Connect with us

ख़ैरियत

मौसम बदलते ही बीमारी का कहर शुरु, अस्पतालों में बढ़ी मरीजों की भीड़

Published

on

लखनऊ। बदलते मौसम और बारिश से राजधानी के सरकारी अस्पतालों में बुखार, बदन व पेट दर्द, उल्टी-दस्त, खांसी और जुकाम के मरीज काफी संख्या में पहुंच रहे हैं। औसतन पांच से छह बड़े अस्पतालों में ही 40 हजार से अधिक मरीज पहुंचे। अस्पतालों में सबसे ज्यादा भीड़ फिजीशियनों के यहां देखने को मिली। 

बलरामपुर, सिविल, लोहिया में मंगलवार को तीन हजार से अधिक नए मरीजों का पंजीकरण हुआ। वहीं ओपीडी में पुराने (फॉलोअप केस) मरीज आठ से नौ हजार के करीब पहुंचे। सबसे ज्यादा मरीज अस्पतालों के फिजीशियनों ने देखे। इन तीनों अस्पतालों में तीन से चार फिजीशियनों ने अलग-अलग ओपीडी में मरीज देखे। एक फिजीशियन ने सैकड़ों की संख्या में मरीज देखे। स्थिति यह रही कि सुबह आठ बजे से शुरू हुई ओपीडी में दोपहर ढाई बजे तक मरीज इलाज कराते रहे। डॉक्टरों ने अधिक देर तक मरीज देखे। 

यह भी पढ़ें: युवक ने लगाई नदी में छलांग, तलाश में जुटी पुलिस

सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दुबे ने बताया कि तीन हजार से ऊपर नए पर्चे, जबकि फॉलोअप में आठ से नौ हजार मरीज पहुंचे। लोहिया के निदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि 10 हजार से अधिक मरीज पहुंचे। वहीं, बलरामपुर का भी कुछ यही हाल रहा। जानकारी के मुताबिक सिविल में- 3280 बलरामपुर- 3300 लोहिया- 3250 लोकबंधु- 1500 रामसागर मिश्र- 1800 आरएलबी- 800डफरिन- 850 झलकारी बाई- 500 पर्चे बने।http://www.satyodaya.com

ख़ैरियत

स्वास्थ्य टीमों ने घरों में जाकर दी गई स्वास्थ्य की जानकारी

Published

on

लखनऊ। सीएमओ के निर्देश पर फाइट द वाइट अभियान के तहत नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नगर सिल्वर जुबली, इंदिरानगर, अलीगंज, चंदननगर एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिनहट और मलिहाबाद लखनऊ में आशा एवं एएनएम की टीमों के माध्यम से डेंगू रोग से बचाव एवं रोकथाम के लिए 7,522 घरों में जाकर लोगों को पंपलेट बांटे और स्वास्थ्य संबन्धि जानकारी दी। इसके अतिरिक्त समस्त अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिला मलेरिया अधिकारी ने डेंगू रोग से बचाव व रोकथाम के लिए क्षेत्र का निरीक्षण किया।

20 लोगों को दी गई नोटिस

वहीं फाइट द वाइट अभियान के तहत शहर के विभिन्न इलाकों में मच्छर जनित स्थितियां मिलने पर 20 लोगों को नोटिस दी गई है। इसके साथ ही इन इलाकों में स्वास्थ्य संबन्धि जाकरूकता अभियान भी चलाया गया है। सीएमओ प्रवक्ता डॉक्टर योगेश रघुवंशी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने शहर के विभिन्न इलाकों के 1,709 घरों तथा विभिन्न स्थानों पर मच्छर जनक की स्थितियों का सर्वेक्षण किया। जिनमें से 20 घरों व स्थानों पर मच्छर जनक की स्थितियां पाए जाने पर संबंधितों को नोटिस जारी की गई है। सीएमओ प्रवक्ता के मुताबिक मच्छर जनक की स्थितियां पाए जाने वालों में प्रमुख रूप से सी ब्लॉक इंदिरा नगर, राजाजीपुरम, चिनहट, विनयखंड आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :- ईडब्ल्यूएस को भवनों के निर्माण में अब मिलेगी दो लाख से अधिक की मदद

फैजुल्लागंज समेत कई इलाकों में मिले 26 डेंगू मरीज

लखनऊ में डेंगू मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। फैजुल्लागंज समेत कई इलाकों में 26 डेंगू के मरीज मिले हैं। फैजुल्लागंज में पहले से ही लगातार डेंगू मरीजों के मिलने से हड़कम्प मचा हुआ है। ऐसे में वहां मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है। सीएमओ प्रवक्ता के मुताबिक ये डेंगू मरीज शहर के फैजुल्लागंज, आलमबाग, अमौसी, सेक्टर जी एलडीए कॉलोनी, आशियाना, वृंदावन, मानक नगर, ऐशबाग, पारा, किला मोहम्मदी, श्याम विहार कॉलोनी, रघुनाथ पुरम, हुसैनाबाद, इंदिरानगर, अलीगंज, अमीनाबाद, मड़ियांव, बालागंज, रुचिखंड, अर्शफाबाद, गोमती नगर, विपुलखंड, विवेकखंड, विवेक विहार, अलीगंज में पाए गए हैं। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन तथा स्वास्थ्य शिक्षा भी दी गई है। इसके अलावा प्रभावित क्ष्ेात्रों में फाॅगिंग एवं सफाई व्यवस्था के लिए नगर निगम को भी निर्देश दिया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

डेंगू से मौत के बाद जागा स्वास्थ्य महकमा, लगाया कैम्प

Published

on

प्रभावित इलाकों में हुआ एंटीलार्वा का छिड़काव

लखनऊ। विकास खण्ड बख्शी का तालाब के ग्राम पंचायत कठवारा में डेंगू के प्रकोप पर खबर छपने पर उच्च अधिकारियों के निर्देंश पर आखिर जिम्मेदारों ने अपना फर्ज निभाना शुरु कर दिया है। अगर जिम्मेदारों ने पहले ही मामले को गम्भीरता से ले लिया होता तो डेंगू जैसी घातक बीमारी से कई लोगों को जूझना न पड़ता।

डी.एन. शुक्ला जिला मलेरिया अधिकारी ने लोगों को मच्छर जनित बीमारियां जैसे डेंगू, मलेरिया व अन्य बीमारियों से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया। उनहोंने लोगों से कहा की अपने घरों के आस-पास जल भराव न होने दें। घर के आस-पास, साफ-सफाई रखे, गमलों में पानी न भरा रहने दें आदि मच्छर को पनपने के अनेकों कारण बताया।

यह भी पढ़ें :- आशियाना पुलिस ने चार लोगों को अवैध कच्ची शराब संग किया गिरफ्तार

वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बख्शी का तालाब के अधीक्षक डॉ. के.डी. मिश्रा की अध्यक्षता में सोमवार को कठवारा में स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें ग्रामीणों की डेंगू, मलेरिया , सुगर, आदि जांचें की गई एवं आयुष्मान भारत के लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए गए। स्वास्थ्य कैंप में डॉ. शहनवाज, डॉ. नाजमा, डॉ. अरविंद, डॉ. सायरा, गोविंद शुक्ला एवं अनीता दीक्षित, हेमंत मिश्रा एवं उत्तम कुमार, हासिम फारूकी (फार्मा), अमरेन्द्र सिंह (लैब टेक्नशियन), नीरज सोनी (पीएमडबल्यू), विवेक बाजपेई, मुकेश कुमार, रंजना, ग्राम की आशाये एवं ग्राम प्रधान प्रतिनिधि आशीष सिंह, जितेंद्र सिंह,डीएम महराज, मोहित तिवारी व दर्जनों लोग उपस्थित रहे।

कैंप में कुल 160 मरीजों का पंजीकरण किया गया। जिसमें 31 लोगों के डेंगू की जांच की गई। 18 लोगों की मलेरिया की स्लाइड बनाई गई। टीबी के 28 मरीजों की जांच हुई। लेप्रोसी के 20 मरीजों की जांच, ब्लड सुगर, बीपी, एचबी, डेंटल आदि जांचे की गईं। वहीं मरीजों को दवाइयां वितरित की गयी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

डॉक्टर पर बच्चेदानी का गलत ऑपरेशन करने का आरोप

Published

on

डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज

लखनऊ। एक महिला ने मड़ियांव इलाके के निजी अस्पताल के डॉक्टर पर बच्चेदानी का गलत ऑपरेशन करने का आरोप लगाया है। महिला ने मड़ियांव थाने में डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग के आला अफसरों से भी आरोपी डॉक्टर की शिकायत की है। इस मामले में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। महिला की हालत में अभी भी सुधार नहीं है।

बता दें कि मड़ियांव के नई बस्ती मुबारकपुर निवासी सतीश की पत्नी सताना (38) के चार बच्चे हैं। सतीश ने बताया कि सताना के बच्चेदानी का ऑपरेशन कराना था। इस पर वह आईआईएम रोड पर फेमस हेल्थ केयर के डॉ. हरिओम गुप्ता से मिले। डॉ. हरिओम ने इलाज शुरू करते हुए 14 मार्च, 2019 को बच्चेदानी का ऑपरेशन अपने अस्पताल में किया। आरोप है कि डॉक्टर ने बड़ा सा चीरा लगाकर गलत ऑपरेशन कर दिया। स्थिति यह हुई कि कुछ दिन बाद बच्चेदानी में गांठ पड़ गई। जिसके कारण ही उसकी पत्नी को दर्द बढ़ गया।

यह भी पढ़ें :- महापौर ने वेंडींग जोन के अधूरे कामों पर व्यक्त की नाराजगी

बताते चलें कि, समस्या बढ़ने पर दोबारा डॉक्टर के पास पहुंचे तो इलाज के नाम पर डॉक्टर हजारों रुपए ऐंठते रहे। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। जबकि परेशानी बढ़ती ही गई। इस पर सतीश पत्नी को लेकर गोमती नगर के डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे। यहां इलाज व जांच कराया तो पता चला कि बच्चेदानी के ऑपरेशन के दौरान कोई गंदा टुकड़ा अंदर ही पड़ा है। लोहिया में डॉक्टरों ने इलाज किया। इस समय महिला का आयुर्वेदिक इलाज चल रहा है।

सतीश ने आरोप लगाया कि, वह डॉ. हरिओम के पास रुपए ऐंठ लेने और फायदा न होने की शिकायत लेकर पहुंचे। इस पर डॉक्टर ने उन्हें व पत्नी को जान से मारने की धमकी दी। मड़ियांव इंस्पेक्टर विपिन सिंह का कहना है कि महिला ने डॉक्टर के खिलाफ शिकायत की है। इस मामले में एफआईआर की कार्रवाई करते हुए जांच की जा रही है। वहीं, इस संबंध में जब डॉ. हरिओम से संपर्क किया गया तो उनके रिशेप्सनिस्ट ने उनके व्यस्त होने की बात कहते हुए मामले की जानकारी से इनकार किया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 12, 2019, 3:16 pm
Sunny
Sunny
28°C
real feel: 28°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 39%
wind speed: 3 m/s W
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:53 am
sunset: 4:48 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending