Connect with us

देश

जालसाजों ने नुसरत जहां के पति निखिल जैन को लगाया 45 हजार का लगाया चूना, जानिए वजह….

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ। टीएमसी कांग्रेस सांसद और बंगाली एक्ट्रेस नुसरत जहां के बिजनेसमैन पति निखिल जैन को वीआईपी फोन नंबर देने के मामले में 45 हजार का चूना लगा दिया। जालसाजों ने निखिल से प्रॉमिस किया था वह उनके फेवेरेट नंबर को दिलवा देंगे।  

जानकारी मुताबिक अभी हाल ही में नुसरत जहां ने तुर्की में पति निखिल जैन के साथ सात फेरे लिए थे। शादी के तुरंत बाद उन्होंने संसद पहुंचकर सांसद पद की शपथ ग्रहण की थी। रंगोली साड़ी के मालिक निखिल जैन अपनी रिसेप्‍शन पार्टी से एक दिन पहले उन जालसाजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया था।

ये भी पढ़े:‘जय श्री राम’ नारे का बंगाली संस्कृति से कोई लेना-देना नहीं है : अमर्त्य सेन

कोलकाता पुलिस के साइबर सेल ने शिकायत मिलने के बाद मामला दर्ज कर लिया है, लेकिन अभी तक किसी जालसाजों की गिरफ्तारी नही हुई है। ऐसा नहीं है कि केवल निखिल ही जालसाजों का शिकार बने हैं। कोलकाता के कई लोगों को पैसे लेकर वीआईपी फोन नंबर दिलवाने के लिए मेसेज भेजा गया है। इनमें से कई लोग धोखाधड़ी के शिकार हुए हैं।

ये भी पढ़े:बजट 2019: वित्त मंत्री सीतारमण ने समझी रेलवे की स्थिति, निवेश की पूरी कार्ययोजना का किया ऐलान….

हालांकि दिल्‍ली पुलिस की एक टीम द्वारा 4 साल पहले साल्‍ट लेक में वीआईपी नंबर देने का धोखाधड़ी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करने के बाद ये शिकायतें आई हैं। निखिल जैन की एफआईआर के मुताबिक 26 मई के बाद किसी दिन आरोपी ने आपराधिक साजिश के तहत एक टेलिकॉम कंपनी के अधिकारी के ईमेल से कई मेसेज भेजे थे। वहीं जालसाजों ने वीआईपी नंबर देने के बदले एक निजी खाते में 45 हजार रुपये जमा करने के लिए कहा था।

जो कि वह अकाउंट वडोदरा गुजरात के सुभानपुरा ब्रांच में है। इस धोखाधड़ी के संबंध में आईटी ऐक्‍ट और आईपीसी की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। जिसके बाद से साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

‘जय श्री राम’ नारे का बंगाली संस्कृति से कोई लेना-देना नहीं है : अमर्त्य सेन

Published

on

नोबल पुरस्कार प्राप्त अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में कहा आजकल देशभर में ‘जय श्री राम’ नारे का इस्तेमाल लोगों को पीटने के लिए किया जा रहा है। यह नारा बंगाली संस्कृति का हिस्सा नहीं है।

उन्होंने जादवपुर विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम में कहा कि मां दुर्गा बंगालियों के जीवन में सर्वव्यापी हैं। उन्होंने कहा, जय श्री राम नारा बंगाली संस्कृति से नहीं जुड़ा है। आज कल राम नवमी लोकप्रियता हासिल’ कर रही है और उन्होंने पहले कभी इसके बारे में नहीं सुना था।

उन्होंने कहा, मैंने अपनी 4 साल की पोती से पूछा कि उसके पसंदीदा भगवान कौन है? उसने जवाब दिया कि मां दुर्गा। मां दुर्गा हमारी जिंदगी में मौजूद हैं। मुझे लगता है कि जय श्री राम जैसा नारा लोगों को पीटने के लिए आड़ के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।

अमर्त्य सेन के इस बयान पर पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्‍यक्ष दिलीप घोष ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘अमर्त्‍य सेन शायद बंगाल के बारे में नहीं जानते। क्‍या उन्‍हें बंगाली और भारतीय संस्‍कृति की जानकारी है ? जय श्रीराम हर गांव में बोला जाता है। अब पूरा बंगाल यही कह रहा है।’

Continue Reading

देश

मायावती ने आज बुलाई 9 मंडलों की बैठक, नेताओं के साथ नई रणनीति पर करेंगी चर्चा

Published

on

लोकसभा चुनाव के परिणामों के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को मंडल स्‍तरीय नेताओं की बैठक बुलाई है। वहीं बैठक के दौरान मायावती आज लखनऊ, गोरखपुर, आजमगढ़, इलाहबाद, फैजाबाद, देवीपाटन मंडल समेत 9 मंडल के नेताओं के साथ आगामी रणनीति को लेकर चर्चा करेंगी। जानकारी के मुताबिक, वह 12 विधानसभा सीटों के उपचुनावों की तैयारियों के मुद्दे पर अहम चर्चा कर सकती हैं। बता दें कि इससे पहले 2 जुलाई को बसपा सुप्रीमो ने बरेली, चित्रकूट, कानपुर, झांसी, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, आगरा और अलीगढ़ के नेताओं के साथ बैठक की थी।

ये भी पढ़े: धारा 370 के विरोधी थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी, जानिए उनकी कुछ खास बातें

मतावती ने यूपी को 4 सेक्टरों में बांटने के साथ संगठन को मजबूत बनाने का निर्देश दिया है। सेक्टर गठन के बाद वह पहली बार संगठन की गतिविधियों को लेकर बैठकें करने जा रही हैं। साथ ही इसमें बूथ व सेक्टर गठन के साथ भाईचारा कमेटियां बनाने में अब तक हुई प्रगति की जानकारी भी लेंगी। इसी क्रम वह यूपी में 12 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों संबंध में भी जरूरी दिशा-निर्देश देंगी। बता दें कि सेक्टर एक में लखनऊ, बरेली, कानपुर, चित्रकूट, झांसी, सेक्टर दो में मुरादाबाद, अलीगढ़, आगरा, सहारनपुर, मेरठ है। वहीं सेक्टर तीन में इलाहाबाद, वाराणसी, मिर्जापुर व आजमगढ़, सेक्टर चार में गोरखपुर, देवीपाटन, बस्ती और फैजाबाद मंडल है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

केंद्रीय बजट से नाराज दिखे चंद्रबाबू नायडू, कहा- आंध्र प्रदेश के लोगों के अनुरूप नहीं….

Published

on

फाइल फोटो  

नई दिल्ली। तेलुगु देशम पार्टी के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट को निराशाजनक बताया है। चंद्रबाबू नायडू ने कहा यह बजट आंध्र प्रदेश के लोगों की इच्छा के अनुरूप नहीं है। चंद्रबाबू नायडू ने कहा, ‘केंद्र ने पूर्वोत्तर राज्यों को बजटीय आवंटन किया, लेकिन आंध्र प्रदेश को नजरअंदाज कर दिया, जो गंभीर वित्तीय संकट से गुजर रहा है।

2019 के केंद्रीय बजट ने राज्य के लोगों को बुरी तरह निराश किया है। ‘ उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम में विशेष श्रेणी का दर्जा सहित कई अन्य मुद्दों को भी अनदेखा किया गया है।

चंद्रबाबू ने कहा , ‘केंद्र द्वारा कवर किए जाने वाले राजस्व घाटे के बारे में भी बजट में कोई बात नहीं की गई है। उन्होंने ये भी कहा कि 16,000 करोड़ रुपये के कुल राजस्व घाटे में से केवल 4,000 करोड़ रुपये ही दिया गया।’

ये भी पढ़े:चुनावी जीत के बाद आज पहली बार पीएम मोदी पहुंचे बनारस, करेंगे सदस्यता अभियान की शुरूआत….

टीडीपी नेता ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने आदिवासी विश्वविद्यालय और केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए महज 13 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। उन्होंने कहा, ‘आईआईटी, एनआईटी, आईआईएम, आईआईआईटी जैसे शैक्षणिक संस्थानों के लिए एक पैसा भी नहीं आवंटित किया गया है।’

उन्होंने पोलावरम परियोजना के साथ-साथ विजाग और विजयवाड़ा मेट्रो परियोजनाओं, कडप्पा स्टील प्लांट और दुगराजपटनम बंदरगाह के मामले में भी केंद्र द्वारा बजट आवंटन नहीं करने के लिए केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इस दौरान चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि उन्होंने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम  के लिए आवंटन में कमी पर चिंता जाहिर की है।

वहीं उन्होंने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार को यह याद रखना चाहिए कि गांवों में तालाबों, आंगनवाड़ी भवनों और पंचायत भवनों जैसे बुनियादी ढांचे का विकास में केवल मनरेगा कोष से ही धन खर्च किया जाता है।

हालांकि नायडू ने जीरो बजट प्राकृतिक खेती जेबीएनएफ  पद्धति के प्रस्ताव के लिए केंद्र सरकार की खूब तारीफ की हैं। वहीं इस दौरान चंद्रबाबू ने कहा जेबीएनएफ  को प्राथमिकता देना स्वागत योग्य है।  http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 6, 2019, 1:12 pm
Rain
Rain
25°C
real feel: 31°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 100%
wind speed: 3 m/s N
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 4:49 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending