Connect with us

अपना शहर

डॉक्टरों ने राहगीर का इलाज ही नहीं बल्कि घर भेजने का उठाया खर्च भी

Published

on

बलरामपुर अस्पताल प्रशासन ने पेश की इंसानियत की एक अनोखी मिसाल

लखनऊ। नौ फरवरी को कैसरबाग बस अड्डे के पास सड़क किनारे एक व्यक्ति पड़ा हुआ था। एक राहगीर ने उसको बेहोशी की अवस्था में बलरामपुर अस्पताल ले जाकर भर्ती किया करा दिया । डॉक्टरों ने जब उसे देखा तो वह कोमा में था। उसका इलाज हुआ लेकिन उसकी पहचान एक टैटू से हो पाई।

       डॉ विष्णु कुमार

फिजिशियन डॉ विष्णु कुमार ने मरीज की जांच की तो उसमें डायबिटिज की पुष्टि हुई। उसकी पल्स नहीं मिलने के कारण वह कोमा में चला गया था। इलाज के दौरान जब उसको राहत तो मिली मगर अपनी पहचान नहीं बता पा रहा था। इसके बाद बलरामपुर अस्पताल प्रशासन ने मानवीयता की एक ऐसी मिसाल कायम की है जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। अस्पताल के डॉक्टरों ने सड़क किनारे कोमा की स्थिति में पड़े मरीज का न सिर्फ एक सप्ताह तक इलाज किया बल्कि उसके स्वस्थ होने के बाद अस्पताल प्रशासन ने मरीज जसदेव को उसके परिवार से मिलवाया।

 

 

डॉ राजीव लोचन

टैटू बना पहचान का आधार

बलरामपुर अस्पताल के निदेशक डॉ राजीव लोचन ने बताया कि काफी प्रयास के बाद भी उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। उसकी तलाशी लेने पर भी कोई जानकारी नहीं मिल सकी। डॉक्टरों ने देखा कि उसके हाथ पर कुछ टैटू बना हुआ है। टैटू में न सिर्फ उसका नाम था, बल्कि पूरा पता भी लिखा हुआ था। टैटू के आधार पर उसका नाम जसदेव पासवान, ग्राम बुकुची, थाना कटरा, जिला मुजफ्फरपुर की पुष्टि हुई। इसके बाद अस्पताल प्रशासन ने कटरा पुलिस से संपर्क किया। जहां से पता चला कि वह पांच जनवरी से लापता है। उसके परिवार ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने परिवार को सूचना दी। उसके बाद जसदेव के चाचा अर्जुन पासवान अपने बेटे नवीन पासवान के साथ आए और उसकी पहचान की।

अब अस्पताल प्रशासन अपने खर्चे पर पहुंचायेगा घर

अस्पताल प्रशासन अपने खर्च पर उसे उसके घर बिहार के जिला मुजफ्फरपुर पहुंचाएगा। मरीज का परिवार मिल जाने और उसके स्वस्थ होने के बाद अस्पताल प्रशासन ने उसे छुट्टी दे दी है। जसदेव अपने चाचा अर्जुन और चचेरे भाई नवीन के साथ 16 फरवरी को अपने गांव जाएगा। अस्पताल प्रशासन ने ही टिकट का भी खर्च वहन किया है। http://www.satyodaya.com

अपना शहर

बढ़ी तारीख, अब 15 जनवरी से शुरू होगा कमता बस स्टेशन का संचालन

Published

on

परिवहन निगम के एमडी राज शेखर ने किया निर्माणाधीन बस स्टेशन का निरीक्षण

लखनऊ। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डाॅ. राज शेखर ने मंगलवार को लखनऊ में निर्माणाधीन कमता बस स्टेशन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान राज शेखर ने कहा कि बस स्टेशन का बुनियादी ढांचा अगले एम महीने के अंदर निश्चित रूप से तैयार कर लिया जाए। एलडीए और एनएचआई मिलकर अगले 20 दिनों में बस स्टेशन और सड़कों पर यातायात संकेतक लगाएंगे। अधिकारियों ने बताया कि यातायात पुलिस के लिए बस स्टेशन के गेट पर ही सीसीटीवी और एलईडी माॅनिटर से लैस पुलिस बूथ भी बनाया जाएगा। बस स्टेशन और सड़क पर यातायात कंट्रोल के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम की व्यवस्था की गयी है। जल्द ही यहां पर यातायात पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा।

कमता बस स्टेशन से बसों का परिचालन शुरू करने के लिए 1 जनवरी 2020 की तारीख तय की गयी थी। लेकिन एमडी राज शेखर सहित अन्य अफसरों ने निरीक्षण के बाद बस स्टेशन के शुभारंभ की तिथि आगे बढ़ा दी है। अब इस बस स्टेशन के परिचालन का शुभारंभ करने के लिए 15 जनवरी (मकर संक्रांति) की तारीख निश्चित की गयी है। कमता बस स्टेशन पर सिटी बसों, टैक्सियों, पैसेंजर कारों के लिए पार्किंग की भी व्यवस्था की गयी है। निरीक्षण के दौरान डाॅ. राज शेखर के साथ एलडीए वीसी पीएन सिंह, एसपी ट्रैफिक, एलडीए के चीफ इंजीनियर, पीडी एनएचएआई, सदर एसडीएम, एलडीए के आर्किटेक्ट सहित परिवहन विभाग के तमाम अधिकारी मौजूद रहे।

बता दें कि कमता बस स्टेशन से पूर्वांचल के लिए बसों का संचालन किया जाएगा। इस बस स्टेशन के बस जाने के बाद शहर में टैफिक व्यवस्था का लोड कम होगा। कमता बस स्टेशन से प्रतिदिन लगभग 400 बस यात्राओं का संचालन होगा। बस स्टेशन एलडीए की जमीन पर बन रहा है। एलडीए ने परिवहन विभाग को यह जमीन बस स्टेशन संचालन के लिए 90 वर्षों के लिए पट्टे पर दी है।

महिलाओं की सुविधा का खास ख्याल

कमता बस स्टेशन में बेबी केयर फीडिंग क्यूबिकल के साथ महिलाओं के लिए अलग वेटिंग हाॅल, पानी एटीएम जैसी व्यवस्थाएं उपलब्ध होंगी। बस स्टेशन में हेल्प डेस्क और कैफेटेरिया और पुरूष और महिला यात्रियों के लिए अच्छी गुणवत्ता के शौचालय होंगे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

दुकानें तोड़े जाने की खबर पर भड़के व्यापारी, परिवारों के साथ किया प्रदर्शन

Published

on

लखनऊ। राजधानी के हैदरगंज वार्ड के बुलाकी अड्डा चौराहे पर व्यापारियों की पक्की दुकाने तोड़े जाने की खबर के बाद हंगामा शुरू हो गया। मंगलवार दोपहर को दर्जनों व्यापारियों ने हैदरगंज व्यापार मंडल के बैनर तले सांकेतिक धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शन में दुकानदारों के परिवारों ने भी हिस्सा लिया। व्यपारियों ने हमारे परिवारों पर दया करो…हमारी मांगें पूरी करो…, हम सब व्यापारी एक हैं….के नारे लगाते हुए सरकार से हस्तक्षेप की मांग की है। दरअसल पुराने लखनऊ में यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए यहां उपरिगामी सेतु निर्माण का कार्य चल रहा है। विक्टोरिया स्ट्रीट तालकटोरा रोड पर बने रहे इस पुल का निर्माण उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निर्माण निगम करा रहा है। सेतु के पिलर खड़े हो चुके हैं। जगह कम होने के चलते सेतु निगम ने बुलाकी अड्डा चौराहे से लेकर हैदरगंज तिराहा तक की पक्की दुकानों को तोड़ने का आदेश दिया है।

दुकानें तोड़े जाने की खबर मिलते ही मंगलवार को व्यापारियों में रोष छा गया। दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान बंद कर कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन शुरू कर दिया। व्यापारियों ने कहा कि इन दुकानों से करीब 1500 परिवारों का पालन पोषण चल रहा है। दुकानें तोड़े जाने से हजारों लोगों का निवाला छिन जाएगा। हमारी मांग है कि दुकानों के लिए कुछ जगह छोड़ दी जाए। जिससे सेतु भी बन जाए और हमारा कारोबार भी बच जाए।

यह भी पढ़ें-कुलदीप सिंह सेंगर पर 16 दिसंबर को कोर्ट सुनाएगा फैसला, हो सकती है उम्र कैद

लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्रा ने कहा कि सांसद राजनाथ सिंह का सपना है कि लखनऊ का यातायात सुगम बने। पूरा व्यापारी समाज सेतु निर्माण से प्रसन्न भी है। लेकिन सेतु निगम रोड सेंटर से दोनों तरफ 40-40 फीट जमीन ले रहा है। जिसकी जद में व्यापारियों की पूरी दुकानें भी आ गई हैं। ऐसा होने से यहां की पूरी दुकानें और व्यापार समाप्त हो जाएगा। यहां के व्यापारी 40-45 साल से व्यापार कर रहे हैं। व्यापारी नेता ने कहा कि हमारी मांग है कि सेतु निगम रोड से दोनों तरफ 40 फुट के बजाए 30 फुट जमीन ले। जिससे हमारी कुछ दुकानें बच जाएं।

सरकार में नहीं हो रही सुनवाई

अमरनाथ मिश्रा ने आरोप लगाया कि इस सरकार में हमारी सुनवाई नहीं हो रही है। हमने अधिकारियों के सामने भी अपनी मांग रखी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। कहा कि भाजपा सरकार ने एक व्यापारी प्रकोष्ठ बनाया है लेकिन उसमें भी व्यापारियों की सुनवाई नहीं हो रही है। यदि हमारी मांगों पर सुनवाई नहीं हुई तो व्यापारियों का प्रदर्शन लगातार चलता रहेगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

इंडियन ऑयल कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले दो युवक गिरफ्तार

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ। राजधानी पुलिस को ऑपरेशन 420 अभियान के तहत एक फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है। जिसमें नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले दो युवकों को थाना कैंट पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि दोनों युवक मथुरा में इंडियन ऑयल कंपनी में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लोगों से ठगी करते थे। साथ ही ये ठग नकली आईडी से ई-मेल द्वारा इंडियन ऑयल कंपनी के नाम पर फर्जी मैसेज भी भेजते थे। जिससे कि लोगों को विश्वास हो सके कि उनको कंपनी में नौकरी मिल गई है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली: फर्नीचर मार्केट में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां

जानकारी के अनुसार गिरफ्तार ठग अब तक लगभग एक दर्जन लोगों से 5 से 10 हजार रुपए की धनराशि लेकर उनको गुमराह कर चुके हैं। बता दें कि लोगों से ठगी करने वाले तीन अभियुक्तों के नाम एफआईआर दर्ज हुई है, जिसमें थाना कैंट की पुलिस ने अभी तक दो अभियुक्त राजदीप चक्रवर्ती पुत्र सुधीर कुमार चक्रवर्ती निवासी शिवानी बिहार कल्याणपुर थाना गुडम्बा और पुलोक बोस पुत्र स्व0 चितरंजन बोस निवासी शिवानी बिहार कल्याणपुर थाना गुडम्बा लखनऊ की गिरफ्तारी कर ली है। वहीं अभी एक अभियुक्त पुलिस की पहुंच से बाहर है। फिलहाल पुलिस इन इन दोनों अभियुक्तों से पूछताछ कर आवश्यक विधिक कार्यवाही कर रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

December 11, 2019, 8:46 am
Cloudy
Cloudy
13°C
real feel: 15°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 85%
wind speed: 0 m/s NW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 6:15 am
sunset: 4:44 pm
 

Recent Posts

Trending