। इन सब के बीच भारतीय इलेक्ट्रानिक मीडिया इन सब पर चर्चा न करके कोरोना को एक कलह के रूप में पेश कर रहा है। लेकिन गंगा-जमुनी तहजीब का यह मुल्क ऐसे किसी मंसूबे को कामयाब नहीं होने देगा।

यह भी पढ़ें-इस्काॅन मंदिर में हर रोज 10 हजार लोगों को भोजन खिलाएंगे सौरभ गांगुली

यह बातें शनिवार को ऑल इण्डिया मोहम्मदी मिशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी ने मीडिया में एक बयान जारी कर कहीं। अशरफ किछौछवी ने कहा, दिल्ली के तब्लीगी जमात के मरकज के मामले को जिस तरह दिखाया जा रहा है, वह काबिले मजम्मत है। कहा कि यह सही है कि तब्लीगी जमात के जिम्मदारों से गलती हुई है और उन्हें ऐसा मान भी लेना चाहिए। लेकिन इसके लिए केवल वही कसूरवार नहीं हैं। ऑल इण्डिया मोहम्मदी मिशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा, इलेक्ट्रानिक मीडिया से मेरा अनुरोध है कि किसी भी मामलात का तिल का ताड़ न बनाएं।

’अशरफी किचन’ कर रहा जरूरतमंदों की मदद

सैयद जुनैद अशरफ किछौछवी ने बताया कि ऑल इण्डिया मोहम्मदी मिशन की रहनुमाई में ’अशरफी किचन’ का आगाज हुआ है। इस किचन के माध्यम से कई गरीब परिवारों को उन्हें एक वक्त का खाना और एक नाश्ते की किट भी दी जा रही है। जिसमें दूध भी शामिल है। ‘‘अशरफी किचन’’ के जिम्मेदारान हजरात को अगर लोगों का और साथ मिला तो वह कई और परिवारों को मदद मुहैया की जाएगी। किछौछवी ने लोगों से अपील की कि जो समर्थ हैं वह ‘‘अशरफी किचन’’ के भागीदार बनें। या फिर अपने इलाके या कालोनी में इस तरह का किचन खोलकर कोरोना मोतासिर लोगों की मदद करें। क्योंकि हमने तो समझा था कि चंद लोग ही भूखे हैं लेकिन जब लेके निकले राशन तो कई घर निकल आएं।

जो बिल में छिपेंगे वही बचे रह जाएंगे

लाॅकडाउन का सभी पालन करें। इसी उनकी और पूरे मुल्क की भलाई है। जंगल में आग लगने पर जो जानवर बिल में छिप जाते हैं वही बचते हैं, यह चीज जितनी जल्दी आप समझेंगे उतने आप समझदार कहलाए जायेंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

इस्काॅन मंदिर में हर रोज 10 हजार लोगों को भोजन खिलाएंगे सौरभ गांगुली

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली कोलकाता में गरीब लोगों की मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने इस्कॉन मंदिर की मदद करके करीब 10 हजार लोगों के भोजन का इंतजाम किया है। मास्क और दस्ताने पहनकर भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान ने इस्कॉन आकर मदद का वादा किया। इस्कॉन मंदिर के प्रवक्ता और उपाध्यक्ष राधारमन दास ने कहा कि हम रोज दस हजार लोगों का खाना बना रहे थे। सौरभ (गांगुली) दा ने हमारी मदद की है और अब हम रोज 20000 लोगों को खाना दे रहे हैं।

इससे पहले गांगुली ने रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय बेलूर मठ में 20,000 किलो चावल दान दिए थे। दास ने कहा मैं दादा का बड़ा प्रशंसक हूं और क्रिकेट के मैदान पर उनकी कई पारियां देखी हैं। यहां भूखों को भोजन कराने की उनकी यह पारी सर्वश्रेष्ठ है। हम उन्हें धन्यवाद देते हैं।

यह भी पढ़ें-15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेने, रेलवे बोर्ड ने कर्मचारियों से कहा- तैयार रहें

बता दें कि इस्कॉन मंदिर पूरे देश में रोजाना 4 लाख लोगों को खाना खिला रहा है। सौरव गांगुली ने कोलकाता के इस्कॉन मंदिर में अपनी मदद दी है। कोलकाता का ये इस्कॉन मंदिर अब गांगुली की वजह से रोजाना 20 हजार लोगों को खाना खिला पाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

अपने कर्मवीर योद्धाओं का पूरा ख्याल रख रहा उत्तर रेलवे: वाणिज्य प्रबन्धक

Published

on

लाॅकडाउन के बाद भी मालगाड़ियों से जरूरी सामन की हो रही ढुलाई

लखनऊ। देश इस समय कोरोना महामारी का सामना कर रहा है। जिसके चलते पूरे देश को 14 अप्रैल तक के लिए लाॅकडाउन कर दिया गया है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए रेलवे ने अपनी यात्री सेवाओं को भी ठप कर दिया है। लेकिन मालगाडि.यों का संचालन लगातार जारी है। ताकि देश के विभिन्न हिस्सों में जीवन के लिए जरूरी खाद्यन्न व मेडिकल सामान सहित अन्य वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध जारी रहे। इस काम में रेलवे के सैकड़ों कर्मचारी अपनी ड्यूटी दे रहे हैं।
अपनी ड्यूटी के साथ उत्तर रेलवे कई जनकल्याणकारी गतिविधियों का भी संचालन कर रहा है। जिनमें आपदा से प्रभावित गरीबों, असहायों, निर्बलों तथा जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन, खाद्य सामग्री तथा अन्य उपयोगी वस्तुएं वितरित की जा रही हैं।

यह जानकारी देते हुए वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबन्धक उत्तर रेलवे, लखनऊ जगतोष शुक्ला ने बताया कि भारतीय रेलवे अपने इन योद्धाओं का भी पूरा ख्याल रखा है। संक्रमण से बचाने के लिए स्वच्छता, सेनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। मंडल के प्रमुख स्टेशनों सहित मंडल के समस्त स्टेशनों पर स्वच्छता संबंधी विशेष कार्यप्रणाली को अमल में लाया जा रहा है। जिसमें लगभग 600 से अधिक सफाई कर्मचारी और स्वास्थ्य निरीक्षक लखनऊ, वाराणसी, फैजाबाद, अयोध्या, अकबरपुर, बाराबंकी, रायबरेली, प्रयाग, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर एवं उन्नाव रेल स्टेशनों पर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। सभी कर्मचारियों के लिए मास्क, सेनिटाइजर दस्ताने आदि की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गयी है। समस्त स्टेशनों एवं मंडल के परिसरों तथा कार्यालयों को सोडियम हाइपो क्लोराइड से नियमित रूप से सेनेटाइज किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें-गोण्डा में सपा नेताओं की हत्या के लिए अखिलेश ने सत्ता पक्ष को ठहराया जिम्मेदार

जगतोष शुक्ला ने बताया कि सरकार के निर्देशों के अनुरूप जरूरी सामान की ढुलाई की जा रही है। कार्य के दौरान सोशल डिस्टेंस एवं स्वच्छता का भी पूर्ण ध्यान रखा जा रहा है। मंडल के विभिन्न स्टेशनों पर कार्यरत वाणिज्य निरीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे सभी अत्यंत योजनाबद्ध प्रारूप में सुरक्षा संबंधी समस्त मानकों के साथ अपनी कार्यप्रणाली को व्यवस्थित करें। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वे सभी अपने स्टेशन पर अधीनस्थ कर्मचारी एवं उनके परिवारजनों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के प्रति भी जागरुक रहें। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 5, 2020, 11:37 am
Sunny
Sunny
30°C
real feel: 35°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 30%
wind speed: 1 m/s W
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 9
sunrise: 5:23 am
sunset: 5:56 pm
 

Recent Posts

Trending