Connect with us

देश

पीएम की प्रशंसा कर रहे नितिन गडकरी ने कहा- “मैं चापलूसी नहीं करता”

Published

on

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी फिर एक बार अपने बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में है। गडकरी ने रविवार को कहा- “जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है। जो सेकेंड क्लास पास होता है, वह चीफ इंजीनियर बनता है। लेकिन, जो तीन बार फेल होता है, वह मंत्री बनता है। राजनीति में आने के लिए कोई क्वालिटी की जरूरत नहीं होती है।”

मुझे झूठ बोलना नहीं आता

उन्होंने आगे कहा, ‘‘मुझे झूठ बोलना नहीं आता है। जो कहना है, वो मुंह पर कहता हूं। इससे कई बार मुझसे लोग नाराज भी हो जाते हैं। कुछ लोग झूठा रोते हैं और झूठा हंसते हैं। उनके मन में जिसके लिए प्यार नहीं होता है, उसके लिए अच्छा-अच्छा बोलते हैं, लेकिन मैं कभी झूठ नहीं बोलता हूं।” गडकरी ने कहा- “चतुर और चतरा इन दो शब्दों में अंतर है।’’

मैं चापलूसी नहीं करता हूं

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘समाज में जितनी तरह के लोग हैं, उतने ही रंग के नेता भी हैं। मैं अपने पैशन के लिए जीना चाहता हूं। मैं मक्खन लगाने वालों में से नहीं हूं।’’

मेरी महत्वाकांक्षा नहीं है, प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने की

इसके अलावा गडकरी ने साफ कहा, ‘‘प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनने की मेरी न तो कोई महत्वाकांक्षा है और न ही आरएसएस की मुझे उम्मीदवार के रूप में पेश करने की कोई मंशा है। हमारे लिए देश सर्वोपरि है।’’

मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘मैं न सपने देखता हूं और न ही किसी के पास जाता हूं और न ही लॉबिंग करता हूं। वह और उनकी पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मजबूती से खड़ी है। मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।’’http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

अमरनाथ यात्रा के पहले दिन 8403 भक्तों ने किए बाबा बर्फानी के दर्शन

Published

on

साल 2019 की अमरनाथ यात्रा  के पहले दिन मंगलवार को 8403 यात्रियों ने पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के दर्शन किए। वहीं यात्रा के दौरान गुफा तक पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का बर्फबारी से स्वागत हुआ है। जानकारी के मुताबिक यात्रा रूट पर एनजी टाप पर भी बर्फबारी हुई है और यात्रियों के लिए मौसम अनुकूल बना हुआ है।

यात्रा के पहले दिन श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के चेयरमैन व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पवित्र गुफा में विधिवत पूजा अर्चना कर राज्य में शांति, सद्भाव, प्रगति और समृद्धि के लिए बाबा बर्फानी से प्रार्थना की। वहीं पहले दिन बालटाल रूट से 6884 और पहलगाम रूट से 3065 यात्री पवित्र गुफा की ओर आगे बढ़े। साल 2018  में यात्रा के पहले दिन खराब मौसम होने के कारण केवल 1007 यात्रियों ने ही दर्शन किए थे। 

ये भी पढ़े: भारत को नाटों सहयोगी देशों जैसा मिला दर्जा, रक्षा संबधों में मिलेगा फायदा

बता दें कि इस बीच बम-बम भोले के जयघोष के बीच आधार शिविर भगवती नगर जम्मू से दूसरे जत्थे में यात्रा के लिए 4417 यात्री रवाना हुए। इसमें पहलगाम रूट के लिए कुल 2800 यात्रियों में 2321 पुरुष, 463 महिलाएं और 16 बच्चे शामिल रहें। बालटाल रूट के लिए कुल 1617 यात्रियों में 1174 पुरुष, 379 महिलाएं, 15 बच्चे और 49 साधु शामिल रहे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

भारी बारिश से मुंबई बेहाल, 24 घण्टे में 32 लोगों की मौत, स्कूल-काॅलेज व दफ्तर बंद

Published

on

नई दिल्ली। कुछ समय पहले तक सूखे से जूझ रहा महाराष्ट अब तेज बारिश और बाढ़ से जूझने लगा है। देश की आर्थिक राजधानी में थोड़ा देर से पहुंचा मानसून ऐसा जमकर बरसा है कि पिछले 10 वर्षों का रिकार्ड तोड. दिया। मुंबई में पिछले पांच दिनों से लगातार बारिश हो रही है। जिससे अब जन-जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। कई इलाकों में 5 से 6 फीट तक पानी भर गया है। यहां 24 घंटे में 375.2 मिमी (37.5 सेमी) पानी बरस गया। इतनी बारिश 5 जुलाई 1974 को हुई थी। राज्य में बारिश से जुड़े हादसों में पिछले 24 घण्टों में 32 लोगों के मरने की खबर है।
इसमें मुंबई में 20, पुणे में 6 और कल्याण में 3, नासिक में 3 की जान गई। मुंबई के मलाड ईस्ट के पिम्परीपाड़ा में सोमवार देर रात 11ः30 बजे दीवार #MumbaiRainlive गिरने से 18 की मौत हो गई और 60 जख्मी हो गए। महाराष्ट्र सरकार ने मलाड हादसे के मृतकों के परिजन को 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। वहीं, मलाड के सबवे में एक कार पानी में डूब गई, जिसमें दो युवक गुलशाद और इरफान की मौत हो गई। हादसों वाली जगहों पर एनडीआरएफ और पफायर ब्रिगेड की टीमें पहंुच गयी हैं जो राहत कार्य में लगी हुई हैं।#MumbaiRainsLiveUpdates

मौसम विभाग ने मंगलवार को भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था। लिहाजा सरकार ने आज सभी सरकारी और निजी स्कूल-कॉलेज और ऑफिस बंद रखने का फैसला किया। भारी बारिश की वजह से मुंबई एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट की फ्लाइट फिसल गई, जिससे मुख्य रनवे बंद कर दिया गया। 55 उड़ानों का रूट डायवर्ट हुआ और 52 उड़ानें रद्द कर दी गईं। मुंबई में बचाव के लिए नेवी की टीम भेजी गई है। 1000 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया।#Maharashtra
उधर, मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश सहित छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, झारखंड, उत्तर प्रदेश, अरुणाचल, असम, बंगाल में अगले दो दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

रेल फैक्ट्रियों के निजीकरण पर सोनिया गांधी ने उठाये सवाल, मोदी पर जमकर साधा निशाना

Published

on

नई दिल्ली। यूपीए चेयरपर्सन और रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी ने मंगलवार को सरकार पर जमकर हमला बोला है। सोनिया ने रायबरेली की मॉडर्न कोच फैक्ट्री के निजीकरण पर सवाल उठाया। लोकसभा में उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरकार निजी पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। इस दौरान उन्होंने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र किया।

सोनिया गांधी ने कहा कि, मैं सदन का ध्यान सरकार की उस योजना की तरफ खींचना चाहती हूं, जिसमें रेलवे की 6 उत्पाद इकाईयों का कंपनीकरण किया जाना है। इसके पहले चरण में रायबरेली की मॉडर्न कोच फैक्ट्री होगी। उन्होंने कहा कि, जो कंपनीकरण का असली मायने नहीं जानते हैं मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि कंपनीकरण निजीकरण की शुरूवात है। यह देश की अमूल्य संपत्ति को कौड़यों के दाम चंद लोगों के हवाले करने की साजिश है। इससे हजारों-हजारों लोग बेरोजगार हो जाते हैं।

यूपीए चेयसपर्सन ने कहा कि, असली चिंता तो इस बात की है कि सरकार ने इस प्रयोग के लिए रायबरेली की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को चुना है जो कि कई कामयाब परियोजनाओं में से एक है। यह भारतीय रेलवे का सबसे आधुनिक कारखाना है। यूपीए सरकार ने इसे आगे ले जाने का काम किया था।

सोनिया ने उन 2000 से ज्यादा मजदूरों और कर्मचारियों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से यह उपलब्धि हासिल की। लेकिन साथ ही वह बोलीं कि यह बहुत दुख की बात है कि अब उनका और उनके परिवार का भविष्य भारी संकट में है। यह समझना मुश्किल है कि क्यों सरकार ऐसी औद्योगिक इकाई का कंपनीकरण करना चाहती है।

आगे सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि इस फैसले में मजदूर यूनियन तक को भरोसे में नहीं लिया गया और न  ही उन श्रमिकों को विश्वास में लिया जिनके पसीने से ये उद्योग खड़े हुए हैं। सरकार को यह याद रखना चाहिये कि सार्वजनिक उद्योगों का उद्देश्य लोगों का कल्याण करना है न कि निजी पूंजिपतियों को लाभ पहुंचाना।

इसके साथ ही सोनिया गांधी ने भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों को आधुनिक भारत का मंदिर कहा था। आज यह देख कर अफसोस होता है कि इस तरह के मंदिर खतरे में हैं। मुनाफे के बावजूद उनके कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा रहा। HAL, BSNL, MTNL के साथ क्या हो रहा है किसी से छिपा नहीं है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 2, 2019, 6:06 pm
Fog
Fog
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s S
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending