Connect with us

क्राइम-कांड

मरीज की मौत पर लापरवाही का आरोप, मारा डाॅक्टर को थप्पड़

Published

on

लखनऊ। बलरामपुर अस्पताल में आए दिन डॉक्टरों की लापरवाहीयां रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। शुक्रवार को यहां के इमरजेंसी में एक मरीज की मौत पर तीमारदारों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। इस दौरान एक महिला तीमारदार ने बात करते-करते दिव्यांग फिजीशियन को थप्पड़ मार दिया। इससे नाराज सभी कर्मचारियों और मौजूद जूनियर डॉक्टरों ने कामकाज रोक दिया। मौके पर पहुंचे सीएमएस ने तीमारदार को फटकारा। पुलिस बुलाकर तीमारदारों के खिलाफ लिखित शिकायत की गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इससे करीब एक घंटे तक कामकाज प्रभावित रहा।

कानपुर रोड के पराग डेयरी निवासी आरती ने मां उर्मिला सिंह (55) को किडनी में समस्या पर गंभीर हालत में बुधवार को बलरामपुर अस्पताल की इमरजेंसी लेकर पहुंची थीं। यहां पर डॉक्टरों ने उन्हें तुरंत ही इमरजेंसी के बेड ए-12 पर भर्ती कर इलाज शुरू किया। दो दिन से उनका इलाज चल रहा था। शुक्रवार सुबह इमरजेंसी वार्ड में दिव्यांग जनरल फिजीशियन डॉ. अमित यादव राउंड पर थे। इसी दौरान उन्होंने देखा कि मरीज उर्मिला की सांस उखड़ रही हैं। उन्होंने तुरंत ही कॉर्डियक मसाज दिया, लेकिन उर्मिला की सांसें थम गईं।

तीमारदार आरती ने आरोप लगाया कि डॉक्टर काफी देर बाद मरीज को देखने आए। उन्हें पहले बुलाया गया था। देर से आने की वजह से ही तबियत बिगड़ती चली गई। नर्सिंग स्टाफ और डॉक्टरों का कहना है कि मरीज की स्थिति अधिक खराब थी। यहां इलाज संभव नहीं था। मां उर्मिला को आंखों के सामने मरता देख आरती आपा खो बैठी। उन्होंने मौजूद डॉ. अमित से अभद्रता करते हुए कॉलर पकड़ा और उन्हें थप्पड़ जड़ दिया। यह देख वहां मौजूद सीनियर नर्स और जूनियर डॉक्टर इकत्र हो गए। इन लोगों ने आरती से डॉक्टर को मारने का विरोध किया। विरोध स्वरूप डॉक्टरों, नर्सिंग और अन्य स्टाफ ने कामकाज ठप कर दिया।

यह भी पढ़ें :- गरीब मरीजों को निःशुल्क वाहन उपलब्ध कराएगा केजीएमयू!

डॉक्टर को थप्पड़ मारने की जानकारी मिलते ही तुरंत सीएमएस डॉ. ऋषि सक्सेना व अन्य वरिष्ठ डॉक्टर पहुंचे। उन्होंने पूरा मामला समझा। तीमारदार आरती से ऐसी करतूत करने का विरोध किया। सूचना पर वजीरगंज कोतवाली से पुलिस पहुंची। पुलिस आरोपित युवती को हिरासत में लेने लगी तो डॉक्टरों ने उन्हें रोक दिया। शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। साथ ही आरोपित तीमारदारों के खिलाफ डॉक्टर से मारपीट, सरकारी काम में बाधा डालने आदि की लिखित शिकायत की।

बलरामपुर अस्पताल निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने बताया कि इमरजेंसी में मारपीट की घटना हुई। महिला तीमारदार ने फिजीशियन से अभद्रता करते हुए उन पर हाथ उठा दिया। इस मामले में आरोपित तीमारदारों के खिलाफ वजीरगंज कोतवाली में शिकायत की गई है। इमरजेंसी में गार्डों व कर्मचारियों को मुस्तैदी से ड्यूटी करने के निर्देश दिए गए हैं। http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

बर्थडे पार्टी से घर जा रही महिला को ट्रक ने रौंदा, मौत

Published

on

लखनऊ। विकासनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत देर रात जगरानी हॉस्पिटल के पास बर्थडे पार्टी से लौट रही 45 वर्षीय विष्णो देवी और उसके बेटे अनिल को बेकाबू ट्रक ने टक्कर मार दी। हादसे में विष्णो देवी की मौके पर ही मौत हो गई जबकि अनिल यादव गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसे के बाद ट्रक चालक वाहन समेत भाग निकला। पुलिस आस-पास के सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से ट्रक व उसके चालक का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश: तेज आंधी-पानी और आकाशीय बिजली से गिरने से 23 लोगों की मौत

पुलिस ने बताया कि विष्णो देवी मडियांव के भिठौली स्थित मायावती कॉलोनी में रहती थी। उनके पति शिवराम निजी कंपनी में नौकरी करते हैं। परिवार में तीन बेटे अनिल, कपिल और सुनील रहते हैं। बीती शाम वह बेटे अनिल के साथ बाइक से बहन सरोजिनी के घर पर आयोजित उसके बेटे की बर्थडे पार्टी में गई थी।

देर रात मां बेटा घर लौट रहे थे तभी जगरानी हॉस्पिटल के पास तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी बाइक में पीछे से टक्कर मार दी। बाइक बेकाबू होकर सड़क पर गिर पड़ी वैष्णो देवी ट्रक के पहिए के नीचे आ गई जबकि दूर जाकर गिरा आस-पास के लोगों की मदद से दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सकों ने विष्णो देवी को मृत घोषित कर दिया। राजधानी लखनऊ के अंदर स्पीड की गति हर रोज बढ़ती जा रही है। उस स्पीड में हर रोज कोई न कोई विष्णो देवी की मौत हो रही है पुलिस बेखबर अनजान बनी बैठी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

रिश्तेदारों के साथ मिलकर लुटेरों का गिरोह चला रहा था स्कूल प्रबंधक

Published

on

मड़ियांव थाना क्षेत्र में बच्चों को बंधक बनाकर हुए लूटकांड के सभी आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ। मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित शंकरपुर कॉलोनी में घर में अकेले बच्चों को बंधक बनाकर लूट का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में फरार चल रहे 5 अन्य बदमाशों को भी गिरफ्तार कर लिया है। लूटपाट का मास्टर माइंड वीरेंद्र यादव 25 मई को एक मुठभेड़ में गिरफ्तार किया जा चुका है। पूरी घटना का खुलासा करते हुए डीसीपी उत्तरी शालिनी ने बताया कि मुख्य आरोपी वीरेन्द्र यादव सीतापुर में प्राइवेट स्कूल का प्रबंधक है। स्कूल चलाने के साथ ही यह लुटेरों का गैंग भी चलाता है। लूटपाट के कई घटनाओं में इसके परिजनों के भी शामिल रहने की जानकारी मिली है।

डीसीपी उत्तरी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस ने लूट का पैसा और ज्वेलरी भी बरामद की है। वीरेन्द्र यादव की मदद से ही इसके अन्य 6 दोस्तों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान अरुणेश कुमार यादव, गुरु प्रसाद यादव, साजन यादव, मुकेश कुमार यादव और मेराज के रूप में हुई है। डीसीपी ने बताया कि पकड़े गए सभी आरोपी एक ही परिवार के हैं।

यह भी पढ़ें-69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा में उत्तीर्ण अथ्यर्थियों ने मांगा गलती सुधारने का मौका

बता दें कि 21 मई को मड़ियांव थाना क्षेत्र में रहने वाले स्वास्थ्य विभाग में तैनात वरिष्ठ सहायक के घर में घुसकर बदमाशों ने लाखों रुपए की गहने और नगदी लूट ली थी। वारदात के वक्त घर में केवल बच्चे मौजूद थे। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी थी। 25 मई को मुख्य आरोपी वीरेन्द्र यादव की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने अन्य बदमाशों की भी धरपकड़ तेज कर दी।

लूट का ज्यादातर माल बरामद

शनिवार को सभी की गिरफ्तारी करते हुए पुलिस लूट का माल और पैसा भी बरामद कर लिया। बरामद सामान में 7 लाख की नकदी सहित भारी मात्रा में जेवरात शामिल हैं। डीसीपी ने बताया कि लाॅकडाउन के चलते दुकानें बंद हैं। इसलिए यह लोग लूट का माल ठिकाने नहीं लगा पाए। पुलिस ने लूट का अधिकतर माल बरामद कर लिया है। डीसीपी ने बताया कि मुख्य आरोपी वीरेन्द्र यादव के खिलाफ बाराबंकी के विभिन्न थानों में करीब 19 मुकदमे दर्ज हैं। पकड़े गए आरोपियों में सभी एक-दूसरे के ससुर, दामाद और भाई हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

चिनहट क्षेत्र में सड़क के किनारे संदिग्ध हालत में मिला अधेड़ का शव, हत्या की आशंका

Published

on

मोटरसाइकिल के नम्बर के आधार पर किया जा रहा मृतक की शिनाख्त

लखनऊ। लॉकडाउन के बीच राजधानी लखनऊ में संदिग्ध हालत में एक अधेड़ उम्र की व्यक्ति का शव मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। यह घटना लखनऊ के चिनहट इलाके के इंद्रा नहर के पास मंगलवार को सड़क पर एक अधेड़ का शव पड़ा मिला।

फिलहाल मृतक की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस ने बताया, कि सुबह सूचना मिली की फैजाबाद हाईवे पर बनी दुकान के तख्त पर एक अधेड़ का शव पड़ा है। मृतक के पास में ही मोटरसाइकिल भी खड़ी मिली थी। पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से शव की पहचान का प्रयास किया पर पहचान नहीं हो सकी।

इसे भी पढ़ें-नशे में धुत युवक की तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराई, हालत गंभीर

पुलिस अब मोटरसाइकिल के नम्बर के आधार पर मृतक की शिनाख्त करने में जुट गई है। छानबीन के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। मृतक की की उम्र 45 से 50 साल के बीच बताई जा रही है। मृतक में चेहरे पर चोट के भी निशान थे हालांकि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और रिपोर्ट आने के बाद मौत की सही वजह पता चल सकेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 2, 2020, 6:30 am
Fog
Fog
27°C
real feel: 33°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 83%
wind speed: 1 m/s ENE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:27 pm
 

Recent Posts

Trending