Connect with us

ख़ैरियत

एनजीटी की फटकार के बाद भी लोहिया अस्पताल में बदहाल सफाई व्यवस्था

Published

on

परिसर में अस्पताली कचरे का सही से नहीं किया निस्तारण

लखनऊ। गोमती नगर स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल प्रशासन की लापरवाही का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एनजीटी के फटकार के बाद भी उसने परिसर में अस्पताली कचरे का सही से निस्तारण नहीं किया। साथ ही इमरजेंसी से लेकर वार्ड तक में रखे डस्टबिन में अस्पताली कचरे को सही से नहीं डाला गया था। वहीं अस्पताल में अलग-अलग रंग के डस्टबिन में अस्पताली कचरे को डाला जाता है, लेकिन डस्टबिन में खून लगी रुई के साथ ही बिस्कुट, नमकीन के प्लास्टिक के रैपर पड़े थे। कई डस्टबिन में पानी की बोतल, कागज, कपड़ा आदि पड़ा मिला। यही नहीं वेंटिलेटर यूनिट के मुख्य गेट पर कूड़ा फैला पड़ा था।

यह भी पढ़ें :- प्रतिबंधित पॉलीथिन, गंदगी व अतिक्रमण के खिलाफ अभियान

गौरतलब है कि एनजीटी की टीम ने न्यायमूर्ति राजेंद्र सिंह के नेतृत्व में बुधवार को लोहिया अस्पताल में दौरा किया था। टीम को जगह-जगह गंदगी और कूड़ा फैला मिला था। यहां रखे गए डस्टबिन बिना ढ़क्कन के ही पड़े थे। अस्पताली कचरे का निस्तारण भी सही तरीके से नहीं किया जा रहा था। इन सभी बदहाल व्यवस्था के बाद टीम ने अस्पताल प्रशासन को फटकार लगाई थी। साथ ही सख्त निर्देश दिए थे कि अस्पताली कचरे का निस्तारण सही से किया जाए। लेकिन अस्पताल में पहले जैसे ही हालात है। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि तीमारदार और मरीज एक ही डस्टबिन में हर तरह का कचरा डाल देते हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ख़ैरियत

सिविल में फरवरी से होगी मॉड्यूलर ओटी की शुरूआत

Published

on

ऑटोमेटिक टेबल व कई अत्याधुनिक उपकरण होंगे उपलब्ध

लखनऊ। सिविल अस्पताल में आगामी फरवरी माह से न्यूरो, प्लास्टिक सर्जरी, ऑर्थो और आंख की मॉड्यूलर ओटी की शुरूआत की जाएगी। ओटी का निर्माण करीब पूरा हो चुका है। डेढ़ करोड़ का बजट सिविल अस्पताल के लिए पहले से ही जारी किया जा चुका है।

हजरतगंज पार्क रोड स्थित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में दो प्रमुख विभाग न्यूरो और प्लास्टिक सर्जरी की मॉड्यूलर ओटी में मरीजों का अत्याधुनिक उपकरणों का प्रयोग करके इलाज होगा। दिसंबर तक दो ओटी तैयार भी हो गई हैं। दो अन्य ओटी का निर्माण तेजी से करीब पूरा हो रहा है। इसमें ऑटोमेटिक टेबल समेत कई अत्याधुनिक उपकरण रहेंगे। मॉड्यूलर ओटी बनने से सर्जरी की गुणवत्ता बेहतर होगी। मरीजों में सक्रमण फैलने का खतरा भी कम रहेगा।

यह भी पढ़ें :- एक ही समय आंखों में आंसू और चेहरे पर मुस्कान बिखेर देती हैं बाॅलीवुड फिल्में: चीनी राजदूत

सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दुबे का कहना है कि अस्पताल में तेजी से मॉड्यूलर ओटी का निर्माण किया गया जो करीब पूरा हो चुका है। फरवरी से न्यूरो, आर्थो, नेत्र एवं प्लास्टिक सर्जरी की ओटी में ऑपरेशन शुरू हो जाएंगे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

अब 30 वर्ष से अधिक लोगों की होगी कैंसर व मधुमेह की जांच

Published

on

फाइल फोटो

एक हजार आबादी में आशाएं बनाएंगी इन सभी की सूची

लखनऊ। सीएमओ ने कहा है कि अब भारत सरकार गैर संचारी रोगों कैंसर, मधुमेह तथा हाई ब्लड प्रेशर के लिये 30 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों की जांच करवाएगी। यह जांच आशाओं की मदद से किया जाएगा। आशाऐं एक हजार की आबादी में 30 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों की सूची बनाएगी। यह संख्या लगभग 370 होती हैं।

सीएमओ डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल एएनएन प्रशिक्षण केंद्र अलीगंज में लखनऊ की 37 एएनएम का गैर संचारी रोगों पर 3 दिवसीय प्रशिक्षण समापन पर संबोधित कर रहे थे। यह प्रशिक्षण 19 दिसम्बर से शुरू हुआ था। इस दौरान डॉ. एसके सक्सेना ने सभी सफल प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किए। डॉ. अगवाल ने आगे कहा कि इन सभी लोगों केसी बैक (कम्युनिटी बेस्ड एसेसमेंट चेकलिस्ट)फार्म आशाओं द्वारा भरे जायेंगें। इसके आधार पर जिन्हें अधिक नम्बर मिलेंगें, उनकी जांच पहले की जाएगी, लेकिन जांच सभी की होगी।

यह भी पढ़ें: 25 दिसंबर को लखनऊ आएंगे PM मोदी, अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा का करेंगे अनवारण

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय राजा ने बताया कि आशाएं अपनी एक हजार की आबादी में 30 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों का सीबैक फॉर्म भरेंगी। इन सभी का कम्युनिटी बेस्ड एसेसमेंट चेक लिस्ट (समुदाय आधारित मूल्यांकन प्रपत्र ) भरा जाएगा। जिसके आधार पर उनमें रोग होने की संभावना का पता चलेगा। जो व्यक्ति ज्यादा संदेह के घेरे में होंगे उनकी पहले जांच की जाएगी। सभी लोगों की वर्ष में एक बार मधुमेह ,उच्च रक्तचाप तथा मोटापे के लिए जांच की जाएगी। कैंसर के लिए पांच वर्ष में एक बार जांच की जायेगी। यह प्रशिक्षण डॉ. एसके सक्सेना, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अजीत कुमार यादव तथा सुष्मिता द्वारा दिया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

सीएमओ ने अस्पतालों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश…

Published

on

रात में जो भी डॉक्टर गायब मिला तो उसके खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

लखनऊ। सरकारी अस्पतालों में रात को अफसरों के निरीक्षण में जो भी डॉक्टर गायब मिला तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। अब रात में डॉक्टर, स्टाफ आदि ड्यूटी पर मौजूद रहेंगे। सीएमओ ने सभी पीएचसी, सीएचसी समेत अन्य अस्पतालों को यह निर्देश भेजा है। इसके साथ ही सीएमओ ने अस्पतालों को अलर्ट रहने का भी निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें :- मेंहदी घाट लकड़ी के पुल मरम्मत का प्रस्ताव तैयार…

लखनऊ शहर में आठ और ग्रामीण क्षेत्र में 11 सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) हैं। जबकि शहर में 52 और ग्रामीण क्षेत्र में 28 पीएचसी (प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र) हैं। इन सभी जगह पर डॉक्टरों और स्टाफ को अलर्ट कर दिया गया है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने सभी प्रभारियों या अधीक्षकों को निर्देश जारी किया है कि कोई भी डॉक्टर रात की ड्यूटी से गायब नहीं रहेगा। घर कतई नहीं जाएगा। इमरजेंसी में ही मौजूदगी रहेगी। यही निर्देश संबंधित पैरामेडिकल एवं अन्य कर्मचारियों के लिए भी हैं। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल का कहना है कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए सभी अस्पतालों में निर्देश जारी किया गया है। सभी डॉक्टर, स्टाफ इमरजेंसी में 24 घंटे तैनात रहें।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 14, 2020, 3:36 am
Showers
Showers
11°C
real feel: 8°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 97%
wind speed: 1 m/s ENE
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:04 pm
 

Recent Posts

Trending