Connect with us

ख़ैरियत

राजधानी में पल्स पोलियो अभियान का हुआ शुभारंभ अवंतीबाई चिकित्सालय से हुई शुरूआत

Published

on

लखनऊ। राजधानी में पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ वीरांगना अवंतीबाई महिला चिकित्सालय लखनऊ में रविवार की सुबह 10 बजे हुआ। वहीं पल्स पोलियो अभियान के लिए 7,69,905 बच्चों का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और इनके लिए 2783 पोलियो बूथ बनाए गए हैं। वहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने कहा कि भारत को पोलियो मुक्त घोषित हो जाने के बाद भी पोलियो संक्रमित देश विशेष रूप से पाकिस्तान और अफगानिस्तान से पोलियो के पुनः संक्रमण प्रारंभ होने का हमारे देश में भी खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि 2019 में भी पाकिस्तान में 21 केस तथा अफगानिस्तान में 8 केस निकल चुके हैं। इसलिए हमें विशेष रूप से सावधान रहने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें :- ट्रॉमा में तीन-तीन दिनों तक मरीजों को नहीं मिल रहा बेड, लॉबी में स्ट्रेचर पर दर्द से तड़प रहे मरीज

भारत को अथक प्रयासों के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 27 मार्च 2014 को पोलियो मुक्त देश का दर्जा प्राप्त हुआ है और हमें लगातार जागरूकता के साथ यह प्रयास करना है कि पोलियो हमारे देश में दोबारा से ना आने पाए। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉक्टर एम.के. सिंह ने बताया कि अभियान के तहत सोमवार से शुक्रवार तक छूटे हुए बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। जिसके लिए 1998 घर-घर टीमों तथा 6137 वैक्सीनेटर को लगाया जाएगा। इसके अलावा 136 मोबाइल टीम, 234 ट्राजिंट टीम भी लगाई गई है। इनकी निगरानी के लिए 567 सुपरवाइजर तथा 16 डिवीजनल अधिकारी भी नियुक्त किए गए हैं, जो लगातार निरीक्षण का कार्य करते रहेंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्राइम-कांड

डेंगू से हुई महिला की मौत को दबाने में जुटा स्वास्थ्य विभाग

Published

on

लखनऊ। फैजुल्लागंज में डेंगू महिला मरीज की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि महिला के डेंगू रोग से ग्रसित होने के संबंध में कोई भी जानकारी नहीं मिली है। वहीं परिवारजनों ने इससे पूर्व मृतक को डेंगू मरीज बताया था। इन सभी हालातों से इस मामले को दबाने की बात सामने आ रही है।

मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए सीएमओ लखनऊ के निर्देश पर रैपिड रिस्पांस टीम ने फैजुल्लागंज के केशव नगर क्षेत्र का भ्रमण किया। टीम ने मृतक महिला के परिवारजनों से संपर्क किया और कहा कि परिवारजनों ने महिला के डेंगू रोग से ग्रसित होने के संबंध में कोई भी जानकारी नहीं दी है। बता दें कि मंगलवार को डेंगू से ग्रसित महिला मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। उसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था।

यह भी पढ़ें: बिजनौर: रामलीला देख वापस लौट रही किशोरी के साथ युवकों ने किया गैंगरेप, गिरफ्तार… 

वहीं आनन-फानन में सीएमओ ने मेडिकल मोबाइल यूनिट को केशव नगर क्षेत्र में भ्रमण के लिए निर्देश दिया। जिसके द्वारा 45 मरीजों का उपचार किया गया। 13 मरीजों की जांच की गई तथा जनसामान्य को स्वास्थ संबन्धि जानकारी भी दी गई। डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में टीमों द्वारा लार्वा रोधी रसायन का छिड़काव कराया गया तथा माइकिंग के द्वारा जनसामान्य को डेंगू से बचाव एवं रोकथाम के लिए जागरूक किया जा रहा है।

फैजुल्लागंज केशव नगर निवासी गीता द्विवेदी (45) को कई दिन से तेज बुखार आ रहा था। परिवारीजनों ने निजी सेंटर से जांच कराई जिसमें डेंगू की पुष्टि हुई। हालत बिगड़ने पर तीमारदारों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। मंगलवार दोपहर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। वहीं तीमारदारों का कहना है कि मरीज का प्लेटलेट्स काफी कम हो गया था। इसकी शिकायत सीएम के ट्विटर पर की गई है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम पर लापरवाही का आरोप लगाया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

अब प्रतिदिन चलेंगी दो मोबाइल मेडिकल यूनिट

Published

on

डेंगू के बढ़ते प्रभाव के बाद स्वास्थ्य विभाग एलर्ट

लखनऊ। राजधानी के रुचिखंड, साले नगर आशियाना, बंगला बाजार में अब प्रतिदिन दो मोबाइल मेडिकल यूनिटें डेंगू रोग से बचाव एवं रोकथाम के संबंध में लोगों को जानकारी देंगी। इसके साथ ही यूनिट के माध्यम से मरीजों कि जांच और दवा का भी वितरण होगा। यह निर्णय डेंगू के बढ़ते मरीजों की वजह से लिया गया है।

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के निर्देश पर दो मोबाइल मेडिकल यूनिट को उक्त क्षेत्रों में संचालित किया जाएगा। प्रवक्ता के मुताबिक पहले एक ही मेडिकल यूनिट का संचालन किया जा रहा था।

16 लोगों को नोटिस

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि फाइट द बाइट अभियान के तहत स्वास्थ्य टीम ने 548 घरों एवं विभिन्न स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियों का सर्वेक्षण किया। जिसमें से 16 घरों व स्थान ऐसे मिले जहां मच्छर के पनपने की पूरी संभावना दिखी। इन घरों व स्थानों पर लगाए गए कूलर, गमले, टायर में कई दिनों से पानी भरे हुए थे। जिन्हें साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया गया। वहीं इन क्षेत्रों में बने मकानों के सामने गढ्डों में जलजमाव था।

यह भी पढ़ें :- भाजपा हर कार्यकर्ता का सम्मान करती हैः स्वतंत्र देव सिंह

सीएमओ प्रवक्ता के मुताबिक मच्छर जनित स्थानों में गीता पल्ली वार्ड, नरही, शारदा नगर, रुचिखंड, राजाजीपुरम प्रमुख रूप से शामिल है। इसके अतिरिक्त इन सभी क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन तथा स्वास्थ्य संबन्धि जानकारी दी गई। नगर निगम को उक्त क्षेत्रों में सघन फागिंग अभियान एवं व्यापक सफाई व्यवस्था कराए के लिए निर्देश दे दिया गया है।

इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए अलर्ट जारी

सीएमओ ने इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए सभी अस्पतालों को पहले से ही अलर्ट जारी कर दिया है। इसके साथ ही मरीजों की दवा के लिए पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है। वहीं राजधानी के सभी अस्पतालों में रोगियों के लिए वार्ड आरक्षित करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों ने आपस में की मारपीट, कई घायल

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के चौक थाना क्षेत्र स्थित मेडिकल काॅलेज में बीती रात दो डाॅक्टर्स के ग्रुप आपस में भीड़ गए। यह हंगामा करीब आधे घंटे चलता रहा और इस हंगामे से वहां पर मरीज व तीमारदारों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा है। जिसमें बताया जा रहा है कि कई डाॅक्टर भी चोटिल हो गए हैं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया। बताया जा रहा है मेडिकल काॅलेज में बीती रात मेडिसिन डिपार्टमेंट में भर्ती आर्थो के स्टूडेंट को देखने आये डाॅक्टर्स ग्रुप व दूसरे डाॅक्टर्स ग्रुप के बीच कुछ कहासुनी हुई और एकाएक दोनों ग्रुप आपस में मारपीट करने लगे। इस मारपीट में शामिल मेडिसिन विभाग व हड्डी विभाग के डाक्टर थे। जिसमें लात-घूंसों के साथ ही ग्लूकोज टांगने वाले स्टैंड से भी हमला किया गया।

वहीं इस घटना की जानकारी देते हुए केजीएमयू प्रवक्ता डाॅक्टर सुधीर ने बताया कि उनको केजीएमयू के मेडिसिन डिपार्टमेंट में मारपीट की जानकारी मिली है। जिसमें बताया गया है कि आर्थो का जूनियर डाॅक्टर मेडिसिन डिपार्टमेंट में भर्ती था और उसको देखने आये डाॅक्टर्स ग्रुप में किसी बात को लेकर कहासुनी हुई और मामला मारपीट तक जा पहुंचा। जिसको देखते हुए दोनों डिपार्टमेंट के प्रोफेसरों से बात की गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि एक टीम भी गठित कर दी गई है जो पूरे मामले की जांच कर रही है और जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़े- जालसाजी के आरोप में प्रणव अंसल को पुलिस ने दिल्‍ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

वहीं एसपी पश्चिम विकास चंद त्रिपाठी का कहना है कि केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में दो डाॅक्टर्स ग्रुपों के बीच हुई मारपीट का मामला सामने आया है। जिसपर बीती रात मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे मामले को शांत कराया। उन्होंने कहा कि एक पक्ष की तरफ से मिली तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और दूसरे पक्ष से भी तहरीर मिलने पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने कहा पूरे मामले की जांच की जा रही है और घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों को देखने के साथ ही रात को ड्यूटी पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड और अस्पताल के जिम्मेदारों से भी पूछताछ की जा रही है और जो भी साक्ष्य जांच में सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 12, 2019, 12:41 am
Fog
Fog
25°C
real feel: 29°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 83%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:12 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending